• गर्लफ्रेंड से कॉलेज फीस भरने के लिए मांग रहा पैसे फिर हुआ कुछ ऐसा जाना पड़ा जेल !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    गर्लफ्रेंड से कॉलेज फीस भरने के लिए मांग रहा पैसे फिर हुआ कुछ ऐसा जाना पड़ा जेल ! 

     मेडिकल छात्र अपने गर्लफ्रेंड को कर रहा था ब्लैकमेल !

     मेडिकल छात्र परीक्षा में हुआ फेल,इसका जिम्मेदार माना अपनी गर्लफ्रेंड को फिर शुरू हुआ खेल ! 

    औरंगाबाद- औरंगाबाद से एक अजीब खबर सामने आई है। यहां पुलिस ने एक मेडिकल छात्र को इसलिए गिरफ्तार किया है क्‍योंकि वो अपनी गर्लफ्रेंड से कॉलेज की फीस के लिए पैसे मांग रहा था। पुलिस ने छात्र के खिलाफ फिरौती और ठगी का मामला दर्ज किया है। 
    बता दे कि दरअसल हुआ ये था कि 21 साल के मेडिकल छात्र परीक्षा में फेल हो गया था और इसके लिए उसने अपनी गर्लफ्रेंड को जिम्‍मेदार ठहराया। छात्र का कहना है कि वह आशिकी के चक्कर में पहले ही साल फेल हो गया। छात्र ने गर्लफ्रेंड को फीस भरने के लिए कहा तो उसने दूरी बना ली। उसके बाद तो छात्र फोन और मैसेज से फीस वसूली के ल‍िए अभ‍ियान छेड़ द‍िया। गर्लफ्रेंड ने तंग आकर पुल‍िस में छात्र पर वसूली और आपराधिक इरादे से धोखाधड़ी करने का आरोप लगाते हुए शिकायत कर दी। जिससे छात्र को जेल जाना पड़ा।जानकारी के मुताबिक मेडिकल छात्र बीड़ जिले का रहने वाला है। औरंगाबाद के एक मेडिकल कॉलेज में उसने पिछले साल बीएचएमएस कोर्स में दाखिला लिया था। इसी दौरान क्लास में पढ़ने वाली एक मेडिकल छात्रा से उसका प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। आरोपी छात्र पढ़ने में तो तेज था लेकिन उसने पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित नहीं किया और पहले साल की परीक्षा में फेल हो गया। इसके बाद चार साल के बीएचएमएस कोर्स के दूसरे साल में उसे ऐडमिशन नहीं मिला। फेल होने के बाद ये छात्र बेहद नाराज हो गया। खराब रिजल्ट के लिए उसने अपने गर्लफ्रेंड को जिम्मेदार ठहरा दिया। हर्जाने के तौर पर वो गर्लफ्रेंड से पहले साल का फीस मांगने लगा। वो बार-बार फोन कर लड़की को फीस के लिए परेशान करता रहा। जब छात्रा ने उसकी बातों को अनदेखा किया तो आरोपी छात्र ने सोशल मीडिया पर उल्टे-सीधे पोस्ट डालने शुरू कर दिए। बाद में छात्रा ने परेशान होकर पुलिस को इसकी शिकायत कर दी.पुलिस ने इस छात्र को धर दबोचा।

    Subjects:

  • No Comment to " गर्लफ्रेंड से कॉलेज फीस भरने के लिए मांग रहा पैसे फिर हुआ कुछ ऐसा जाना पड़ा जेल ! "