• टीम ओमी कालानी व रांकपा नगरसेवक के बीच छिड़ा राजनीतिक संग्राम !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    टीम ओमी कालानी व रांकपा नगरसेवक के बीच छिड़ा राजनीतिक संग्राम !

    दुसरो पर आरोप लगाने वाले अपने दामन में झांक लो-भरत गंगोत्री 

    टीम ओमी कालानी की उम्मीदवार दीपा सैनानी का जाती प्रमाण पत्र था फर्जी !

    उल्हासनगर में चल रही फर्जी जाती प्रमाण पत्र बनाने की फैक्ट्री ?


    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर मचे राजनीति संग्राम में टीम ओमी कालानी को जवाब देते हुए रांकपा नगरसेवक भरत गंगोत्री कहा कि अपने खड़े उम्मीदवार का दामन तो देखे वह भी बोगस प्रमाण पत्र ही चुनाव लड़ा था रही बात शोशल साइट पर लिखे मामले का तो उसका जवाब भी जल्द कानूनी ठंग से दिया जाएगा ! "दुसरो के दामन में झांकने वाले पहले अपने दामन में झांक तो लो" !
    बता दे कि रांकपा नगरसेविका सुमन सचदेव की हाल ही में जाति प्रमाण पत्र रद्द होने का मामला सामने आया था उसके बाद से ही शोसल ग्रुपो पर रांकपा नगरसेवक भरत गंगोत्री की फोटो व पोस्ट लिखकर चीटर शब्द का इस्तेमाल कर टीम ओमी कालानी के कुछ सदस्यों द्वारा ग्रुपो में डाला जा रहा था इसी विषय पर भरत गंगोत्री आज जवाब देते हुए कड़ा जवाब प्रमाण पत्र के साथ दिया है जिसमें टीम ओमी कालानी की उम्मीदवार दीपा सैनानी के जाती प्रमाण पत्र भी फर्जी था ऐसा गंगोत्री का कहना है उन्होंने एक पत्र दिया जिसकी माहिती अधिकार में जानकारी मांगी थी पूजा लबाना ने जिसमें कारंजा के नायब तहसीलदार उप विभागीय अधिकारी कार्यालय ने जवाब दिया है कि दीपा सैनानी पत्ता कारंजा तहसील कारंजा जिला वाशिम जात हिन्दू सोनार इसको कोई भी जाति प्रमाण पत्र नही दिया गया ऐसा उस पत्र में लिखा गया है मतलब पहले चुनाव में टीम ओमी कालानी की उम्मीदवार थी ! उल्हासनगर में चुनाव जीतने के लिए बिंदास बोगस जाती प्रमाण पत्र पर चुनाव लड़ते है यहाँ सवाल यह है कि यह है कि बोगस जाती प्रमाण पत्र बनाने की फैक्ट्री उल्हासनगर में फल फूल रही है यह इन मामलों से सामने आया है इस लिए जरूरी है कि फर्जी जाती प्रमाण पत्र की फैक्ट्री का पर्दाफाश हो ताकि दोबारा चुनाव लड़ने वालों को नकली जाती प्रमाण पत्र पर चुनाव लड़ने का मौका ही न मिले ! टीम ओमी कालानी व भरत गंगोत्री की यह लड़ाई किस मुकाम पर खत्म होगा यह तो आने वाले समय पर ही पता चलेगा !
  • No Comment to " टीम ओमी कालानी व रांकपा नगरसेवक के बीच छिड़ा राजनीतिक संग्राम ! "