• बेगुनाह ब्यापारी पर टूटा हवलदार काले का कहर, के मामले में आया नया मोड़ !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    बेगुनाह ब्यापारी पर टूटा हवलदार काले का कहर, के मामले में आया नया मोड़ ! 

    पुलिस मामले को रफादफा करने के लिए असरानी परिवार पर डाल रही दबाव ? 

    सेंट्रल अस्पताल के डॉक्टर वाघमारे की रिपोर्ट से पुलिस की मुसीबतें बढ़ने के आसार ! 

    ब्यापारी संघटनाओं ने विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन के सामने किया निषेध ! 

    झूठे चाकू के केश में फंसाया,फिर की जमकर धुलाई,ब्यापारी से 25 हजार व सोने अंगूठी उसकी माँ से लिये 50 हजार !   

    जमानत पर छूटने के बाद पूरे मामले का ब्यापारी ने किया पर्दाफाश !   

     सेंट्रल अस्पताल में असरानी से मिलने पहुँचे भाजपा पूर्व विधायक आयलानी,शिवसेना शहर प्रमुख चौधरी,रांकपा जिलाध्यक्ष मामा पाटिल ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन में कार्यरत एक हवलदार की गुंडागर्दी का मामला सामने आया है, उसने एक ब्यापारी को पहले बिना किसी कारण के ही श्रीराम चौक के 90 टी डेज बार के नीचे जमकर धुनाई किया और उससे भी मन नही भरा तो पुलिस स्टेशन लाया झूठा मामला दर्ज किया और उसके बाद बेंच पर लिटाकर डंडे व पट्टे जमकर पीटने व 25 हजार एक अंगूठी उसकी माँ से 50 हजार लेने का सनसनी खेज मामला सामने आया है, इस मामले में गुरुवार को एक नया मोड़ सामने आया पुलिस विभाग के जरिये फिरयादी असरानी परिवार पर दबाव तंत्र का इस्तेमाल करके मामले को रफादफा करने के जुआड में लगी है ऐसी जानकारी विश्वसनीय सूत्रों से सामने आ रही है, वही इस मामले में सेन्टर अस्पताल ने दुबारा मेडिकल करने के लिए हितेश असरानी को अस्पताल एडमिट किया है आने वाले समय में मेडिकल रिपोर्ट के चलते मुसीबत बढ़ने वाली यह तय है,ब्यापारी को इतनी बेरहमी से पीटा गया है उसकी तस्वीरे आपको विचलीत कर सकती है, अभी तक पुलिस वाले के खिलाफ कुछ भी कार्यवाई नही किया गया है ! वही गुरुवार को सेंट्रल अस्पताल में भर्ती होने के बाद कई नेताओं ने मुलाकात किया शिवसेना शहर प्रमुख राजेंद्र चौधरी,भाजपा के पूर्व विधायक कुमार आयलानी,अंबरनाथ के रांकपा जिल्हाध्यक्ष सदा मामा पाटिल मिलकर हालचाल जाना और परिवार को पूरी मदत का भरोसा दिया है !   

       गौरतलब हो कि उल्हासनगर के ब्यापारी हितेश असरानी जिनकी उल्हासनगर के 2 नम्बर की नेहरू चौक पर नास्ते की रमेश कोल्ड्रींक्स नामक मशहूर होटल है, हितेश 21 मार्च को श्रीराम चौक स्थित 90 टी डेज होटल में गए थे वहां पर उन्होंने एक बियर पिया और तो रात 1.45 बजेे के करीब बाहर निकले ही तभी दो लोग आए बिना किसी कारण के ही उसे मारने लगे बचाव में हितेश ने भी उन लोगो को मारा इतने में श्री राम चौक पर खड़े पुलिस कर्मी वहाँ पर आए और बोले पुलिस वाले को मारता है वो सब लोग डंडों से पीटने लगे हितेश कुछ समझ पाता तबतक पुलिस वाले उसे विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन लाया उसी दरम्यान हितेश की गाड़ी के ड्राइवर ने इस मामले की सूचना असरानी के माता पिता को दे दिया वो लोग पुलिस स्टेशन पहुचे उन्होंने देखा कि कुछ पुलिस वाले उनके बेटे को पीट रहे है उन्होंने बिनती किया तो उनके माता पिता से पुलिस हवलदार राहुल काले ने 2 लाख रुपये मांगे नही तो तेरे बेटे को झूठे मामले में फंसा देगे ऐसा धमकी दी उन्होंने 50 हजार रुपये काले को दिया परन्तु पुलिस ने पैसे लेने के बाद भी माता पिता को धक्के देकर पुलिस स्टेशन के बाहर कर दिया उसी मारपीट के दौरान काले हितेश के जेब में रखे 25 हजार रुपये भी ले लिया और हाथ से अंगूठे की रिंग भी ले लिया उसके बाद हितेश के पहने हुए सारा सोना निकलवाया उसकी वीडियो शूटिंग किया और वह सोना हितेश के माता पिता को दे दिया गया और उनको चलता किया इसके बाद शुरू हुई पुलिस की असली कहानी चाकू रखने का झूठा केश बनाया गया और बेंच पर लिटाकर कमर के नीचे के हिस्सों पर जमकर पिटाई किया और फिर सेंट्रल अस्पताल ले जाकर मेडिकल कराया वहाँ से लौटते समय काले ने धमकी दी कि कोर्ट में शांत रहना नही तो दूसरे केश में फंसा दूँगा और फिर रिमांड लेकर और पिटाई करेगे इससे डरे हितेश असरानी ने कोर्ट के समक्ष चुप्पी रखी जब उनकी जमानत हुआ उसके बाद उन्होंने ऐसे भ्रष्ट्र पुलिस हवलदार को जेल के पीछे भेजने के लिए अपने ऊपर हुए अन्याय के विरुद्ध आवाज उठाई और अपनी आप बीती मीडिया कर्मियों के समक्ष रखा है और इंसाफ की मांग किया है उन्होंने इस विषय को लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री, व डीजीपी,सीपी ठाणे, पुलिस उपायुक्त परिमंडल 4 को लिखित पत्र देकर पूरे मामले की जांच कर कार्यवाई की मांग करने की बात कही है इंसाफ नही मिला तो कोर्ट का सहारा लेने की बात कही है वही इस मामले में जब विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन के सीनियर इंस्पेक्टर रमेश भामे से बात किया गया तो उन्होंने कहा कि अभी तक हमारे पास ऐसी कोई शिकायत आई नही है शिकायत आती है तो पूरे मामले की जाँच करेगे अगर आरोप सही पाया गया तो निश्चित हो दोषी पुलिसकर्मी के विरुद्ध कठोर कार्यवाई किया जाएगा कानून सब को एक नजर से देखता है इस तरह की हरकत बर्दास्त नही किया जा सकता है ! अब यहाँ पर सवाल यह है कि हितेश असरानी की घटना जहाँ हुई है क्या पुलिस ने दोनों 90 टी डेज बार व पुलिस स्टेशन वाली जगहों की सी सी टी वी फुटेज चेकर मामले की जांच करेगी क्या ? दूसरी क्या किसी पुलिस को इस तरह से किसी भी ब्यक्ति की पिटाई करने का कानूनी अधिकार है क्या ?पुलिस हवलदार राहुल काले व उनके सहकर्मी पुलिस वालों पर कार्यवाई होगी ? क्योकि जिस तरह से यह मामला सामने आया उसको देखते हुए यह लग रहा है वर्दी की आड़ में गुंडे घूम रहे जिसे जब चाहे किसी भी पर झूठे मामले में फंसाकर इस तरह से उसके साथ क्रूरता की सारी हदें पार करे और क्या उन्हें कानून का डर नही है क्या ? या उन्हें ऐसा लगता है कि हमारे पास तो वर्दी है हमारा कौन क्या बिगाड़ सकता है अगर ऐसी सोच है तो गलत है उसे बदले की जरूरत है नही तो वो दिन दूर नही होगा कि लोगों का कानून वालो से विश्वास उठ जाए और लोग खुद कानून हाथों में लेने लगे इससे पहले ऐसे लोगो को उनकी सही जगह दिखानी जरूरी है !
  • No Comment to " बेगुनाह ब्यापारी पर टूटा हवलदार काले का कहर, के मामले में आया नया मोड़ ! "