• महाराज इज बैक ! शुक्रवार की महासभा में गूंजेगा रिस्कबेस प्लान घोटाले का मुद्दा !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    महाराज इज बैक ! शुक्रवार की महासभा में गूंजेगा रिस्कबेस प्लान घोटाले का मुद्दा ! 

     शिवसेना नगरसेवक महाराज ने इस मुद्दे पर लाया अशासकीय प्रस्ताव ! 

    रिस्कबेस प्लान के घोटाले बाज की नींद हुई हराम ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर के सबसे चर्चित रिस्कबेस प्लान घोटाले का मुद्दा इस बार की महासभा में गुजना तय है इस मुद्दे को लेकर शिवसेना के वरिष्ठ नगरसेवक ने उल्हासनगर शहर में बन रहे अवैध निर्माणों और रिस्कबेस प्लान की आड़ में हो रहै अवैध निर्माणो के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए उल्हासनगर महानगर पालिका की महासभा की एक अशासकीय प्रस्ताव प्रस्तुत किया है। जिसको देखर यह कहा जा सकता महाराज इज बैक ! शुक्रवार की आम सभा तूफानी होगी ।
    गौरतलब हो कि पूर्व कमिश्नर राजेंद्र निंबालकर के प्रतिस्थापन के बाद, शहर में विभिन्न स्थानों पर अबैध निर्माण की बाढ़ आ गई है। संबंधित सहायक आयुक्त और बीट मुकादम केवल नोटिस जारी करने का कार्य करते हैं। मनपा के कार्यों पर, भुल्लर महाराज ने आरोप लगाया गया है, संबंधित महानगरपालिका अधिकारी और अबैध निर्माण ठेकेदारों के बीच बड़े पैमाने पर लेनदेन होने की संभावना ब्यक्त किया है। कुछ जगहों पर जोखिम-आधारित (रिस्कबेस प्लान) के नाम पर बहुमंजिला इमारतों का निर्माण कार्य चल रहा है। वर्तमान में उल्हासनगर में पुरानी इमारत गिरने का एक सत्र शुरू है।बिल्डिंगो का ढांचा मसौदा नियंत्रण नियम के साथ असंगत है।यह महाराष्ट्र महानगर पालिका अधिनियम, १९६६ की धारा ४८, महाराष्ट्र महानगर पालिका अधिनियम, १९६६ का भी उल्लंघन है। २००३ में दायर की गई जनहित याचिका के आदेश के अनुसार, महानगरपालिका प्रशासन को शहर में किसी भी तरह का निर्माण नहीं करने का आदेश दिया गया है। लेकिन मनपा प्रशासन इस संबंध में विफल रहा है। शुक्रवार की महासभा में शिवसेना के वरिष्ठ नगरसेवक भुल्लर महाराज ने यह सब रोकने के लिए एक अशासकीय प्रस्ताव पेश किया है। शहर में हो रहे अबैध निर्माणों को कुछ राजनेता प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष का रूप से लाभ पहुंचाने का काम कर रहे है। शुक्रवार की महासभा इस विषय पर तूफानी होगी यह तय माना जा रहा है। मनपा के तकनीकी व्यक्ति से इस बारे में पूछे जाने पर, उन्होंने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि डीसी रूल को अनदेखा करके रिस्कबेस प्लान पास किया गया इसमें कोई शक नही यही नही बड़े पैमाने पर वायलेसन भी हो रहा है सभी प्लानो में नियमो धज्जियां उठाई गई है इस लिए इसकी जांच होनी चाहिए ताकि दोषी लोगो पर कार्यवाई किया जा सके।
  • No Comment to " महाराज इज बैक ! शुक्रवार की महासभा में गूंजेगा रिस्कबेस प्लान घोटाले का मुद्दा ! "