• चालीस साल पहले बने कुकर कंपनी के निर्माण पर मनपा ने चलाया हथौड़ा ! भाजपा के मंत्री व विधायक के दबाव में हुई कार्यवाई !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    चालीस साल पहले बने कुकर कंपनी के निर्माण पर मनपा ने चलाया हथौड़ा !

     भाजपा विधायक व भाजपा के नगरविकास मंत्री का इस जमीन पर है नजर हो रहा ऐसा आरोप ! 

    7 हजार इस्क्वेयर मीटर का है यह पूरा मामला !

    भू माफियाओं से सांठगांठ करके मनपा प्रशासन ने दिया तोड़क कार्यवाई को अंजाम -जमीन मालिक डोडेजा 

     सिंधी ब्यापारियों की जमीन हड़प करने में मनपा कर रही योगदान ? 

     उल्हासनगर -उल्हासनगर महानगर पालिका का साहसिक कारनामा सामने आया है बता दे कि जहाँ एक तरफ शहर भर में सैकड़ो अवैध बांधकाम दिन दहाड़े फलफूल रहे हैं, जिनकी तरफ तो मनपा ने आंख कान बंद रखा है, वहीं दूसरी तरफ एक चालीस साल पहले बने एक कुकर कंपनी के साथ एक और छोटी फैक्टरी पर मनपा प्रशासन के द्वारा तोडक कारवाई करने से मनपा के कार्रवाई के क्रिया कलापो पर प्रश्न चिन्ह निर्माण हुआ है ! इस कार्यवाई के जरिये मनपा ने एक भू माफिया के जमीन हड़पने वाले कुकृत्य को बढ़ावा देने का काम किया है ऐसा आरोप कंपनी के लोगो द्वारा किया गया है !       गौरतलब है कि उल्हासनगर कैंप नंबर एक खेमानी परिसर में स्थित एक कुकर कंपनी पर मनपा के अवैध बांधकाम पथक ने कार्रवाई की।यह बांधकाम चालीस साल पुराना है, ऐसा कंपनी मालिक कमलेश दुलानी का कहना है। इस कंपनी के बांधकाम अवैध होने की शिकायत अनिल गुप्ता ने विधायक गणपत गायकवाड व मनपा प्रशासन से की थी ।इस बांधकाम के संबंध में विधायक गणपत गाकवाड ने मनपा प्रशासन को २२ अक्टूबर२०१८को लिखित पत्र दिया था। इसी मामले में नगरविकास राज्यमंत्री रणजीत पाटिल के कार्यालय से भी इस बांधकाम पर कार्रवाई करने की  शिकायत मनपा प्रशासन के पास आई थी। उसी अनुसार मनपा के अधिकारी गणेश शिंपी, भगवान कुमावत व अजित गोवारी इन अधिकारियों की टीम ने इस कंपनी के बांधकाम पर आज हथौड़ा चलाकर बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है। 
     इस संदर्भ में नगरविकास राज्य मंत्री रणजीत पाटिल से संपर्क किया गया तो वहां से जवाब मिला कि हमारे कार्यालय में ऐसी कोई शिकायत नहीं प्राप्त हुई है।इस संदर्भ में उल्हासनगर महानगरपालिका से कोई भी पत्र व्यवहार नहीं हुआ है, ऐसा उन्होंने बताया।      

    वही कल्याण के भाजपा विधायक गणपत गायकवाड़ ने कहा कि अनिल गुप्ता उस जगह का कागजात लेकर मेरे कार्यालय पर आया था, उसने बताया कि मेरे जगह पर कुछ लोगों ने अवैध रूप से कब्जा किया है, उसपर अवैध बांधकाम किया है, ऐसा उसने मुझे बताया था।उसकी मदद के लिए मैंने महानगरपालिका के साथ पत्रव्यवहार किया था, मेरा इस प्रकरण में प्रत्यक्ष रूप से कोई संबंध नहीं है, ऐसा उन्होंने ने बताया है।
     वही कंपनी के मालिक नंद डोडेजा ने यह आरोप किया है यह हमारी जमीन को हड़पने का पूरा प्लान किया जा रहा है क्योंकि मेरी यह पूरी जमीन 7 बाजार इस्क्वाय मीटर है और इस पर कई भू माफियाओं की नजरें गड़ी हुई थी अनिल गुप्ता एक नशेड़ी ब्यक्ति है वह खुद सरकारी व हमारी जगह पर अवैध निर्माण करके कब्जा किया हुआ है वह अब इस जमीन को हड़प करने के लिए स्थानीय गुंड मंडकी व कल्याण के भाजपा विधायक गनपत गायकवाड़ के साथ मिलकर झूठे पेपर बनाकर यह काम कर रहा है आज की हुई कार्यवाई उसी भू माफिया को फायदा पहुचाने के उद्देश्य किया है ऐसा कंपनी के लोगो का आरोप है मनपा प्रशासन हमें नोटिश दिया था हमने हमारे जमीन के पूरे पुरावे मनपा को दिए है उसके बादजूद बिना डिमोलेश आर्डर को दिखाए हमारे कारखानों पर मनपा ने कार्यवाई किया है वही इस कार्यवाई पर मनपा प्रशासन मुख्यालय संतोष देयर ने पत्रकारों को बताया कि यह कार्यवाई लोकायुक्त के आदेश पर किया जा रही है यहाँ सवाल यह है कि वार्ड आफिसर भगवान कुमावत के नोटिस व खुलासा नोटिस में इसका उल्लेख न करके विधायक गणपत गायकवाड़ व नगरविकास विभाग के मंत्री की शिकायत पर कार्यवाई करने की बात किया है मतलब मनपा प्रशासन की कार्यवाई किसी दबाव में किया गया क्या ऐसा प्रश्न खड़ा होना स्वाभाविक बनता है ! कुल मिलाकर जमीन हड़पने के गिरोह के आगे झुका प्रशासन ऐसा इस मामले में देखने में आया है !
  • No Comment to " चालीस साल पहले बने कुकर कंपनी के निर्माण पर मनपा ने चलाया हथौड़ा ! भाजपा के मंत्री व विधायक के दबाव में हुई कार्यवाई ! "