• उल्हासनगर में बिल्डर की तानाशाही नैसर्गिक नाले के प्रवाह को मोड़ा ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उल्हासनगर में बिल्डर की तानाशाही नैसर्गिक नाले के प्रवाह को मोड़ा ?

    नाले के प्रवाह में बदलाव के कारण स्थानीय लोगो पर बढ़ा बाढ़ का खतरा ! 

     भाजपा नगरसेविका व परिवहन सभापति ने आयुक्त को पत्र लिखकर बिल्डर मामला दर्ज करने किया मांग ! 

    मनपा के बिना अनुमति के बनाया जा रहा यह नाला ! 

    प्रोजेक्ट को बचाने के चक्कर में लाखो लोगो को डुबाने के चली गई यह चाल ? 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में नाले के प्रवाह को एक बड़े प्रोजेक्ट के लिए हाउस कॉम्प्लेक्स के एक डेवलपर द्वारा प्रतिस्थापित किया जा रहा है, जिसके कारण यह आरोप लगाया गया है कि नाले के दिशा में बदलाव के वजह से आने वाली बाढ़ के कारण बड़े पैमाने पर जीवित और वित्तीय नुकसान की संभावना है, ऐसा डर स्थानीय नागरिकों और राजनीतिक नेताओं द्वारा व्यक्त किया जा रहा है।
    बता दे कि हरमन मोहता नामक उल्हासनगर -१ में स्थित कंपनी के बंद हो जाने के बाद इस पर बड़े रिहायशी काम्प्लेक्स का निर्माण शुरू होने के कारण डेवलपर द्वारा इस जगह पर स्थित नाले के दिशा को बदला जा रहा है। इससे बाढ़ की स्थिति पैदा होने की संभावना है, जिससे स्थानीय निवासियों में गुस्से की लहर है। भाजपा नगरसेविका चंद्रावती देवी सिंह और उल्हासनगर मनपा के परिवहन  सभापति संतोष पांडेय
     ने नाले के बहाव में बदलाव का विरोध किया है। इस संबंध में, उन्होंने मनपा आयुक्त अच्युत हांगे को एक लिखित बयान दिया है कि संबंधित कार्य के कारण बाढ़ प्रभावित स्थिति पैदा हो सकती है और जीवन और संपत्ति के नुकसान हो सकता है, इसलिए नाले की दिशा बदलने के काम को तुरंत रोका जाए, अगर काम नहीं रोका गया, तो जन आंदोलन किया जाएगा और प्रशासन इसका जिम्मेदार होगा।
  • No Comment to " उल्हासनगर में बिल्डर की तानाशाही नैसर्गिक नाले के प्रवाह को मोड़ा ? "