• डॉ.बी.के.गोयल हार्ट फाउंडेशन के उपक्रम में पुलिस कर्मचारियों को दिया गया सीपीआर के द्वारा जीवन बचाने का प्रशिक्षण !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    डॉ.बी.के.गोयल हार्ट फाउंडेशन के उपक्रम में पुलिस कर्मचारियों को दिया गया सीपीआर के द्वारा जीवन बचाने का प्रशिक्षण !

     उल्हासनगर - उल्हासनगर में हार्डटेक के झटके से लोगो का जीवन बचाने के लिए सीपीआर के इस्तेमाल करके हार्डटेक मरीज के हृदय पुनर स्वाचालित करने का प्रशिक्षण शिबिर का आयोजन ठाणे पुलीस आयुक्त व डॉ.बी.के.गोयल हार्ट फाउंडेशन इनके द्वारा उल्हासनगर के टाऊन हॉल में आज आयोजित किया गया था !     
       बता दे पिछले कुछ सालों में ज्यादा तर लोग हार्ड की बीमारियों के शिकार हो रहे है . मुंबई की हार्ट फाउंडेशन और ठाणे पुलीस आयुक्त की संयुक्त प्रयाश से उल्हासनगर परिमंडळ ४ के पुलिस कर्मचारियों को हार्डटेक आने पर सीपीआर देकर उनका जीवन कैसे बचाया जा सकता है, इसी को लेकर मार्गदर्शन शिबिर का आयोजन किया गया था. इस कार्यक्रम में पुलीस उपायुक्त प्रमोद शेवाळे, सहाय्यक पुलीस आयुक्त सुनील पाटील, मारुती जगताप, वरिष्ठ पुलीस निरीक्षक विजय डोळस, दत्तात्रय पालवे, राजेंद्र कदम इत्यादि मान्यवर के साथ बड़ी संख्या में पुलिस कर्मचारियों की उपस्थिती थी.              डॉ.बी.के.गोयल हार्ट फाउंडेशन ने ३८ पुलीस स्टेशनों में अभी तक चार हजार पुलीस कर्मचारियो को सीपीआर के द्वारा हार्डटेक से रुकी हृदय गति पुनरजीवित्त करने का प्रशिक्षण और उसको इस्तेमाल की विस्तृत जानकारी देने के लिए  डॉ.नरसिंह आरोलकर आकर दिया है. उन्होंने प्लास्टिक पुतलो के द्वारा बताया कि सीपीआर कैसे दिया जा सकता है, इसका प्रशिक्षण दिया गया है. पुलीस कर्मियों ने इसमें बड़ी संख्या भाग लिया और पूरे पुलिस दल ने इस उपक्रम का स्वागत किया है. इस उपक्रम से जनता को भी आने वाले समय में लाभ मिल सकेगा ऐसा पुलिस विभाग ने अपनी अपेक्षा जताई है !
  • No Comment to " डॉ.बी.के.गोयल हार्ट फाउंडेशन के उपक्रम में पुलिस कर्मचारियों को दिया गया सीपीआर के द्वारा जीवन बचाने का प्रशिक्षण ! "