• ४८ कर्मचारियों का खत्म हुआ वनवास कायमस्वरूप में हुई नियुक्ति !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    अनुकंपा तत्व पर काम करनेवाले ४८ कर्मचारियों का खत्म हुआ वनवास कायमस्वरूप में हुई नियुक्ति ! 

    उल्हासनगर- उल्हासनगर महानगर पालिका में अनुकंपा तत्त्व पर काम करनेवाले कर्मचारियों के ४८ वारिसों को कायम स्वरूप में मनपा के रिक्त पदों पर नियुक्ति करने के लिए आयुक्त अच्युत हांगे ने मान्यता दी है। उल्हासनगर महानगरपालिका के विविध विभागों में अनेक पद खाली पड़े थे। इन खाली पड़े पदों पर  एक ही अधिकारी अपने विभाग का काम संभालते हुए अन्य दो पदों के प्रभारी का पदभार संभाल कर काम कर रहे हैं।
    इस संदर्भ में बार-बाबार महासभा में भी विशेष रूप से नगरसेवकों ने चर्चा कर खाली पड़े पदों को भरने की मांग की था।इसीप्रकार मनपा अनुकंपा तत्त्व पर काम करनेवाले कर्मचारियों के वारिसों को शासन की योजना के अनुसार कायमस्वरूप पद पर नियुक्ति करने के संदर्भ में बार-बार सूचना करने के बाद भी मनपा प्रशासन ने इसे नजरअंदाज किया था। मुख्यतः अर्जधारक वारिसों ने शासन द्वारा निर्धारित योजना के अनुसार सभी कागदपत्रों की पूर्तता की है। लेकिन मनपा प्रशासन  इस प्रकरण में त्वरित निर्णय न लेकर उसमें से कुछ अर्जधारकों के वारिसों को उम्र ज्यादा होने का हवाला देकर उन्हें अपात्र घोषित कर रही थी।इसके कारण अपात्र ठहराए गए अर्जधारकों ने अपने बच्चों को उन पदों पर लेने की विनती मनपा प्रशासन से की थी। तब भी ऐसे अनुकंपा तत्त्व के प्रकरण में सभी वारिसों के बच्चों को कायम स्वरूप से पद पर लेने के लिए महासभा में उल्हासनगर महानगरपालिका के नगरसेवक राजेंद्र चौधरी ने प्रस्ताव पेश किया था।इस प्रस्ताव पर महासभा में फिर से एक बार चर्चा हुई थी।उस समय दिवाली के पहले इसकी घोषणा करने का आश्वासन उल्हासनगर मनपा आयुक्त अच्युत हांगे ने दिया था। आखिरकार सोमवार को मनपा आयुक्त अच्युत हांगे ने अनुकंपा तत्त्व पर कर्मचारियों की कायमस्वरूप नौकरी में लेने के लिए मान्यता प्रदान की।इस संदर्भ में मनपा आयुक्त अच्युत हांगे ने बताया कि २००५ से अनुकंपा तत्व पर कर्मचारियों के प्रकरण  लंबित थे, बहुत से कर्मचारियों ने कागदपत्र जमा करने में देर किया , आखिरकार प्रशासन ने सूची जाहिर करके इसकी सुनवाई की और शासन के निर्णय के अनुसार वर्ग क के लिए २१ और वर्ग ड के लिए २७ कर्मचारियों की भर्ती की गई है।इसके बाद भी रिक्त पदों के हिसाब से भर्ती की जाएगी। आयुक्त के इस निर्णय का सभी स्तरों पर स्वागत हो रहा है।
  • No Comment to " ४८ कर्मचारियों का खत्म हुआ वनवास कायमस्वरूप में हुई नियुक्ति ! "