• उल्हासनगर का स्काईवॉक बना अपराधियों का अड्डा ! कभी हो सकता है बड़ा हादसा ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उल्हासनगर का स्काईवॉक बना अपराधियों का अड्डा ! 

    स्काईवॉक पर पहले हो चुकी दो हत्याऐ,पुलिस कांस्टेबल पर हुआ था हमला ! 

    भंगार चोरों ने बहुत सारे पतरे किये गायब ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर रेलवे स्टेशन के पास स्काईवॉक लोगों की सुविधा के लिए बनाया गया था, लेकिन स्काईवॉक पर गैंगस्टरों, चरसियों, शराबियों और भंगारवालों द्वारा कब्जा कर लिया गया है। स्काईवॉक के पत्रों, पाईप और सरिया बड़ी संख्या में चोरी होने के कारण स्काईवॉक बहुत खस्ताहाल बन गया है। स्काईवॉक, जो उल्हासनगर रेलवे स्टेशन के पास पूर्व और पश्चिम को जोड़ता है, २०१० में बनाया गया था, 
    बता दे कि एमएमआरडीए ने ३४ करोड़ रुपए खर्च करके स्काईवॉक का निर्माण किया था। हालांकि,स्काईवॉक के रखरखाव और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए मनपा ,एमएमआरडीए और रेलवे प्रशासन के बीच विवाद है। स्काईवॉक की तरफ से आयरन रॉड, पाइप ,पत्रा ,लाइट आदि चोरी हो रहे हैं। चोरी की मात्रा इतनी बढ़ गई है कि कुछ दिनों में स्काईवॉक केवल ढांचा ही दिखेगा। इसे चुराने के लिए कई भंगार गिरोह सक्रिय हो गए हैं, उनमें से किसी को भी कोई डर नहीं है। दिन में युवा-युवतियों के अश्लील हरकतें यहां चलते रहते हैं, जिसके कारण आम जनता के लिए चलना मुश्किल हो गया है। रात 10 बजे के बाद स्काईवॉक पर शराबी ,गंजेडीयों की टोली बैठी रहती है ,जो रात को आने-जाने वाले यात्रियों को हथियारों के साथ डराकर लूटते हैं। इस जगह पर, 4 लोगों के एक समूह ने कुछ महीने पहले एक पुलिसकर्मी को पीटा था।एमएमआरडीए और मनपा प्रशासन के बीच एक विवाद है कि किसे स्काईवॉक का रखरखाव करना चाहिए,एमएमआरडीए का कहना है कि हमने स्काईवॉक का निर्माण किया है और इसे मनपा प्रशासन को हस्तांतरित कर दिया है। अब मनपा को इसका ध्यान रखना होगा। उल्हासनगर के नगर आयुक्त अच्युत हंगे ने इस संबंध में कहा कि स्काईवॉक की पूरी जिम्मेदारी एमएमआरडीए प्रशासन की है, उन्हें इस मामले को देखना चाहिए। यह स्काईवॉक बहुत कम समय में दयनीय हो गया है, इसके लिए एक संरचनात्मक ऑडिट की आवश्यकता है। नागरिकों की सुरक्षा का मुद्दा भी बहुत गंभीर है, और यहां सुरक्षा गार्डों को रखने की बहुत आवश्यकता है। कल्याण - कर्जत - कसारा रेलवे प्रवासी संघ के अध्यक्ष राजेश घनघव ने ऐसा अपना विचार व्यक्त किया है।
  • No Comment to " उल्हासनगर का स्काईवॉक बना अपराधियों का अड्डा ! कभी हो सकता है बड़ा हादसा ? "