• हप्ता वसूली से परेशान,या किसी और कारणों के चलते युवक ने किया सुसाइड ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    हप्ता वसूली से परेशान,या किसी और कारणों के चलते युवक ने किया सुसाइड ? 

     सेन्ट्रल अस्पताल से डेड बॉडी लेने से घर वालो ने किया इनकार ! 

     मृतक युवक के परिजनों ने की दोषी पुलिस कर्मी पर आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज करने कर रहे है मांग ! 

    पुलिस एफआईआर दर्ज करने के लिए परिवार के लोगो का ले रही है बयान ! 

    हप्ता खोर पुलिस कांस्टेबल को बचाने में जुटी स्थानीय पुलिस -परिवार वालो ने किया आरोप 

     उल्हासनगर- उल्हासनगर के हीरा घाट क्षेत्र में चायनीज का धंधा करनेवाले गुड्डू खेड़कर ने (गुरुवार को) फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताते हैं कांस्टेबल पवन केदार की हफ्ते की डिमांड और धमकियों से  मानसिक रूप से परेशान होकर गुड्डू ने आत्महत्या कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली,इस घटना से परिसर में जहां मातम का माहौल छाया हुआ है,वही मृतक सतीश उर्फ गुड्डू खेड़कर के परिजनों ने दोषी पुलिस कर्मियों पर आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज कर उसे तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की है। ऐसा नही होने पर पर उन्होंने सेंट्रल अस्पताल से डेडबॉडी लेने से मना कर दिया था,पुलिस ने इस मामले में कार्यवाई शुरू कर दिया है ! 
    बता दे कि 22 वर्षीय गुड्डू चोपड़ा कोर्ट के पास रहता था. उल्हासनगर के सेन्ट्रल पुलिस स्टेशन में कार्यरत पवन केदार नामक पुलिस कांस्टेबल गुड्डू से 10,000 रुपये प्रति माह हफ्ता देने की मांग कर रहा था। हफ्ता न देने पर केदार गुड्डू को धंधा न करने देने की धमकी देता था। रोज़-रोज़ की हफ्ते की मांग और धमकियों से परेशान होकर आज गुड्डू ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।  केदार के खिलाफ दो व्यक्तियों ने पुलिस स्टेशन में बयान दिया है कि केदार ने उनके सामने हफ्ते की मांग की थी और धमकाया था लेकिन सेन्ट्रल पुलिस स्टेशन के अधिकारी केदार को बचाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। वे केदार पर कार्रवाई के पक्ष में नहीं दिख रहे हैं।इसलिए खेड़कर के परिजनों ने शुक्रवार को पुलिस स्टेशन के सामने गुन्हा दर्ज करने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन भी किया,इस विषय मे मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन का कोई भी अधिकारी बोलने को तैयार नही है,उनका एक ही कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारी जो निर्णय लेंगे उस मुताबिक कार्यवाही की जायेगी। बहरहाल पुलिस इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के लिए परिवार के लोगो का बयान ले रही है और दोषी को बख्शा नही जाएगा ऐसा परिवार को आश्वासन दिया है, क्यो की इस मामले में मरने वाले ब्यक्ति का कोई सोसाइट नोट नही आया है इस लिए इस मामले की जांच के बाद ही यह स्पस्ट हो पायेगा की आत्महत्या करने की पीछे की सही वजह क्या है पुलिस की हप्ता वसूली से परेशानी या कोई दूसरी वजह थी,
  • No Comment to " हप्ता वसूली से परेशान,या किसी और कारणों के चलते युवक ने किया सुसाइड ? "