• पवन ज्यूस सेंटर के मालिक पवन गुप्ता मामले में आया नया खुलासा !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    पवन ज्यूस सेंटर के मालिक पवन गुप्ता मामले में आया नया खुलासा ! 

    रांकपा विधायिका ज्योती कालानी पूरे मामलों क्राइम ब्रांच से जांच करने की है मांग ! 

    पवन गुप्ता का सेंट्रल अस्पताल पहुँचने का सी सी टीवी फुटेज ने खोले कई राज ? 

    अस्पताल ईलाज कराने पहुँचे पवन के चेहरे पर नही दिख रहा था हमले की कोई शिकन ! 

    क्या आरोपी रोशन मखीजा को फंसाने के लिए रचा गया था कोई षणयंत्र ? 

    पवन को लगे घाव की होगी फॉरेंसिक जांच तभी उठेगा पूरे रहस्य से पर्दा ?

     कौन है ऐसे झूठे मामले का रचने वाला वो कलाकार जिसने इससे पहले भी इस तरह कई मामलों को दिया है अंजाम ? 

     मै हु बेकसूर मुझे झूठे मामले में फंसाने का रचा गया यह पूरा षणयंत्र-रोशन मखीजा 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में लोकसभा, विधानसभा व उमपा स्थानीय निकाय चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आते है वैसे-वैसे राजनीतिक पार्टियों के कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों पर झूठी शिकायतों पर अपराधिक मामले दर्ज होना शुरू हो जाता है,ऐसे मामलों की सही तरीके से जांच हो ऐसे षणयंत्र रचने वाले लोगो को सलाखों के पीछे पहुचाने के लिए रांकपा की उल्हासनगर की विधायिका ज्योति कालानी ने 27 मार्च को पुलिस के ज्वाइंट सी पी प्रताप दीघावकर को पत्र लिखकर पूरे मामले को क्राइम ब्रांच को सौपकर जांच करने की मांग किया है,इस पत्र में हाल ही में हुए पवन जूस सेंटर के मालिक पवन गुप्ता पर किसी अज्ञात हमलावरों ने हमला किया है,इस हमले में पवन गुप्ता ने शहर के उद्योगपति व टीओके युवा उपाध्यक्ष रोशन माखीजा के नाम पर नाम पर मामला दर्ज करवाया है,उसका उल्लेख किया है,इस मामले का सेंट्रल अस्पताल का सी सी टी वी फुटेज सामने आया है वह भी चौकाने वाला है पवन जिस तरह से अस्पताल में आया और ईलाज कराकर जाते दिख रहा है उसको देखकर लगता ही नही किसी ने इनपर हमला किया था, प्लान किया हुआ मामला दिख रहा ऐसा फुटेज को देखकर लगता है कोई भी शिकन भी घायल पवन के चेहरे पर नही दिख रहा है,क्यो की जिस तरह का हमला बताया गया उस तरह के हमले में सामने वालो के पूरा शरीर लहूलुहान होना चाहिए था परन्तु यहा पर ऐसा नही देखने को नही मिलना भी सक को और बढ़ाता है बहरहाल मामले की सच्चाई तो पुलिस की जांच के बाद ही सामने आएगा ! 
    मेरे ऊपर झूठा मामला दर्ज किया गया,पुलिस से निष्पक्ष जांच की उम्मीद --रोशन माखीजा 
     इस विषय मे रोशन माखीजा का कहना है कि वह रात 11.30 बजे से 2.30 बजे तक अपने परिवार के साथ सेलिब्रेसन होटल में थे,माखीजा ने कहा कि पवन गुप्ता को उन्होंने 2 लाख रुपये बतौर उधार के रूप में दिया था,जिसका तकादा वो कई बार कर चुके थे,यही पैसा ऐंठने के इरादे से पवन गुप्ता ने अपने ही लोगो से खुद पर हमला करवाकर "मुझे फसाने" का गेम प्लान बनाया है,इसके पीछे मेरे कुछ अन्य विरोधी भी शामिल है।टीओके उपाध्यक्ष पर दर्ज हुए अपराधिक मामले से नाराज टीओके प्रमुख ओमी कालानी ने कहा कि चुनाव आते ही हमारे लोगो पर झूठे मामले दर्ज होना शुरू हो गया है,जो कतई बर्दाश्त नही किया जायेगा।ओमी कालानी ने बात करते हुए कहा कि इस विषय को लेकर रांकपा विधायिका ज्योती कालानी, ने पत्र देकर पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करने की मांग किया है,और टीओके के पदाधिकारियों के शिष्टमंडल ने पुलिस उपायुक्त प्रमोद शेवाले से मिलकर इस गंभीर विषय पर चर्चा किया और रोशन माखीजा पर दर्ज केस को क्राइम ब्रांच में ट्रांसफर करने की मांग किया है ताकि झूठे मामले का सच सामने आए और इस के पीछे के षणयंत्र करने वाले सलाखों के पीछे पहुचाया जाए ! बता दे कि रोशन माखीजा एक युवा व्यापारी चेहरा है जिनकी शहर में खासी पैठ है,इसी के साथ साथ माखीजा टीओके युवा के शहर उपाध्यक्ष भी है। गौर तलब हो कि स्थानीय पुलिस के आशीर्वाद से यह दुकान कानून के नियमो को ठेंगा दिखाकर सुबह तक चलती है और आये दिन इस दुकान पर दंगे-फसाद होते रहते है,यही नही पवन गुप्ता ने पिछले दिनों अपने साथियों के साथ मिलकर नीलम होटल के बाहर एक व्यक्ति पर धारदार हथियारों से हमला किया था,जिसे पुलिस ने आईपीसी 307 के तहत गिरफ्तार भी किया था,जमानत पर छूटने के बाद पवन वापस देर रात तक जूस का धंधा चला रहा है,बताया जाता है कि देर रात चलने वाले इस धंधे पर शहर के तमाम असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है। वही इस मामले को अभी तक पुलिस ने क्राइम ब्रांच को लिए नही भेजा है, अभी पूरे मामले की जांच पुलिस ही कर रही है, अब ऐसे में अस्पताल के सी सी टीवी फुटेज ने बिना कहे ही बहुत सारे झूठ का पर्दाफाश कर दिया है, घायल पवन गुप्ता का आना व ईलाज करवा कर जाते समय तक कहि ऐसा नही दिखा की कोई इतना सीरियस हमला था जितना प्राइवेट अस्पताल में भर्ती होकर मीडिया कर्मियों को दिखाने के लिए ठोंग रचा था यह फुटेज को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है,अब पुलिस इस मामले की जांच में सी सी फुटेज व प्राथमिक उपचार देने वाले डॉक्टर को किस तरह से लेती वह भी देखना होगा ! बहर हाल पूरे मामले में कुछ तो षणयंत्र रचा गया ऐसा यह फुटेज से सामने आ रहा है ? इस लिए इस मामले की जांच को क्राइम ब्रांच के जरिये करवाना चाहिए क्योंकि इसकी मांग उल्हासनगर की विधायिका ज्योति कालानी पत्र देकर किया है !
  • No Comment to " पवन ज्यूस सेंटर के मालिक पवन गुप्ता मामले में आया नया खुलासा ! "