Browsing "Older Posts"

  • ओएलएक्स मोबाइल एप के जरिए सस्ती बाइक बेचने वाले चोरों की टोली का पुलिस ने किया पर्दाफाश !

    By fast headline india →
    ओएलएक्स मोबाइल एप के जरिए सस्ती बाइक बेचने वाले चोरों की टोली का पुलिस ने किया पर्दाफाश !

     15 लाख कीमत की 26 बाइक किया बरामद,4 चोरों को भी किया गिरफ्तार ! 

     बाइक खरीदने पर जब ग्राहक को गाड़ी के पेपर नही मिले तो उसने दी पुलिस को पूरे मामले की जानकारी ! 

    उसी जानकारी के आधार पर पुलिस ने पूरे रैकेट का किया खुलासा !

     ठाणे- ठाणे मोटरसाइकिल चोरी को लेकर भिवंडी पुलिस की सक्रियता रंग लाई है। पुलिस उपायुक्त अंकित गोयल के मार्गदर्शन में शहर पुलिस स्टेशन की टीम नें 4 बाइक चोरों को धर दबोचने में कामयाबी हासिल की है। पुलिस टीम नें बाइक चोरों से 26 मोटरसाइकिलें जिनकी बाजार कीमत 15 लाख 95 हजार रुपया है बरामद किया है। बता दे की पुलिस को आशा है कि, गिरफ्तार बाइक चोरों से शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में बिगत दिनों हुई कई बाइक चोरियों का खुलासा होनें की संभावना है। शहर पुलिस स्टेशन द्वारा प्रदान की गयी जानकारी के अनुसार, बारक्या कम्पाउंड निवासी सरफराज अब्दुल रहमान शेख नें मोबाइल पर ओएलक्स एप निर्मित कर होंडा कंपनी की मोटरसाइकिल यह कहते हुए विक्री हेतु डाली थी कि, होंडा कंपनी की बाइक बैंक लोन नहीं चुकाए जानें की वजह से बैंक द्वारा खींची गयी है जो सस्ती कीमत में बेची जा रही है। ओएलएक्स मोबाइल एप पर बाइक सस्ती कीमत में मिलती देखकर शांतीनगर निवासी अबूसामा बदरे आलम अंसारी नें बारक्या कम्पाउंड निवासी सरफराज अब्दुल रहमान शेख से सम्पर्क साधा और एक होंडा साइन मोटरसाइकिल खरीद लिया। मोटर साइकिल खरीदी कर्ता अबूसामा बदरे आलम अंसारी नें मोटरसाइकिल विक्री कर्ता सरफराज अब्दुल रहमान शेख से जब बाइक के सभी कागजात की मांग किया तब सरफराज शेख नें 8 दिनों के भीतर कागजात दिए जानें का भरोसा दिया। शिकायतकर्ता अबूसामा अंसारी के अनुसार, 10 दिनों के बाद भी जब बाइक के कागजात नहीं मिले तो उन्होंने सरफराज शेख को कई बार फोन किया तब फोन बंद मिला जिससे उन्हें शक हुआ और सरफराज शेख के खिलाफ पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। मोबाइल एप पर हुए बाइक बिक्री के खेल को गंभीरता से लेते हुए पुलिस उपायुक्त अंकित गोयल व सहायक आयुक्त किसन गावित के मार्गदर्शन में वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुभाष कानाडे, पुलिस निरीक्षक अजय कांबले, पुलिस उप निरीक्षक शरद बरकड़े, दीपेश किणी आदि की टीम नें मामले की तहकीकात कर पहले सरफराज शेख को धर दबोचा। बाइक विक्री में गिरफ्तार सरफराज शेख के कबूलनामे पर पुलिस नें बाइक चोरी में लिप्त अन्य 3 बाइक चोरों आरिफ सिराज अंसारी (30), अन्वर आमीन शेख (21) निवासी म्हाडा कालोनी व मजीद मुनीर शेख (40, शास्त्री नगर) को गिरफ्तार कर शहर के अलग-अलग क्षेत्रों से चुराई गयी 26 मोटरसाइकिलों को बरामद किया है।
  • राशन दुकान पर में मिलने वाला नमक है घटिया क्वालिटी का - मनसे ने किया आरोप !

    By fast headline india →
    राशन दुकान पर में मिलने वाला नमक है घटिया क्वालिटी का - मनसे ने किया आरोप ! 

     टाटा की लैब में नमक का निरीक्षण किया गया-शिधा वाटप अधिकारी सानप ! 

    पूरे महाराष्ट्र की राशन दुकानों हुआ है सप्लाई ! 

    नमक की सप्लाई करने वाले ठेकेदार व कंपनी पर की गई है कार्यवाई की मांग ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने आरोप लगाया है कि उल्हासनगर शहर में कुछ राशन दुकानों में पाया जाने वाला नमक खराब गुणवत्ता का है और इससे फूड पॉइज़न हो सकता है। इस संबंध में राशन कार्यालय में लिखित निवेदन दिया गया है।
    बता दे कि भिवंडी की एक कंपनी में मिलनेवाला नमक जो वर्तमान में अन्य नमकों की अपेक्षाकृत सस्ती पाई जाती है, यह नमक पूरी तरह से पानी में नहीं घुलता है और एक निश्चित रंग सब्सट्रेट पानी पर जमा हो जाता है। मनसे के जिला उपाध्यक्ष प्रदीप गोडसे ने आरोप लगाया है कि यह नमक खराब गुणवत्ता का है और इसलिए इसमें विषबाधा हो सकता है। नमक की गुणवत्ता की जांच करके नमक की आपूर्ति करनेवाले ठेकेदार और कंपनी के खिलाफ कार्रवाई करने का लिखित आवेदन दिया गया है।इस संबंध में राशन कार्यालय के अधिकारी सनप से मिलकर प्रदीप गोडसे, शहर अध्यक्ष बंडु देशमुख, जिला अध्यक्ष सचिन कदम, उप सचिव संजय घुगे और अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं ने लिखित शिकायत की थी।इस बारे में पूछे जाने पर उल्हासनगर विभाग की शिधा वाटप अधिकारी सानप ने कहा कि पहले भी इस कंपनी के नमक के बारे में कुछ शिकायतें मिली थीं।इसे सत्यापित करने के लिए, जब टाटा की लैब में नमक का निरीक्षण किया गया तो यह नमक खाने योग्य बताया गया और कोई हानिकारक पदार्थ नहीं पाया गया था।
  • सत्ता के नशे में चूर भाजपा रिक्शा यूनियन के गुंडों का नायाब कारनामा हुआ उजागर !

    By fast headline india →
    सत्ता के नशे में चूर भाजपा रिक्शा यूनियन के गुंडों का नायाब कारनामा हुआ उजागर !

    पहले रिक्शा चालक का किया अपहरण फिर की जमकर मारपीट ! 

    पुलिस ने भाजपा यूनियन के दो गुंडों को किया गिरफ्तार ! 

    कल्याण-कल्याण के डोंबिवली में ऑटो रिक्शा खड़ा करने को लेकर दो गुटों में हुई मारपीट की घटना के बाद एक गुट के लोगों ने दूसरे गुट के रिक्शा चालक का पहले अपहरण किया और उसके बाद उसकी बुरी तरह पिटाई कर दी. गंभीर रूप से घायल रिक्शा चालक बाबा साहब कांबले को पहले कलवा अस्पताल और फिर केईएम अस्पताल में भर्ती कराया गया. 
    इस मामले में स्थानीय पुलिस ने मामला दर्ज कर दो आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और आगे की जांच-पड़ताल की जा रही है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार देर रात रिक्शा खड़ी करने को लेकर बीजेपी और आरपीआई प्रणित रिक्शा यूनियन के दो गुटों में जमकर हाथापाई हुई. इस घटना के बाद कुछ लोग बाबासाहब कांबले नामक रिक्शा चालक को रिक्शा में डालकर एक सुनसान जगह पर ले गए. जहां उसकी बेल्ट और राॅड से जमकर पिटाई की. गंभीर रूप से घायल रिक्शा चालक कांबले को पहले डोंबिवली के शास्त्रीनगर अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन हालत गम्भीर होने के कारण डाॅक्टरों ने कलवा भेज दिया गया. परिजनों के अनुसार रिक्शा चालक कोमा में है और फिलहाल उसे कलवा से मुंबई के केईएम अस्पताल में ले जाया गया है. डोंबिवली पुलिस ने भाजपा प्रणित रिक्शा यूनियन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार किया है और आगे की जांच-पड़ताल की जा रही है.
  • मनसे विभाग प्रमुख के खिलाफ विवाहित महिला के साथ छेड़खानी का मामला हुआ दर्ज !

    By fast headline india →
    मनसे विभाग प्रमुख के खिलाफ विवाहित महिला के साथ छेड़खानी का मामला हुआ दर्ज ! 

    पड़ोस में रहने वाली महिला ने लगाया यह आरोप !

     झाड़ू मारते समय जबजस्ती चुंबन लेने का लगा है आरोप ! 

    उल्हासनगर- उल्हासनगर -१ धोबीघाट क्षेत्र में एक विवाहित महिला के घर में घुस कर छेड़खानी के आरोप  उल्हासनगर के मनसे विभाग प्रमुख पर लगाया गया है। मनसे विभाग के प्रमुख योगीराज देशमुख ने अपने घर के सामने रहने वाली एक महिला से बदतमीजी की जब पति घर पर नहीं था,वह महिला घर में झाड़ू मार रही थी, तब योगीराज ने उसका जबरदस्ती चुंबन लेने का प्रयास किया।
    इस घटना के बारे में सारी बातें बताने के बाद महिला अपने पति के साथ पुलिस स्टेशन पहुंची। और घटना की जानकारी पुलिस को देने के बाद योगीराज देशमुख पर विनयभंग का मामला दर्ज किया है । बता दे कि शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि घटना 1 महीने पहले हुई थी और शिकायतकर्ता महिला और उसका पति घटना के बाद दूसरी तरफ किराए के घर की तलाश में थे। मामले की आगे की जांच वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुशील जावले के निर्देशन में सहायक पुलिस निरीक्षक आर. एस. भांबले कर रहे हैं। मनसे के जिला अध्यक्ष सचिन कदम और शहर अध्यक्ष बंडू देशमुख से इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह राजनीतिक साजिश का एक रूप था। देशमुख और कदम ने यह भी मांग की कि पुलिस इस नजरिए से भी मामले की जांच करे।
  • मामूली विवाद में पति ने पत्नी को कुल्हाड़ी से किया हमला कर सुलाया मौत की नींद !

    By fast headline india →
    मामूली विवाद में पति ने पत्नी को कुल्हाड़ी से किया हमला कर सुलाया मौत की नींद ! 

    हत्यारा पति को पुलिस ने किया गिरफ्तार ! 

     केडीएमसी के शिवसेना नगरसेवक की बेटी थी जिसकी हुई हत्या !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में मामूली पारिवारिक विवाद के चलते अपनी पत्नी की कुल्हाड़ी से हत्या करने वाले पति को हिललाइन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और शनिवार को कोर्ट में पेश किया जहां न्यायालय ने उस सात दिनों की पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है। वहीं इस घटना से हाजी मलंगगढ़ परिसर में हड़कंप मच गया है . 
     पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार यहाँ के कैम्प क्रमांक चार के मनेरा गॉव परिसर में रहनेवाली कल्याण मनपा शिवसेना की नगरसेविका विमल वसंत भोईर ने दस वर्ष पूर्व अपनी बेटी वैशाली की शादी हाजीमलंगगढ़ के मंगल वाड़ी गॉव में रहनेवाले पाटिल परिवार के राजेंद्र पाटिल के साथ कराई थी वहीं दोनो में शादी के बाद से ही आये दिन दोनो में झगड़ा होता रहता था और इसी झगड़े के कारण 19 जुलाई शुक्रवार शाम को घर के बेडरूम में राजेंद्र का फिर से अपनी पत्नी वैशाली के साथ किसी बात को लेकर विवाद हुआ और राजेंद्र ने गुस्से में तेज धार कोयते से पत्नी के सिर पर हमला कर उसकी हत्या कर दी।वहीं हिललाइन पुलिस ने हत्यारे राजेंद्र को गिरफ्तार कर लिए और शनिवार को कोर्ट में पेश किया न्यायालय ने सात दिनं तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मध्यवर्ती अस्पताल में भेज दिया आगे की जांच हिललाइन पुलिस कर रही है पति - पत्नी के इस झगड़े में दो बच्चे अनाथ हो गए।
  • उल्हासनगर भाजपा में सुतखोर व गुंडों कराया गया प्रवेश !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर भाजपा में सुतखोर व गुंडों कराया गया प्रवेश ! 

    भाजपा के मंच पर दिखे हत्या के प्रयाश,तड़ीपार रह चुके जैसे अपराधी ! 

    अपराध मुक्त भाजपा पार्टी के नारे को ठेंगा दिखाने काम कर रही उल्हासनगर भाजपा का नेतृत्व ? 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में शुक्रवार की शाम को टाउन हॉल में हुए भाजपा पार्टी प्रवेश कार्यक्रम में अपराधियो को पार्टी में प्रवेश को लेकर चर्चा जोरो में है, अपराध मुक्त का नारा देने वाली भाजपा पार्टी को आखिरकार भाजपा शहर अध्यक्ष कुमार आयलानी ही अपराधियों को अपने खेमे लाने को लेकर क्या साबित करना चाहते यह एक बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है !
    बता दे कि शुक्रवार की शाम उल्हासनगर तीन के टाउन हॉल में भाजपा पार्टी में प्रवेश को लेकर बड़ा कार्यक्रम का आयोजन किया गया था परंतु प्रवेश के नाम पर कई आपराधिक मामले दर्ज हुए कल्पतरू बैंक संचालक अमित वाधवा का भाजपा पार्टी में प्रवेश कराया इनके साथ में गुरुदीप सिंह लभाना उर्फ बॉक्सर,जिनपर दस से अधिक मामले दर्ज वही इस कार्यक्रम का सूत्रसंचालन करने वाले मनोज लासी जिन पर भी हत्या के प्रयास का मामला चल रहा ऐसे लोग की कार्यक्रम में उपस्थिति से भाजपा पार्टी की छवि पर सवालिया निशान लग गया है, वही सूत्रों की माने तो इस कार्यक्रम में महाराष्ट्र राज्य के पालकमंत्री रविंद चौहान जी आने वाले थे परन्तु कार्यक्रम से पहले ही उन्हें जानकारी मिल गई थी इस कार्यक्रम में कुछ अपराधियों को पार्टी में प्रवेश कराया जा रहा है तो वो भी इस कार्यक्रम से दूरी बना लिए और कार्यक्रम में नही आये,इस कार्यक्रम में उल्हासनगर के भाजपा शहर जिल्हा अध्यक्ष कुमार आयलानी,जमनु पुरुस्वानी,प्रकाश मखीजा, महेश सुक्रमानी, मीना आयलानी,प्रकाश नाथानी, किशोर बनवारी,राजू जग्यासी,राजेश टेकचंदानी समेत बड़ी संख्या भाजपा कार्यकर्ता की उपस्थिति थी, शुक्रवार को हुए इस कार्यक्रम में जिस तरह से अपराधियों को मंच पर स्थान दिया गया और उन्हें पार्टी में प्रवेश कराया गया क्या इससे भाजपा पार्टी अपराध मुक्त नारे को आईना दिखाने का काम उल्हासनगर की भाजपा कर रही है यह एक बड़ा सवाल खड़ा रहा है, भाजपा पार्टी विधानसभा चुनाव जीतने के अब गुंडों व 420 लोगो को पार्टी में लाकर चुनाव जीतने के जुआड में है ऐसा लगता है !
  • कलानी के समर्थकों में उल्हासनगर का मटका किंग ?

    By fast headline india →
    कलानी के समर्थकों में उल्हासनगर का मटका किंग ? 

     हप्ते भर से फरार आरोपी कलानी के मंच पर आने से हो रही किरकिरी ! 

    उल्हासनगर विधायिका कलानी ने मानसून सत्र में बढ़ते अपराध उठाया था मुद्दा ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर पुलिस ने राहुल नगर में मटके के अड्डे पर छापा मारा। उस जगह सेI मुख्य आरोपी संदीप पंडित गायकवाड़ पुलिस की मदद से भाग निकले,ऐसा लोगों का आरोप है।उसके बाद वह सीधा दिखाई दिया इसी हप्ते पहले मौजूद कलानी समर्थकों की बैठक में दिखाई दिया है।   उल्हासनगर शहर में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। बच्ची यादव की हत्या के बाद, ज्योति कलानी ने मानसून सत्र में बढ़ते अपराध के औचित्य के मुद्दे को उठाया था। विधानसभा की तैयारियों के लिए सेलिब्रेशन हॉल में पिछले हफ्ते कलानी समर्थकों की बैठक आयोजित की थी। संदीप पंडित गायकवाड़, जो कलानी समर्थक है, वो भी इस बैठक में उपस्थित था। ११ जुलाई को उल्हासनगर पुलिस स्टेशन राहुल नगर में संदीप के मटके के अड्डे पर छापा मारा था ,इसमें वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुशील जावले को बताया गया कि संदीप गायकवाड़ तभी से फरार था। कलानी के धुर विरोधी कमल बठिजा ने एक सवाल प्रस्तुत किया है कि संदीप गायकवाड़ फरार होकर भी कालानी के मंच पर किस तरह देखा गया,ऐसे पर विधायक ज्योति कलानी उल्हासनगर को अपराध मुक्त कैसे करेंगी। कमल बठिजा ने कहा कि कलानी ही उल्हासनगर में अपराधों को खाद-पानी देने का काम करते हैं,यह इसका एक अच्छा उदाहरण है। बठिजा ने कहा कि उल्हासनगर पुलिस द्वारा शहर के अवैध मटके, सट्टे, लॉटरी आदि पर नियंत्रण करने के बाद ही शहर अपराध मुक्त होगा। जब कमलेश निकम, जो कट्टर कलानी के समर्थक हैं, से इस बारे में पूछा गया, तो उन्होंने इस बारे में बात करने से परहेज किया कौन हैं संदीप गायकवाड़? संदीप गायकवाड़ पहले बसपा के अध्यक्ष थे। २०१४ में उन्होंने विधायक का चुनाव लड़ा था। पहले उसके खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज भी दर्ज है। छह महीने पहले, उन्होंने स्कूल के लिए आरक्षित भूमि पर मटके का अड्डा शुरू किया। इसके बाद, पुलिस ने सैकडों बार इसके मटके के धंधे पर कार्रवाई की है लेकिन संदीप गायकवाड़ को पुलिस ने कभी आरोपी नहीं बनाया ।
  • सहायक पुलिस निरीक्षक पाटिल बनी रिनिंग मिसेस इंडिया 2019 !

    By fast headline india →
    सहायक पुलिस निरीक्षक पाटिल बनी रिनिंग मिसेस इंडिया 2019 !

     पूना-पूना में कार्यरत सहायक पुलिस निरीक्षक प्रेमा विघ्नेश पाटिल ने सौंदर्य और अपने दिमाग प्रतिभा के बल पर रिनिंग मिसेस इंडिया 2019 की प्रतियोगिता में अपना परचम लहराते हुई विजयी हुई है, बाणेर के आर्किट होटल में हुई 104 जुलाई की अस्पर्धा में अंतिम चरण में अपनी प्रतिभा का डंका बजा दिया ! 
    बता दे कि प्रेमा पाटिल यह मूलतः कराड की रहने वाली है इन्होंने एम,कांम तक कि पढ़ाई किया है, महाराष्ट्र पुलिस में पिछले नव सालों से पुलिस अधिकारी के पद पर काम कर रही है, अभी वह विशेष शाखा पुणे शहर में अपनी ड्यूटी कर रही है, अपने प्रोफेशन के अलावा वह कार्बोनरी सामाजिक संस्था के जरिए सामाजिक कार्यो को भी करती है पूना व पूना के आसपास परिसर के गरीब विद्यार्थियों को पढ़ने में उनकी मदत भी करती है,यही नही जी 20 समिति के प्रजेंटेशन व नृत्य और सवाल जवाब में वह पहले से आगे थी जिसका भरपूर फायदा उन्हें इस स्पर्धा में मिला और वह विजयी हुई !
  • लोकल मोटरमैन हुआ आउट ऑफ कंट्रोल तो रोकी लोकल ट्रेन फिर हुआ हल्का !

    By fast headline india →
    लोकल मोटरमैन हुआ आउट ऑफ कंट्रोल तो रोकी लोकल ट्रेन फिर हुआ हल्का ! 

    इस कारनामें का किसी ने बनाया वीडियो और हुआ सोसल साइड पर वायरल ! 

    रेलवे प्रशासन ने दिया पूरे मामले के जांच करने का आदेश ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर बुधवार को सुबह पेंटाग्राफ तार टूटने से लोकल की रफ्तार जहा कई घंटों तक थम गई थी वही उल्हासनगर से मुम्बई जाने वाली लोकल ट्रेन रोककर मोटरमेन द्वारा लघुसंका करने का वीडियो वायरल होने से रेल प्रशासन को लेकर फिर यात्रियो में नाराजगी दिखी परन्तु आउट ऑफ कंट्रोल होने पर मोटर मैन की जगह दूसरा कोई भी होता तो वह भी हल्का होने के लिए यही तरीका अपनाता यह भी उतना ही सच है ! 
    बता दे कि आज पेंटाग्राफ टूटने से मध्य रेल्वे को सेवा पूर्ण रूप से चारमारी गयी थी.मोटरमैन भी घंटो साइट लोकल पर सेवा बहाल होने इंतजार कर रहे थे।लोकल सेवा जैस ही चालू हुई थी कि उल्हासनगर से सीएसटी जाने वाली लोकल का मोटरमैन ने उल्हासनगर और विठ्ठलवाडी स्टेशन के दरम्यान ट्रेन को रोककर पटरी पर लघुशंका किया,और लोकल लेकर सीएसटी की तरफ बढ़ गया। स्वच्छ अभियान का सीख देने वाला रेल प्रशांसन लोगों से स्वछता के नाम पर दंड वसूलने वाली अब अपने मोटरमेन को लेकर क्या रवैया अपनाती है यह देखने वाली बात है। बहरहाल यह जो स्थिति है उस स्थिति में कोई भी इंसान आउट ऑफ कंट्रोल होने पर कुछ ऐसा ही करते यह भी एक सच है !
  • रोड़ के खड्डे की वजह से उल्हासनगर में 164 लोगो हुई मौत ? कांग्रेस पार्टी करेगी मनपा के सामने करेगी धरना !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में रोड़ के खड्डों की वजह से हुई अभी तक दुर्घटनाओं में 164 लोगो की हुई मौत, तो 560 लोग हुए जख्मी ! 

     रोड़ के खड्डों पर सालाना करोडो रुपये खर्च होने के हालात बद से बत्तर ! 

     भारतीय काँग्रेस पार्टी शुक्रवार को मनपा मुख्यालय के सामने करेगी धरना आंदोलन ! 

     उल्हासनगर -उल्हासनगर शहर के रोड़ के खड्डे भरने के लिए उल्हासनगर मनपा प्रशासन ने सालाना करोडो रुपयां खर्च करती है .उसके बादजूद शहर के रोड़ की हालत बद से बत्तर है इन रोड़ के खड्डों के चलते लोगो को अपनी जान भी गवानी पड़ी है .इसके लिए इन घटनाओ की जिम्मेदार मनपा प्रशासन है ऐसा आरोप भारतीय काँग्रेस के जिल्हा सचिव रोहित सालवे इन्होंने किया है.इस विषय को लेकर मनपा प्रशासन के निषेधार्थ इस शुक्रवार को मनपा मुख्यालय के सामने धरना आंदोलन करने की बात सालवे ने कहा है.     
    उल्हासनगर शहर का क्षेत्रफळ सिर्फ 13 वर्ग कि,मी में फैला हुआ है जो महानगरपालिका के मुताबिक एक छोटी महानगरपालिका भी है. शहर भर की रोड़ की लंबाई 61 .94 किलोमीटर है और पिछले पाच सालों में रोड़ के खड्डे भरने के लिए 36 करोड 34 लाख रुपये खर्च किया गया है. उसके बावजूद शहर के रोड़ की अवस्था बिकट है. यही कारण है माहिती अधिकार के द्वारा मिली जानकारी 10 सालों में रोड़ के खड्डों की वजह से हुई दुर्घटनाओं में 164 लोगो की मौत होने का आंकड़ा सामने है तो 560 लोग जख्मी हुए .यही नही खड्डे की वजह से मरने वालों की संख्या भी कम होने के बजाय बढ़ती जा रही है .       मनपा ने खड्डे भरने के लिए कुछ ठराविक ठेकेदारो को ही हमेशा काम दिया जाता है ,इसके लिए जो निविदा मंगाते है उस निविदा में दी गई गए नियम के अनुसार काम होता नही है और ठेकेदार के काम की जांच मनपा के सार्वजनिक बांधकाम विभाग के द्वारा गंभीर तरीके से नही किया जा रहा है ,यही नही तो ठेकेदार के कागदपत्र की जांच भी नही किया जाता है यही कारण है कि पहली ही बारिश में रोड़ में खड्डों की भरमार हो जाती है ऐसा आरोप रोहित सालवे किया है .       इस संदर्भ में मनपा प्रशासन से कई बार शिकायत करने के बाद भी किसी प्रकार की कोई कर्यवाई किया जाता नही है इस लिये भारतीय काँग्रेस पार्टी के द्वारा मनपा मुख्यालय के सामने शुक्रवार को 19 जुलाई को धरणे आंदोलन करने की सालवे ने पत्रकारो को कही है . 
  • जीआईएस मैपिंग के विरोध में शहर बंद का मामला टला !

    By fast headline india →
    जीआईएस मैपिंग के विरोध में शहर बंद का मामला टला ! 

    पुलिस, मनपा व सामाजिक संगठनों की सकारात्मक बातचीत के बाद लिया गया यह निर्णय !

     एक हप्ते में ठोस कार्यवाई नही हुई तो फिर से करेंगे शहर बंद ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर विभिन्न सामाजिक संगठनों ने जीआईएस मैपिंग और कोलब्रो कंपनी द्वारा की गई प्रॉपर्टी टैक्स में बढ़ोतरी को रद्द करने की मांग की है और उल्हासनगर मनपा क्षेत्र में सामाजिक कार्यकर्ताओं के खिलाफ अपराध को वापस लेने के लिए लाए गए बंद को एक सप्ताह के लिए टाल दिया गया है।
    बता दे कि उपायुक्त संतोष देहरकर के साथ बैठक के बाद, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने सकारात्मक निर्णय लिया। जीआईएस मैपिंग और कोल्बरो कंपनी के विरोध में कुछ सामाजिक संगठनों ने उल्हासनगर बंद का आवाहन किया था, इसलिए शहर में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सहायक पुलिस आयुक्त डीडी टेले, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुधाकर सुराडकर, नगरसेवक प्रमोद टाले, सामाजिक कार्यकर्ता व दैनिक हिंदमाता मिरर के संपादक पंजू बजाज, दिलीप मालवणकर, निखिल गोले, शशिकांत दायमा, ज्योती तायडे, कारी मखिजा और अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में उपायुक्त संतोष देहरकर के कार्यालय में एक बैठक आयोजित की गई थी। उल्हासनगर नगर निगम के मामले में, कोलब्रो कंपनी को दिया गया अनुबंध अन्य महानगरपालिकाओं की तुलना में अधिक है, इसलिए इस अनुबंध को रद्द करने का प्रस्ताव महासभा में सर्वसम्मति से पास किया गया है। इस संबंध में, मैंने उच्च न्यायालय में एक याचिका भी दायर की है, जबकि कोलब्रो कंपनी के कर्मचारी घर-घर जाकर काम कर रहे हैं । उन्हें काम रोकने का आदेश दिया जाए, ऐसा नगरसेवक प्रमोद टाले ने कहा। सामाजिक कार्यकर्ता पंजू बजाज ने कहा कि कंपनी के कर्मचारी मनपा और कोलब्रो कंपनियों के बीच अनुबंध के अनुसार काम नहीं कर रहे हैं, उनके पास पहचान पत्र नहीं हैं, कर संग्रह में काम करते समय, एक नियम है कि उन्हें संपत्ति विभाग में कर्मचारियों के साथ जाना चाहिए, लेकिन वे मनपा के कर्मचारियों के साथ नहीं रहते हैं,ऐसा आरोप उन्होंने लगाया है।   सामाजिक कार्यकर्ता दिलीप मालवणकर ने आरोप लगाया कि विट्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन में सामाजिक कार्यकर्ता परमानंद गारेजा के खिलाफ गंभीर रूप से मामला दर्ज किया गया है, ऐसा आरोप उन्होंने लगाया है।   प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए, उपायुक्त संतोष देहरकर ने कहा कि किसी भी मामले में जीआईएस मैपिंग को रद्द नहीं किया जा सकता है, और कंपनी कोलब्रो कंपनी के मामले में आयुक्त सुधाकर देशमुख के साथ चर्चा के बाद निर्णय लिया जाएगा। देहरकर सामाजिक संगठनों से इस बंद को स्थगित करने का निवेदन किया, जिसे सामाजिक संगठनों ने एक सप्ताह के लिए इस बंद को स्थगित कर दिया है।
  • यमराज बनी इमारत 10 लोगों की मौत, 40 से ज्यादा लोग दबे होने की आशंका !

    By fast headline india →
    यमराज बनी इमारत 10 लोगों की मौत, 40 से ज्यादा लोग दबे होने की आशंका ! 

    सौ साल पुरानी थी इमारत !NDRF और स्थानीय प्रशासन राहत एवं बचाव अभियानों में जुटे !

    म्हाडा के नियमानुसार लोगों ने रीडिवेलपमेंट के लिए एक डिवेलपर को अपॉइंट किया ! 

    मुंबई-मुंबई मूसलाधार बारिश से जूझने के बाद देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के डोंगरी में मंगलवार को एक चार मंजिला इमारत ढह गई। इस हादसे में अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि इमारत के मलबे में 40-50 लोगों के दबे होने की आशंका है। 8 घायलों को मलबे से बाहर निकाला गया है। 

    बता दे कि घायलों को जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि शुरुआती जानकारी के मुताबिक 15 परिवार अभी भी मलबे में दबे हैं और उन्हें निकालने की कोशिश जारी है। यह बिल्डिंग 100 साल पुरानी है। हमारा पूरा फोकस मलबे में दबे लोगों को बाहर निकालने पर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया है। PMO के ट्वीट के मुताबिक पीएम मोदी ने कहा, 'मुंबई के डोंगरी में इमारत ढहने की घटना पीड़ादायक है। मेरी संवेदनाएं उन परिवारों के साथ हैं, जिन्होंने अपनों को खो दिया है। मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। महाराष्ट्र सरकार, NDRF और स्थानीय प्रशासन राहत एवं बचाव अभियानों में जुटे हुए हैं।' महाराष्‍ट्र के आवास मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल ने बताया कि डोंगरी में इमारत गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई है।स्थानीय लोगों ने बताया कि डोंगरी इलाके में केसरबाई नाम की यह चार मंजिला इमारत लगभग 100 साल पुरानी थी। मंगलवार को करीब 11.30 बजे अचानक इमारत गिर पड़ी। बताया जा रहा है कि इमारत गिरने से इसमें रह रहे तमाम लोग नीचे दब गए। रेस्क्यू के दौरान एक बच्चे को भी मलबे से बाहर निकाला गया और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है।मौके पर एनडीआरएफ, फायर ब्रिगेड और ऐंबुलेंस मौजूद हैं। इमारत संकरी गली में होने के चलते राहत कार्य में परेशानी आ रही है। मौके पर एनडीआरएफ की टीम बुलाई है। गली में फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भी नहीं जा पा रही है। ये टीमें पैदल ही घटनास्थल पर पहुंचकर राहत कार्य में जुट गई हैं। डोंगरी हादसे पर सीएम देवेंद्र फडणवीस ने बताया कि जो बिल्डिंग गिरी है, उसमें करीब 15 परिवारों के फंसे होने की आशंका है। म्हाडा के नियमानुसार लोगों ने रीडिवेलपमेंट के लिए एक डिवेलपर को अपॉइंट किया था। उसने डिवेलपमेंट क्यों नहीं किया? इसकी जांच कराई जाएगी। फिलहाल अभी पीड़ित परिवारों को सुरक्षित रेस्क्यू कराने पर हमारा जोर है। जो मुआवजा सरकार देती है, वह पीड़ित परिवारों को दिया जाएगा।संकरी गली में बनी इस इमारत के नीचे दुकानें बनी थीं, जबकि इसकी ऊपरी मंजिलों पर परिवार रह रहे थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि लगभग छह परिवार इस इमारत में रह रहे थे। इमारत का आधा हिस्सा जर्जर था, जिसके गिरने की आशंका पहले से ही थी लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। इससे आसपास के लोगों में गुस्सा भी है।इमारत गिरने की तेज आवाज दूर-दूर तक फैल गई। धूल का गुबार उड़ा। सैकड़ों लोग मौके पर पहुंच गए। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं। बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है और मलबे में दबे लोगों को निकालने की कोशिश जारी है।घटनास्थल पर राहत कार्य के लिए पहुंचे फायर अधिकारियों ने बताया कि जो इमारत गिरी है उससे सटी हुई एक और इमारत है। यह इमारत भी बेहद जर्जर स्थिति में है। इमारत गिरने के बाद इस बगल वाली बिल्डिंग का सपॉर्ट हट जाने के कारण अब दूसरी बिल्डिंग गिरने की आशंका भी तेज हो गई है। लोगों को इस बिल्डिंग से दूर हटाया जा रहा है।हादसे से प्रभावित लोगों के लिए बीएमसी ने इमामबाड़ा म्युनिसिपल सेकंडरी गर्ल्स स्कूल में शेल्टर होम बनाया है। लोगों को वहीं सुरक्षित रखा गया है। फिलहाल आसपास की इमारतें खाली करा ली गई हैं। मरने वाले दो लोगों में एक बिल्डिंग के मालिक अब्दुल सत्तार कल्लू शेख भी शामिल हैं। साबिया निसार शेख, अब्दुल सत्तार कालू शेख, मुजामिल मंसूर सलमानी, सायरा रेहान शेख, जावेद इस्‍माईल, अरहन शेहजाद और कश्‍यप्‍पा अमीराजान की हबीब हॉस्पिटल में मौत हो गई।वहीं, फिरोज नाजिर सलमानी, अनोलखी, आयेशा शेख, सलमा अब्दुल सत्तार शेख, अब्दुल रहमान, नावेद सलमानी, इमरान हुसैन कलवानी और जीनत का इलाज जेजे हॉस्पिटल में चल रहा है। । एक अज्ञात घायल को हबीब हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।
  • जीआयएस मॅपिंग का विरोध करने वाले व्यापारी पर दर्ज हुआ डकैती का एफआईआर !

    By fast headline india →
    जीआयएस मॅपिंग का विरोध करने वाले व्यापारी पर दर्ज हुआ डकैती का एफआईआर ! 

    कोर्ट ने दो दिन की पुलिस रिमांड भेजा ! 

    सरकारी दस्तावेज फाड़ने का वीडियो खुद किया था वायरल ! 

    कानून को हाथ में लेने वालों के ऊपर कार्यवाई हुई है-उमपा आयुक्त

     उल्हासनगर-उल्हासनगर महापालिका महासभा में पिछले दिनों हाउस टैक्स विभाग द्वारा शुरू किया गया जीआयएस मॅपिंग का महासभा में बहुमत से रद्द कर दिया गया था.परंतु यह ठेका अभी तक मनपा प्रशासन के द्वारा रद्द नही किया है,इस लिए जीआयएस मैपिंग का कार्य शुरु था. वही जीआयएस मैपिंग कॉलब्रो कर्मचारियों का विरोध करने वाले व्यापारी पर विठ्ठलवाडी पुलिस ने डकैती का मामला दर्ज किया है,और सोमवार को आरोपी को कोर्ट में हाजिर किया जहां पर कोर्ट ने दो दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है, वही इस मामले में शहर के कई सामाजिक संस्थाओं ने अपना विरोध जताया हैं, 
    बता दे कि उल्हासनगर महापालिका के महासभा में सर्व पक्ष के नगरसेवको ने जीआयएस मॅपिंग का कड़ा विरोध किया था.जिसे गंभीरता से लेते हुए महापौर पंचम कलानी ने जीआयएस मॅपिंग का ठेका रद्द करने का आदेश मनपा प्रशासन को दिया था पर मनपा प्रशासन ने ठेका रदद् करने का आदेश जारी नही किया.वही नागरिको ने जीआयएस मॅपिंग करनेवाले कर्मचारियों का विरोध करना शुरू कर दिया. शनिवार की दोपहर कॉलब्रो कंपनी के कर्मचारी सतीश शिंदे, रोशन दुबे और गोपाळ राठोड उल्हासनगर कॅम्प ४ के बाजारपेठ परिसर में हेमा कलेक्शन नामक दुकान में जीआयएस मॅपिंग का कार्य कर रहे थे, कि वहाँ व्यापारी नेता परमानंद गेरेजा आये और जीआयएस मॅपिंग करने वाले कर्मचारियों के साथ गालीगलौच करते हुए उनके कागज फाड़ दिए, और उसका माप लेना वाला डिजिटल मशीन ले लिया।इस मामले में सतीश शिंदे नामक कॉलब्रो कंपनी के कर्मचारी ने विठ्ठलवाडी पुलिस स्टेशन में सरकारी काम मे अड़चन,चोरी के तहत मामला दर्ज कराया। इस बारे व्यापारी नेता जगदीश तेजवानी ने कहा कि छुट्टी के दिन यह कर्मचारी दुकान में आये थे.इनसे परमानंद गेरेजा ने परिचय पत्र मंगा तो कर्मचारियों ने असमर्थता दिखाई,तो उनका कागज फाड़ दिया.और स्वम इस घटना का व्हिडिओ व्हायरल किया.साथ ही किसी कर्मचारियों का कोई मैपिंग मशीन नही ली। वही पालिका आयुक्त सुधाकर देशमुख ने कहा कि उल्हासनगर महापालिका का पदभार स्वीकार करने से पहले जीआयएस मॅपिंग स्थायी समिती में पास किया गया था.उसी आधार पर ठेकेदार ने काम शुरू किया है.महासभा में इसका विरोध किया किया गया.अभी तक कोई ठराव मिला नही है.ठराव आने के बाद कोई निर्णय लिया जाएगा.तब तक नागरिक कायदा अपने हाथ मे न ले।
  • दो दरोगा को उनके ही थाने में किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    दो दरोगा को उनके ही थाने में किया गिरफ्तार ! 

    एसएसपी मिश्रा ने दिया पूरी कार्यवाई को अंजाम ! 

    दोनों दरोगा इंट्री माफिया के साथ मिलकर कर रहे थे अवैध वसूली ! 

    उत्तरप्रदेश-उत्तरप्रदेश के गया जिले के दो दरोगा को गाड़ियों से अवैध वसूली के आरोप में गिरफ्तार किया है। ये दोनों दरोगा जिले के बाराचट्टी थाना में पदस्थापित है। बताया जा रहा है कि एसएसपी राजीव मिश्रा को वाहनों से अवैध वसूली की सूचना मिली थी। जिसके बाद एसएसपी खुद बाराचट्टी थाना पहुंच मामले की जांच-पड़ताल की। जांच के दौरान पर्याप्त सबूत मिलने के बाद थाने में पदस्थापित दो दरोगा को उनके ही थाने में गिरफ्तार कर लिया गया।
    घटना के संबंध में बताया गया है कि बाराचट्टी थाना क्षेत्र स्थित एक लाइन होटल में छड़ लदे दो ट्रक खड़े थे। इसी दौरान रात में दो एसआई धर्मेंन्द्र कुमार और हरेन्द्र कुमार वहां पहुंचे और ट्रक चालकों से कागजात की मांग की। कागजाता सही होने के बावजूद ओवर लोड की बात कहकर दोनो को अपने साथ ले गए और पैसे की मांग करने लगे। इस बात की शिकायत ट्रक मालिक एसएसपी से की थी। जिसके बाद एसएसपी ने पूरे मामले की जांच की और दोनो दरोगा के खिलाफ पर्याप्त मात्रा में सबूत मिलने के बाद उन्हें थाने में गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि दोनों दरोगा इंट्री माफिया के साथ मिलकर पिछले कई दिनों से अवैध वसूली का काम कर रहे थे
  • मामूली विवाद में पति ने की अपनी ही पत्नी की हत्या !

    By fast headline india →
    मामूली विवाद में पति ने की अपनी ही पत्नी की हत्या ! 

    दुपट्टे से गला घोंटकर उतारा मौत के घाट ! 

    हत्या की जानकारी भी पति ने खुद ही फ़ोन करके पुलिस को दिया ! 

    अंबरनाथ -अंबरनाथ शहर में एक चौका देने वाला मामले सामने आया है, पति के द्वारा अपनी पत्नी की हत्या किया जाता है पति ही इसकी सूचना पुलिस को देता है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पति ने अपनी पत्नी के गले मे दुपट्टा डालकर हत्या कर दिया इस मामले में शिवाजी नगर पुलिस पति पर हत्या का मामला दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है। 
    पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक अंबरनाथ के पटेल इलियाझम पालेगाव परिसर की घटना है दीपक भोई अपने पत्नी रुपाली से किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था उसी बात से नाराज ने दुपट्टा से गला दबाकर मौत के घाट उतार दिया है। विश्वसनीय सूत्रों की माने तो घर मे रोज झगड़े होते रहते थे जिसमें छोटी से बात को लेकर दोनों का झगड़ा हुवा था तभी गुस्साए पती दीपक भोई ने मंगलवार को पत्नी रुपाली के गले मे दुपट्टा डालकर मौत की नींद सुला दिया । आरोपी पति ने ही पुलिस को फोन करके इसकी जानकारी भी देने का मामला सामने आया है,पूरे मामले में आरोपी दीपक को शिवाजी नगर पुलिस अपने हिरासत में लिया है मामले की जांच चल रही है।
  • हाउस टैक्स नही भरने से आम जनता का होगा नुकसान !

    By fast headline india →
    हाउस टैक्स नही भरने से आम जनता का होगा नुकसान ! 

    सोशल मीडिया के मैसेज पर विश्वास नही करे जनता  -आयुक्त 

    जी एस आय मैपिंग व यूजर टॅक्स प्रशासन ने नही किया है अभी रद्द !

    उल्हासनगर - उल्हासनगर महानगरपालिका के द्वारा बढ़ाए गये हाउस टैक्स को जनता भरे नही ऐसा आवाहन कुछ स्थानीय राजकीय नेता व कथित समाजसेवको के द्वारा सोशल मीडिया पर किया जा रहा है, वही इस पर शहर की जनता से अपील किया गया अपना हाउस टैक्स समय पर भरे ताकि लेट होने पर लगने वाले 2 प्रतिशत ब्याज से बजे क्योकि टैक्स नही भरने पर नुकसान जनता का होगा ऐसा आवाहन मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख के द्वारा किया गया है . मंगलवार को मनपा मुख्यालया के स्थायी समिती सभागृह में मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख इन्होंने पत्रकार परिषद में यह जानकारी दी है .
    पिछली महासभा मे हाउस टैक्स में समाविष्ट हुए जी एस आय मैपिंग करने का ठेका कोलब्रो कंपनी का रद्द करने का प्रस्ताव व युजर टॅक्स रद्द किया जाय ऐसा ठराव सर्वपक्षीय नगरसेवको के द्वारा पास किया गया है. इस ठराव के आधार पर कुछ राजकीय नेता व कथित समाजसेवका ने सोशल मीडिया पर नागरिको हाउस टैक्स भरू नका ऐसा आवाहन किया है , इस पर शहर भर में उलटसुलट चर्चा भी शहर भर हो रहा है. इन सारी बातों पर स्पष्टीकरण करते हुए मनपा आयुक्त ने कहा कि नगरसेवको के द्वारा किया गया ठराव और सोशल मीडिया पर शुरू हुई चर्चा के विषय में मुझे कुछ बोलना नही है, जो लोग ऐसा बोल रहे वो उनका अधिकार है ,परन्तु शहर की जनता हाउस टैक्स नही भरे ऐसे अफवाह पर विश्वास रखे नही, मनपा की हाउस टैक्स बकाया 350 करोड रुपये है इसमें 130 करोड रुपये व्याज है . यह व्याज माफी किसी भी परिस्थिती में किया नही जा सकता है ऐसा क्लियर संदेश दिया है आयुक्त ने . हाउस टैक्स विभाग की निराशाजनक टैक्स वसुली से मनपा आयुक्त ने हाउस टैक्स विभाग के 150 कर्मचारियो का वेतन रोका था , व वेतन अभी दिया गया है . कर्मचारियो वेतन रोकने के बाद इस विभाग के प्रमुख उपायुक्त युवराज भदाणे इन्होंने अपनी नैतिक जबाबदारी को स्वीकार करते हुए अपनी पगार लेने से मना किया था परन्तु आयुक्त के निर्णय के बाद अपने वेतन को स्वीकार किया है .
  • भारत व न्यूजीलैंड के सेमीफाइनल मुकाबले से पहले घरों में छिपे सटोरिए !

    By fast headline india →
    भारत व न्यूजीलैंड के सेमीफाइनल मुकाबले से पहले घरों में छिपे सटोरिए ! 

    भागे सटोरियों ने वापी और दमन में किराए के घर में लिए है आसरा ! 

     मुंबई में ज्यादातर बुकीज फाइव और सेवन स्टार होटलों से हुए थे गिरफ्तार ! 

    इसके लिए सटोरिए ने बदला अपना ठिकाना !

     मुंबई- मुंबई में ज्यादातर बुकीज फाइव और सेवन स्टार होटलों से गिरफ्तार हुए थे, इसलिए मुंबई से भागे सटोरियों ने वापी और दमन में किराए के घर लिए हुए हैं। इसमें किराए का अग्रीमेंट किसी और के नाम है, जबकि घर में बुकी रह रहे हैं। पिछले सवा महीने में पुलिस की छापेमारी की वजह से मुंबई के कई बड़े सटोरियों ने अपनी मोडस ऑपरेंडी बदल दी है। अब वे मुंबई से गुजरात शिफ्ट हो गए हैं। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि उनकी जानकारी में सटोरियों ने इस वक्त गुजरात के दो शहरों- दमन और वापी में डेरा डाला हुआ है।
    बता दे कि मुंबई में ज्यादातर बुकीज फाइव और सेवन स्टार होटलों से गिरफ्तार हुए थे, इसलिए मुंबई से भागे सटोरियों ने वापी और दमन में किराए के घर लिए हुए हैं। इसमें किराए का अग्रीमेंट किसी और के नाम है, जबकि घर में बुकी रह रहे हैं। घरों में टीवी, तेज स्पीड का वाई-फाई वगैरह सब लगे हुए हैं। यही नहीं, ऐसे घरों को ज्यादा वरीयता दी गई है, जहां घरों के ठीक बाहर सीसीटीवी कैमरा लगा हो, ताकि अगर पुलिस आए तो घर के अंदर से ही पुलिस को ट्रेस किया जा सके। हालांकि तमाम सटोरियों के मुंबई के बाहर भागने के इनपुट्स मिले हैं, लेकिन फिर भी मुंबई पुलिस ने अलग-अलग जोन में अपना खबरियों का नेटवर्क फैलाया हुआ है, ताकि कहीं से ढिलाई न हो। आज क्रिकेट वर्ल्ड कपके सेमीफाइनल में भारत का न्यू जीलैंड से मुकाबला है। चूंकि टॉप टीमों में भारत नंबर वन पर और न्यू जीलैंड चौथे नंबर की टीम है, इसलिए सटोरियों के लिए भारत जीत की ज्यादा फेवरेट टीम है। भारत की जीत पर 40 पैसे का भाव लगा है, जबकि न्यू जीलैंड की जीत पर पौने दो रुपये का रेट है। मैच शुरू होने और टॉस के बाद सट्टे का भाव बदल भी सकता है।केंद्रीय जांच एजेंसियां और आईसीसी का ऐंटि करप्शन सेल भी हर मैच पर नजर रखे हुए है, कि कहीं सटोरिए खिलाड़ियों या अंपायरों से संपर्क करने की कोशिश तो नहीं कर रहे। सट्टेबाजी में अंडरवर्ल्ड की गतिविधियों पर भी नजर रखी जा रही है।
  • आखिरकार एसडीओ गिरासे कोरकमेटी के सामने हुए नतमस्तक !

    By fast headline india →
    आखिरकार एसडीओ गिरासे कोरकमेटी के सामने हुए नतमस्तक ! 

    वसणशाह दरबार,व पुलिस वसात की जगह की सनद को किया रद्द ! 

    जय बाबा धाम के लोगो ने किया प्रदर्शन ! 

    नव सौ चूहे बिल्ली खाकर चली हज करने,,, इस कवाहत को चरितार्थ करते दिखे गिरासे हक मांगने वालों को बताया ब्लैकमेलर ! 

    हजार करोड़ो का घोटाले बाज एसडीओ के खिलाफ मेरी जंग जारी रहेगा -वाधवा 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर के साई वसणशाह दरबार के पास की ज़मीन पे कब्ज़े को लेकर कटघरे में खड़े उल्हासनगर उपविभागीय अधिकारी के ख़िलाफ़ शहर के व्यापारी, संतों की बड़ी जीत हुआ वसणशाह दरबार व पुलिस वसात की जगह की सनद को रद्द कर दिया है,जिसके चलते महाभूख अनशन को वापस ले लिया गया है, जय बाबा धाम के लोगो ने सोमवार को अपना विरोध जताया उनको भी आश्वसन मिलने के बाद अपना विरोध बंद किया ! 
    बता दे कि 10 जुन को निकली विशाल मोटरसाइकिल रैली में दरबार के करीबन तीन हजार सेवाधारियों ने हिस्सा लिया, समाज के गणमान्यों की उपस्थिति में उल्हासनगर एस डी ओ जगतसिंग गिरासे को निवेदन दिया गया जिसमें एस डी ओ ने उपस्थितों को 3 दिन का समय मांगा और जांच करके अग्रिम कारवाई करने का आश्वासन भी दिया, इस दौरान जिनकी ज़मीन की वजह से ये घमासान शुरू हुआ वो सुनील भोईर और उनके सहयोगी सतपालसिंह के द्वारा एक विडियो जारी कर ये जानकारी दी गयी कि सुनिल भोईर अपनी ज़मीन का हिस्सा छोड़ने को तैयार है, 3200 वाल ज़मीन पर जो सीडी दी गई है वो भी रद्द करके दरबार को दे दिए जाएं, जब दोनों पार्टी तैयार थे, और एस डी ओ गिरासे के गले की हड्डी बना ये मामला सुलझने को तैयार था, उतने में फिर से सुनील भोईर ने मराठी राग अलापते हुए सोशल मिडिया पे यह लिखा कि, मेरी ही 500 वाल की सी डी क्यु रद्द की जा रही है, बाकी सबकी भी करो, आंदोलनकारियों को गिरासे ने आश्वासन दिया था कि आगामी 3 दिन 72 घंटों में उल्हासनगर एस डी ओ दरबार के पक्ष में कुछ सोचेंगे, दुसरे दिन ही उन्होंने ओमी कालानी और ओमी साईं की बुलाकर एक पत्र थमा दिया जिसमें सी डी होल्डर सुनील भोईर को एस डी ओ द्वारा ये आदेश दिए गए कि, जबतक कागजातों की पूर्तता नही हो जाती तबतक उक्त प्लॉट पर वो कोई भी निर्माण या गतिविधि नही कर सकते, आश्वासन की पुर्तता ना होते देख स्टे की कॉपी सोमवार वसनशाह दरबार के निर्देश पर कोअर कमिटी द्वारा एसडीओ कार्यालय को वापस कर दिया गया है , साथ ही यह घोषणा भी की गई कि, मांग जल्द ही पुरी ना होने पर 8 जुलाई के दिन महा भूख हड़ताल होगी, इस भुख हड़ताल में हज़ारों की संख्या में वसणशाह दरबार के सेवाधारी शामिल होंगे। परन्तु उससे पहले ही पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी हरकत में आ गए कानून ब्यवस्था को ध्यान में रखते हुए इस विषय की मध्यस्थता जोन चार के डीसीपी प्रमोद सेवाले एसीपी टेले व स्थानिय पुलिस अधिकारियों की उपस्थिति में एसडीओ गिरासे व एसबीसी कोर कमेटी की बैठक बुलाई लंम्बी चले इस बातचीत में यह निर्णय एसडीओ ने लिया कि वसनशाह दरबार व पुलिस बसात की जगह की सनद को रद्द किया जाता है, उस आदेश के मिलने के बाद महाभूख हड़ताल को वापस ले लिया गया,जब कि जय बाबा धाम के लोगो ने सोमवार को अपना विरोध जारी रखा था परन्तु उन्हें जब गिरासे के द्वारा आश्वासन दिया गया तो उन्होंने भी अपना विरोध बंद किया है, इस लम्बी चली लड़ाई में आखिरकार सच की जीत हुआ ऐसा कहना गलत नही होगा एसडीओं गिरासे घुटने पर आकर अपनी गलती को मानते हुए सनद को रद्द किया परन्तु अभी भी बहुत सारे मामले है जिस पर उनपर गाज गिरना तय है और एक भूमाफिया को फायदा पहुचाने के चक्कर मे और क्या क्या होना बाकी है यह तो आने वाले समय पर ही सामने आएगा !
  • तालुका क्रीड़ा संकुल का सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे के हाथों हुआ भूमिपूजन !

    By fast headline india →
    तालुका क्रीड़ा संकुल का सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे के हाथों हुआ भूमिपूजन ! 

    महानगरपालिका की हद में पहला क्रीड़ा संकुल बनेगा ! 

    विधायक डाँक्टर बालाजी किणीकर के अधक प्रयास से मिला उल्हासनगर वाशियो को क्रीड़ा संकुल ! 

    उल्हासनगर- उल्हासनगर में आंतरराष्ट्रीय दर्ज का क्रीडा संकुल का भूमिपूजन आज शनिवार को श्री कांत शिंदे के हाथों सम्पन हुआ.इससे शहर में आंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों की प्रतिभा खुलकर सामने आएगी.यह वाक्य क्रीडा संकुल भूमिपूजन के मौके पर कल्याण जिल्हाप्रमुख गोपाल लांडगे ने वक्त किए है. उल्हासनगर विधायक डॉ. बालाजी किणीकर पिछले कई वर्षों से उल्हासनगर में क्रीडा संकुल को लेकर प्रयासरत थे. 
    उल्हासनगर शहर में खिलाड़ियों की प्रतिभा में और निखार लाने व क्रीडा क्षेत्र में उल्हासनगर शहर का नाम ठाणे सहित पूरे देशभर में उज्वल होने की भावना लेकर डॉ. बालाजी किणीकर ने पालकमंत्री ना. एकनाथ शिंदे के मार्गदर्शन में संसद डॉ. श्रीकांत शिंदे के सहयोग से शासन के पास क्रीडा संकुल बनने के लिए काफी मेहनत की.तत्कालीन क्रीडामंत्री ना. विनोद तावडे ने उल्हासनगर -५ के दसरा मैदान में क्रीडा संकुल बनाने को लेकर निधी की मंजूरी दी। इस मौके पर विधायक ज्योती कालानी,शहरप्रमुख राजेंद्र चौधरी, तहसीलदार विजय वाकोडे, उपशहर प्रमुख राजेंद्र शाहु, दिलीप गायकवाड, परशुराम पाटील, संदीप गायकवाड, अरुण आशान, महिला शहर संघटिका सौ.मनीषा भानुशाली, जिल्हा क्रीडा अधिकारी सौ.स्नेहल सालुुंखे, विभाग प्रमुख दत्ता पोलके, राजू माने, जेष्ठ नगरसेवक सतरामदादा जेसवाणी, किशोर वणवारी, सुरेश जाधव, सुमित सोनकांबले, उपविभाग प्रमुख आदिनाथ कोरडे, नगरसेविका सौ.ज्योती माने सहित शिवसेना के पदाधिकारी, युवासेना व बड़ी संख्या में महिला आघाडी की सदस्य उपस्थित थी. उल्हासनगर शहर में बनने वाली सर्वप्रथम सर्व सुसज्जित क्रीडा संकुल को लेकर क्रीडाप्रेमींयो में उत्साह का वातावरण निर्माण हुआ है।
  • महिला क्लार्क दो हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    महिला क्लार्क दो हजार की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार ! 

    तहसीलदार कार्यालय में कार्यरत क्लार्क पर एंटीकरप्शन विभाग ने की कार्रवाई ! 

    दिब्याग महिला से चार हजार की मांगी थी रिश्वत !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में एक मूक बधिर युवती दीपाली पवार को संजय गांधी निराधार अनुदान स्कीम का रुका हुआ मानधन दिलाने के लिए महिला क्लर्क ने ४ हजार रुपए की रिश्वत की मांग की थी,उसी का २००० रुपए लेते हुए ठाणे एन्टी करप्शन दस्ते ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।
    बता दे कि मुकुंद नगर में रहने वाली २२ वर्षीय दिव्यांग युवती को संजय गांधी निराधार योजना के तहत मिलने वाला छह महीने का मानधन लिपिक दीपाली पवार ने रोक रखा था, इसे शुरू करने के लिए उसने युवती से ४हजार रुपए की रिश्वतकी मांग की थी। ,इस प्रकरण में दिव्यांग युवती ने तहसीलदार कार्यालय में संजय गांधी निर्धार अनुदान योजना के कार्यालय में कार्यरत दीपाली पवार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई ।इस शिकायत के आधार पर ठाणे एन्टी करप्शन ब्यूरो के पुलिस निरीक्षक विलास मते, सहायक पुलिस निरीक्षक दीपक बरगे, पुलिस नायक सचिन मोरे, तानाजी गायकवाड़, महिला पुलिस अश्विनी राजपूत ने लिपिक दिपाली पवार को २ हजार रुपए रिश्वत लेने के आरोप में रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।
  • उल्हासनगर मनपा शिक्षा विभाग में हो रहे घोटालों पर जांच की मांग को लेकर मनसे नेता ने मुख्यमंत्री से किया मुलाकात !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर मनपा शिक्षा विभाग में हो रहे घोटालों पर जांच की मांग को लेकर मनसे नेता ने मुख्यमंत्री से किया मुलाकात ! 

    अवैध कोचिंग क्लासेज की भी जांच की मांग किया है ! 

    लिखित पत्र देकर मुख्यमंत्री को समस्याओं से कराया अवगत !  

    उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा के शिक्षा बोर्ड के अराजक कारभार अवैध और असुरक्षित कोचिंग क्लासेस और अन्य मुद्दों की शिकायत माणसे नेताओं ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और नेता प्रतिपक्ष धनंजय मुंडे से की है। इस संबंध में उन्होंने प्रत्यक्ष साक्षात्कार के साथ एक लिखित निवेदन भी प्रस्तुत किया था। 
    उल्हासनगर मनपा के तहत स्थित विद्यालयों को दुर्लक्षित किया जा रहा है,कुछ विद्यालयों की हालत जर्जर हालत में पंहुच गई है, छात्रों को घटिया दर्जे का साहित्य दिया जाता है, शिक्षा बोर्ड की मनमानी चल रही है, इसकी शिकायत महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना के उल्हासनगर के अध्यक्ष मनोज शेलार, जिला कलेक्टर और राज्य सरकार के पास की है, साथ ही अवैध और असुरक्षित कोचिंग कक्षाओं के मामले पर भी सरकार का ध्यान दिलाने का कार्य किया है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और विपक्षी नेता धनंजय मुंडे को मनविसे के उल्हासनगर शहर अध्यक्ष मनोज शेलार ने इस संबंध में एक लिखित निवेदन भी प्रस्तुत किया। मनोज शेलार ने संवाददाताओं को बताया कि मुख्यमंत्री ने उल्हासनगर मनपा को इस संदर्भ में जांच का आदेश दिया है।
  • कर वसूली पर खरा न उतरने के कारण 125 कर्मचारियों का वेतन रोका गया !

    By fast headline india →
    कर वसूली पर खरा न उतरने के कारण 125 कर्मचारियों का वेतन रोका गया ! 

    कर उपायुक्त ने अपने व डिपार्टमेंट के काम असंतुष्ट होने पर की गई थी यह सिपारिस !

     मनपा आयुक्त ने इस पर अपनी सहमति जताते पगार रोकने का दिया आदेश ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा द्वारा वसूला गया संपत्ति कर जब ४०० करोड़ तक पहुंच गया, लेकिन कर वसूली का उद्देश्य पूरा न होने के कारण कर विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों का वेतन रुक गया है , जिसमें कर निर्धारणकर्ता, निरीक्षक, लिपिक भी शामिल हैं। मनपा आयुक्त ने स्पष्ट कर दिया है कि ड्यूटी बजाने में कोई कोताही नहीं होनी चाहिए,इसलिए यह कार्रवाई की गई है।
     उल्हासनगर मनपा के आय के स्रोतों में से एक संपत्ति कर संग्रह से ४५० करोड़ रुपए जमा हुआ है। पिछले कुछ वर्षों में, शहर में करदाताओं की लगातार उदासीनता के यह मामला प्रकाश में आया है। कई बार वसूली के लिए अभय योजना की घोषणा की गई। विभिन्न अपील, सुझाव और चेतावनी भी दी गई लेकिन बकाया राशि की मात्रा बढ़ती जा रही है। दूसरी ओर, निगम स्थानीय निकाय कर से खाता बंद करने और खाता बंद करने का आग्रह कर रहा है। नवगठित आयुक्त सुधाकर देशमुख ने भी कर संग्रह पर पूरा ध्यान दिया है। इसके लिए कर संग्रह, कर निर्धारणकर्ता, कर संग्रहकर्ता और क्लर्कों का एक बड़ा संचय है। इस कर वसूली के लिए जून के महीने में 30 से 40 करोड़ का लक्ष्य तय किया गया था। लेकिन पिछले महीने 10 करोड़ रुपये वसूले गए,जिससे मनपा के लक्ष्य को झटका लगा है। कर संग्रह करते समय संपत्ति धारकों को पत्र, सुझाव और नोटिस जारी किए गए थे लेकिन संपत्ति के मालिकों ने कर जमा करने में कोइ दिलचस्पी नहीं दिखाई है। इसीलिए ये टैक्स रिफंड ठप पड़ गया हैं। कमिश्नर सुधाकर देशमुख ने कर चोरी पर सख्त फैसला लिया है। उस निर्णय से वसूली विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों का वेतन रोक दिया गया है। इसमें टैक्स कलेक्टर और कलेक्टर डॉ. युवराज भदाने शामिल हैं, जिनमें कर निरीक्षक, लिपिक और लगभग डेढ़ कर्मचारी शामिल हैं। कर्मचारी और अधिकारी अपने वेतन बाधा से भयभीत हैं। मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने कहा कि कार्य में अनुशासनहीनता के लिए कार्रवाई की जानी चाहिए।
  • नाबालिग बच्चों की खरीद फरोख्त करने वाली गैंग का हुआ पर्दाफाश !

    By fast headline india →
     नाबालिग बच्चों की खरीद फरोख्त करने वाली गैंग का हुआ पर्दाफाश ! 

    पुलिस ने, चार महिला सहित पांच आरोपियो को किया गिरफ्तार !


     आठ नाबालिक बच्चो को किडनेप कर अलग अलग राज्य में लाखो रूपए अभी तक गैंग ने बेचा !


    मुंबई-मुंबई पुलिस की अपराध शाखा यूनिट छह ने एक गुप्त सूचना के आधार पर नाबालिग बच्चों की खरीद फरोख्त करने वाले गैंग का पर्दाफाश कर ४ महिला और एक पुरुष को गिरफ्तार करते हुए २ नाबालिग बच्चो को आज़ाद कराया है। जबकि आगे की जाँच चल रही है, इसमें और भी गिरफ्तारी होने की आशंका है। इससे पहले भी मानखुर्द के साठे नगर इलाके से नाबालिग बच्चो को अपहरण कर बेचने वाले गिरोह को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।  
    मुंबई अपराध शाखा यूनिट छह के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक ए के सोनवणे ने बताया की पुलिस निरीक्षक चंद्रकांत दलवी को विश्वसनीय सूत्र से खबर मिली की महिलाओं की एक गैंग है जो नाबालिग लड़कों और लड़कियों की ख़रीद फ़रोख़्त का कारोबार करते है। इस गैंग ने मानखुर्द के साठे नगर इलाके में भी एक गरीब महिला को लालच देकर उसके दो माह के बच्चो को दूसरे दंपत्ति लाखो रुपये में बेच दिया है। गिरफ्तार आरोपियों ने महिला से यह कहकर अपने विश्वास में ले लिया की तुम गरीब हो और परवरिश कैसे करोगे और हम तुमको चार लाख रूपए दिलाएंगे और तुम जब चाहो अपने बच्चे से मिल सकती हो। लेकिन पीड़ित महिला को सिर्फ एक लाख रूपए दिए और उसके बाद से गायब हो गए थे।  इस सूचना के मिलने के बाद हमने पुलिस उपायुक्त (अपराध) अकबर पठान और सहायक पुलिस आयुक्त (अपराध) शेखर तोरे के नेतृत्व में पुलिस निरीक्षक चंद्रकांत दलवी, पुलिस निरीक्षक अर्पणा जोशी, सहायक पुलिस निरीक्षक अनिल गायकवाड़, सहायक पुलिस निरीक्षक महेश तोरस्कर, सहायक पुलिस निरीक्षक महेंद्र घाग, पुलिस उप निरीक्षक योगेश लामखडे और आदि कॉन्स्टेबल की टीम तैयार की और इस टीम ने एक महिला को मानखुर्द, कुर्ला, ठाणे और कल्याण से गिरफ्तार किया है और इनके कब्ज़े से एक तीन साल और एक तीन माह के दो बच्चे छुड़ाए है।  मुंबई अपराध शाखा यूनिट छह के पुलिस निरीक्षक चंद्रकांत दलवी ने बताया की गिरफ्तार आरोपी महिला भाग्यश्री कोली (२६)२६), सुनंदा मसाने (३०), सविता सालुंखे (३०), ललिता डेनिस जोसेफ (३१) और अमर देसाई (२८) और फरार महिला आरोपी सारिका देसाई (२८) है।  िकनको धारा ३७० (४), ३४ आईपीसी व अन्य धारा के तहत गिरफ्तार किया है। अभी हम इस बात की तहकीकात कर रहे है की इन्होने और कितने बच्चो को बेचा है और इस गैंग में और कौन कौन शामिल है।    इससे पहले भी ०५ दिसम्बर २०१६ में मानखुर्द के साठे नगर से एक साल के लड़के का अपहरण कर बेचने के मामले में मानखुर्द पुलिस ने उस समय पांच महिलाओं समेत 6 आरोपियो को गिरफ्तार कर बच्चे को आज़ाद कराया था। तहकीकात में उस समय इस गैंग ने कबूल किया की हमने अभी तक ८ नाबालिक बच्चो को किडनेप कर अलग अलग राज्य में लाखो रूपए में बेचा है। मानखुर्द पुलिस ने परिमंडल छह पुलिस थानों की एक टीम बनाई और सभी बच्चो को गोवा, अहमदाबाद, कर्नाटक और दूसरे शहरो से आज़ाद कराया था और उस समय भी सहायक पुलिस निरीक्षक अनिल गायकवाड़ टीम का हिस्सा थे और इन्होने अहमदाबाद से दो बच्चो को आज़ाद करा कर तीन लोगो को गिरफ्तार किया था। 
  • भ्रष्ट्राचारी एसडीओ का मुद्दा गूँजेगा आज महाराष्ट्र के सदन में ?

    By fast headline india →
    भ्रष्ट्राचारी एसडीओ का मुद्दा गूँजेगा आज महाराष्ट्र के सदन में ? 

    हजारों करोड़ रुपए के सनद घोटाले हो सकता है पर्दाफाश ! 

    दो विधायको ने पत्र देकर भ्रष्टाचारी एसडीओ गिरासे पर सदन में किया चर्चा की मांग ! 

    8 जुलाई होगा इनके विरोध में महाभूख हड़ताल ! 

     मामला दर्ज हुआ तो साई हिरानंद एक हजार भक्तों के साथ देगे गिरफ्तारी ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर के एसडीओ कार्यालय में हो रहे भ्र्ष्टाचार के विरोध में आवाज उठाने वाले वसनशाह आश्रम के संत और कोर कमिटी के आवाज को दबाने के लिए एसडीओ ने पुलिस को पत्र देकर मामला दर्ज करने का मांग किया है, एसडीओ अधिकारी के पत्र का जवाब देते हुए कोर कमिटी ने भी पुलिस प्रशासन पत्र देकर कहा कि कोर कमिटी एक हजार सदस्यो का नाम दिया है . ये सारे सदस्य एक साथ मिलकर वसनशाह दरबार के संत के साथ गिरफ्तारी के लिए हाजिर होंगे ऐसा कोर कमिटी के सचिव राम वाधवा इन्होंने कहा है .
    उल्हासनगर के साई वसनशाह दरबार के पीछे वाली जगह जहाँ से दरबार में आने का कई वर्षों से रास्ता है उसी जगह की भोईर परिवार को कायदे का उलंघन करते हुए एसडीओ कार्यालय ने सनद दे दिया है .इस सनद को रद्द करने के लिए १० जून को 12 बजे वसनशाह दरबार से लेकर एसडीओ कार्यालय तक मोटर सायकल रैली निकाली गई थी. उस रैली में पाच हजार भक्त मोटरसायकल के द्वारा रैली में शामिल हुए थे . उस समय शिष्टमंडल को एसडीओ जगतसिंग गिरासे इन्होंने सनद रद्द करने का आश्वासन दिया था. परन्तु उन्होंने ११ जून को उस भूखंड पर भोईर परिवार कोई भी निर्माण कार्य कर नही सकते, ऐसा आश्वासन का पत्र वसनशाह दरबार के संत ओमी साई को दिया . मोर्चे के बाद शिष्टमंडल के बाद सनद को रद्द करने की बात एसडीओ ने कहि थी. परन्तु उन्होंने सिंधी संत ओमी साई जिनको मराठी लिखना व पढ़ना नही आता इसका फायदा लेते हुए उनको गलत पत्र दे दिया था . इस धोकाधडी का विरोध करते हुए कोर कमिटी ने एसडीओ अधिकारी से मुलाकात करके दिए हुए पत्र को वापस किया और समय पर साई वसन शाह दरबार के द्वारा कहा गया कि 8 जुलाई तक सनद रद्द नही किया गया तो अपने भक्तों के साथ उपोषण करेगे ऐसा पत्र भी दिया गया है . इस पत्र से बौखलाये एसडीओ ने         २८ जून २०१९ को पुलिस प्रशासन को पत्र दिया है . जिसमें लिखा गया है कि साई वसनशाह दरबार के संत और कोर कमिटी के विरोध में मामला किया जाय.उस पत्र के जवाब में कोर कमिटी तब्बल १००० सदस्यो की नामो की सूची के साथ सोमवार को पुलिस प्रशासन को देने पत्र में लगाकर देने वाली है . एसडीओ अधिकारी के आदेश पर मामला दर्ज हुआ तो सभी सदस्य एक साथ हाजिर होंगे ऐसा पत्र के द्वारा पुलिस प्रशासन को सूचित किया जाता है . अगर मामला दर्ज किया जाता है तो वसनशाह दरबार के परमपूज्य साई हिरानंद साई के मोबाइल नम्बर ९३७०६२१३१३ पर संपर्क करे, उनके साथ कोर कमिटी के एक हजार सदस्य भी आकर पुलिस में अपनी गिरफ्तारी देंगे, ऐसा उस पत्र में लिखा गया है ऐसा वाधवा इन्होंने कहि है .  वही एसडीओ गिरासे के विरुद्ध सोमवार को महाराष्ट्र सदन में आवाज गूँजने की संभावना है,विधायक किशन कथोरो, व विधायिका ज्योति कालानी ने इस विषय को लेकर पत्र लिखकर चर्चा करने की मांग किया है अगर उनकी मांग मान लिया गया तो सोमवार को गिरासे की मुसीबत बढ़ना तय है और उनके द्वारा किये गए सनद घोटाले पर्दाफाश भी हो सकता है !
  • धोकादायक बिल्डिंग स्लैब गिरा !

    By fast headline india →
    धोकादायक बिल्डिंग स्लैब गिरा ! 

    मनपा ने पहले खाली करवा लिया था बिल्डिंग को जिसके चलते नही हुई कोई जन हानि ! 

    शोशल मीडिया के जरिये आसपास के लोगो ने बिल्डिंग जमीन दोज करने की है मांग ! 

     उल्हासनगर - उल्हासनगर महानगरपालिका के धोकादायक घोषित किए गए सिंधरी सागर इस बिल्डिंग स्लैब मंगलवार की सुबह में गिर गया , मनपा प्रशासन ने पहले ही बिल्डिंग को धोकादायक घोषित करने के चलते उसमें रहने वालों लोगो को बाहर निकलवा दिया जिसके चलते कोई बड़ी दुर्घटना नही हुई है .      
     उल्हासनगर महानगरपालिका ने शहर की कुल 214 धोकादायक और 41 अतिधोकादायक बिल्डिंग घोषित किया है , इन धोकादायक बिल्डिंग की यादी में उल्हासनगर - 3 के सपना गार्डन के पास की सिंधरी-सागर यह चार महले की बिल्डिंग भी है , बिल्डिंग के चौथे महले का स्लैब मंगलवार की सुबह गिर गया ,बता दे कि दो साल पहले ही बिल्डिंग के रहिवाशिओ को बिल्डिंग धोकादायक घोषित करने के बाद ही खाली करा लिया गया था.       सिंधरी - सागर बिल्डिंग के अगल बगल के बिल्डिंग में रहने लोगो ने मांग किया इस बिल्डिंग को पूरा गिरा देना चाहिए नही इस बिल्डिंग की वजह से आस पास के लोगो को भी खतरा हो सकता है ऐसी बाते सोशल मीडियाच्या माध्यम से मनपा प्रशासन को दिया है. 
  • एसडीओ गिरासे द्वारा दिया आश्वासन पत्र वसणशाह दरबार ने लौटाया !

    By fast headline india →
    एसडीओ गिरासे द्वारा दिया आश्वासन पत्र वसणशाह दरबार ने लौटाया ! 

    जल्द ही मांग पुरी नही हुई तो 8 जुलाई से शुरू होगी महा भूख हड़ताल ! 

    इस भुख हड़ताल में हज़ारों की संख्या में शामिल होंगे वसणशाह दरबार के सेवाधारी ! 

     गिरासे के गले की हड्डी बना प्लॉट की सीडी का मामला ? 

    सीडी रद्द करने की मांग पर अड़ा दरबार ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर के साई वसणशाह दरबार के पास की ज़मीन पे कब्ज़े को लेकर कटघरे में खड़े उल्हासनगर उपविभागीय अधिकारी के ख़िलाफ़ शहर के व्यापारी, संतों के करीबन तीन हजार सेवाधारीयों ने मोटरसाइकिल रैली निकाली थी यह पूरा मामला दरबार के खिलाफ अपशब्द बोलने वाले सतपाल सिंह के विरुद्ध मामला दर्ज करने साई हीरानंद जग्यासी जी के मार्गदर्शन में उल्हासनगर के सिंधी समाज के लोग, वसणशाह दरबार के भक्तगण जमा हुए थे व पुलिस प्रशासन से कड़ी कार्यवाही की मांग की गयी थी, साथ ही पुलिस प्रशासन को दिये निवेदन में लिखा गया था कि, दरबार के पास की ज़मीन कब्ज़ा मामले के कारण समाज की, भक्तों की भावनाओं को चोट पहुँची है और इस घटना का विरोध दर्शाने हेतु 10 जुन को एक दिवसीय दुकान बंद करके और उल्हासनगर कैम्प 5 से लेकर एस डी ओ ऑफिस तक मोटरसाइकिल रैली निकाली गई थी,
    बता दे कि 10 जुन को निकली विशाल मोटरसाइकिल रैली में दरबार के करीबन तीन हजार सेवाधारियों ने हिस्सा लिया, समाज के गणमान्यों की उपस्थिति में उल्हासनगर एस डी ओ जगतसिंग गिरासे को निवेदन दिया गया जिसमें एस डी ओ ने उपस्थितों को 3 दिन का समय मांगा और जांच करके अग्रिम कारवाई करने का आश्वासन भी दिया, इस दौरान जिनकी ज़मीन की वजह से ये घमासान शुरू हुआ वो सुनील भोईर और उनके सहयोगी सतपालसिंह के द्वारा एक विडियो जारी कर ये जानकारी दी गयी कि सुनिल भोईर अपनी ज़मीन का हिस्सा छोड़ने को तैयार है, 3200 वाल ज़मीन पर जो सीडी दी गई है वो भी रद्द करके दरबार को दे दिए जाएं, जब दोनों पार्टी तैयार थे, और एस डी ओ गिरासे के गले की हड्डी बना ये मामला सुलझने को तैयार था, उतने में फिर से सुनील भोईर ने मराठी राग अलापते हुए सोशल मिडिया पे यह लिखा कि, मेरी ही 500 वाल की सी डी क्यु रद्द की जा रही है, बाकी सबकी भी करो, आंदोलनकारियों को गिरासे ने आश्वासन दिया था कि आगामी 3 दिन 72 घंटों में उल्हासनगर एस डी ओ दरबार के पक्ष में कुछ सोचेंगे, दुसरे दिन ही उन्होंने ओमी कालानी और ओमी साईं की बुलाकर एक पत्र थमा दिया जिसमें सी डी होल्डर सुनील भोईर को एस डी ओ द्वारा ये आदेश दिए गए कि, जबतक कागजातों की पूर्तता नही हो जाती तबतक उक्त प्लॉट पर वो कोई भी निर्माण या गतिविधि नही कर सकते, आश्वासन की पुर्तता ना होते देख स्टे की कॉपी सोमवार वसनशाह दरबार के निर्देश पर कोअर कमिटी द्वारा एसडीओ कार्यालय को वापस कर दिया गया है , साथ ही यह घोषणा भी की गई कि, मांग जल्द ही पुरी ना होने पर 8 जुलाई के दिन महा भूख हड़ताल होगी, इस भुख हड़ताल में हज़ारों की संख्या में वसणशाह दरबार के सेवाधारी शामिल होंगे। अगर इससे पहले कोई कार्यवाई नही हुआ तो आने वाले समय में प्रशासन,पुलिस,व एसडीओ की मुसीबत भी बढ़ना तय है ! एक भूमाफिया को फायदा पहुचाने के चक्कर मे और क्या क्या होना बाकी है यह तो आने वाले समय पर ही सामने आएगा !
  • उमपा के उप चुनाव में रिपाई उम्मीदवार हुआ विजयी !

    By fast headline india →
    उमपा के उप चुनाव में रिपाई उम्मीदवार हुआ विजयी ! 

    महायुती के उम्मीदवार को हराकर रिपाई ने दिखाई अपनी ताकत !

    विधानसभा की सीट की दावेदारी में दिख सकता है इसका असर !

    उल्हासनगर - उल्हासनगर महानगरपालिका के पैनल क्रमांक 1 के उप चुनाव में पोट रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के ( आठवले ) गट के उम्मीदवार मंगल बालकृष्ण वाघे इन्होंने भाजप - शिवसेना - टी ओ के व साई युती के उम्मीदवार वनिता भोईर को 373 मतो से हराकर विजय हासिल किया है.       
    इस प्रभाग भाजपा नगरसेविका पूजा भोईर की जातीप्रमाणपत्र फर्जी होने के चलते पद रद्द के बाद यह उप चुनाव हुआ . कल हुए मतदान के उत्साह को देखने को मिला नही इस चुनाव में कुल मतदाता 23, 852 थे जिसमें से 5260 मतदाओ ने अपने मत का इस्तेमाल किया था.    रिपाई के मंगल वाघे इनको 2637 मत, भाजप - शिवसेना- साई पार्टी के युती की उम्मीदवार वनिता भोईर को 2324 मत, काँग्रेस उम्मीदवार नितीन मेश्राम को  173 मत मिले थे 81लोगो नोटा को अपना मत दिया था . कुल मिलाकर महायुती को अकेले आरपीआई ने हराकर अपनी ताकत दिखाई है !
  • दूध चोरी करने वाला गिरोह पुलिस ने किया पर्दाफाश !

    By fast headline india →
    दूध चोरी करने वाला गिरोह पुलिस ने किया पर्दाफाश ! 

    गिरोह ने 3 महीने में हजारों लीटर दूध की चोरी को दे चुका है अंजाम ! 

     गिरोह का सरगना निकला दूध विक्रेता ब्यवसाई !

     ठाणे-ठाणे जिल्हा के भिवंडी शहर व शहर से सटे ग्रामीण इलाको में भोर में अमूल दूध कंपनी के उतारे गए दूध की चोरी करने वाले गिरोह द्वारा दो-तीन महीने में सैकड़ों लीटर दूध की चोरी करने का मामला प्रकाश में आया है। बार-बार चोरी से त्रस्त दूध विक्रेता ने अपने धंधा करने की जगह सीसीटीवी कैमरा लगाया, जिसकी वजह से दूध की चोरी करने के मामले का पर्दाफाश हुआ। दूध विक्रेता एजेंट द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरे के फुटेज के आधार पर नारपोली पुलिस ने बदरूजमा वसीम अंसारी, अयाज गुड्डू खान व अब्दुल चौधरी को पुलिस ने इस मामले में हिरासत में लिया है मामला दर्ज कर लिया गया है ।
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भिवंडी शहर से सटे अंजुर फाटा क्षेत्र स्थित मराठा पंजाब होटल के सामने दूध बेचने का व्यवसाय करने वाले अख्तर हुसैन की शब्बीर डेरी नाम की दुकान है। पिछले 3 महीने में 5 से 7 बार दूध की चोरी की घटना होने से परेशान अख्तर हुसैन ने चोरी का पर्दाफाश करने के लिए अपनी दुकान के सामने सीसीटीवी कैमरा लगाया। सीसीटीवी कैमरे से दूध की चोरी करने काम के मामले का पर्दाफाश हुआ। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अख्तर हुसैन ने नारपोली पुलिस स्टेशन में इस बात की शिकायत की। दूध विक्रेता की शिकायत पर नारपोली पुलिस दल ने दूध विक्रेता के साथ रात में गस्त कर दूध की चोरी करने वालों की तलाश शुरू की।रविवार की सुबह पुलिस को तब कामयाबी मिली जब एक ऑटोरिक्शा में 10 कैरेट में 120 लीटर दूध ले जाते हुए 2 लोगों को पकड़ा गया। पुलिस की कड़ी जांच पड़ताल के द्वारा मालूम पड़ा कि निजामपुर पुलिस स्टेशन के अंतर्गत शिवाजी चौक स्थित महेश कोकुलवार का दूध उतारा गया था, उसी स्थान से यह दूध चोरी से उठाकर अंजुर फाटा खरबाव रोड स्थित अब्दुल चौधरी के डेरी पर ले जाया जा रहा था। पकड़े गए संदेहास्पद लोगों के बताने पर नारपोली पुलिस ने बदरुजमा अब्दुलवसीम अंसारी व अयाज गुड्डू खान नामक दो लोंगों के साथ अब्दुल चौधरी नामक दूध विक्रेता एजेंट को हिरासत में लेकर निजामपुर पुलिस को सौंप दिया। इस मामले में छानबीन करने पर पता चला है कि दूध चोरी करने वाली टोली प्रतिदिन 10 कैरेट में 120 लीटर दूध की चोरी बड़ी चालाकी से अलग-अलग जगहों पर करती थी। जिसकी कीमत 5280 रुपये बताई गई है। इस तरह गिरोह द्वारा महीने में हजारों लीटर दूध की चोरी करने का मामला सामने आया है। लेकिन इस चोरी की अभी तक कोई शिकायत पुलिस में नहीं दी गई थी। इस गिरोह के लोगों द्वारा बयान के अनुसार या टोली चोरी करके दूध विक्रेता एजेंट अब्दुल चौधरी को अपना दूध कम कीमत पर देते थे। दूध का एजेंट तय कीमत से कम भाव पर दूध की सप्लाई कर चोरी के माल से पैसा कमा रहा था। सूत्रों के अनुसार इस काले धंधे में शामिल अब्दुल चौधरी अमूल दूध का डीलर है और वह दूध उतारने के काम में शामिल रहता था। जिसे इस बात की पूरी जानकारी थी कि शहर और ग्रामीण क्षेत्र में कहां-कहां दूध उतारा जाता था । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भिवंडी तालुका के ग्रामीण भाग और भिवंडी शहर में दूध की बड़ी खपत है। जिसमें 75 हजार लीटर दूध हर रोज दूध विक्रेताओं के स्पॉट पर कैरेट में उतारे जाते थे। परंतु विगत दो-तीन महीने में कुछ कैरेट सैकड़ों लीटर दूध कम आने की शिकायत मुख्य डीलर के पास की गई थी। दूध सप्लाई में कमी नहीं होने के बाद ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा था कि वाहन चालक इस तरह की चोरी नहीं कर सकता। जानकारों ने बताया कि एक कैरेट में 12 लीटर दूध रहता है। शहर के विविध दूध विक्रेता के यहां 10 से 20 कैरेट दूध चोरी होता था। इस दूध चोरी प्रकरण में महेश कोकुलवार ने निजामपुर पुलिस स्टेशन में 120 लीटर दूध चोरी करने की शिकायत दर्ज कराई है जिसकी कीमत 5280 रुपये बताई गई है। पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस हिरासत में लिए गए तीनों आरोपी से यह मालूम करने में जुटी हुई है कि कौन-कौन सी जगह पर उन्होंने चोरी की है और उसमें और कितने लोग शामिल है ? उसके बयान के अनुसार इस दूध चोरी रैकेट में शामिल सभी लोगों को को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया पुलिस शुरू करने वाली है। सोने चांदी के बाद इससे पहले प्याज की चोरी का मामला सामने आया था परन्तु अब चोरों की नजर दूध पर थी उसे ही चुराना शुरू कर दिए है !
  • कोर्ट में दफन हुआ 855 का जिन्न आया बाहर शहर वाशियो की नींद हुई हराम !

    By fast headline india →
    कोर्ट में दफन हुआ 855 का जिन्न आया बाहर शहर वाशियो की नींद हुई हराम !

    855 अवैध निर्माण मामले उमपा आयुक्त को हाई कोर्ट ने दिया हाजिर होने का आदेश ! 

     मनपा आयुक्त को  उल्हासनगर शहर की वर्तमान स्थिति को लेकर देना होगा हलफनामा ! 

    उल्हासनगर शहर के अवैध निर्माणों पर लटकी कार्यवाई की तलवार !   

    उल्हासनगर-उल्हासनगर सबसे चर्चित 855 अबैध निर्माण मामला जो कुछ समय से कोर्ट में दफन हो गया था वह जिन्न आखिरकार बाहर आ गया है जिसके चलते शहर वाशियो की नींद हराम हो गई है, वर्ष 2005 में मुंबई हाई कोर्ट ने उल्हासनगर शहर के 855 अवैध निर्माण मामले में शहर के निवासी हरि तनवानी की याचिका पर सुनवाई कर शहर में बने अवैध निर्माणों के खिलाफ तोड़ू कार्यवाही का आदेश जारी किया था, जिसके बाद मनपा के तत्कालीन आयुक्त रामनाथ सोनवने के नेतृत्व में उल्हासनगर में अवैध निर्माणों की तोडू कार्यवाही शुरू की गई थी, इस दौरान तत्कालीन महाराष्ट्र की आघाडी सरकार ने अध्यादेश लाया था, जिसके बाद हाईकोर्ट ने तोड़ू कार्यवाही पर रोक लगाने के साथ ही शहर के अवैध निर्माणों को दंड भरकर वैध करने का आदेश दिया था, साथ ही उल्हासनगर शहर में कोई भी अवैध निर्माण नया नहीं किया जायेगा, उक्त आदेश अदालत ने दिया था, परंतु मनपा प्रशासन के द्वारा अदालत के आदेश को नजरअंदाज कर दिया गया ,और शहर में वर्ष 2005 से अभी तक बड़े पैमाने पर मनपा प्रशासन की उदासीनता के चलते अवैध निर्माण किया गया है, 
    बता दे कि 18 अप्रैल 2019 को शहर के निवासी चंदर हरीराम तोलानी के द्वारा  अवैध निर्माण मामले में मनपा आयुक्त के द्वारा अदालत के आदेश का अवमानना करने की याचिका दायर की गई है ,जिस मामले में मुख्य न्यायाधीश एन एम  जामदार ने 24 जून को  सुनवाई की तारीख रखी है, 24 जून को मनपा आयुक्त को स्वयं हाई कोर्ट में उपस्थित रहकर उल्हासनगर के मौजूदा स्थिति को लेकर हलफनामा देने का आदेश अदालत ने दिया है,  बता दे कि 855 अवैध निर्माण मामले में मुंबई हाई कोर्ट के द्वारा मनपा आयुक्त को दिये गये इस आदेश के बाद उल्हासनगर शहर में अवैध निर्माण बिल्डिंग में रहने वाले नागरिको व अवैध निर्माण करने वालों में हड़कंप मच गया है, ज्ञात हो कि उल्हासनगर की 855 इमारतों का मामला मुंबई हाई कोर्ट में प्रलंबित है, अदालत के  द्वारा तोड़ू कार्यवाही  रोके जाने के बाद शहर के अवैध निर्माणों  का दंड भरकर वैध करने  का आदेश दिये जाने के बाद महाराष्ट्र के तत्कालीन राज्य सरकार ने कुछ दंड भरकर उनकी अवैध बिल्डिंगों को बैध करने का आदेश दिया था, जानकारी अनुसार  शहर के  कुछ लोगों ने  शासन के आदेश के तहत  दंड भरकर  अवैध निर्माणों को वैध  किया ,परंतु मनपा प्रशासन की उदासीनता के चलते  शहर के ज्यादातर लोग इसका फायदा  नहीं ले सके है, बता दें की उल्हासनगर में नियमों की अनदेखी कर बड़े पैमाने पर घर, दुकान, गोदाम व बिल्डिंगे बनायी गई है, वर्ष 2003 में दौरान अवैध बिल्डिंगों पर की मांग  शहर के  हरी तनवानी ने की थी. तत्कालीन आघाडी सरकार ने एक अध्यादेश निकालकर शहर वासियों को  राज्य सरकार ने कुछ दंड भरकर अपनी अपनी बिल्डिंगों को नियमित करने की एक शर्त रखी थी.जिसकी मियाद 25 अप्रैल 2006 थीं. जिसका पालन कराने में मनपा प्रशासन पूरी तरह से विफल हो गई ,
  • रिश्वतखोर अतिरिक्त आयुक्त की विभागीय जांच का ठराव महासभा में हुआ पास !

    By fast headline india →
    रिश्वतखोर अतिरिक्त आयुक्त संजय घरत की विभागीय जांच का ठराव महासभा में हुआ पास !

     सदस्यों के सवाल पर आयुक्त नही दिया कोई जवाब !

     42 लाख के रिश्वत मामले घरत को एसीबी ने किया था गिरफ्तार !

     कल्याण - कल्याण में आखिरकार कल्याण-डोंबिवली मनपा रिश्वतखोर अतिरिक्त आयुक्त संजय घरत के विभागीय जांच का ठराव गुरुवार की हुई महासभा में मंजूर किया गया है। राज्य सरकार निवृत्त उपसचिव दर्जे के अधिकारियों की कमेटी की ओर घरत की जांच की जाएगी । यह प्रस्ताव छः माह के भीतर आना चाहिए था लेकिन प्रशासन की ओर से हुई देरी के चलते मामला लटक गया था । इस मामले में देरी क्यो हुई ? सदस्यों ने जब आयुक्त से सवाल किया तो आयुक्त ने इस सवाल पर कोई उत्तर नही दिया । 
    बता दे कि रिश्वतखोर अतिरिक्त आयुक्त संजय घरत ने 27 गांव के एक बिल्डर के बांधकाम पर कारवाई नही करने बदले में 42 लाख रुपए घूस मांगा था । बाद में घूस की रकम 35 लाख रुपए तय हुआ । 35 लाख रुपए में से पहला हफ्ता 8 लाख रुपए लेते समय 13 जून 2018 को ठाणे एन्टी करप्शन ब्यूरो रंगे हाथों पकड़ा । 14 जून को मनपा ने घरत को निलंबित किया था। 20 जून गुरुवार के हुए महासभा में नगरसेवक प्रकाश पेणकर, राष्ट्रवादी के नगरसेवक संतोष तरे, नवनिर्वाचित नगरसेवक सचिन बासरे इस बारे अपना विचार महासभा में रखा । संजय घरत की विभागीय जांच का ठराव महासभा में मंजूर किया गया । राज्य सरकार निवृत्त उपसचिव दर्जे के अधिकारियों की कमेटी की ओर घरत की जांच की जाएगी इस बारे में मनसे गटनेता मंदार हलबे ने अवैध निर्माण पर कारवाई नही करने वाले संजय घरत, विद्यमान अतिरिक्त आयुक्त सु रा. पवार और प्रभाग क्षेत्र अधिकारी भागाजी भांगरे के निलंबन कर उनकी विभागीय जांच करने के बाद अगर अधिकारी दोषी पाए गए तो उनपर कारवाई करने का प्रस्ताव महासभा में मंजूर किया गया था लेकिन उसपर अमल आज तक नहीं हुआ । अधिकारियों की जांच के लिए बनाई गई समिति के दोंनों तत्कालीन उपायुक्त लंबी छुट्टी पर जाने से छः माह तक जांच पूरा नही हो पाया । हमारे पास जांच के लिए उपायुक्त दर्जे का अधिकारी नही , जब तक जांच नही होगा तब तक कारवाई नही की जा सकता हैं ऐसा उत्तर आयुक्त गोविंद बोडके ने दिया ।
  • बशिष्ट हत्याकांड मामले में रिश्तेदारो ने लगाया भाजपा नगरसेवक पर गंभीर आरोप !

    By fast headline india →
    बशिष्ट हत्याकांड मामले में रिश्तेदारो ने लगाया भाजपा नगरसेवक पर गंभीर आरोप !

     अपराधियों को भाजपा नगरसेवक दे रहे है संरक्षण ! 

    अपराधियों के अदालती खर्ज में लाखों रुपये खर्च करने का भी लगा आरोप !

    उल्हासनगर -उल्हासनगर में हुए  बशिष्ट यादव हत्या प्रकरण से जुड़े निषाद गैंग के महोरक्या सुधीर सिंग और उसके दोस्तों के अदालती खर्च को भाजपा नगरसेवक महेश सुखरामानी कर रहे है ऐसा आरोप बशिष्ट के भाई ब्रिजेश यादव ने किया है .यही नही बशिष्ट के हत्या प्रकरण में सुधीर सिंग और महेश सुखरामानी को आरोपी बनाने की मांग किया है .         
    बता दे कि सोमवार के दोपहर 3 बजे के दरम्यान बशिष्ठ यादव इस सेल्समेन का काम करने वाले युवक को कॅम्प 2 के आवतमल चौक झुलेलाल मंदीर के सामने रोड पर वह पैदल जा रहा था. तभी निषाद की गैंग ने यादव पर रोड़ पर ही हमला करते धारदार वार करके मौत के घाट उतार दिया था. मंगलवार की शुभः यादव परिवार ने बशिष्ट के शव को लेकर आझादनगर अपने निवासस्थान पर ले गए . परन्तु जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नही हो जाती है तबतक शव का अंतिम संस्कार नही करेंगे , जब यह बात लोगो को मालूम हुआ तो वहाँ पर बड़े पैमाने लोग जमा हो गए .उस पर भीड़ को काबू में करने व परिवार को समझाने के लिए  सहाय्यक पुलिस आयुक्त सुनिल पाटील, धुला टेले, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुशील जावले, सुधाकर सुरडकर ये लोग पहुँचे और इन्होंने बशिष्ट यादव रिश्तेदारों से बातचीत किया और उन्हें आश्वासन दिया आरोपियों की गिरफ्तारी जल्द होगी इस आश्वासन के शव का अंतिम संस्कार किया गया . उस दरम्यान बशिष्ट के भाई ब्रिजेश यादव इन्होंने उस परिसर में रहने वाले भाजपा के महासचिव सुधीर सिंग के कहने पर निषाद फैमली ने बशिष्ट हत्या किया ऐसा आरोप किया. बात उतने पर ही नही खत्म नही हुआ ब्रिजेश ने भाजपा नगरसेवक महेश सुखरामानी का इस हत्या में हाथ होने का भी बात कह डाली और सुधीर सिंग और निषाद इनके लिए पुलिस ठाणे संभालने, और उनके गुनाह सारे अदालतो में लगने वाले लाखों रुपये खर्च भी महेश सुखरामानी करते है ऐसा गभीर आरोप ब्रिजेश यादव और अजय राय ने किया है.         वही जब इस आरोप पर भाजपा के नगरसेवक महेश सुखरामानी बात किया गया तो उन्होंने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया और सारे आरोप को सिरे से खारिज किया है. और यह भी कहे कि बशिष्ट यादव जहाँ रहते है वह आझादनर परिसर यह मेरे पॅनल में आता नही इस लिए भी इस मामले से हमारा कोई संबंध नही है. रही बात सुधीर सिंग ये भाजपा के पदाधिकारी है जिसकी वजह से वो कार्यालय में आते रहते है इस लिए हम उनको जानते भी है,परन्तु उसके आपराधिक पार्श्वभूमी से मेरा कोई संबंध नही है ऐसा महेश सुखरामानी इनका कहना है.            
  • मर्डर सिटी ऑफ उल्हासनगर में युवक की दिन दहाड़े हुई हत्या !

    By fast headline india →
    मर्डर सिटी ऑफ उल्हासनगर में युवक की दिन दहाड़े हुई हत्या ! 

    अपराधियों को नही रहा कानून का डर ! 

    पुलिस को ऐसे कांड को अंजाम देने वालो पर चलाना होगा कानून का चाबुक ! 

    पुरानी रंजिश के चलते हुई युवक की हत्या ? 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर के खेमाणी परिसर में एक 26 वर्षीय युवक की दिनदहाड़े हत्या कर दिया गया है। इस घटना ने फिर साबित कर दिया की उल्हासनगर शहर में कानून बेवस्था किस कदर बद से बत्तर हो गई है। इस शहर में अपराधियो दिनों दिन बढ़ते मनोबल के चलत मर्डर सिटी उल्हासनगर शहर बन गया है। रात होते ही इस शहर में गुंडागर्दी देखने को मिलती है।ऐसा कोई दिन नही गुजरा जब लोगो के साथ कोई न कोई हादसा न हुआ हो। 
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उल्हासनगर खेमानी परिसर में सोमवार को दिनदहाड़े वैशिष्ट यादव नामक युवक की दर्दनाक हत्या को अंजाम दिया जाता सूत्रों की माने तो इस हत्या में 4 से 5 लोग सामिल हो सकते है सूत्रों ने यहां तक बताया की इस हत्या के पीछे राजनीतिक लोग भी सामिल हो सकते है। उल्हासनगर शहर इन दिनों क्राइम के मामले में बहुत आगे निकल चुका है। समय रहते पुलिस विभाग सचेत नही हुई तो आने वाले समय मे शहर की सुरक्षा ब्यवस्था पर बड़ा सवाल उठ खड़ा होगा आये दिन उल्हासनगर शहर में हत्याएं हो रही है। इस घटना ने शहर वाशियो की चिंता बढ़ा दिया है । उल्हासनगर पुलिस इस हत्या में लिप्त लोगो की तलाश में जुटी है खबर लिखे जाने तक मामला दर्ज नही था। सूत्रों की माने तो आपसी रंजिश के वजह से हत्या को अंजाम दिए जाने की वजह हो सकती है !
  • जालसाज पत्नी अपने दोस्त के साथ साढ़े सात लाख के गहने लेकर हुई फरार !

    By fast headline india →
    जालसाज पत्नी अपने दोस्त के साथ साढ़े सात लाख के गहने लेकर हुई फरार ! 


    पति ने पत्नी व उसके दोस्त के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत !  


    उल्हासनगर-उल्हासनगर पति ने पत्नी द्वारा ७,५०,००० रुपये के गहने लेकर फरार होने के मामले में पत्नी और उसके साथीदार के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। उल्हासनगर -५ में साईंबाबा नगर इलाके के पास बैरक में तुलसीदास घनश्यामदास थदानी अपने परिवार के साथ रहते हैं। तुलसीदास का विवाह सिमरन के साथ हुआ था। तुलसीदास ने अलमारी में अपने परिवार के ७,५०,०००रुपए के सोने के गहने रखे थे, लेकिन उन्होंने महसूस किया कि गहने अचानक गायब हो गए । उसने परिवार के सभी सदस्यों से पूछा लेकिन वह नहीं मिला। पत्नी से यह गहने चुराए जाने के बाद पति-पत्नी के बीच विवाद हुआ था। इस मामले में, तुलसीदास ने अदालत में एक याचिका दायर की जिसमें उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी सिमरन और उनके साथी कुमार माखिजा के खिलाफ गहने चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया जाए। अदालत ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए हिल-लाइन पुलिस स्टेशन को आदेश देने के बाद आरोपी सिमरन और कुमार मखिजा के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है। दोनों आरोपी फिलहाल फरार हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही है।
  • मनपा स्थायी समिति के सभापति के द्वारा सिंधी भाषा मे लगाई नेमप्लेट को लेकर हुआ विवाद !

    By fast headline india →
    मनपा स्थायी समिति के सभापति के द्वारा सिंधी भाषा मे लगाई नेमप्लेट को लेकर हुआ विवाद ! 

     मनसे ने दो दिन के भीतर मराठी में भी नेमप्लेट लगाने की दी चेतावनी,ऐसा नही होने दी कालिख पोतने की दी धमकी ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा मुख्यालय स्थित स्थायी समिती के नवनिर्वाचित सभापति राजेश वधारिया ने अपने केबिन के बाहर अपने नाम का बोर्ड अपनी मात्र भाषा सिंधी में लगाया है. मनसे ने इस पर अपनी नाराजी ब्यक्त करते हुए कहा है यदी दो दिन के भीतर सभापति ने मराठी भाषा वाला बोर्ड नहीं लगाया तो वह उसपर नेमप्लेट कालिख पोतकर विरोध दर्शाएंगे की बात कही है इसको लेकर मनपा में संघर्ष की पॉलटिक्स एक बार फिर शुरू हुआ है. 
    इस संदर्भ में मनसे के शहरअध्यक्ष बंडू देशमुख  का कहना है कि हम सिंधी भाषा का आदर व सम्मान करते है लेकिन महाराष्ट्र में मराठी राज्य की  राजभाषा है व राज्य में मराठी भाषा में  बोर्ड लगाना अनिवार्य भी है, इसलिए अगर सभापति ने दो दिन में दर्शनीय भाग में मराठी में नेमप्लेट नहीं लगाई तो मनसे अपनी स्टाइल से निपटेगी. वही स्थायी समिति के  सभापति राजेश वधारिया  ने स्थानीय पत्रकारों से उक्त मुद्दे पर बातचीत करते हुए कहा कि वह अपनी मात्र भाषा जितना ही  मराठी भाषा का भी आदर करते है, सभापति ने कहा कि फ्रंट साइड में सिंधी में लिखा है तो उसके पीछे मराठी में लिखा है, लेकिन दर्शनीय भाग में सिंधी के साथ ही मराठी में नाम की तख्ती बनाने के आदेश सबंधित महकमे को दिए गए है.
  • चप्पल चुराने का आरोप लगा नाबालिग हुई पिटाई !

    By fast headline india →
    चप्पल चुराने का आरोप लगा नाबालिग हुई पिटाई ! 

    पिटाई मन नही भरा तो पिलाया फिनायल ? 

    मुंबई-मुंबई के नालासोपारा स्थित हाउसिंग सोसायटी में 14 साल के नाबालिग को पीटने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि आरोपी ने उसे फिनायल पिलाने की भी कोशिश की। पूछताछ में पता चला कि नाबालिग को चप्पल चोरी करने के आरोप में प्रताड़ित किया गया। पुलिस ने आरोपी शख्स को गिरफ्तार कर लिया है।
    साथ ही, उसके खिलाफ केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ''आरोपी की पहचान सुमित दुबे के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि उसने 14 साल के नाबालिग के साथ मारपीट की थी। जांच में पता चला कि नाबालिग इस बिल्डिंग में पहली बार आया था। जब वह पानी का डिब्बा देकर लौट रहा था, तब सुमित ने उसे रोक लिया और उसकी चप्पल के बारे में पूछने लगा। मामले के जांच अधिकारी ने बताया कि नाबालिग ने चप्पलों को अपना बताया तो सुमित उसके साथ गाली-गलौज करने लगा। साथ ही, उसने नाबालिग की जेब में रखे 600 रुपए व मोबाइल छीन लिया। पीड़ित ने विरोध जताया तो सुमित ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसे पीटा और जबरन गाड़ी में डालने की कोशिश की। पीड़ित ने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने उसे फिनायल पिलाने की कोशिश भी की। साथ ही, उसे गाड़ी से सुनसान जगह पर फेंक दिया। परिजन शाम के वक्त नाबालिग के पास पहुंचे और उसे अस्पताल ले गए, जहां उसका इलाज चल रहा है। जांच में पता चला है कि नाबालिग अपने छोटे भाई के साथ स्कूल जाता है, जबकि उसका बड़ा भाई एक ग्रॉसरी स्टोर पर काम करता है। नाबालिग को डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है। डॉक्टरों का कहना है कि फिनायल पिलाने के दौरान बच्चे के पेट में ज्यादा जहरीला पदार्थ नहीं गया है। वहीं, उसे किसी भी तरह की अंदरूनी चोट भी नहीं लगी है। हालांकि, उसकी कमर, धड़ समेत शरीर के कुछ हिस्सों पर चोट लगी है। पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर लिया है। साथ ही, आरोपी के दोस्तों की तलाश शुरू कर दी है।
  • घूसखोर करोड़पति इंजीनियर की काली कमाई का हुआ भंडाफोड़ !

    By fast headline india →
    घूसखोर करोड़पति इंजीनियर की काली कमाई का हुआ भंडाफोड़ !

     सूटकेस में भरे मिले 500 और 2000 के करोड़ो के नोट ! 

    6 फ्लैट, 1 मकान और 2 गाड़ी का भी है मालिक ! 

    उल्हासनगर में बिल्डरों को सरकारी भूखंड का श्रीखंड देने वाले अधिकारी के पास भी है ऐसी करोड़ो की है काली कमाई ? 

    कभी इस महा भ्रष्ट्राचारी अधिकारी पर भी कस सकता है शिकंजा ? 

     पटना-पटना बिहार में विजलेंस विभाग की टीम ने रोड कंस्ट्रक्शन विभाग के इंजीनियर सुरेश प्रसाद को 14 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। जिसके बाद छोपेमारी में आरोपी को लेकर बड़े-बड़े खुलासे हुए। 
    विजलेंस विभाग की टीम को आरोप के घर से करीब ढाई करोड़ रुपये बरामद हुआ है। विभाग को उसके घर से सूटकेस में भरे पांच-पांच सौ रुपये के नोट मिले हैं। इसके अलावा पता चला है कि आरोपी इंजीनियर सुरेश प्रसाद के पास 6 फ्लैट, 1 मकान और 2 गाड़ी हैं।आरोपी को जो रिश्वत दी जा रही थी वह पटना के पास बिहटा से बिक्रम के बीच बन रही सड़क के करार को लेकर थी। जब्त की गई रिश्वत की रकम साज इंफ्राकॉम प्रोजेक्ट लिमिटेड के ठेकेदार अखिलेश कुमार जायसवाल से ली गई थी। निगरानी विभाग के अधिकारियों के मुताबिक बिहटा में सड़क निर्माण के लिए पथ निर्माण विभाग से टेंडर निकला था। जिसे लेने के लिए ठेकेदार अखिलेश कुमार जायसवाल की कंपनी ने भी आवेदन डाला था और उसी के लिए आरोपी ने रिश्वत की डिमांड की थी। फाइनल डील 28 लाख में तय हुई थी, जिसकी पहली किश्त 14 लाख रुपये के तौर पर आरोपी को दी गई थी। लेकिन, पासा उलटा पड़ गया और निगरानी की टीम ने उसे रंगे हाथ दबोच लिया। बता दें कि पटना के पटेल नगर इलाके में निर्माण विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सुरेश यादव का घर है, जहां बिजलेंस विभाग ने छापेमारी की है।