• उमपा के आयुक्त ने किया "राष्ट्र ध्वज" का अपमान !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उमपा के आयुक्त ने किया "राष्ट्र ध्वज" का अपमान ! 

    गोलमैदान में सबसे ऊंचे तिरंगे को जूते पहनकर फहराया ! 

    विधायिका और महापौर की मौजूदगी में हुई यह गलती !

     राष्ट्र ध्वज के अपमान का मामला दर्ज करने की उठ रही मांग ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा ने गणतंत्र दिवस के मौके पर राष्ट्र ध्वज का अपमान कर दिया।शहर की जनता अब मनपा आयुक्त,महापौर और विधायिका के खिलाफ राष्ट्र ध्वज के अपमान का मामला दर्ज करने की मांग कर रही है। ज्ञात हो कि 26 जनवरी को शहर के गोलमैदान में मनपा की ओर से गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन किया था।इस समारोह को मनपा की महापौर,मनपा आयुक्त और विधायिका उपस्थित थी।राष्ट्र ध्वज को पूरे सवैधानिक सम्मान के साथ सलामी दी गई लेकिन मनपा आयुक्त ने जूते पहनकर राष्ट्र ध्वज फहराया इस दौरान टी ओ के भाजपा मनपा महापौर पंचम कालानी,राकांपा विधायिका एवम महापौर की सास ज्योति कालानी उपस्थित थी। काबिले गौर हो कि राष्ट्र ध्वज को जूते पहनकर फहराना राष्ट्र ध्वज का अपमान माना जाता है।इसलिए शहर की जनता ने मांग की है कि मनपा आयुक्त अच्युत हांगे ,महापौर और विधायिका के खिलाफ राष्ट्र ध्वज के अपमान का मामला दर्ज हो।
    यहां बता दे कि मनपा की ओर से डेढ़ सौ फुट ऊंचा राष्ट्र। ध्वज फहराने का एलान किया था लेकिन किसी को यह मालूम नही पड़ा कि राष्ट्र ध्वज कितना ऊंचा फहराया गया है। आयुक्त ने अपने संबोधन के दौरान 125 फुट ऊंचा,महापौर ने सौ फुट से ऊपर और विधयिका ज्योति कालानी ने 110 फुट से राष्ट्र ध्वज फहराने का दावा किया।हालांकि मनपा का कहना है कि उसकी ओर से डेढ़ सौ फुट ऊंचा तिरंगा उल्हासनगर की इतिहास में पहली बार फहराया गया है।ऐसे में सवाल यह उठता है कि या तो मनपा की ओर से झूठ बोला जा रहा है,या फिर मनपा आयुक्त 125 फुट ऊंचा तिरंगा फहराने का झूठ  बोल रहे है।रही बात मनपा शासन और विधायिका की तो वे अपनी राजनीति में मस्त है।उन्हें कितना ऊंचा तिरंगा फहराया गया इस बात से दोनों को किसी तरह का लेना देना नही है।इस बाबत जनता ने पुलिस से मांग की है कि वह राष्ट्र ध्वज फहराने का ऊंचाई निकालकर तीनो के खिलाफ कार्यवाही करे।इस बाबत शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी कहा कि अगर मनपा के उच्च प्रशासनिक ओहदे पर आसीन आयुक्त ने जूता पहनकर तिरंगे को हाथ लगाना राष्ट्र ध्वज का अपमान है ।जिसकी जितनी निंदा की जाय कम है।लेकिन शहर की प्रथम नागरिक महापौर और विधायिका के समक्ष घटे इस कृत्य से जनता में तीव्र नाराजगी है
  • No Comment to " उमपा के आयुक्त ने किया "राष्ट्र ध्वज" का अपमान ! "