• 80 हजार की रिश्वत लेते क्राइम ब्रांच का पुलिस हवलदार हुआ गिरफ्तार !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    80 हजार की रिश्वत लेते क्राइम ब्रांच का पुलिस हवलदार हुआ गिरफ्तार ! 

    ठाणे एंटीकरप्शन विभाग ने कार्यवाई को दिया अंजाम ! 

     चोरी के मामले के आरोपी को गिरफ्तार नही करने के एवज मांगी थी 1लाख 35 हजार की रिश्वत ! 

    अंबरनाथ में अपनी वैगनआर गाड़ी में 80 हजार लेते समय एंटीकरप्शन विभाग ने पकड़ा ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के क्राइम ब्रांच में कार्यरत पुलिस कर्मी ने एक दर्ज चोरी के मामले के लिए आरोपी को गिरफ्तार नहीं करने के लिए 1,35,000 रुपये की रिश्वत की मांग किया था उसी रिश्वत के 80,000 रुपये को अपनी मारुति वैगनार कार में स्वीकार करते समय ,क्राइम ब्रांच के पुलिस कांस्टेबल को एन्टी करक्शन विभाग ने अंबरनाथ के इलाके में रंगे हाथों रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है । पुलिस कांस्टेबल रामदास देवराव मिस्कल (46, बक्कल नंबर 1072, मुख्यालय द्वारा नियुक्त किया गया था, प्रतिनियुक्ति पर ठाणे क्राइम ब्रांच, यूनिट IV) में आया था। शिकायतकर्ता चोरी के अपराध में शामिल है। उसे गिरफ्तारी से रोकने के लिए पुलिस कांस्टेबल रामदास मिसल ने उससे 1,35,000 रुपये की मांग की थी। समझौता के अंत में समझौता 80 हजार रुपये में किया गया था। 
    एंटी करप्शन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता रिश्वत नहीं देना चाहता था ,इसलिए उसने भ्रष्टाचार निरोधक विभाग में शिकायत दर्ज कराई। भ्रष्टाचार निरोधक विभाग जब 1 अप्रैल को मिली शिकायत का सत्यापन किया गया, तो पाया गया कि करोड़ों रुपये रिश्वत के थे। इसलिए, एटीसी विभाग ने मंगलवार (2 अप्रैल) शाम को एक जाल बिछाया। उस समय, पुलिस कांस्टेबल मिसल ने एन्टी करक्शन विभाग के सामने अपनी मारुति वैगनर (कार नंबर एमएच 05, सीए 2141) कार में 80 हजार रुपये की रिश्वत स्वीकार की। हवलदार मिशाल को रंगे हाथों पकड़ा गया। एक पुलिस कांस्टेबल, जो अपराध शाखा पर 80,000 रुपये की रिश्वत स्वीकार करने के बात पर पुलिस विभाग में जबरजस्त सनसनी फैल गई। ठाणे एंटीकरप्शन विभाग के पुलिस निरीक्षक अजगांवकर, पुलिस कांस्टेबल भावसार, महिला कांस्टेबल पाटिल, मदने, पुलिस नाइक खाबड़े और चालक के सहायक फौजदार कदम की टीम ने यह कार्रवाई की है। आगे की मामले की जांच में जुटी हुई है !
  • No Comment to " 80 हजार की रिश्वत लेते क्राइम ब्रांच का पुलिस हवलदार हुआ गिरफ्तार ! "