• पूज्य पंचायत ट्रस्ट जमीन झोलझाल के मामलों एस डी ओ का नया खुलासा बताई महाराष्ट्र सरकार की है जमीन !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    पूज्य पंचायत ट्रस्ट जमीन झोलझाल के मामलों एस डी ओ का नया खुलासा बताई महाराष्ट्र सरकार की है जमीन !

     इस जमीन की नही बनी है कोई सीडी पत्रकारों के समक्ष प्रशासकीय अधिकारी  कही ये बात !

     सरकारी जमीन की फिर कैसे हुई रजिस्ट्री !

    आखिरकार कौन है इस जमीन का असली मालिक कौन महाराष्ट्र सरकार, बखतराम तलरेजा,या पूज्य ट्रस्ट ? 

    कौन है वह कुकरेजा जो अपने फर्जी पेपरों को नही पकड़े जाने का करता है दावा !

     उल्हासनगर - उल्हासनगर नम्बर तीन में प्लॉट नम्बर 351,शीट नम्बर 11 ओटी सेक्शन पर पूज्य धर्मवाडी पंचायत ट्रस्ट की जमीन के हड़पने के मामले में एक नया मोड़ आया है उल्हासनगर के यस डी ओ गिरासे ने मंगलवार की शाम 4 बजे पत्रकारों से बात करते समय अहम खुलासा करते हुए बताया अभी यह जमीन प्रापर्टी कार्ड पर महाराष्ट्र सरकार की लिखा और इसकी कोई सनद या सीडी नही है इस लिए इसे अतिक्रमण करने वालो से मुक्त करके शासन अपनी जमीन अपने कब्जे में लेने की पहल कर रहा है !
    गौरतलब हो कि इस खुलासे के बाद पूज्य धर्मवाडी पंचायत जो 70 सालों से इस जमीन पर अपना कब्जा बता रहे दूसरी तरफ नगरसेवक टोनी सिरवानी ने जमीन मालक स्वर्गीय बखतराम तलरेजा के वारिसों से खरीदने के साथ अपना दावेदारी कर रहे है अब सवाल यह है कि एक प्रशासन के अधिकारी के दिये बयान के बाद मामला और पेचीदा हो गया अगर जमीन प्रापर्टी कार्ड पर महाराष्ट्र सरकार की लिखी हुई और इसकी कोई सनद नही बना है ऐसे में जो टोनी सिरवानी के पास जमीन के वारिसदारो के द्वारा की गई रजिस्ट्री कैसे हुई दूसरी तरफ पूज्य पंचायत 70 सालों से अपना कब्जा बता रही ऐसे में जमीन का असली मालिक है कौन यह सवाल खड़ा हो गया है ! या कोई तीसरा ही कोई मदारी है जो इस खेल को अंजाम दे रहा है सूत्रों की माने तो उल्हासनगर में एक कुकरेजा नाम ब्यक्ति है जो ऐसी जमीन के फर्जी पेपर बनाने का काम करता और दावा भी करता है कि मेरे द्वारा बनाये गये पेपर को कोई भी पकड़ नही सकता है उसके पास आज भी पुराने पेपर और बनावटी कई सरकारी अफसरों के स्टम्प है जिसका इस्तेमाल करके इस तरह के मामले को पेचीदा बनाया जा रहा है क्योकी अगर जमीन के प्रापर्टी कार्ड पर महाराष्ट्र सरकार लिखा है 1986 में अतिक्रमणदार पूज्य पंचायत दिखाया गया है तो फिर इस जमीन की अचानक सीडी सामने आने से कई सवाल खड़े करता है और पेपरों की फर्जीवाडे की पोल भी खोल रही है आज किये एसडीओ के खुलासे से यह बात पक्की हो गई है कि जमीन को अपने पक्ष में लाने के लिए फर्जी पेपरों का जमकर इस्तेमाल हो रहा है इस लिए अब इस मामले की जांच की मांग को सीबीआई से कराने की मांग स्थानीय जनता द्वारा की जाने लगी है यही नही फर्जीवाडे को अंजाम देने वाले कुकरेजा की भी जांच की मांग की आवाजें उठने लगी है क्यो की जमीन का असली हकदार है कौन यह सच जनता के सामने आ सके !
  • No Comment to " पूज्य पंचायत ट्रस्ट जमीन झोलझाल के मामलों एस डी ओ का नया खुलासा बताई महाराष्ट्र सरकार की है जमीन ! "