• वालधुनी नदी को प्रदूषण करनेवाली कंपनियों को भेजा नोटिस ! जहरीले केमिकल के चलते स्थानीय लोग हो रही कई तकलीफें !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    वालधुनी नदी को प्रदूषण करनेवाली कंपनियों को भेजा नोटिस ! 

     विषैले रसायन के चलते स्थानीय नागरिकों आँखों में जलन,सरदर्द, सांस लेने में हुई तकलीफ ! 

     जल बिरदारी संघटना ने एमआईडीसी और महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण विभाग से की थी शिकायत ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में कुछ दिनों पहले वालधुनी नदी में छोड़े गए विषैले रसायन के कारण नदी के किनारे रहनेवाले नागरिकों के आँखों मे जलन, उल्टियां, सरदर्द और सांस लेने में तकलीफ हो रही थी ।इस विषैले रसायन को एरोमॅटिक कंपनी ने नदी में छोड़ा था, यह सिद्ध होने के बाद कंपनी को एमआईडीसी ने नोटीस भेजा है।
    गौरतलब हो कि अंबरनाथ एम आई डी सी के कंपनियों से छोड़े जा रहे जहरीले केमिकल की वजह से उल्हासनगर
     शहर में ओटी सेक्शन परिसर, वालधुनी नदीके किनारे रहनेवाले हजारों नागरिकों को महिने में एक या दोन बार बड़े पैमाने पर जल व वायू प्रदूषण की तकलीफ झेलनी पड़ती है। नदीमें छोड़े जाने वाले रसायन और उसके बाद हवा में होनेवाले प्रदूषण के कारण हवा में भयंकर दुर्गंधफैलता है, जिसके कारण नागरिकों के आँखों में जलन, उल्टियां, सरदर्द और सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। पिछले हफ्ते भी ऐसी ही समस्या उत्पन्न हुई थी, जिसके बाद वालधुनी बिरदारी नामक स्वयंसेवी संगठन के अध्यक्ष शशीकांत दायमा और उनके सहकारियों ने पता लगाया कि किस कंपनी द्वारा यह प्रदूषण फैलाया जा रहा है, तब उन्हें पता चला कि अंबरनाथ ( प ) स्थित कल्याण - कर्जत महामार्ग के किनारे एरोमॅटिक कंपनी के द्वारा रासायनिक द्रव्य वालधुनी नदी में छोड़ा जाता है। इस संदर्भ में जल बिरदारी संघटना ने एमआईडीसी और महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण मंडल के पास शिकायत दर्ज कराई थी। उस समय दोनों विभागों के अधिकारियों ने संघटना के पदाधिकारियों के साथ प्रत्यक्षरुप से इसकी जांच की। उसके बाद एमआईडीसी कार्यकारी अभियंता आर. बी. राठोड ने कंपनी को १४ दिसंबर २०१८ को नोटिस भेजा है।      इस नोटीस में कंपनी अपना विषैला रसायन खुले मैदान में अथवा वालधुनी नदी में छोड़ती है, ऐसा स्पष्ट हुआ है, इसके कारण स्थानिक नागरिकों के जीवन को खतरा निर्माण हुआ है।इसलिए यह धोखादायक कृति कंपनी बंद करें, कंपनी अपना फेंका जानेवाले रासायनिक द्रव्य अंबरनाथ केमिकल मॅनीफॅक्चर असोसिएशन के सेफ्ट  ( कॉमन एफ्यूलंट ट्रिटमेंट प्लान में भेजने की व्यवस्था होने पर भी ऐसा करना एक प्रकार का अपराध किया है। इस संदर्भ में कंपनी तत्काल उपाययोजना करें, ऐसा नोटिस में कहा गया है।             संदर्भ में एरोमॅटिक कंपनी केे संचालक जी. एम. पाटील से संपर्क किया गया तो वे उपलब्ध नहीं थे।
  • No Comment to " वालधुनी नदी को प्रदूषण करनेवाली कंपनियों को भेजा नोटिस ! जहरीले केमिकल के चलते स्थानीय लोग हो रही कई तकलीफें ! "