• Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    मनसे ने स्वच्छता कर का विरोध करते हुए मनपा मुख्यालय के सामने किया टैक्स पावती का होलिका दहन !

     12 करोड़ की अतिरिक्त वसूली के लिए उपभोगकता टैक्स के नाम पर जनता पर बोझ डालना गलत है -मनसे 

    जल्द ही इसे रद्द नही किया गया तो शहर के सभी वार्ड ऑफिस के सामने मनसे करेगी आंदोलन ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पूरी तरह से असफल रहा है,सूखे और गीले वेस्ट को वर्गीकृत नहीं किया गया है, कचरा समस्या यथावत है,डंपिंग की समस्या के कारण, ठेकेदार पर कार्रवाई करने के बजाय आम जनता से भरपूर टैक्स वसूला जा रहा है, ऐसा कह कर मनसे कार्यकर्ताओं ने मनपा मुख्यालय के सामने स्वछता कर के पावती की होलिका दहन किया और प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की गई।

    उल्हासनगर मनपा में कचरा उठाने का ठेका कोणार्क कंपनी को दिया जाता है और कंपनी को प्रति दिन ४ लाख २५ हजार रुपये दिए जाते हैं। यह ठोस प्रबंधन कंपनी की जिम्मेदारी है, लेकिन मनपा प्रशासन कंपनी के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय, संपत्ति कर में बढ़ोतरी करता है। जब तक इस विषय का निपटारा नहीं किया जाता है,तब तक संपत्ति कर न वसूलने की मांग मनसे ने किया है। मनसे ने आरोप लगाया है कि १२ करोड़ की अतिरिक्त वसूली के लिए उपयोगकर्ता कर के नाम पर ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए लगभग २ से ३ करोड़ रुपये खर्च करने की उम्मीद है, शहर के मनसे प्रमुख अध्यक्ष बंडू देशमुख, जिला अध्यक्ष सचिन कदम, उप-जिलाध्यक्ष प्रदीप गोडसे, मनविसे शहर अध्यक्ष मनोज शेलार , शहर संघटक मनुद्दीन शेख, उप शहर अध्यक्ष सुभाष हटकर, शैलेश पांडव, शहर सचिव शालिग्राम सोनवणे ने कई पदाधिकारियों के साथ संपत्ति कर(टैक्स पावती)की होली जलाई।
  • No Comment to " "