• उल्हासनगर में भूमाफिया के गुंडा राज में हुआ सनसनीखेज खुलासा !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उल्हासनगर में भूमाफिया के गुंडा राज में हुआ सनसनीखेज खुलासा !  

    इसी मामले एस, डी, ओ, जगत सिंह गिरासे ने पुलिस को पत्र देकर मांगा था पुलिस बंदोबस्त ! 

    क्या पुलिस को गुमराह करने के भूमाफिया के साथ देने लिए एस, डी, ओ, कार्यालय से आया था पत्र ? 

    क्यो नही दी गई एक भी लीगल नोटिश दुकानदार को ? 

    भूमाफिया महेश साधवानी के खिलाफ पहले से इसी तरह कई और मामले है सेंट्रल पुलिस स्टेशन में दर्ज !

     पुलिस ने गुरुवार को किया है पूरे मामले का स्पॉट पंचनामा ! 

    महेश साधवानी व महेश मारवाडी, अनिल भठिजा के बीच डेवलपमेंट के नाम पर हुआ करोड़ो की डील से मिले पैसे से हड़पी जा रही लोगो की जमीन ? 

    उल्हासनगर -उल्हासनगर दो नम्बर के न्यू राज फर्निचरे नामक दुकान रातोरात जेसीबी लगाकर तोडफोड करके दुकान के भीतर रखे लाखो रुपये का फर्निचरो को तोड़फोड़  कर नुकसान करने की घटना सामने आयी है ध्वस्त दुकानदार के पड़ोसी ने यह सम्पति अपना होने का दावा किया है.वही इस तोड़फोड़ से करीबन 27 लाख का नुकसान हुआ है इस घटना के तीन दिन बीत जाने के बायजुद पुलिस ने अभी तक मामला दर्ज नही किया है.लेकिन गुरुवार को पुलिस ने स्पॉट पंचनामा किया है !     बता दे कि उल्हासनगर 3 फर्निचर मार्केट के नरेश चंदर खटवानी का न्यू राज फर्निचर नाम की दुकान है.इस दुकान के बगल में  खटवानी का फर्निचर का गोडाऊन है यहाँ तैयार फर्निचर और फर्निचर सामान रखा जाता है.  सोमवारी 15 अप्रैल की देर रात महेश साधनानी और उनके सहयोगियों के सहायता से जेसीबी मशिन लगाकर  दुकान की दिवार और पटरे सहित दुकान के भीतर रखे  27 लाख रुपये के फर्निचर बुलडोजर चलाकर बर्बाद कर दिया.    इस घटना के बाद सुबह दुकान मालिक खटवानी मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन शिकायत करने गए थे जहाँ महिला पुलिस उपनिरीक्षक पवार ने शिकायत लेने दो घण्टे तक पुलिस स्टेशन के बाहार खड़े रखा और शिकायत लेने में टालमटोल किया.        खटवानी ने इस बारे में पत्रकारों से कहा कि किसी भी संपति पर तोड़ू कार्यवाही करने का अधिकार  महानगरपालिका के पास है.किसी भी इमारत पर तोड़ू कार्यवाही से पहले मनपा प्रशासन कागजात देखने का नोटिश देकर कार्यवाही करती है.ऐसे में कोई व्यक्ति आता है और किसी भी सम्पति को उध्वस्त कर देता है.ऐसे लोगो को न मनपा का भय है न ही पुलिस का मेरे पास जगह के सभी कागजात है हर जांच के लिए में तैयार हूं.महेश साधवानी जिस पर सेंट्रल पुलिस स्टेशन इस तरह की हरकत करने पर कई मामले दर्ज है,मतलब यह पहले से जमीन हड़पने का काम करता है ऐसे में एसडीओ जगत सिंह गिरासे का पुलिस को पत्र देकर कही इसे मददत तो नही किया जा रहा है,क्यो की दुकान के मालिक को एक भी नोटिश तक नही दिया गया है और पुलिस से बंदोबस्त की मांग एसडीओ के द्वारा किया जाना एक बड़े षणयंत्र की तरफ इशारा करता है,     इस बारे में मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन के पुलिस निरीक्षक ( गुन्हे ) राजेंद्र कोते ने कहा कि हमें प्रांत कार्यालय उल्हासनगर से एक पत्र मिला है उस मे जिस जगह को तोड़ा गया है वह जगह महेश साधनानी नाम के व्यक्ति का जिस पर अवैध कब्जा किया गया है.उसे तोड़ने के लिये पुलिस सुरक्षा की मांग की गई थी जिसे नामंजुर कर दिया गया.और पुलिस द्वारा सुरक्षा देने से इंकार कर दिया गया।मामले की गभीरता को देखते हुए पुलिस ने गुरुवार को स्पॉट पंचनामा किया है,नरेश से लिखित पत्र लिया है,        सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार महेश साधवानी द्वारा उक्त जमीन को अपनी जमीन के साथ मिलाकर उस पर कब्जा जमाकर एक डेप्लोमेन्ट प्लान  तैयार किया गया है जिसके तहत महेश साधवानी के साथ  महेश मारवाड़ी और अनिल भाटिया के बीच  डेप्लोमेन्ट प्लान के तहत करोड़ो की डील हुई है जिसे लेकर रातोरात उस दुकान को तोड़ा गया। एडीओ कार्यालय का इस विषय में ब्यक्तिगत इंटरेस्ट दिखाई दे रहा है इस लिए इस पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग नरेश किया है ताकि सभी दोषी लोग सलाखों के पीछे जा सके !
  • No Comment to " उल्हासनगर में भूमाफिया के गुंडा राज में हुआ सनसनीखेज खुलासा ! "