Browsing "Older Posts"

  • उल्हासनगर एसडीओ का नया कारनामा, एक जमीन की दो व्यक्तियों से भराया पैसा ?

    By fast headline india →
    उल्हासनगर एसडीओ का नया कारनामा, एक जमीन की दो व्यक्तियों से भराया पैसा ? 

     कब्जे किये हुए मालिक ने प्रशासन के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने की किया मांग ! 

    इस जगह पर बनी बिल्डिंगो में 17 फ्लेट व 6 दुकानें थी ! 

    प्रान्त कार्यालय ने पहले जयपाल रोहरा से भराया 10 लाख अब उसी जमीन पर दिया भोईर को सनद ! 

    उल्हासनगर एसडीओ गिरासे पर कई सरकारी भूखंडों को बेचने का लग रहा है लंबे समय से आरोप ? 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में अवैध ८५५ भवनों में से एक सतनाम साखी बिल्डिंग जो विद्यालय के लिए आरक्षित भूखंड पर बनाया गया था ,उसे मनपा ने हथौड़ा चलाकर जमींदोज किया था। । उसके बाद, भवन मालिक ने अबैध निर्माणों को नियमित करने के लिए प्रांत कार्यालय में 10 लाख रुपए भी भर दिए, और उसके बाद उसी प्रांत कार्यालय ने भोईर परिवार को इस भूमि का स्वामित्व दे दिया। इसलिए, राम वाधवा ने इस भूखंड बेचने के लिए दो अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की है।
    बता दे कि उल्हासनगर कैंप ५ में शांतिप्रकाश आश्रम के सामने सतनाम साक्षी एक इमारत थी। इस भवन का निर्माण अनाधिकृत रूप से किया गया था। उच्च न्यायालय के आदेश से ८५५ इमारतों को तोड़ने का आदेश दिया था,उसी में से यह एक इमारत थी। इस भवन का निर्माण १९९९ में राम वाधवा के चाचा घनश्याम वाधवा ने कराया था। इस भूमि पर जयपाल रोहरा का स्वामित्व था। इस इमारत को लेने से पहले, इस इमारत में १७ परिवार और ६ दुकानें थीं। वर्ष २००४ में, उच्च न्यायालय ने उल्हासनगर में अनधिकृत भवनों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया। उस समय, सतनाम सखी भवन पर नगरपालिका का पहला हथौड़ा गिरा। भूखंड के ऊपर दो फुट का खंभा होने तक इमारत को ध्वस्त कर दिया गया था। सतनाम सखी इस इमारत में रहने वाले लोगों ने हार नहीं मानी थी। उन्होंने भवन मालिक जयपाल रोहरा और घनश्याम वाधवा की मदद से जमीन पर स्वामित्व के लिए प्रयत्न शुरू किया। वर्ष २००५ में, महाराष्ट्र सरकार द्वारा शहर में अनधिकृत निर्माणों को अधिकृत करने के लिए अध्यादेश पारित किया गया था। उस अध्यादेश की मदद से जयपाल रोहरा ने मनपा के तज्ञ लोगों से मालिकाना हक के लिए आवेदन किया। विशेषज्ञ समिति और प्रांतीय अधिकारियों द्वारा पूरे आवेदन की जांच करने के बाद, प्रांत के अधिकारियों ने प्रांत के कार्यालय को भूमि के स्वामित्व के लिए १० लाख ८ हजार ३२० रुपए का भुगतान करने का आदेश दिया। ३ जुलाई २००७ को, जयपाल रोहरा ने इस राशि का भुगतान किया। उन्होंने मनपा में १ लाख ३७ हजार रुपए भी जमा कराए। उसके बाद, स्वामित्व का डी फॉर्म बन गया। यह डी फॉर्म ठाणे जिला कलेक्टर कार्यालय में पिछले १२ वर्षों से पड़ा हुआ है। १६ परिवारों में मंगलवार को त्रासदी हुई, जो उम्मीद लगाए बैठे थे कि हम सतनाम सखी में रहने के लिए जाएंगे मंगलवार को, एक निर्माणकर्ता सकपाल सिंह, सतनाम सखी के भूखंड पर कुछ गुंडे प्रवृत्ति के लोगों को लेकर आया और उसने सीधे कंपाउंड बनाकर प्लॉट पर कब्जा कर लिया। सतनाम सखी के निवासियों और राम वाधवा के द्वारा उनका विरोध किया गया लेकिन पुलिस प्रशासन की मदद से, इस विरोध को सकपाल सिंह ने तोड़ दिया। जब पुलिस से इस बारे में पूछा गया, तो पुलिस ने बताया कि इस भूखंड का मालिकाना हक उप-विभागीय अधिकारी जगतसिंह गिरासे ने भोईर परिवार को दे दी है। जब राम वाधवा से इस बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि सतनाम सखी की भूमि के स्वामित्व के लिए हमने ११ लाख रुपए मनपा में भरे हैं। यदि यह भूखंड २००७ में तत्कालीन अनुविभागीय अधिकारी ने हमें बेच दिया था, तो उपखंड अधिकारी जगत सिंह गिरासे इसे भोईर और सकपाल सिंह को कैसे बेच सकते है? अगर उन्होंने दूसरी बार भूखंड बेचा है, तो जगत सिंह गिरासे को धोखा देने के लिए दोषी माना जाएगा ? जब इस विषय पर उप-विभागीय अधिकारी जगतसिंह गिरासे का पक्ष जानने के लिए सेल फोन से संपर्क किया, तो उन्होंने फोन नहीं उठाया।
  • विश्व कप क्रिकेट इंग्लैंड में,मुंबई व उल्हासनगर टॉप सटोरीयो बनाया दुबई में अपना ठिकाना !

    By fast headline india →
    विश्व कप क्रिकेट इंग्लैंड में,मुंबई व उल्हासनगर टॉप सटोरीयो बनाया दुबई में अपना ठिकाना !

     बड़े सटोरियों के विदेश भागने की मुख्य वजह पुलिस रेडार से बचना बताया जा रहा है ! 

    उल्हासनगर के सटोरियों ने अपने गुर्गों को शहर में रखा है सक्रिय ? 

     मुंबई-मुंबई इंग्लैंड में गुरुवार से विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट शुरू हो गया है लेकिन इससे पहले देश के बड़े सटोरिए दुबई शिफ्ट हो गए हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि किसी भी टूर्नामेंट से पहले हम बड़े क्रिकेट सटोरियों के बारे में जानकारी निकालते हैं कि उनकी वर्तमान लोकेशन क्या है। उन्‍होंने बताया कि इसी जांच के दौरान कई दर्जन नाम ऐसे सामने आए हैं जो लोग भारत में ही नहीं हैं। ज्यादा पड़ताल में पता चला कि कुछ इंग्लैंड में हैं और काफी दुबई में हैं। 
    अधिकारी ने बताया कि जो बुकीज दुबई में हैं, उनमें मुजीर, मोहसिन, लक्ष्मीचंद्र, लोटस उर्फ आरआर राजकोट, मजीठिया और ढबरीवाल के नाम प्रमुख हैं। सलीम ब्रिज, जीतू दिल्ली और सनी नामक सटोरिए भी इन दिनों दुबई में हैं। इस अधिकारी के अनुसार, सनी की कुछ दिनों पहले आंबिवली में शादी हुई थी। उसमें देश के बड़े-बड़े सटोरिये शामिल हुए थे। बड़े सटोरियों के विदेश भागने की मुख्य वजह पुलिस रेडार से बचना बताया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि कुछ के बुकीज के खिलाफ मुंबई पुलिस का उनके पुराने केसों की वजह से लुकआउट नोटिस है, इसीलिए उन्हें डर है कि वह पकड़े जा सकते हैं। इसलिए ऐसे बुकी फिलहाल मुंबई में ही हैं। एक बड़े बुकी से सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय पहले पूछताछ कर चुका है। एक अन्‍य अधिकारी के अनुसार, 'हमें जानकारी दी गई है कि उस बुकी और उसके दो पार्टनरों चांद और ओमकार के पश्चिम उपनगरों में दो बार हैं, जहां आईपीएल के दौरान कई सटोरिए आए और उन्होंने वहां बैठकर सट्टेबाजी का कारोबार किया। हम इसे वेरिफाई कर रहे हैं।'
  • उल्हासनगर शहर के एसडीओ जगतसिंग गिरासे बने सौदागर ?

    By fast headline india →
    उल्हासनगर शहर के एसडीओ जगतसिंग गिरासे बने सौदागर ? 

    भू माफियाओं को बेच रहे मनचाहे प्लॉट की बनाकर सनद ! 

    पहले साई वसनशाह दरबार तो अब सतनाम साखी बिल्डिंग की जगह की सनद देने पर खड़ा हुआ बवाल !

     एसडीओ गिरासे अपनी अय्यासी व सौख को पूरा करने के लिए रिश्वत लेकर दे रहा इस तरह के कार्यो को अंजाम-राम वाधवा 

    इससे पहले भी कई जगहों की सनद को लेकर विवादों में रहे है गिरासे ! 

    क्या महाराष्ट्र की भाजपा सरकार ऐसे भ्रष्ट्र अधिकारी को दे रही है संरक्षण ? 

    इतनी शिकायतों के बाद अब तक नही हुई है कोई कार्यवाही ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर के एसडीओ जगतसिंह गिरासे जब से उल्हासनगर शहर में आये है तभी उनपर जमीनों के सनद देने पर कई सारे आरोप लग चुके है ऐसे में उनके कारनामो की एक नई दास्तान सामने आई है, उल्हासनगर के विश्व प्रसिद्ध मामला 855 अवैध बिल्डिंग मामले में तोड़ी गई पहली बिल्डिंग सतनाम साखी की जगह की अल्टर नेट सनद जारी कर दिया है, वही नही इस जगह पर कब्जा दिलाने के लिए पुलिस प्रशासन पर दबाव तंत्र का इस्तेमाल करने का आरोप भी गिरासे पर लग रहा है !
    यह पूरा मामला है उल्हासनगर पांच नम्बर स्वामी शांति प्रकाश धर्मशाला के सामने की जमीन का है जिस जमीन पर पहले सतनाम साखी नामक बिल्डिंग हुआ करती थी परन्तु 855 अवैध बिल्डिंग मामले में यह पहली बिल्डिंग थी जिसे जमीन दोज किया गया था तभी से यह जमीन खाली पड़ी थी इस बिल्डिंग में रहने वाले लोग व बिल्डर वाधवा का इस पर कब्जा था,परन्तु इस जमीन को एसडीओ ने भोईर नामक ब्यक्ति के नाम पर अल्टर नेट सनद जारी किया जिसके बाद बिल्डर सतपाल सिंग व उनके बेटों ने अपने 25 गुंडों को लेकर जमीन पर कब्जा किया है इससे पहले साई वसनशाह दरबार का भूखंड का सनद अपने नाम होने का दावा सतपाल सिंह कर चुके है इसका मतलब साफ है कि उल्हासनगर के एसडीओ जगतसिंह गिरासे सौदागर बन गए और मन चाहे जगह की सनद बनाकर भू माफियाओं को बेच रहे है ऐसा कहना गलत नही होगा,इस विषय पर गिरासे उनकी राय जानने के उनके मोबाइल नम्बर संपर्क किया परन्तु उनसे संपर्क नही हो पाया है जिससे उनकी बात सामने नही आ पाया है ! वही इस विषय पर राम वाधवा ने गिरासे पर गभीर आरोप किया उन्होंने कहा गिरासे अपनी जेब गरम करने के लिये गोल मैदान, सपना गार्डन और बाकी के प्लॉट भी अपने बिल्डर दोस्तो को देने में जुटा है अब तक गिरासे ने 100 करोड़ से ज्यादा रिश्वत वसुली है हमारे उल्हासनगर शहर से और 1000 करोड़ के प्लॉट्स की गलत तरिके से सनद दी है. गिरासे बहुत जल्द जांच के घेरे में खडे होगे और इस बार गिरासे और उसके सतपाल सिंग जैसे प्रॉपर्टी हडपू दोस्त भी जेल मे चक्की पीसते नजर आयेंगे. इस विषय पर दोनो पक्षो की रॉय देखने के लिए वीडियो जरूर देखें !
  • By fast headline india →
    मनसे ने स्वच्छता कर का विरोध करते हुए मनपा मुख्यालय के सामने किया टैक्स पावती का होलिका दहन !

     12 करोड़ की अतिरिक्त वसूली के लिए उपभोगकता टैक्स के नाम पर जनता पर बोझ डालना गलत है -मनसे 

    जल्द ही इसे रद्द नही किया गया तो शहर के सभी वार्ड ऑफिस के सामने मनसे करेगी आंदोलन ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पूरी तरह से असफल रहा है,सूखे और गीले वेस्ट को वर्गीकृत नहीं किया गया है, कचरा समस्या यथावत है,डंपिंग की समस्या के कारण, ठेकेदार पर कार्रवाई करने के बजाय आम जनता से भरपूर टैक्स वसूला जा रहा है, ऐसा कह कर मनसे कार्यकर्ताओं ने मनपा मुख्यालय के सामने स्वछता कर के पावती की होलिका दहन किया और प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की गई।

    उल्हासनगर मनपा में कचरा उठाने का ठेका कोणार्क कंपनी को दिया जाता है और कंपनी को प्रति दिन ४ लाख २५ हजार रुपये दिए जाते हैं। यह ठोस प्रबंधन कंपनी की जिम्मेदारी है, लेकिन मनपा प्रशासन कंपनी के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय, संपत्ति कर में बढ़ोतरी करता है। जब तक इस विषय का निपटारा नहीं किया जाता है,तब तक संपत्ति कर न वसूलने की मांग मनसे ने किया है। मनसे ने आरोप लगाया है कि १२ करोड़ की अतिरिक्त वसूली के लिए उपयोगकर्ता कर के नाम पर ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए लगभग २ से ३ करोड़ रुपये खर्च करने की उम्मीद है, शहर के मनसे प्रमुख अध्यक्ष बंडू देशमुख, जिला अध्यक्ष सचिन कदम, उप-जिलाध्यक्ष प्रदीप गोडसे, मनविसे शहर अध्यक्ष मनोज शेलार , शहर संघटक मनुद्दीन शेख, उप शहर अध्यक्ष सुभाष हटकर, शैलेश पांडव, शहर सचिव शालिग्राम सोनवणे ने कई पदाधिकारियों के साथ संपत्ति कर(टैक्स पावती)की होली जलाई।
  • डॉ. पायल तडवी आत्महत्या केस में हुई पहली गिरफ्तारी !

    By fast headline india →
    डॉ. पायल तडवी आत्महत्या केस में हुई पहली गिरफ्तारी ! 

    आत्महत्या मामले के बाद से ही फरार थी आरोपी डॉक्टर ! 

    जातीय पर टिप्पणी किए जाने से परेशान होकर किया खुदकुशी ? 

     मुंबई पुलिस ने रैगिंग और जातीय उत्पीड़न के मामले में रेजिडेंट डॉक्टर भक्ति मेहर को किया गिरफ्तार ! 

    मुंबई-मुंबई में अपनी वरिष्ठ सहकर्मियों द्वारा कथित तौर पर जातीय टिप्पणी किए जाने से परेशान होकर खुदकुशी करने वाली डॉ. पायल तडवी के मामले में पुलिस ने पहली गिरफ्तारी की है. मुंबई पुलिस ने रैगिंग और जातीय उत्पीड़न के इस मामले में रेजिडेंट डॉक्टर भक्ति मेहर को गिरफ्तार किया है. डॉ. तडवी की आत्महत्या के बाद से भक्ति मेहर फरार चल रही थी. 
    बता दे कि तडवी ने 22 मई को खुदकुशी कर ली थी. उनके परिवार का आरोप है कि डॉक्टरों ने उनके अनुसूचित जनजाति का होने को लेकर ताने कसे थे. भक्ति मेहर उन तीन आरोपी डॉक्टरों में शामिल है जिनके ऊपर डॉ. तडवी को जातीय आधार पर उत्पीड़ित करने का आरोप है. बताया जा रहा है कि उत्पीड़न से परेशान होकर डॉ. तडवी ने आत्महत्या कर ली थी. बहरहाल, मंगलवार को मुंबई कांग्रेस के प्रमुख मुरली देवड़ा ने संयुक्त पुलिस आयुक्त विनय चौबे से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने डॉ. पायल तडवी के आत्महत्या मामले के संबंध में एक ज्ञापन सौंपा. गिरफ्तारी से पहले डॉ. तडवी के के माता-पिता ने मंगलवार को मुंबई में उस सरकारी अस्पताल के बाहर प्रदर्शन किया जहां वह काम करती थीं. अन्य प्रदर्शनकारी भी तडवी की मां आबिदा और पति सलमान के साथ प्रदर्शन में शामिल हुए और तीन वरिष्ठों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की जिन्होंने कथित तौर पर रैगिंग और जातीय टिप्पणियां कर उन्हें प्रताड़ित किया और यह कदम उठाने के लिए बाध्य किया. प्रदर्शनकारी वंचित बहुजन अगाड़ी से और दूसरे दलित और जनजातीय संगठनों से संबद्ध हैं और वे तडवी की मौत को लेकर बीवाईएल नायर अस्पताल के बाहर प्रदर्शन किया. सलमान ने कहा, हम चाहते हैं कि सरकार हस्तक्षेप करे. पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. यह संभव है कि पायल की हत्या तीन महिला डॉक्टरों द्वारा की गई हो. प्रदर्शनकारियों और तड़वी के परिजनों के साथ अपनी एकजुटता दिखाते हुए भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि अगर हमारी छोटी बहन के लिए न्याय की लड़ाई में जरूरत हुई तो वह भी महाराष्ट्र का दौरा करेंगे. महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग ने भी इस मामले पर संज्ञान लिया और अस्पताल अधिकारियों को नोटिस जारी कर आठ दिन के अंदर यह बताने को कहा है कि उन्होंने रैगिंग विरोधी कानून को लागू करने के लिए क्या कदम उठाए. तड़वी को खुदकुशी के लिए उकसाने की आरोपी तीन महिला चिकित्सकों ने मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है.
  • तड़ीपार आरोपी पुलिस हिरासत से हुआ फरार !

    By fast headline india →
    तड़ीपार आरोपी पुलिस हिरासत से हुआ फरार ! 

    दो घण्टे में पुलिस ने किया फिर से तड़ीपार आरोपी किया गिरफ्तार ! 

    सेंट्रल अस्पताल में ईलाज कराने के लिए लाई थी इस तड़ीपार आरोपी को ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के सेंट्रल अस्पताल में ईलाज कराने के लिए आये एक तड़ीपार आरोपी ने मौका पाकर पुलिस की हिरासत से भागने का मामला सामने आया है, अम्बरनाथ पुलिस ने इस तड़ीपार आरोपी को ईलाज कराने के लिए दोपहर में सेंट्रल अस्पताल लेकर आई थी आरोपी मौका पाकर पुलिस को चकमा देते हुए फरार हो गया है, इस आरोपी पर कई पुलिस स्टेशनों में अलग अलग मामले दर्ज है !
    सूत्रों से मिली जानकारी अम्बरनाथ पुलिस ने तड़ीपार आरोपी संजय महादेव गवली को ईलाज के लिए सोमवार की दोपहर सेंट्रल अस्पताल लेकर आई थी पुलिस ने उसे डॉक्टर को दिखाया इसी दरम्यान आरोपी को मौका मिला वह फरार हो गया पुलिस उसे ठूठने में जुटी हुई थी दो घण्टो में पुलिस को कामयाबी मिला और पुलिस ने फरार तड़ीपार आरोपी संजय गवली को फिर से गिरफ्तार कर लिया है, इस बारे में जब अम्बरनाथ पुलिस स्टेशन में फोन किया तो उन्होंने कहा इस तरह की किसी घटना की जानकारी हमको नही है अभी भी हमारे दो कांस्टेबल आरोपी गवली को लेकर सेंट्रल अस्पताल में ही है यह जानकारी उन्होंने दिया है,इस तरह की घटना दोबारा न हो इसके लिए पुलिस प्रशासन को सावधानी बरतें की जरूरत है !
  • उमपा के शिक्षा विभाग में अवैध पदोन्नति का मामला पहुचा महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री तावड़े के पास !

    By fast headline india →
    उमपा के शिक्षा विभाग में अवैध पदोन्नति का मामला पहुचा महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री तावड़े के पास ! 

    मनविसे अध्यक्ष शेलार ने अवैध पदोन्नति रद्द करने की है मांग ! 

    अवैध शिक्षा विभाग में पदोन्नति मामले में मनपा के नगरसेवकों को मिली है लाखो की रिश्वत ? 

    मंगलवार होने वाली महासभा के एजेंडा के जरिये लाया गया यह विषय ! 

    उमपा के शिक्षा विभाग ने सारे नियमो को ताख पर रखकर खेला जा रहा है यह पूरा खेल ! 

    मनपा की तिजोरी को हथियाने के लिए किया जा रहा है यह पूरा राजनीतिक कारनामा ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा के शिक्षा विभाग की पदोन्नति का मुद्दा मंगलवार को होने वाली महासभा में लाया गया है। महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना ने आरोप लगाया है कि यह विषय नियमों की अनदेखी करते हुए लाया गया है, इसलिए, मनविसे ने,महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े व महापौर पंचम कालानी और मनपा आयुक्त अच्युत हांगे को इस संदर्भ में एक लिखित पत्र दिया है और पूरे मामले का विरोध किया है। 
    बता दे कि मनविसे ने बार-बार मांग की है कि सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार शिक्षा विभाग की पदोन्नति प्रक्रिया को किया जाना चाहिए। 28 मई मंगलवार को होने वाली महासभा में पदोन्नति का मामला लाया गया है। मनविसे के शहरध्यक्ष मनोज शेलार ने आरोप लगाया है कि इस विषय को महासभा द्वारा उपेक्षित किया गया है और इसे वरिष्ठता से नीचे लाया गया है, जिसके कारण यह संभव है कि कर्मचारियों पर इससे अन्याय होने की संभावना है। इसलिए मनोज शेलार ने महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े व महापौर और मनपा आयुक्त को एक लिखित निवेदन देकर मांग की है कि आगामी महासभा में इस विवादास्पद मामले को रद्द कर दिया जाए। विश्वसनीय सूत्रों की माने तो इस गैरकानूनी प्रक्रिया को महासभा में सर्व सम्मति से पास करने के लिए हर नगरसेवक एक एक लाख दिए जाने की बात सामने आ रही है, शहर के कुछ लोग अपने निजी फायदों के चलते कानून के नियमो की धज्जियां उठाते हुए पैसे के जोर से अपने मनचाहे लोगो को पदोन्नति करने के लिए इस विषय को महासभा लाया है और मनपा के लगभग ज्यादा से ज्यादा नगरसेवकों को मैनेज भी कर लिया गया है ऐसी चर्चा मनपा के गलियारों में जोरो पर है मनपा के शिक्षा विभाग में इससे पहले भी इस तरह के कई बड़े भ्रष्टाचार सामने आए है परन्तु अभी तक कोई ठोस कार्यवाई कभी हुई हो ऐसा देखा नही गया है,बहरहाल इस बार क्या होता है वह तो मंगलवार की महासभा होने के बाद सामने आ ही जायेगा ! यह विषय पास होता है या फेल ?
  • मनपा सफाई कर्मचारी ने ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी को पीटा !

    By fast headline india →
    मनपा सफाई कर्मचारी ने ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी को पीटा ! 

    ट्रैफिक पुलिस ने दर्ज कराया एफआईआर,सफाई कर्मी को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

     एक ही दिन में दो ट्रैफिक पुलिस कर्मी की हुई पिटाई ! 

     उल्हासनगर - उल्हासनगर महापालिका के सफाई कामगार ने टोइंग वाहन पर काम करने वाले ट्रैफिक पुलिस के हवलदार को पीटने का मामला सामने आया है,उल्हासनगर शहर में एक ही दिन पर दो ट्रैफिक पुलिस कर्मी के साथ मारपीट होने का मामला सामने आया है,एक नम्बर पुलिस ने ट्रैफिक पुलिस कर्मी की शिकायत पर मामला दर्ज किया है और आरोपी सफाई कर्मी को गिरफ्तार किया है !        
     बता दे कि    शुक्रवार की शाम को उल्हासनगर के कैम्प क्रमांक एक के शिवरोड परिसर पी-1 और पी-2 नो पार्कीग है. इस पार्किंग में मोटर सायकल क्रमांक एम.एच.05 बी.डब्ल्यू 7316 यह गलत जगह पार्किंग किया गया था. जिसके चलते इस गाडी को पुलिस हवलदार मायकल फ्रान्सिस की ट्यूटी वाली टोइंग वाहन ने उठाया और वाहतूक शाखा के बगल में लाये थे. तभी कुछ देरी में राजेश कांजनीया यह मनपा के सफाई कर्मचारी आया और उसने मोटर सायकल का टोईंग क्यो किया इसको लेकर वाद विवाद करने लगा और बोला कि तुम्हे पता नही की मै उल्हासनगर महानगरपालीका का सफाई कर्मचारी है . मेरी गाड़ी को छोड़ दे वरना अच्छा नही होगा ऐसा धमकी देकर वाद विवाद करने लगा . इसके जवाब में ट्रैफिक पुलिस के फ्रान्सिस इन्होंने नकारात्मक उत्तर देते हुए दंड की पावती फाडो और गाडी ले जाओ ऐसा बोले इस बात से नाराज राजेश ने कहा तू मेरेको मादरचोर की गाली और, जातीवाचक शब्द क्यो बोला ऐसा बोलते हुए राजेश ने पुलिस हवलदार फ्रान्सनीस की कॉलर पकड लिया और गाली देते हुए मरना शुरू कर दिया.किसी तरह से लोगो के बीच बचाव के बाद मामला शांत हुआ,इस मामले में उल्हासनगर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है और राजेश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है,वही इसी तरह का दूसरा मामला उल्हासनगर के चार नम्बर में सामने आया वहा पर भी स्थानीय ब्यापारियों के द्वारा एक ट्रैफिक हवलदार को पीटने का मामला भी सामने आया है उसकी शिकायत दर्ज हुआ है कि अभी तक उसकी जानकारी सामने नही आ पाया है.कुल मिलाकर इस तरह की घटना की जितनी निदा की जाय वह कम है इस तरह की घटना आगे न हो इस लिए दोषियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही होनी चाहिये !   
  • भाजपा पदाधिकारी व उसके परिवार के लोगो पड़ोसी पर किया हमला !

    By fast headline india →
    भाजपा पदाधिकारी व उसके परिवार के लोगो पड़ोसी पर किया हमला ! 

     कर्ज का समय पर भुगतान नही होने से जुड़ा पूरा मामला ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में बीजेपी के पदाधिकारी और उनकी पत्नी और बेटे ने जमानतदार पर ही हमला कर दिया। आरोपी बीजेपी पदाधिकारी ने क्रेडिट संस्थान से 6 लाख रुपए का ऋण लिया था, लेकिन इस ऋण का हफ्ता वो नहीं दे रहा था, इसकारण यह पैसा जमानतदार के वेतन से काटा जा रहा था,इसी को लेकर उनमें विवाद हो गया था। 
    बता दे कि उल्हासनगर -१ के कमलनेहरु नगर क्षेत्र के निवासी दिलीप लक्ष्मण फुंदे भाजपा के उल्हासनगर शहर जिला सचिव (ओबीसी सेल) हैं। फुंदे ने शहर में स्थित जगदंबा नगरी सहकारी क्रेडिट सोसाइटी से ६ लाख रुपए का ऋण लिया था। पड़ोस में रहनेवाले सेंचुरी रेयान कंपनी में कार्यरत संतोष राय ने इस ऋण के लिए जमानत दी थी। चूंकि ऋण समय से नहीं भरे गए थे, इसलिए राय के वेतन से २५०० रुपए प्रति माह की कटौती की जा रही थी। राय ऋण राशि का वेतन से होनेवाली कटौती से बचने के लिए कठिन प्रयास कर रहे थे, जिसके लिए उन्होंने जगदंबा क्रेडिट सोसाइटी में दिलीप फुंदे की आय के आधार पर लिए गए दस्तावेजों की मांग की थी,यह बात फुंदे को मालूम हो गई थी। शनिवार शाम जब संतोष राय दिलीप फुंदे के घर से बाहर जा रहे थे, तो फुंदे ने राय को लोहे की छड़ों से पीटकर मारने की कोशिश की, जिसके बाद उनकी पत्नी और बेटे ने भी राय को पीटा। इस मामले में राय ने उल्हासनगर पुलिस स्टेशन में शिकायत की, पुलिस ने आरोपी दिलीप फुंदे और उनकी पत्नी और बच्चों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस बारे में पूछे जाने पर दिलीप फुंदे ने कहा कि उन्होंने संतोष राय को समय-समय पर पैसे दिए हैं, लेकिन वह मेरे खिलाफ पुलिस थाने में झूठे आरोप लगा रहे हैं। कभी-कभी, राय कुछ गुंडों को भी लेकर आता है और मुझे और मेरे परिवार को डराने की कोशिश करता है ।
  • उल्हासनगर में बिल्डर की तानाशाही नैसर्गिक नाले के प्रवाह को मोड़ा ?

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में बिल्डर की तानाशाही नैसर्गिक नाले के प्रवाह को मोड़ा ?

    नाले के प्रवाह में बदलाव के कारण स्थानीय लोगो पर बढ़ा बाढ़ का खतरा ! 

     भाजपा नगरसेविका व परिवहन सभापति ने आयुक्त को पत्र लिखकर बिल्डर मामला दर्ज करने किया मांग ! 

    मनपा के बिना अनुमति के बनाया जा रहा यह नाला ! 

    प्रोजेक्ट को बचाने के चक्कर में लाखो लोगो को डुबाने के चली गई यह चाल ? 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में नाले के प्रवाह को एक बड़े प्रोजेक्ट के लिए हाउस कॉम्प्लेक्स के एक डेवलपर द्वारा प्रतिस्थापित किया जा रहा है, जिसके कारण यह आरोप लगाया गया है कि नाले के दिशा में बदलाव के वजह से आने वाली बाढ़ के कारण बड़े पैमाने पर जीवित और वित्तीय नुकसान की संभावना है, ऐसा डर स्थानीय नागरिकों और राजनीतिक नेताओं द्वारा व्यक्त किया जा रहा है।
    बता दे कि हरमन मोहता नामक उल्हासनगर -१ में स्थित कंपनी के बंद हो जाने के बाद इस पर बड़े रिहायशी काम्प्लेक्स का निर्माण शुरू होने के कारण डेवलपर द्वारा इस जगह पर स्थित नाले के दिशा को बदला जा रहा है। इससे बाढ़ की स्थिति पैदा होने की संभावना है, जिससे स्थानीय निवासियों में गुस्से की लहर है। भाजपा नगरसेविका चंद्रावती देवी सिंह और उल्हासनगर मनपा के परिवहन  सभापति संतोष पांडेय
     ने नाले के बहाव में बदलाव का विरोध किया है। इस संबंध में, उन्होंने मनपा आयुक्त अच्युत हांगे को एक लिखित बयान दिया है कि संबंधित कार्य के कारण बाढ़ प्रभावित स्थिति पैदा हो सकती है और जीवन और संपत्ति के नुकसान हो सकता है, इसलिए नाले की दिशा बदलने के काम को तुरंत रोका जाए, अगर काम नहीं रोका गया, तो जन आंदोलन किया जाएगा और प्रशासन इसका जिम्मेदार होगा।
  • शादीशुदा महिला हुई छेड़खानी का शिकार !

    By fast headline india →
    शादीशुदा महिला हुई छेड़खानी का शिकार ! 

     पुलिस मामला दर्ज करने में कर रही है आनाकानी !

     कायद्या ने वागा संस्था ने संबंधित पुलिस के अधिकारियों पर किया कार्यवाई की मांग ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर की एक विवाहित महिला को प्रताड़ित करने और यौन उत्पीड़न करने वाले अपराधी पर मामला दर्ज करने में पुलिस द्वारा आनाकानी का आरोप महिला ने लगाया है। इस मामले में, कायद्या ने वागा संगठन ने संबंधित पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को निलंबित करने की मांग की है।
     बता दे कि उल्हासनगर के दीपक दरबार होटल के पास रहने वाली महिला सुबह 10 बजे मंदिर जाने के लिए घर से निकली, जब राहुल नाम के एक युवक ने सड़क पर उलझने की कोशिश की और छेड़खानी करने लगा,महिला ने कहा कि तुम मेरे बेटे समान हो,लेकिन राहुल बदतमीजी कर रहा था। महिला घर आई और अपनी सास को यह बात बताई। जब उसके पति को इस बारे में पता चला, तो वह राहुल के घर गया,जहां राहुल और उसके परिवार ने महिला के पति की पिटाई कर दी। शिकायतकर्ता महिला और उसका पति इस बारे में शिकायत करने के लिए विट्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन गए, लेकिन पुलिस शिकायत दर्ज करने में आनाकानी कर रही थी। पुलिस ने शिकायत दर्ज करने के लिए सुबह तीन बजे तक इस दंपती को पुलिस स्टेशन में बिठाकर रखा।रविवार को कायदे ने वागा संगठन के एडवोकेट स्वप्निल पाटिल ने हस्तक्षेप करके विनयभंग का मामला राहुल के खिलाफ़ दर्ज कराई। कायदे ने वागा के संस्थापक राज असरोडकर, एडवोकेट अमेय बाकरे, प्रफुल्ल केदारे, कुणाल वाघ और नितिन महाजन की एक प्रतिनिधि मंडल ने वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रमेश भामे से मुलाकात की और एक लिखित बयान प्रस्तुत किया, इस मामले में अपराध दर्ज नहीं करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इस संबंध में जब रमेश भामे से पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि "मैंने पहले से ही निवारक उपायों के साथ-साथ हमारे कर्मचारियों को सख्त निर्देश दिए हैं, और निवारक उपायों और इस तरह के अभियान को हमारे संबंधित क्षेत्रों में लागू किया जाएगा, अगर कोई पुलिस कर्मी दोषी पाया जाता है, तो उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी।
  • हत्या के मामले बनाया आत्महत्या मामला ! चश्मदीद महिला ने किया मामले का पर्दाफाश !

    By fast headline india →
    हत्या के मामले बनाया आत्महत्या मामला !

     चश्मदीद महिला गवाह की बदौलत हुआ मामले का पर्दाफाश ! 

    पुलिस एक आरोपी को किया गिरफ्तार ! 

     मुंबई-मुंबई में एक छोटी सी बात पर कुछ बदमाशों ने एक व्यक्ति को बिल्डिंग के ऊपर से फेंक दिया जिससे व्यक्ति की मौत हो गयी। मौत के बाद सभी आरोपियों ने इस हत्या को आत्महत्या का रूप देने की कोशिश की लेकिन एक चश्मदीद महिला के कारण मामले का खुलासा हुआ। जिसके बाद पुलिस ने एक को गिरफ्तार किया।
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मानखुर्द के MPG परिसर में स्थित विजय मंगल सोसायटी में पीड़ित विजेंद्र उर्फ़ राज सिंह अपने परिवार के साथ रहता था। विजेंद्र को शराब की भी लत थी और वह अक्सर नशे की हालत में बिल्डिंग के टेरिस पर ही सो जाया करता था। 5 अप्रैल की रात को अचानक टेरिस से गिर कर विजेंद्र की मौत हो जाती है।उसे तत्काल राजावाड़ी अस्पताल ले जाया जाता है जहां डॉक्टर उसे मृत घोषित कर देते हैं। इसके बाद सभी यही कयास लगाते हैं कि विजेंद्र ने नशे की हालत में आत्महत्या कर ली। लेकिन जब पुलिस ने जाँच करना शुरू किया तो पुलिस ने आखिर सच का खुलासा कर ही दिया। उसी बिल्डिंग में रहने वाली एक महिला ने पुलिस को बताया कि, उसने एक व्यक्ति को यह कहते सुना था कि, राज ने आज झगड़ा किया है मैं उसे नहीं छोड़ूंगा। महिला ने पुलिस को बताया कि उस व्यक्ति के साथ एक और भी व्यक्ति था और दोनों व्यक्तिबिल्डिंग के टेरिस की ओर गए थे। महिला की निशानदेही पर जब पुलिस ने उन दोनों व्यक्तियों को गिरफ्तार किया तो सारी सच्चाई खुल कर बाहर आ गयी। पुलिस ने दोनों आरोपियों को संबंधित धारा के तहत गिरफ्तार कर लिया। मुख्य आरोपी का नाम विनायक उर्फ़ विनोद राजा गौड़ (25) है। अब पुलिस इनके खिलाफ आगे की कार्रवाई कर रही है।
  • जन्मदिन की पार्टी के दौरान 2 गुटों में हुआ जमकर हुआ मारामारी !

    By fast headline india →
    जन्मदिन की पार्टी के दौरान 2 गुटों में हुआ जमकर हुआ मारामारी ! 

    लोहे की रॉड, हॉकी स्टिक, स्ट्रिप्स, से हुआ एक दूसरे पर हमला !

    पुलिस दर्ज किया 37 लोगों के खिलाफ एफआईआर चार को किया गिरफ्तार !

    10 लोग हुए इस मारपीट में घायल !


     अंबरनाथ-अंबरनाथ में एक घर में जन्मदिन की पार्टी के दौरान लोग जोर-जोर से चिल्ला रहे थे,इस पर एक व्यक्ति ने कहा कि जोर से चिल्लाएं नहीं,घर में बच्चे और लोग सो रहे हैं। इसी बात को लेकर दो समूहों में झड़प हुई थी, जिसमें 10 लोग घायल हो गए थे। शिवाजीनगर पुलिस स्टेशन में 37 लोगों के खिलाफ 2 समूहों द्वारा एक दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई है।
    पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, यह घटना अंबरनाथ पूर्व में गायकवाड़पाड़ा विठ्ठल मंदिर की रंग कंपनी के पास हुई। सुरेश उज्जेनकर (38) के घर के सामने सुमा गोमारे का जन्मदिन मनाया जा रहा था। उनके परिजन उन्हें बधाई देने के लिए जमा थे। सुरेश ने कहा कि घर के लोग सो रहे हैं, आप लोग हल्ला मत करो, इसी बात पर काशीनाथ सोमैया और बरक्या को गुस्सा आ गया और उन्होंने उन्हें 15 से 20 लोगों को बुलाया। 20 से 23 लोगों का एक समूह हमला करने आ गए, सुरेश को उनके भतीजे विनोद, उनके बेटे राहुल उर्फ ​​मोनू, और उनके बेटे रोहित को लोहे की छड़, हॉकी स्टिक, स्ट्रिप्स, से हमला कर उन लोगों ने घायल कर दिया था।इस मामले में सुरेश ने काशीनाथ और शिवाजीनगर थाने के 22 लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। इस मामले में शिवाजीनगर पुलिस स्टेशन में दूसरे गुट ने सुरेश सहित 13 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। दो समूहों के बीच झड़प में लगभग 10 लोग घायल हो गए और 2 समूहों के 37 लोगों को बुक किया गया है। पुलिस ने 2 समूहों में से 4 को हिरासत में लिया है। इस मामले की जांच पुलिस उप निरीक्षक जमदाडे और सहायक पुलिस निरीक्षक सोनवणे कर रहे है।
  • उल्हासनगर शहर में खुलेआम बिक रहा पान की दुकानों पर गुटखा ?

    By fast headline india →
    उल्हासनगर शहर में खुलेआम बिक रहा पान की दुकानों पर गुटखा ?

     दुर्घटना ग्रस्त टेंपो की मदत करने गई पुलिस को मिला गाड़ी से प्रतिबंधित गुटखा !

    पुलिस ने गुटखा को किया जप्त और एफडीए को दी जानकारी !

     टेंपो चालक ने पुलिस कंट्रोल को फोन करके मांगी थी मदत !

    एफडीए के भ्रष्ट्र अधिकारियो व पुलिस की मिलीभगत से उल्हासनगर की पान की दुकानों खुलेआम बिकता है गुटखा !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर की विठ्ठलवाड़ी पुलिस को दुर्घटना ग्रस्त टेंपो को राहत प्रदान करने के लिए पुलिस कंट्रोल से फोन आया था। विठ्ठलवाड़ी पुलिस उसी फोन की जानकारी के आधार पर टेंपो की मददत करने पहुचे लेकिन जब टेंपो की जांच किया तो उस टेंपो से छह लाख रुपए का गुटखा बरामद हुआ है। यह प्रतिबंधित गुटखा था। उल्हासनगर शहर की पान की दुकानों पर इसकी सप्लाई होती है ! आज भी उल्हासनगर की ज्यादातर पान की दुकानों में खुलेआम गुटका बेचना शुरू है !
    उल्हासनगर शहर में सरेआम गुटखा बेचा जा रहा है। यह गुटखा भिवंडी से टेंपो में बंद करके लाया जाता है। गुरुवार दोपहर पेंसिल फैक्ट्री में विठ्ठल मंदिर के पास एक टेम्पो दुर्घटना हुई, विठ्ठलवाड़ी पुलिस को कंट्रोल रुम से फोन आया था। पुलिस उपनिरीक्षक मंगेश जाधव, पुलिस कांस्टेबल सुनील रसाल, राजेश डोंगरे, पुलिस हवलदार शीतल माने, विनोद कदम मौके पर पहुंचे। जब उन्होंने टेम्पो की जांच की तो टेम्पो MHO 4 -JK 5631 में 15 खाकी रंग के बोरे थे। इन बोरों में गोवा और विमल गुटखा भरा हुआ था, जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। पुलिस उपायुक्त प्रमोद शेवाले और सहायक पुलिस आयुक्त धुल टेले, वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रमेश भामे ने विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन के कर्मचारियों की सराहना की है। जब्त गुटखा से संबंधित जानकारी (fda) खाद्य और औषधि प्रशासन को आगे की कार्रवाई के लिए दी गई है,ऐसी जानकारी वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक भामे ने दी है। वही उल्हासनगर और कल्याण के जरिये हो रहा है इन दोनों जगहों पर अवैध गुटके को रखने के लिये कई बड़े गोदाम भी जहा पर बड़ी मात्रा में स्टाक रखा जाता है स्थानीय पुलिस की मिली भगत से ये पूरा कारोबार फलफूल रहा है ! इस समय उल्हासनगर के लगभग सभी पान की दुकानों पर आपको आसानी से गुटका मिल जाता कुछ किराना के दुकानदार भी है जो अपनी दुकानों पर गुटका बेचते है सबसे ज्यादा उल्हासनगर नम्बर तीन एक सलीम करके जिसके इधर खुलेआम गुटखा बेचा जाता है चोरी छुपे कल्याण, शहद, विठ्ठलवाड़ी, अम्बरनाथ इन इलाकों अभी भी बे रोक टोक यह कारोबार जारी है !
  • स्थायी सभापति पद व चार नम्बर प्रभाग समिति के चुनाव पर होगा मुकाबला !

    By fast headline india →
    स्थायी सभापति पद व चार नम्बर प्रभाग समिति के चुनाव पर होगा मुकाबला !

    तीन प्रभाग समिति सभापति बिनविरोध ! 

    जया प्रकाश माखीजा बिनविरोध सभापति बनी !

     स्थायी समिती सभापति राजेश वधारिया बनना हुआ तय ! 

     उल्हासनगर -उल्हासनगर मनपा के स्थायी समिती सभापती चुनाव के लिए टीओके की तरफ से राजेश वधारिया और रिपाई पार्टी के भगवान भालेराव के बीच लड़ाई होने वाली है . चार प्रभाग समिती के सभापती पद पर तीन सभापती बिनविरोध चुन गए है क्योंकि कोई इन तीनो समिति में एक ही उम्मीदवारो ने नामांकन भरा प्रभाग समिति चार में शिवसेना व रांकपा के बीच मुकाबला है परन्तु संख्या बल के हिसाब से शिवसेना का सभापति चुना जाना तय माना जा रहा है.  
         बता दे कि 16 सदस्य संख्या वाली स्थायी समिती में भाजपा 4 , शिवसेना 4, टीओके 3, साई पार्टी 2 राष्ट्रवादी काँग्रेस 1 रिपाई ( आठवले ) 2 ऐसा कुल गणित है . राजेश वधारिया को टीओके और भाजपा युती के द्वारा अपना उम्मीदवार बनाया है, राजेश वधारिया की उम्मीदवारी  टीओके, भाजपा व शिवसेना के नगरसेवक उपस्थित में हुआ तो भगवान भालेराव इनकी उम्मीदवारी के समय रांकपा के नगरसेवक उपस्थित थे . जिसके देखते हुए यह लड़ाई एक तरफा होना तय माना जा रहा है .   प्रभाग समिती एक सभापती पद भाजपा के रवींद्र बागुल, प्रभाग समिती दो सभापती पद पर भाजपा की जया माखिजा , प्रभाग समिती तीन सभापती पद साई पार्टी की ज्योती भाटिया इनका बिनविरोध चुनाव हो गया है . प्रभाग समिती चार के सभापती चुनाव में शिवसेना के सुमित सोनकांबले और राष्ट्रवादी काँग्रेस की सुमन सचदेव इनके बीच सीधा मुकाबला है इसमें भी सोनकांबले कि जीत निश्चित मानी जा रही है .  
  • साई पार्टी के नगरसेवक टोनी साई पर अज्ञात गुंडों ने किया जानलेवा हमला !

    By fast headline india →
    साई पार्टी के नगरसेवक टोनी साई पर अज्ञात गुंडों ने किया जानलेवा हमला !

     टोनी साई को स्थाई समिति चेयरमैन की रेस से हटाने के लिए हुआ हमला तो नही ? 

    उल्हासनगर में कानून को ठेंगा दिखाकर गुंडे कर रहे है तांडव ! 

    गुंडों की गिरफ्तारी के बाद हमले की सही वजह का हो सकता पर्दाफाश ! 

     स्थाई समिति चेयरमैन की दावेदारी होकर रहेगी-टोनी साई 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका में साईपक्ष के युवा नगरसेवक दीपक सिरवानी उर्फ टोनी साई पर बीती रात में 12.30 बजे व्हीनस चौक के पास इनोवा गाड़ी पर सवार सात अज्ञात लोगों ने रिवाल्वर,धारदार हथियारों की नोक पर डंडे,लोहे की छड़ व लातो-मुक्के से अचानक जानलेवा हमला कर दिया।इस हमले में टोनी सिरवानी लहू-लुहान हो गए,जिन्हें उपचार के लिए समीप के निजी अस्पताल में एडमिट किया था। टोनी सिरवानी की शिकायत पर विट्ठलवाड़ी पुलिस ने 324,143,144,145,147,भा. ह.का.3.25 के तहत मामला दर्ज कर अज्ञात हमलावरों की तलाश शुरू कर दी है। सूत्रों की माने तो टोनी सिरवानी उमपा के स्थाई समिति चेयरमैन की दावेदारी करने वाले इस हमले के पीछे की वजह उन्हें इस दावेदारी से पीछे हटाने के उद्देश्य से तो नही हुआ यह एक बड़ा सवाल भी है !
    गौर तलब हो कि विगत कई महीनों से शहर में कानून ब्यवस्था के खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है,लोकसभा चुनाव शांति पूर्ण हो सके इसलिए परिमंडल -4 के डीसीपी प्रमोद शेवाले व एसीपी थेले ने दो दर्जन से ज्यादा अपराधियो को तड़ीपार किया है,कुछ कुख्यात गुंडों को एमपीडीए के तहत जेल भेज चुके है,बावजूद शहर के कुख्यात गुंडों का मनोबल बढ़ता जा रहा है।पुलिस में दर्ज शिकायत के अनुसार बीती देर रात 12.30 बजे जब टोनी सिरवानी अपने नगरसेवक मित्र व सभागृह नेता शंकर उर्फ शेरी लुंड को उनके निवास स्थान पर छोड़कर वापस आ रहे थे।तभी व्हीनस चौक पर एक इनोवा कार में सवार सात अज्ञात गुंडों ने टोनी सिरवानी की गाड़ी रुकवाई,गाड़ी रूकते ही अज्ञात गुंडों ने उन्हें गाड़ी से बाहर खींचा जब कुख्यात गुंडों का टोनी ने विरोध करना चाहा तो उन्होंने रिव्हलावर व तलवार की धौस दिखा कर उनकी बेरहमी से पिटाई करने लगे। भीड़ जमा होते देख इनोवा में गूंडे बैठकर भाग निकले जब टोनी सिरवानी पुलिस स्टेशन की ओर निकले तब पीछे से वापस वही अज्ञात गुंडों ने तलवार व रिव्हलावर दिखाते हुए शिकायत नही करने के लिए इशारा करते हुए फरार हो गए,टोनी सिरवानी की शिकायत पर विट्ठलवाड़ी पुलिस ने अज्ञात हमलावारों पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर अज्ञात गुंडों की तलाश में जुट गई है, सूत्रों की माने तो उमपा में इस समय स्थाई समिति चेयरमैन की सीट का चुनाव जल्द किया जाना इसके लिए टीओके ने राजेश वधारिया को स्थाई समिति का चेयरमैन बनाना चाहती है ! वही टोनी सिरवानी भी स्थाई समिति चेयरमैन की जुआड में जुटे हुए कल भी वो लोग उसी की बात करके लौटते समय यह हमला उनको इस चेयरमैन की रेस से हटाने की मंशा से तो नही किया गया है यह एक बड़ा सवाल है ! वही इस बारे में जब टोनी साई से उनके मोबाईल पर संपर्क किया गया तो उन्होंने साफ किया कि इस हमले से वो डरने वाले नही है स्थाई समिति चेयरमैन की दावेदारी की लड़ाई वो लड़ेंगे हमले के पीछे इस बात पर उन्होंने बोलने से मना करते हुए कहा पुलिस मामले की जांच कर रही है जल्द ही हमले के पीछे कौन लोग है उसका पर्दाफाश पुलिस करेगी ऐसा मुझे उम्मीद है ! इससे आप अंदाजा लगा सकते है यह हमला एक नियोजित हमला है उमपा कि स्थाई समिति चेयरमैन से जुड़ा हुआ ऐसा सोचना गलत नही है बहरहाल पूरे मामले के जांच में अभी पुलिस जुटी हुई है कुछ कहना अभी जल्द बाजी होगी !
  • एक लाख की रिश्वत लेते सेना नगरसेवक हुआ गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    एक लाख की रिश्वत लेते सेना नगरसेवक हुआ गिरफ्तार ! 

    10 प्रतिशत की टक्के वारी के रूप में ठेकेदार से मांगी थी रकम ! 

    10 लाख की निधी से गटर व रास्ते बनाने का मिला था क्लासिक कंस्ट्रक्शन कंपनी को ठेका ! 

    ठेकेदार ने एंटीकरप्शन विभाग नवी मुंबई में किया था इसकी शिकायत ! 

    कल्याण- कल्याण में एक सनसनीखेज मामला सामने आया इस मामले में अंबिवली का सेना नगर सेवक को रिश्वत लेने के मामले में गिरफ्तार किया गया है जब जनसेवक ही बेईमानी पर उतर आए तो विकास की गंगा कैसे बह सकती है इस बात का ताजा उदाहरण अंबिवली अटाली के नगरसेवक गोरख जंगलीराम जाधव का है। जिनके द्वारा ठेकेदार से विकास कार्य में कोई बाधा नही डालने के रूप में रिश्वत की मांग की गई और शिकायत होने के कारण मंगलवार को एन्टी करप्शन विभाग ने इन्हें रिश्वत की रकम लेते हुए गिरफ्तार किया है । जैसे ही यह बात लोगो को मालूम पड़ी जंगल मे आग लगने के समान बात फैल गई मामला एक नगर सेवक से जुड़ा था जनता का सेवक ही जब ऐसा कार्य करे तो विकाश काम सही रूप होगा कैसे होगा ।
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार क्लासिक कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा कल्याण डोम्बिवली मनपा क्षेत्र के अटाली व आस पास के गांव में गटर व रास्ता बनाने का लगभग 10 लाख का ठेका लिया गया था, इस काम मे कोई रुकावट पैदा नही हो इसके लिए इस प्रभाग के नगरसेवक गोरख जाधव द्वारा ठेके की कुल रकम में से 10 प्रतिशत कमीशन की मांग की गई। शिकायतकर्ता ने इसकी शिकायत नवी मुंबई एन्टी करप्सन को दी और एन्टी करप्सन की जांच टीम ने शिकायत को सही पाया और खडकपाड़ा पुलिस में नगरसेवक के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी गई है। और नगरसेवक गोरख जाधव को गिरफ्तार कर लिया है। और इस मामले की आगे की जाच में जुट गई है !
  • उल्हासनगर शहर में गरदुल्लो का आतंक !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर शहर में गरदुल्लो का आतंक ! 

    पुलिस ने तीन गरदुल्लो को किया गिरफ्तार ! 

    फेरीवालों नशे के लिए मांगते पैसे नही देने पर होती है उनके साथ मारपीट ! 

    शहर कई जगहों पर खुलेआम बिकता है गांजा ! 
     फाइल फोटो

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में बढ़ते नशेड़ीयो के चलते आयेदिन चोरी व अन्य तरह की घटना में बढ़ोतरी हो रही हैं.वही पुलिस इन नशेड़ीयो के सामने नतमस्तक होती दिखाई पड़ रही है.ऐसे ही एक मामले में पुलिस ने 3 नशेड़ियों को उल्हासनगर स्टेशन परिसर में गांजा पीते हुए गिरफ्तार किया है !
    वही सम्राट अशोक नगर भाजी मार्किट में पिछले 5 दिनों से एक नशेड़ियों को टोली फेरीवालों से नशे के लिए मारपीट कर हफ्ता वसूली में जुटी हुई है.पुलिस में शिकायत दर्ज करने के बायजुड़ एनसी के तहत मामला दर्ज कर मामले को रफादफा किया जा रहा है। पुलिस से प्राप्त जानकरी के अनुसार उल्हासनगर रेलवे स्टेशन परिसर के पास संजय गांधी नगर हैं।जहाँ पर गांजा बेचने का खुलेआम धन्धा होता है.इस गांजा बेचने वालों के कारण आये दिन गांजा पीकर नशेड़ी रेल यात्रियों के साथ साथ पास पडोस के परिसर में लोगो के साथ मारपीट कर लूटपात करते हैं.नशेड़ी लोग अब तक तीन लोगो की हत्या तक कर चुके हैं। बढ़ती घटना व विरोध को देखकर पुलिस ने अनिल दिलीप चव्हाण(20) व सोनू सुरेश राजपूत (28)नामक मंजूर को उल्हासनगर रेलवे स्टेशन के पास गांजा का दम भरते हुए दिन दोपहर को दिखवे के तौर पर गिरफ्तार किया है वही मध्यवर्ती पुलिस की हद में 11 मई की रात साढ़े 11 दरम्यान कैम्प 3 ओटी सेक्शन भाजी मार्किट में बाला नाम का नशेडी गुलाब चौहान नाम के एक भाजी बेचने वाले का पर्स छीनकर भाग गया था जब उसे इस बात का अहसास हुआ कि मौके पर कैमरा लगा हुआ था तो उसने वापस आकर पर्स दे दिया और 1 घण्टे बाद दूसरी जगह पर बाला ने गुलाब जबरन रोककर अपने साथियों महेश,फिरोज,मटका व एक अन्य के साथ गुलाब की बेरहमी से लकड़ी डंडे से पिटाई की जिससे भाजी वाले के नाक से खून निकलने लगा .यह पूरा वाकया सीसीटीवी में कैद हो जाने के बायजुड़ पुलिस ने एनसी दर्ज कर आधे घण्टे में आरोपियों को छोड़ दिया । दूसरी घटना 12 मई की रात एक शान्ति नाम की महिला को महेश नाम के नशेड़ी ने गालीगलौच कर धक्कामुक्की की ,इसकी शिकायत करने पर भी पुलिस ने आरोपी कर खिलाफ एनसी का मामला दर्ज कर मामले को दबाने की कोशिश की। तिसरी घटना 13 मई की रात महेश व बाला नामक युवको ने विन्दा नामक महिला के साथ मारपीट कर गालीगलौच व जान से मारने की धमकी देने के बायजुड़ महिला को डेढ़ घण्टे पुलिस स्टेशन में बिठाने के बाद एनसी के तहत दर्ज कर घर भेज दिया.इन सभी घटनाये सीसीटीवी कैमरे में कैद होने के बायजुड़ पुलिस इन नशेडिओ पर मेहरबान होती दिखाई पड़ रही है. शिवसेना शहर विभाग शाखा ने पुलिस को पत्र देकर शहर में बढ़ रहे नशे के कारोबार पर अंकुश लगाने की मांग भी की है फिर भी इन नशे के कारोबारियों पर कोई अंकुश लगता नही दिखाई नही पड़ रहा है !
  • पूर्व नगरसेवक ने महिला से किया रेप !

    By fast headline india →
    पूर्व नगरसेवक ने महिला से किया रेप ! 

    पुलिस ने पूर्व नगरसेवक समेत तीन को किया गिरफ्तार !

     बंदूक की धाक दिखाकर खंडाला ले जाकर किया रेप !

     ब्लैकमेलिंग से परेशान महिला ने आखिरकार दर्ज कराई थी शिकायत ! 

    मुंबई-मुंबई पुरानी जान पहचान का अनुचित लाभ उठाते हुए एक महिला के साथ तीन आरोपियों ने बलात्कार किया। यह घटना औरंगाबाद की है। पीड़िता ने बताया कि आरोपियों ने बंदूक की धाक दिखाकर उसे खंडाला ले गए और वहां पर उसके साथ जबरदस्ती की। उसके साथ औरंगाबाद के कई होटलों, कृष्णासागर रेसिडेन्सी बारामती और हर्सूल के एक मकान में भी रेप किया गया। पुलिस ने तीन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। 
    पुलिस इस घटना की जांच कर रही है। पुलिस को पीड़िता ने बताया कि उसकी पहचान साल 2015 में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के नगरसेवक से हुई थी। पिछले साल नगरसेवक मतीन सैयद ने औरंगाबाद के एक वाटरपार्क में ले जाकर पहली बार उसके साथ जबरदस्ती शारिरिक संबंध बनाए थे। उसने शीतपेय में बेहोशी की दवा मिलाकर उसके साथ बलात्कार किया। उसने ब्लैकमेल करते हुए कई बार अलग अलग जगहों पर जबरन दुराचार किया। आरोपी के भाई और रिश्तेदारों ने भी उसके साथ जबरदस्ती की है। ब्लैकमेलिंग से परेशान हो कर उसने चाकण पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया। वरिष्ठ पोलीस निरीक्षक सुनील पवार ने बताया कि आरोपी एआईएमआईएम का नगरसेवक है, जिसे निलंबित किया जा चुका है। पीडित महिला 2015 में औरंगाबाद महानगर पालिका के लिए नगरसेविका चुनी गई थी। एआईएमआईएम के नगरसेवक मतीन रशीद सैयद और अन्य दो लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। आरोपी मतीन के रिश्तेदार हामिद सिद्धकी और उसके भाई मोहसीन रशीद सैयद से पूछताछ की गई है। यह घटना 26 नवंबर 2018 से 24 फरवरी 2019 की है। तीनों ने महिला से जबरन एक कोरे कागज पर हस्ताक्षर भी करवा कर रख लिए हैं।
  • गर्लफ्रेंड से कॉलेज फीस भरने के लिए मांग रहा पैसे फिर हुआ कुछ ऐसा जाना पड़ा जेल !

    By fast headline india →
    गर्लफ्रेंड से कॉलेज फीस भरने के लिए मांग रहा पैसे फिर हुआ कुछ ऐसा जाना पड़ा जेल ! 

     मेडिकल छात्र अपने गर्लफ्रेंड को कर रहा था ब्लैकमेल !

     मेडिकल छात्र परीक्षा में हुआ फेल,इसका जिम्मेदार माना अपनी गर्लफ्रेंड को फिर शुरू हुआ खेल ! 

    औरंगाबाद- औरंगाबाद से एक अजीब खबर सामने आई है। यहां पुलिस ने एक मेडिकल छात्र को इसलिए गिरफ्तार किया है क्‍योंकि वो अपनी गर्लफ्रेंड से कॉलेज की फीस के लिए पैसे मांग रहा था। पुलिस ने छात्र के खिलाफ फिरौती और ठगी का मामला दर्ज किया है। 
    बता दे कि दरअसल हुआ ये था कि 21 साल के मेडिकल छात्र परीक्षा में फेल हो गया था और इसके लिए उसने अपनी गर्लफ्रेंड को जिम्‍मेदार ठहराया। छात्र का कहना है कि वह आशिकी के चक्कर में पहले ही साल फेल हो गया। छात्र ने गर्लफ्रेंड को फीस भरने के लिए कहा तो उसने दूरी बना ली। उसके बाद तो छात्र फोन और मैसेज से फीस वसूली के ल‍िए अभ‍ियान छेड़ द‍िया। गर्लफ्रेंड ने तंग आकर पुल‍िस में छात्र पर वसूली और आपराधिक इरादे से धोखाधड़ी करने का आरोप लगाते हुए शिकायत कर दी। जिससे छात्र को जेल जाना पड़ा।जानकारी के मुताबिक मेडिकल छात्र बीड़ जिले का रहने वाला है। औरंगाबाद के एक मेडिकल कॉलेज में उसने पिछले साल बीएचएमएस कोर्स में दाखिला लिया था। इसी दौरान क्लास में पढ़ने वाली एक मेडिकल छात्रा से उसका प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। आरोपी छात्र पढ़ने में तो तेज था लेकिन उसने पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित नहीं किया और पहले साल की परीक्षा में फेल हो गया। इसके बाद चार साल के बीएचएमएस कोर्स के दूसरे साल में उसे ऐडमिशन नहीं मिला। फेल होने के बाद ये छात्र बेहद नाराज हो गया। खराब रिजल्ट के लिए उसने अपने गर्लफ्रेंड को जिम्मेदार ठहरा दिया। हर्जाने के तौर पर वो गर्लफ्रेंड से पहले साल का फीस मांगने लगा। वो बार-बार फोन कर लड़की को फीस के लिए परेशान करता रहा। जब छात्रा ने उसकी बातों को अनदेखा किया तो आरोपी छात्र ने सोशल मीडिया पर उल्टे-सीधे पोस्ट डालने शुरू कर दिए। बाद में छात्रा ने परेशान होकर पुलिस को इसकी शिकायत कर दी.पुलिस ने इस छात्र को धर दबोचा।
  • उल्हासनगर में भूमाफिया के गुंडा राज से ब्यापारियों को बचाने के लिए मैदान में उतरी शिवसेना !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में भूमाफिया के गुंडा राज से ब्यापारियों को बचाने के लिए मैदान में उतरी शिवसेना !   

     शिवसेना शहर प्रमुख चौधरी ब्यापारी की तोड़ी गई दुकान लिया जायजा ! 

    इस दुकान को बनाने वाली अड़चन दूर करने के लिए मनपा आयुक्त व पुलिस प्रशासन से करेगे जल्द मुलाकात !

     भूमाफिया महेश साधवानी के खिलाफ पहले से इसी तरह कई और मामले है सेंट्रल पुलिस स्टेशन में दर्ज !   

     महेश साधवानी व महेश मारवाडी, अनिल भठिजा के बीच डेवलपमेंट के नाम पर हुआ करोड़ो की डील से मिले पैसे से हड़पी जा रही लोगो की जमीन ? 

     उल्हासनगर -उल्हासनगर के दो नम्बर के फर्नीचर बाजार के न्यू राज फर्निचर नामक दुकान को रातोरात जेसीबी लगाकर तोडफोड करके दुकान के भीतर रखे लाखो रुपये का फर्निचरो को तोड़फोड़  कर नुकसान करने मामला सामने आया था इस ध्वस्त दुकानदार के पड़ोसी ने यह सम्पति अपना होने का दावा किया है.वही इस तोड़फोड़ से करीबन 50 से 60 लाख का नुकसान हुआ है इस घटना के तीन दिन बीतने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया है. पुलिस ने स्पॉट पंचनामा किया ! परन्तु अभी सामने वाले आरोपी गिरफ्तार नही किया है, वही इस ब्यापारी को इंसाफ दिलाने शिवसेना सामने आ गई है शनिवार को दोपहर में शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी ने अपने पदाधिकारियों के साथ टूटी हुई दुकान का जायजा लिया और ब्यापारी को इंसाफ दिलाने के लिए शिवसेना हर संभव मदत करने का आश्वासन दिया है !  
      बता दे कि उल्हासनगर 3 फर्निचर मार्केट के नरेश चंदर खटवानी का न्यू राज फर्निचर नाम की दुकान है.इस दुकान के बगल में  खटवानी का फर्निचर का गोडाऊन है यहाँ तैयार फर्निचर और फर्निचर सामान रखा जाता है.  सोमवारी 15 अप्रैल की देर रात महेश साधनानी और उनके सहयोगियों के सहायता से जेसीबी मशिन लगाकर  दुकान की दिवार और पटरे सहित दुकान के भीतर रखे  50 से60 लाख रुपये के फर्निचर बुलडोजर चलाकर बर्बाद कर दिया.    इस घटना के बाद सुबह दुकान मालिक खटवानी मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन शिकायत करने गए थे जहाँ महिला पुलिस उपनिरीक्षक पवार ने शिकायत लेने दो घण्टे तक पुलिस स्टेशन के बाहर खड़े रखा और शिकायत लेने में टालमटोल किया.        खटवानी ने इस बारे में पत्रकारों से कहा कि किसी भी संपति पर तोड़ू कार्यवाही करने का अधिकार  महानगरपालिका के पास है.किसी भी इमारत पर तोड़ू कार्यवाही से पहले मनपा प्रशासन कागजात देखने का नोटिश देकर कार्यवाही करती है.ऐसे में कोई व्यक्ति आता है और किसी भी सम्पति को उध्वस्त कर देता है.ऐसे लोगो को न मनपा का भय है न ही पुलिस का मेरे पास जगह के सभी कागजात है हर जांच के लिए में तैयार हूं.महेश साधवानी जिस पर सेंट्रल पुलिस स्टेशन इस तरह की हरकत करने पर कई मामले दर्ज है,मतलब यह पहले से जमीन हड़पने का काम करता है ऐसे में एसडीओ जगत सिंह गिरासे का पुलिस को पत्र देकर कही इसे मदत तो नही किया जा रहा है,क्यो की दुकान के मालिक को एक भी नोटिश तक नही दिया गया है और पुलिस से बंदोबस्त की मांग एसडीओ के द्वारा किया जाना एक बड़े षणयंत्र की तरफ इशारा करता है,     इस बारे में मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन के पुलिस निरीक्षक ( गुन्हे ) राजेंद्र कोते ने कहा कि हमें प्रांत कार्यालय उल्हासनगर से एक पत्र मिला है उस मे जिस जगह को तोड़ा गया है वह जगह महेश साधनानी नाम के व्यक्ति का जिस पर अवैध कब्जा किया गया है.उसे तोड़ने के लिये पुलिस सुरक्षा की मांग की गई थी जिसे नामंजुर कर दिया गया.और पुलिस द्वारा सुरक्षा देने से इंकार कर दिया गया।मामले की गभीरता को देखते हुए पुलिस ने तीन दिन बाद मामला दर्ज करके स्पॉट पंचनामा किया था ,परन्तु इस मामले अभी तक आरोपी महेश साधवानी को पुलिस ने गिरफ्तार नही किया है, सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार महेश साधवानी द्वारा उक्त जमीन को अपनी जमीन के साथ मिलाकर उस पर कब्जा जमाकर एक डेप्लोमेन्ट प्लान  तैयार किया गया है जिसके तहत महेश साधवानी के साथ  महेश मारवाड़ी और अनिल भाटिया के बीच  डेप्लोमेन्ट प्लान के तहत करोड़ो की डील हुई है जिसे लेकर रातोरात उस दुकान को तोड़ा गया। एडीओ कार्यालय का इस विषय में ब्यक्तिगत इंटरेस्ट दिखाई दे रहा है इस लिए इस पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग नरेश किया है ताकि सभी दोषी लोग सलाखों के पीछे जा सके ! जब कही से इंसाफ नही मिला तो आखिरकार इंसाफ के लिए उल्हासनगर शहर के शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी से इंसाफ मांगने गए उनके मामले की सच्चाई को देखते हुए शिवसेना शहर प्रमुख राजेन्द्र चौधरी ने अपने दलबल के साथ नरेश खटवानी की तोडू हुई दुकान का आकर जायजा लिया और कहा कि उल्हासनगर में कानून का राज है अगर कोई भी इस तरह की हरकत करके ब्यापारी की जमीन हड़पने की कोशिश करता है वह गलत है शिवसेना हमेशा ऐसे मामले का विरोध करती शिवसेना खटवानी इस लड़ाई में उनके साथ खड़ी और उनके दुकान की रिपेरिंग करने जो बन पड़ेगा वह मदत करेगी इस लिए मनपा आयुक्त व पुलिस अधिकारीयो से मिलकर हर संभव मदत करने का भरोसा चौधरी ने खटवानी को दिया है ! उन्होंने कहा कि शहर में जो लोग ऐसे काम को अंजाम दे रहे उनको सही अंजाम तक पहुचाने काम शिवसेना करेगी !
  • उमपा के पूर्व मनपा सचिव व उल्हासनगर के एस डी ओ के बीच छिड़ा शाब्दिक युद्ध !

    By fast headline india →
    उमपा के पूर्व मनपा सचिव, एडोकेट व उल्हासनगर के एस डी ओ के बीच छिड़ा शाब्दिक युद्ध ! 

    माहिती अधिकार के अधिनियम के संदर्भ में व जानकारी मांगने पर हुआ यह पूरा विवाद ! 

    उल्हासनगर के एस डी ओ जगत सिंह गिरासे सरकारी भूखंडों को श्रीखंड बनाकर खाने में जुटे- प्रकाश कुकरेजा 

    इनके कार्यकाल में जारी सभी सनद की मांगी थी जानकारी ! 

    एस डी ओ ने एक पत्र निकाल माहिती अधिकार के जरिए लोगो ब्लैकमेल करने का कुकरेजा पर लगाया आरोप ! 

    एस डी ओ गिरासे पर पहले भी लग चुके पैसे लेकर सनद देने के आरोप ? 

    उल्हासनगर- उल्हासनगर महानगरपालिका के पूर्व सचिव प्रकाश कुकरेजा ने सूचना का अधिकार के आधार पर प्रांत के कार्यालय से जानकारी मांगी थी, उस जानकारी के विरोध में उल्हासनगर के एस डी ओ जगतसिंह गिरासे ने आक्षेप लेते हुए कहा कि इस जानकारी के जरिये लोगो को ब्लैकमेल किया जा सकता है इस लिए उनके इरादे पर आपत्ति जताई थी। दूसरी ओर प्रकाश कुकरेजा ने प्रांत के अधिकारी पर अपने पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया और कहा कि अपने भ्रष्टाचार को उजागर होने के डर से बौखला गए है इस लिए इस तरह के पत्र सामने आ रहे है ! 
    बता दे कि उल्हासनगर नगर के पूर्व सचिव प्रकाश कुकरेजा ने प्रांत के सूचना कार्यालय से आय से संबंधित समन की मांग की। इस बारे में एक लिखित जवाब देते हुए, राज्य अधिकारी जगत सिंह गिरासे ने कहा कि आपको अपनी रुचि के बारे में सूचित करने के लिए स्पष्ट किया जाना चाहिए, फिर व्यक्ति के सहमति पत्र को सूचित करना और जोड़ना आसान होगा। उल्हासनगर में कुछ अधिकार कार्यकर्ता अक्सर जानकारी मांगते हैं और इस जानकारी का दुरुपयोग करते हैं, इसलिए सभी सनद धारकों ने अनुरोध किया है कि सूचना के अधिकार अधिनियम के माध्यम से जानकारी प्रदान नहीं की जानी चाहिए। यदि आप सैकड़ों बार बार मामले पूछ रहे हैं, तो आपके इरादे प्रामाणिक नहीं हैं। दूसरी ओर, प्रकाश कुकरेजा ने जगतसिंह गिरासे पर गंभीर आरोप लगाए, उन्होंने कहा कि कार्यालय के कई महत्वपूर्ण सूचनाओं के बारे में जानकारी नहीं देते हैं, इन संपत्तियों के दुरुपयोग की एक बड़ी मात्रा है, अगर इन मामलों की जानकारी का खुलासा किया जाता है, तो गिरासे जेल की हवा खा सकते हैं, वे अपने अधिकार का दुरुपयोग कर रहे हैं। मैंने महाराष्ट्र के राज्यपाल, कोंकण के आयुक्त, भ्रष्टाचार निरोधक विभाग को इस संबंध में उनकी शिकायत भी कर दी है। उन्होंने आगे कहा कि सरकार के प्रशासन में पारदर्शिता के अनुसार वेबसाइट पर जानकारी लोड करने के लिए सरकार ने आदेश दिए हैं। हालांकि, सूचना को दबाया जा रहा है। उल्हासनगर शहर के प्रान्त कार्यालय में सनद घोटाले के मामले अक्सर सामने आते रहते हैं। इस कार्यालय के तत्कालीन क्षेत्रीय अधिकारी विजया जाधव और नायब तहसीलदार विकास पवार ने ७/१२ प्रतिलेख को संशोधित करने के लिए एक वकील से ४ लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। १८ जुलाई २०१७ को इन दोनों को भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा था, इसलिए इस प्रांत कार्यालय में भ्रष्टाचार होने की संभावना बनी रहती है। वही इस मामले जगत सिंह गिरासे से संपर्क करने के लिए उनके मोबाईल पर संपर्क किया गया परन्तु उन्होंने फोन नही उठाया जिससे उनकी प्रतिक्रिया सामने नही आ पाई है !
  • मनसे व सहायक आयुक्त विवाद मामले में उल्हासनगर मनपा के पाच सुरक्षा रक्षक को किया गया निलंबीत !

    By fast headline india →
    मनसे व सहायक आयुक्त विवाद मामले में उल्हासनगर मनपा के पाच सुरक्षा रक्षक को किया गया निलंबीत ! 

    सभी सुरक्षा रक्षकों निलंबन वापस नही लिया तो मंगलवार से होगा काम बंद आंदोलन-मनपा यूनियन अध्यक्ष टाक 

    सोकास नोटिस के जवाब से असंतुष्ट आयुक्त हांगे ने किया कार्यवाई ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में तीन दिनों पहले हुए उल्हासनगर महानगरपालिका के मुख्यालय में एक मनसे कार्यकर्ता व अनधिकृत बांधकाम विभाग के सहाय्यक आयुक्त इनके बीच हुए गाली गलौज मामले में पांच सुरक्षा रक्षको की मूक दर्शक की भूमिका के चलते काम में हलगर्जी पना करने को लेकर पाच सुरक्षा रक्षको अगले आदेश जारी होने तक निलंबित करने का आदेश दिया है .वही इस एक तरफा कार्यवाही से नाराजगी ब्यक्त किया है और कहा सभी कर्मचारियों को सोमवार तक उनका निलंबन वापस नही लिया जाता है तो मंगलवार से काम बंद आंदोलन करने की बात कही है।  
    बता दे कि कल्याण लोकसभा चुनाव में सहायक आयुक्त गणेश शिंप्पी,भगवान कुमावत,अजीत गोवारी तथा जाधव को इलेक्शन ड्यूटी सौंपी गई थी,इस एक से डेढ़ महीने में 50 से ज्यादा अवैध निर्माण, निर्माणधीन किये गए थे.,उक्त सभी अवैध निर्माणों की मुकादमो ने सूची बनाकर उपायुक्त संतोष देहरेकर,अवैध निर्माण निष्काशन प्रमुख गणेश शिंप्पी को सौंपी,इसी सूची के आधार पर सहायक आयुक्त गणेश शिंप्पी ने अपनी टीम को लेकर दर्जनों अवैध निर्माणों पर तोड़ू कार्यवाही करते हुए जमकर हथौड़ा बरसाया उसमें धोबी घाट, महादेव कंपाउंड में बने शेड तेजुमल चक्की के पास बनी तीन दुकान ,आझादनगर में तीन दुकान, बैरेक नम्बर 841, बैरेक नम्बर 1745 इन ठिकानों पर कार्यवाई की थी.सहायक आयुक्त गणेश शिंप्पी द्वारा कार्रवाई से नाराज मनसे विभाग प्रमुख योगिराज  देशमुख मनपा मुख्यालय के अंदर शिंपी से गाली गलौज व हाथापाई की थी वहीं  जिसके बाद मामला पुलिस थाने तक जा पहुंच गया और दोनों ने ही परस्पर एक दूसरे के खिलाफ मामला दर्ज कराया इसमें अहम बात यह है कि मनपा सुरक्षा रक्षक ने अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए दोनों में बीच बचाव किया वहीं इससे नाराज मनपा आयुक्त अच्युत हांगे ने सुरक्षा रक्षक ज्ञानेश्वर पवार ,रमेश पवार ,शांताराम  दिघे , विनोद झोनवाल और दिनेश रिशवाल को निलंबित कर दिया और वहीं मनपा जनसंपर्क अधिकारी युवराज भदाने ने पत्रकारों को बताया कि इन मामले में पाचो सुरक्षा रक्षको को कारण बताओ नोटिस जारी किया थी वहीं जो पाचो ने जवाब दिया इस जवाब से मनपा आयुक्त अच्छूत हांगे संतुष्ट नही हुए और पाचों को निलंबित कर दिया .   बता दे कि ये निलंबन कि पहली कार्यवाई है जिसमे पांच सुरक्षा रक्षको को निलंबित किया है इससे पहले भी मनपा मुख्यालय में कई बार ऐसे झगड़े व विवाद हो चुके है वहीं इस कारवाई से नाराज मनपा कर्मियों में आयुक्त के प्रति रोष व्याप्त है और कांग्रेस सफाई कामगार के अध्यक्ष चरणसिंह टांक ने कहा कि हम इस करवाई का विरोध किया और बोला कि ये कार्यवाई एक तरफा है क्योंकि अगर सुरक्षा रक्षक नही होते तो मनसे व गणेश शिंपी के बीच हाथापाई हो सकती थी हम मंगलवार को आयुक्त से इस विषय पर मिलेंगे अगर हमें न्याय नही मिला तो सफाई कामगार से लेकर मनपा कर्मी तक कामबंद आंदोलन करेगा .
  • उमपा के हाउस टैक्स विभाग के स्कैम का केडीएमसी नगरसेवक ने किया पर्दाफाश !

    By fast headline india →
    उमपा के हाउस टैक्स विभाग के स्कैम का केडीएमसी नगरसेवक ने किया पर्दाफाश !

     मनपा के टैक्स इंस्पेक्टर, अननोन अधिकारी, स्टैम्प वेंडर,सहित 6 लोगो के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करने कोर्ट ने दिया आदेश ! 

    केडीएमसी के नगरसेवक तरे की प्रॉपर्टी को हड़प करने के लिए किया गया पूरा फर्जीवाड़ा ! 

    टैक्स विभाग में पूरा एक गैंग करता है इस तरह पूरे काम को अंजाम-फिरयादी के वकील किया आरोप ! 


    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगर पालिका के टैक्स विभाग के एक नया भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है इस मामले में कोर्ट ने फर्जी वाडे में शामिल मनपा के उस समय के टैक्स इंस्पेक्टर व अधिकारी के साथ स्टम्प वेंडर, फर्जी पेपर के जरिये नाम चेंज ऑफ नाम करने वाले लोगो एफआईआर करने का आदेश कोर्ट के न्यायाधीश ने दिया है !

    यह पूरा मामला शहद के रोड़ के किनारे पर एक दुकान से जुड़ा हुआ है कल्याण महानगर पालिका के नगरसेवक अनिल काशीनाथ तरे की यह प्रॉपर्टी को हड़प करने के लिये किया गया था यह पूरा फर्जी वाड़ा उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए न्याय के न्यायालय के सामने पूरा मामला रखा जिसमें कोर्ट ने माना कि कही न कही उमपा के टैक्स विभाग व कुछ लोगो ने इस फर्जी वाडे को अंजाम दिया है इस लिए कोर्ट ने इस मामले पुलिस को आदेश दिया सेक्शन 156(3) सीआरपीसी सेक्शन 154(1) व 154(4) के तहत जगदीश महस्कर ,जोरगे अलतुर, स्टम्प वेंडर रमेश पाटिल, प्रॉपर्टी के चेंज ऑफ नाम करने वाले टैक्स इंस्पेक्टर, व अननोन अधिकारी,और अननोन पर्सन मेवालाल यादव के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करके पूरे मामले की जांच करके के कार्यवाई करने का आदेश दिया है,वही इस मामले को कोर्ट में लड़ने वाले वकील जयेश वानी मीडिया से बात करते समय कहि है यह तो एक मामला सामने आया है मझे लगता है उमपा के टैक्स विभाग में कोई एक रैकेट है जो इस तरह से लावारिस प्रॉपर्टी के फर्जी पेपर बनाकर हड़पते है इस लिए मेरी मांग है मनपा प्रशासन तीन सालों में हुए चेंच ऑफ नेम के मामले की निष्पक्ष तरीके से अगर जांच करती है बहोत बड़ा स्कैम सामने आ सकता है!
     पूरे मामले को जानने के लिए देखे पूरा वीडियो,,,,,
  • उमपा अधिकारी से हुई गाली गलौज के विरोध में मनपा में आज हुआ पेन डाउन आंदोलन !

    By fast headline india →
    उमपा अधिकारी से हुई गाली गलौज के विरोध में मनपा में आज हुआ पेन डाउन आंदोलन ! 

    अधिकारी को गाली देने वाले मनसे पदाधिकारी की गिरफ्तारी किया गया मांग ! 

    सभी यूनियन व मनपा कर्मचारियों ने मनपा मुख्यालय के गेट पर किया निषेध आंदोलन ! 

    आने वाले समय यह मामला ले सकता है राजनीतिक रंग ? 

    शहर के बड़े अवैध निर्माणों पर कार्यवाई को लेकर मनसे आरपार के मूड़ में ? 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगरपालिका के द्वारा चुनावी आचार संहिता में बने अवैध निर्माणों पर कार्यवाई करते हुए कई अवैध निर्माणों पर तोडू कार्यवाई किया गया इसी कार्यवाई से नाराज मनसे के एक नम्बर विभाग अध्यक्ष योगी राज देशमुख व मनपा के अवैध बांधकाम निष्कासन प्रमुख गणेश शिंपी के बीच कहा सुनी हुई जिसमें एक दूसरे गाली गलौज करते दिख रहे बाद में दोनो ने एक दूसरे के विरुद्ध सेंट्रल पुलिस स्टेशन में जाकर शिकायत दर्ज कराया है ! बुधवार को मनपा अधिकारी से हुई बदमीजी के मामले को लेकर मनपा यूनियन व कर्मचारियों ने अपना निषेध ब्यक्त करते हुए पेन डाउन आंदोलन किया और मनसे पदाधिकारी को गिरफ्तार करने की मांग किया है !
    गौर तलब हो कि कल्याण लोकसभा चुनाव में सहायक आयुक्त गणेश शिंप्पी ,भगवान कुमावत,अजीत गोवारी तथा जाधव को इलेक्शन ड्यूटी सौंपी गई थी,इस एक से डेढ़ महीने में 50 से ज्यादा अवैध निर्माण, निर्माणधीन हो गए,उक्त सभी अवैध निर्माणों की मुकादमो ने सूची बनाकर उपायुक्त संतोष देहरेकर,अवैध निर्माण निष्काशन प्रमुख गणेश शिंप्पी को सौंपी,इसी सूची के आधार पर सहायक आयुक्त गणेश शिंप्पी ने अपने लाव-लश्कर के साथ आज में दर्जनों अवैध निर्माणों पर जमकर हथौड़ा बरसाया उसमें धोबी घाट, महादेव कंपाउंड में बने शेड तेजुमल चक्की के पास बनी तीन दुकान ,आझादनगर में तीन दुकान, बैरेक नम्बर 841, बैरेक नम्बर 1745 इन ठिकानों पर कार्यवाई हुआ है, सहायक आयुक्त गणेश शिंप्पी के इस बेबाक कार्यवाही के चलते अवैध निर्माण कर्ताओं में हड़कंप मच गया है,बताया जाता है कि तोड़ू कार्यवाही से नाराज मनसे के एक नम्बर विभाग अध्यक्ष योगी राज देशमुख से उमपा के मुख्यालय में गणेश शिंप्पी के साथ जमकर वाद विवाद व गाली गलौज हुआ मनपा के सुरक्षा रक्षक ने बीच बचाव करके मामले को शांत किया, वही इस मामले की शिकायत सेंट्रल पुलिस में क्रॉस कंप्लेन दर्ज किया गया है, बुधवार को इसी मामले को लेकर मनपा यूनियन व मनपा के सभी कर्मचारियों ने मिलकर इस मामले की निदा करते हुए अपना विरोध प्रदर्शन किया और पेन डाउन आंदोलन किया और मनसे पदाधिकारी को गिरफ्तार करने की मांग किया है ! वही इस पर उल्हासनगर शहर के मनसे अध्यक्ष बंडू देशमुख ने कहा है कि मनपा प्रशासन के द्वारा की जा रही अवैध बांधकाम तोडू कार्यवाई में बड़े पैमाने भेद भाव देखने को मिल रहा है यह घटना भी उसी का नतीजा है जल्द ही मनपा प्रशासन को जगाने के लिए मनसे अपने स्टाइल में मनपा प्रशासन के भेद भाव वाली कार्यवाई के खिलाफ मैदान में उतरेगी यही इस मामले मेरा जवाब होगा !
  • नाबालिक बच्चे के हत्या के आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    नाबालिक बच्चे के हत्या के आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार ! 

     एक महीने से दे रहा था पुलिस को चकमा ! 

    पुलिस ने सिविल ड्रेस में जाल बिछाकर लिया हिरासत में ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर घटना एक महीने पहले उल्हासनगर में हुई थी, जब एक 16 वर्षीय लड़के को धारदार हथियार से वार कर उसकी हत्या कर दी थी। आपसी पुरानी रंजिश के चलते हत्या कर दी थी। इसी मामले के मुख्य आरोपी बिपिन राम बहादुर यादव को उल्हासनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
    बता दे कि उल्हासनगर कैंप 2 के बुद्धनगर इलाके में शिवसेना कार्यालय के पास रहने वाले सुंदर रामदुलार निषाद (16) की इस महीने की शुरुआत में बिपिन यादव (23)ने हत्या कर दी थी। बीपिन ने उस पर धारदार हथियारों से हमला कर उसे मार डाला था। इस मामले का मुख्य आरोपी बिपिन राम बहादुर यादव फरार हो गया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि बिपिन यादव उल्हासनगर के नेहरू चौक इलाके में आ रहा है। पुलिस ने एक सादे वर्दी में जाल बिछाकर वहां खड़ी थी, जैसे ही बिपिन यादव वहां पहुंचा, पुलिस ने बिपिन को गिरफ्तार कर लिया। बिपिन को जल्द ही अदालत में पेश किया जाएगा।
  • उमपा ने अवैध निर्माणों चलाया हथौड़ा ! नाराज मनसे पदाधिकारी व मनपा अधिकारी में हुई गाली गलौज !

    By fast headline india →
    उमपा ने अवैध निर्माणों चलाया हथौड़ा ! 

     हथौड़ा की कार्यवाई से नाराज मनसे विभाग अध्यक्ष व गणेश शिंपी के बीच मनपा मुख्यालय में हुआ गाली गलौज ! 

    सेंट्रल पुलिस स्टेशन में दर्ज हुआ क्रॉस कम्प्लेन दर्ज !  

    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगरपालिका के द्वारा चुनावी आचार संहिता में बने अवैध निर्माणों पर कार्यवाइ करते हुए कई अवैध निर्माणों पर कर्यवाई किया गया इसी कार्यवाई से नाराज मनसे के एक नम्बर विभाग अध्यक्ष योगी राज देशमुख व मनपा के अवैध बांधकाम निष्कासन प्रमुख गणेश शिंपी के बीच कहा सुनी हुई जिसमें एक दूसरे गाली गलौज करते दिख रहे बाद में दोनो लोग ने एक दूसरे के विरुद्ध सेंट्रल पुलिस स्टेशन में जाकर शिकायत दर्ज कराया है ! 

    गौर तलब हो कि कल्याण लोकसभा चुनाव में सहायक आयुक्त गणेश शिंप्पी ,भगवान कुमावत,अजीत गोवारी तथा जाधव को इलेक्शन ड्यूटी सौंपी गई थी,इस एक से डेढ़ महीने में 50 से ज्यादा अवैध निर्माण, निर्माणधीन हो गए,उक्त सभी अवैध निर्माणों की मुकादमो ने सूची बनाकर उपायुक्त संतोष देहरेकर,अवैध निर्माण निष्काशन प्रमुख गणेश शिंप्पी को सौंपी,इसी सूची के आधार पर सहायक आयुक्त गणेश शिंप्पी ने अपने लाव-लश्कर के साथ आज में दर्जनों अवैध निर्माणों पर जमकर हथौड़ा बरसाया उसमें धोबी घाट, महादेव कंपाउंड में बने शेड तेजुमल चक्की के पास बनी तीन दुकान ,आझादनगर में तीन दुकान, बैरेक नम्बर 841, बैरेक नम्बर 1745 इन ठिकानों पर कार्यवाई हुआ है, सहायक आयुक्त गणेश शिंप्पी के इस बेबाक कार्यवाही के चलते अवैध निर्माण कर्ताओं में हड़कंप मच गया है,बताया जाता है कि तोड़ू कार्यवाही से नाराज मनसे के एक नम्बर विभाग अध्यक्ष योगी राज देशमुख से उमपा के मुख्यालय में गणेश शिंप्पी के साथ जमकर वाद विवाद व गाली गलौज हुआ मनपा के सुरक्षा रक्षक ने बीच बचाव करके मामले को शांत किया, वही इस मामले की शिकायत सेंट्रल पुलिस में क्रॉस कंप्लेन दर्ज किया गया है, वही इस मामले में गणेश शिंप्पी ने बताया कि इस तरह की तोड़ू कार्यवाही आगे भी जारी रहेगी।
  • उल्हासनगर की वेदिका चव्हाण रही सीबीईसी बोर्ड परीक्षा में रही अव्वल !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर की वेदिका चव्हाण रही सीबीईसी बोर्ड परीक्षा में रही अव्वल ! 

     खेल के साथ सभी गतिविधियों में भाग लेकर 98 प्रतिशत अंक किया हासिल !

    Google, Microsoft में काम करने की है इच्छा !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर केंद्रीय बोर्ड के दसवीं कक्षा के परिणाम दोपहर 3 बजे घोषित किए गए हैं। उल्हासनगर की रहने वाली वेदिका चव्हाण ने 98% अंक अर्जित कर सफलता हासिल की है। वेदिका कल्याण में आर्य गुरुकुल स्कूल की छात्रा है, जो कि कैंप नं 4, उल्हासनगर के मराठा सेक्शन की रहने वाली है।
     सोमवार को घोषित केंद्रीय बोर्ड परीक्षा में संस्कृत में 100, गणित में 97, विज्ञान में 98, समाजशास्त्र में 92, अंग्रेजी में 94 अंक पाकर आर्य गुरुकुल विद्यालय में प्रथम स्थान प्राप्त की हैं। मुंबई महानगर पालिका के सेवानिवृत्त शिक्षक विनोद चव्हाण की बेटी वेदिका ने अपनी ताकत और दृढ़ता के साथ सफलता हासिल की है। विनोद चव्हाण ने वेदिका की सफलता की सराहना की। हालांकि वेदिका एक विद्वान हैं, लेकिन उन्होंने विभिन्न खेलों में दक्षता हासिल की है। वेदिका आर्य गुरुकुल स्कूल की क्रिकेट टीम की कप्तान हैं। इस बीच, एमसीए की क्रिकेट टीम में शामिल होने से वह थोड़ी सी चूक गई। वैदिका ने भविष्य में इंजीनियरिंग कोर्स पूरा करके Google, Microsoft में काम करने की इच्छा व्यक्त की। जब उसने पूछा कि वह कितने घंटे अध्ययन करती है, तो वैदिका ने कहा कि वह जितना देरअध्ययन करती है, मन लगाकर करती । वेदिका की मां वैभवी विनोद चव्हाण ने कहा कि वैदिक को नृत्य और रूबिक क्यूब में रुचि है। उसने रूबिक क्यूब प्रतियोगिता में दक्षता हासिल की है। विशेष रूप से, उसे स्कूल द्वारा उत्कृष्ट छात्र के रूप में सम्मानित किया गया है।
  • रोड़ निर्माण बाधित 25 दुकानो पर चला मनपा का बुलडोजर !

    By fast headline india →
    रोड़ निर्माण बाधित 25 दुकानो पर चला मनपा का बुलडोजर ! 

    थाहिरा सिंह दरबार को जाने वाली रोड़ पर हुई यह कार्यवाई ! 

    मनपा आयुक्त अच्युत हांगे के आदेश सहायक आयुक्त शिंपी ने दिया कर्यवाई को अंजाम ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर के उल्हासनगर नम्बर तीन में मनपा ने बड़ी कार्यवाई को अंजाम दिया है मनपा आयुक्त अच्युत हांगे के मार्गदर्शन पर कार्यवाई करते हुए सहायक आयुक्त गणेश शिम्पी के नेतृत्व में 17 सेक्शन के पास थाहिरा सिंह दरबार जाने वाली सड़क के चौड़ीकरण में बाधित 25 दुकानो पर मनपा ने तोड़क कार्यवाई किया है !
    बता दे कि उल्हासनगर तीन नम्बर में थाहिरा सिंह दरबार है वहाँ पर जाने वाली रोड़ काफी सकरा था जिसको चौड़ा करने के लिए लंबे समय से दरबार व उसके पास के लोगो की मांग किया जा रहा है उसी मांग को ध्यान में रखते हुए नए डीपी प्लान के अनुसार रोड़ चौड़ीकरण करने का काम मनपा ने शुरू किया जिसके तहत मनपा ने उस रोड़ के किनारे बने सभी दुकानदारो 2 महीने पहले ही नोटिश देकर दुकान खाली करने को कहा था परंतु दुकानदारों ने नोटिश नजर अंदाज करके दुकान को खाली नही किया था कुछ दुकानदार कोर्ट भी गए परन्तु उन्हें कोर्ट से भी राहत नही मिला सोमवार की सुबह में मनपा के आयुक्त अच्यु हांगे के आदेश पर मनपा के सहायक आयुक्त व अवैध बांधकाम निष्काशन प्रमुख गणेश शिंपी ने अपने दस्ते को पुलिस बंदोबस्त के साथ पूरे अवैध बनी दुकानो पर कार्यवाई करते हुए सभी को जमींदोज किया इस कार्यवाई 25 दुकानें तोड़ी गई है यह कार्यवाई रोड़ को चौड़ीकरण के लिए किया गया है ऐसी जानकारी पत्रकारों से बात करते समय शिंपी ने दिया है ! बता दे कि इस कार्यवाई से कई लोगो का रोजगार भी छीन गया तो कई सालों से उन दुकानो के जरिये अपना रोजगार का काम किया करते थे !
  • 3 मजदूर, सेप्टिक टैंक में दम घुटने से हुई मौत !

    By fast headline india →
     3 मजदूर, सेप्टिक टैंक में दम घुटने से हुई मौत !

    पुलिस ने बिल्डर सहित 6 लोगों पर  304अ, 34 के तहत मामला किया दर्ज,सुपरवाइजर को किया गिरफ्तार !

    बिल्डर ने मजदूरों को सेफ्टी बेल्ट, ऑक्सीजन किट और सीढ़ी  नहीं कराई थी उपलब्ध !

    नालासोपारा-नालासोपारा में सुरक्षा के उपकरण न होने और प्रशासनिक लापरवाही के चलते गटर में उतरे मजदूरों की मौत की घटनाएं अकसर सुनने में आती रही हैं। अब एक इमारत के सेफ्टी टैंक में 3 मजदूरों के दम घुटने से मौत की खबर आई है। पश्चिम के निलेमोरे गांव स्थित एक इमारत के सेफ्टी टैंक में उतरे मजदूरों की गुरुवार की देर रात मौत हो गई। इस हादसे के बाद पुलिस ने इमारत के सुपरवाइजर को गिरफ्तार कर लिया जबकि बिल्डर फरार हैं। 
    जानकारी के अनुसार, नालासोपारा पश्चिम के निलेमोरे गांव स्थित एक इमारत आनंद व्यू में तीन मजदूर रात 11 बजे सेफ्टी टैंक की सफाई करने उतरे थे। घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस और फायरब्रिगेड टीम ने तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद तीनों शव बाहर निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिए। नालासोपारा के सीनियर पीआई वंसत लब्दे ने बताया है कि 6 लोगों पर मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने जानकारी दी कि बिल्डरों ने मजदूरों को सेफ्टी बेल्ट, ऑक्सीजन किट और सीढ़ी उपलब्ध नहीं कराई थी। उन्होंने दावा किया कि लापरवाही बरतने वाले बिल्डरों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। शुक्रवार की सुबह मौत की खबर सुनते ही मृतकों के परिजन और रिश्तेदारों के साथ ही सैकड़ों मजदूर पुलिस स्टेशन पहुंचे और बिल्डर को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। मामले में पुलिस ने बिल्डर सहित 6 लोगों पर धारा 304अ, 34 के तहत मामला दर्ज कर सुपरवाइजर को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं मृतकों के परिजन का कहना था कि जब तक बिल्डर को गिरफ्तार नहीं करेंगे तब तक वे शवों को हाथ नहीं लगाएंगे। हादसे में मरने वाले सुनील चावरिया के चार और प्रदीप प्रदीप सरवटे के दो बच्चे हैं। विक्रम की हाल में ही शादी हुई थी। तीनों की मौत की खबर सुनते ही उनके घरों में मातम छा गया। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था। हादसे में तीन महिलाओं का सुहाग उजड़ गया, 6 बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया है। परिजन का कहना है कि उनके भरोसे ही परिवार का भरण-पोषण होता था। उनकी मौत के बाद परिवारों का जीवन मुश्किल हो गया है। मृतक विक्रम पश्चिम के हनुमान नगर इलाके में अपनी पत्नी के साथ रहते थे। हाल में ही उनकी शादी हुई थी। वहीं, मृतक प्रदीप और सुनील वसई पूर्व के गोखिवरे इलाके में रहते थे। सुनील के तीन बेटे और एक 2 साल की बेटी है। प्रदीप के दो बेटे हैं। पुलिस ने बिल्डर रमेश मोरा, सुरेश जैन, पुष्कर जैन, नंदलाल दुबे, तेज प्रकाश मेहता व सुपरवाइजर अबु समाद अबु सिद्दीकी शेख पर धारा 304अ, 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल पुलिस ने अबु समाद अबु सिद्दीकी शेख को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि बिल्डर फरार बताए जा रहे हैं।
  • हप्ता वसूली से परेशान,या किसी और कारणों के चलते युवक ने किया सुसाइड ?

    By fast headline india →
    हप्ता वसूली से परेशान,या किसी और कारणों के चलते युवक ने किया सुसाइड ? 

     सेन्ट्रल अस्पताल से डेड बॉडी लेने से घर वालो ने किया इनकार ! 

     मृतक युवक के परिजनों ने की दोषी पुलिस कर्मी पर आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज करने कर रहे है मांग ! 

    पुलिस एफआईआर दर्ज करने के लिए परिवार के लोगो का ले रही है बयान ! 

    हप्ता खोर पुलिस कांस्टेबल को बचाने में जुटी स्थानीय पुलिस -परिवार वालो ने किया आरोप 

     उल्हासनगर- उल्हासनगर के हीरा घाट क्षेत्र में चायनीज का धंधा करनेवाले गुड्डू खेड़कर ने (गुरुवार को) फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताते हैं कांस्टेबल पवन केदार की हफ्ते की डिमांड और धमकियों से  मानसिक रूप से परेशान होकर गुड्डू ने आत्महत्या कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली,इस घटना से परिसर में जहां मातम का माहौल छाया हुआ है,वही मृतक सतीश उर्फ गुड्डू खेड़कर के परिजनों ने दोषी पुलिस कर्मियों पर आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज कर उसे तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की है। ऐसा नही होने पर पर उन्होंने सेंट्रल अस्पताल से डेडबॉडी लेने से मना कर दिया था,पुलिस ने इस मामले में कार्यवाई शुरू कर दिया है ! 
    बता दे कि 22 वर्षीय गुड्डू चोपड़ा कोर्ट के पास रहता था. उल्हासनगर के सेन्ट्रल पुलिस स्टेशन में कार्यरत पवन केदार नामक पुलिस कांस्टेबल गुड्डू से 10,000 रुपये प्रति माह हफ्ता देने की मांग कर रहा था। हफ्ता न देने पर केदार गुड्डू को धंधा न करने देने की धमकी देता था। रोज़-रोज़ की हफ्ते की मांग और धमकियों से परेशान होकर आज गुड्डू ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।  केदार के खिलाफ दो व्यक्तियों ने पुलिस स्टेशन में बयान दिया है कि केदार ने उनके सामने हफ्ते की मांग की थी और धमकाया था लेकिन सेन्ट्रल पुलिस स्टेशन के अधिकारी केदार को बचाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। वे केदार पर कार्रवाई के पक्ष में नहीं दिख रहे हैं।इसलिए खेड़कर के परिजनों ने शुक्रवार को पुलिस स्टेशन के सामने गुन्हा दर्ज करने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन भी किया,इस विषय मे मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन का कोई भी अधिकारी बोलने को तैयार नही है,उनका एक ही कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी जो निर्णय लेंगे उस मुताबिक कार्यवाही की जायेगी। बहरहाल पुलिस इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के लिए परिवार के लोगो का बयान ले रही है और दोषी को बख्शा नही जाएगा ऐसा परिवार को आश्वासन दिया है, क्यो की इस मामले में मरने वाले ब्यक्ति का कोई सोसाइट नोट नही आया है इस लिए इस मामले की जांच के बाद ही यह स्पस्ट हो पायेगा की आत्महत्या करने की पीछे की सही वजह क्या है पुलिस की हप्ता वसूली से परेशानी या कोई दूसरी वजह थी,
  • उधार दिया पैसा मांगने पर युवक से हुआ मारपीट और उसकी सोने की चैन भी लिया लूट !

    By fast headline india →
    उधार दिया पैसा मांगने पर युवक से हुआ मारपीट और उसकी सोने की चैन भी लिया लूट ! 

    पुलिस ने एनसी दर्ज करके आरोपी को बचाने का कर रही प्रयाश ! 

    सोने की चैन लूटपाट मामले पर एनसी दर्ज करने पर पुलिस की कार्यवाई पर उठ रहा है सवाल ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में उधार दिए हुए पैसे मांगने पर चार लोगों ने एक युवक की पिटाई कर दी और उसका सोने की चेन भी लूट लिया। इस मामले को मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन में दर्ज कराया गया है। लेकिन अपराध गंभीर होने के बावजूद पुलिस आरोपियों को बचाने की कोशिश कर रही है, ऐसा आरोप शिकायत कर्ता ने लगाया है।
    बता दे कि राधेश्याम जायसवाल (42) उल्हासनगर के शहाड क्षेत्र में व्यापार करते है। कुछ दिन पहले उनका दोस्त चितरंजन पासवान ने राधेश्याम से ९० हजार रुपये उधार लिया था, वह पैसे वापस करने के लिए राधेश्याम बार- बार चितरंजन से तगादा कर रहा था।२९ अप्रैल के रात १० बजे चितरंजन उल्हासनगर के डॉल्फिन क्लब के पास राधेश्याम को मिला,राधेश्याम ने उससे पैसे की मांग की, इसपर गुस्सा होकर चितरंजन पासवान अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर राधेश्याम की बुरी तरह पिटाई की और उसके गले से सोने की चैन भी लूट लिया।राधेश्याम ने मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन में इसकी शिकायत दर्ज कराई थी। अभियोजन पक्ष राधेश्याम ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि मुझ पर गंभीररूप से हमला हुआ है और मेरी सोने की चैन भी इसमें गायब हो गई, तभी भी पुलिस आरोपियों को बचाने में लगी हुई है और पुलिस ने अदखलपत्र अपराध दर्ज कर आरोपियों को बचाने की कोशिश कर रही है।अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
  • उमपा के नए सभागृह नेता बने शेरी लुंड !

    By fast headline india →
    उमपा के नए सभागृह नेता बने शेरी लुंड ! 

    स्थायी समिति के नए आठ सदस्यों का भी हुआ चुनाव ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा की गुरुवार को दोपहर 12 बजे हुई विशेष महासभा में स्टैंडिंग के आठ सदस्यों जिनकी सदस्यता समाप्त हो गई थी उनकी जगह पर आठ नए लोगो के नाम दिए गए और मनपा के नए सभागृह नेता शेरी लुंड को बनाया गया है,
    गौरतलब हो कि उल्हासनगर मनपा के स्थायी समिति के आठ सदस्यों का कार्यकाल समाप्त हो गया था उनकी जगह पर आठ नए सदस्यों के नाम दिया गया जिसमें भाजपा की तरफ डॉक्टर प्रकाश नाथानी, जम्मू पुरुस्वानी,विजु पाटिल,शिवसेना से भुल्लर महाराज,लीला बाई आसान,ज्योति गायकवाड़, रांकपा से भरत गंगोत्री तो आरपीआइ से अपेक्षा भालेराव के नाम का समावेश है इस के बाद महापौर पंचम कालानी की अध्यक्षकता में नए सभागृह नेता पद पर शेरी लुंड के नाम की घोषणा किया गया है वही इस विषय में जब शेरी लुंड से बात किया गया तो उन्होंने कहा कि एक बार हमने कमेंट मेंट कर दिया तो मै अपने आप की भी नही सुनता हूं,,इस डायलॉग के जरिये अपनी बात कही साथ ही भाजपा के रायगढ़ के पालकमंत्री रविंद्र चौहाण का धन्यवाद किया और कहा कि उन्होंने अपने बचन को निभाया इस लिए हमारी पूरी पार्टी उनकी आभारी है !