• स्वच्छता मिशन के नाम पर मनपा में हुआ शौचालय घोटाला ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    मनपा में हुआ शौचालय घोटाला ?  

    महापौर ने दिया जांच करने का आदेश !

    सत्ताधारी शिवसेना सभागृह नेता ने महासभा में किया आरोप !

    शौचालय की देखभाल मरम्मत हुआ ही नही, फिर भी करोड़ो रूपये का बिल निकाला गया !

    उमपा के फाइल चोरी मामले से जुड़े ठेकेदार को केडीएमसी ने शौचालय बनाने का दिया ठेका !


     कल्याण- कल्याण केडीएमसी हद में शौचालय बना हुआ दिखाया और हकीकत में उस जगह पर शौचालय व देखभाल मरम्मत हुआ ही नही है मगर उस काम का करोड़ो रूपये का बिल निकाला गया है ऐसा आरोप सत्ताधारी शिवसेना सभागृह नेता श्रेयस समेल ने महासभा में किया है । इस प्रकरण की जांच करके अहवाल अगले महासभा में पेश करने का आदेश महापौर विनीता राणे ने प्रशासन को दिया हैं ।
    आगे समेल ने कहा कि, शौचालय का काम हुआ ही नही मगर मेजरमेंट पुस्तक में काम होने का जिक्र करके उसका बिल निकाला गया है । जिस ठेकेदार की फाइल उल्हासनगर मनपा में चोरी हुई उसी ठेकेदार को केडीएमसी ने शौचालय बनाने का कॉन्ट्रैक्ट दिया है इसलिए काम हुआ कि नही ? इसकी पुष्टि करें , और ऐसे ठेकेदार को काम देने पर भ्रष्टाचार नही होगा तो क्या होगा ऐसा सवाल समेल ने खड़े किए । आगे समेल ने कहा कि, पहले भी इस मुद्दे को उठाया था मगर कोई कारवाई नही हुई । किए आरोपों पर प्रशासन से खुलासा मांगा । कार्यकारी अभियंता चंद्रकांत कोलते ने कहा कि काम सब सही तरीके से हुआ है उसकी सब जानकारी दी गई हैं ऐसा उत्तर दिया । इसपर बाकी सदस्यों ने कोलते के कामकाज को लेकर आवाज बुलंद की । अधिकारी झूठी जानकारी देकर सभी को गुमराह करते हैं । अनेकों ने शौचालय के काम में भी भ्रष्टाचार किया है । लोगो को शौचालय की सुविधा नही मिलता हैं ऐसे लोगों की वजह से हम सुविधा नही दे पाते हैं । स्वच्छ भारत अभियान अंतर्गत केंद्र सरकार के द्वारा मनपा को निधी प्राप्त हुआ है । निधी का गैर इस्तेमाल अधिकारी ऐसे कर रहे हैं । आज बंद दरवाजे का विज्ञापन टीवी पर किया जा रहा है । हकीकत में स्मार्ट सिटी की दिशा में मनपा का बढ़ता कदम और स्वच्छ भारत संकल्पना पर मनपा अधिकारी घोटाले करके कालिख पोत रहे हैं । निधी का योग्य प्रकार से उपयोग नही करते और योजना कागजों पर दिखाकर अधिकारी ठेकेदारों की मदद से निधी अपने जेब में डाल रहे हैं यही स्पष्ट होता हैं । इस शौचालय घोटाले बरीकी से जांच पड़ताल करने की मांग समेल ने की । बाकी सदस्यों ने भी इसका समर्थन किया हैं । सबने एक सुर में कहा कि हमारे भी वार्ड में इसी तरह से काम हुआ है इसलिए समेल की आरोपो में सच्चाई है । दोषी अधिकारियों को निलंबित करें । इस तरह से काम करने वाले ठेकेदारों को ब्लैक लिस्टेड करने की मांग भी सदस्यों ने की । इस प्रकरण की जांच करके अहवाल अगले महासभा में पेश करने का आदेश महापौर विनीता राणे ने प्रशासन को दिया हैं ।
  • No Comment to " स्वच्छता मिशन के नाम पर मनपा में हुआ शौचालय घोटाला ? "