Browsing "Older Posts"

  • जालसाज पत्नी अपने दोस्त के साथ साढ़े सात लाख के गहने लेकर हुई फरार !

    By fast headline india →
    जालसाज पत्नी अपने दोस्त के साथ साढ़े सात लाख के गहने लेकर हुई फरार ! 


    पति ने पत्नी व उसके दोस्त के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत !  


    उल्हासनगर-उल्हासनगर पति ने पत्नी द्वारा ७,५०,००० रुपये के गहने लेकर फरार होने के मामले में पत्नी और उसके साथीदार के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। उल्हासनगर -५ में साईंबाबा नगर इलाके के पास बैरक में तुलसीदास घनश्यामदास थदानी अपने परिवार के साथ रहते हैं। तुलसीदास का विवाह सिमरन के साथ हुआ था। तुलसीदास ने अलमारी में अपने परिवार के ७,५०,०००रुपए के सोने के गहने रखे थे, लेकिन उन्होंने महसूस किया कि गहने अचानक गायब हो गए । उसने परिवार के सभी सदस्यों से पूछा लेकिन वह नहीं मिला। पत्नी से यह गहने चुराए जाने के बाद पति-पत्नी के बीच विवाद हुआ था। इस मामले में, तुलसीदास ने अदालत में एक याचिका दायर की जिसमें उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी सिमरन और उनके साथी कुमार माखिजा के खिलाफ गहने चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया जाए। अदालत ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए हिल-लाइन पुलिस स्टेशन को आदेश देने के बाद आरोपी सिमरन और कुमार मखिजा के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है। दोनों आरोपी फिलहाल फरार हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही है।
  • मनपा स्थायी समिति के सभापति के द्वारा सिंधी भाषा मे लगाई नेमप्लेट को लेकर हुआ विवाद !

    By fast headline india →
    मनपा स्थायी समिति के सभापति के द्वारा सिंधी भाषा मे लगाई नेमप्लेट को लेकर हुआ विवाद ! 

     मनसे ने दो दिन के भीतर मराठी में भी नेमप्लेट लगाने की दी चेतावनी,ऐसा नही होने दी कालिख पोतने की दी धमकी ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा मुख्यालय स्थित स्थायी समिती के नवनिर्वाचित सभापति राजेश वधारिया ने अपने केबिन के बाहर अपने नाम का बोर्ड अपनी मात्र भाषा सिंधी में लगाया है. मनसे ने इस पर अपनी नाराजी ब्यक्त करते हुए कहा है यदी दो दिन के भीतर सभापति ने मराठी भाषा वाला बोर्ड नहीं लगाया तो वह उसपर नेमप्लेट कालिख पोतकर विरोध दर्शाएंगे की बात कही है इसको लेकर मनपा में संघर्ष की पॉलटिक्स एक बार फिर शुरू हुआ है. 
    इस संदर्भ में मनसे के शहरअध्यक्ष बंडू देशमुख  का कहना है कि हम सिंधी भाषा का आदर व सम्मान करते है लेकिन महाराष्ट्र में मराठी राज्य की  राजभाषा है व राज्य में मराठी भाषा में  बोर्ड लगाना अनिवार्य भी है, इसलिए अगर सभापति ने दो दिन में दर्शनीय भाग में मराठी में नेमप्लेट नहीं लगाई तो मनसे अपनी स्टाइल से निपटेगी. वही स्थायी समिति के  सभापति राजेश वधारिया  ने स्थानीय पत्रकारों से उक्त मुद्दे पर बातचीत करते हुए कहा कि वह अपनी मात्र भाषा जितना ही  मराठी भाषा का भी आदर करते है, सभापति ने कहा कि फ्रंट साइड में सिंधी में लिखा है तो उसके पीछे मराठी में लिखा है, लेकिन दर्शनीय भाग में सिंधी के साथ ही मराठी में नाम की तख्ती बनाने के आदेश सबंधित महकमे को दिए गए है.
  • चप्पल चुराने का आरोप लगा नाबालिग हुई पिटाई !

    By fast headline india →
    चप्पल चुराने का आरोप लगा नाबालिग हुई पिटाई ! 

    पिटाई मन नही भरा तो पिलाया फिनायल ? 

    मुंबई-मुंबई के नालासोपारा स्थित हाउसिंग सोसायटी में 14 साल के नाबालिग को पीटने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि आरोपी ने उसे फिनायल पिलाने की भी कोशिश की। पूछताछ में पता चला कि नाबालिग को चप्पल चोरी करने के आरोप में प्रताड़ित किया गया। पुलिस ने आरोपी शख्स को गिरफ्तार कर लिया है।
    साथ ही, उसके खिलाफ केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ''आरोपी की पहचान सुमित दुबे के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि उसने 14 साल के नाबालिग के साथ मारपीट की थी। जांच में पता चला कि नाबालिग इस बिल्डिंग में पहली बार आया था। जब वह पानी का डिब्बा देकर लौट रहा था, तब सुमित ने उसे रोक लिया और उसकी चप्पल के बारे में पूछने लगा। मामले के जांच अधिकारी ने बताया कि नाबालिग ने चप्पलों को अपना बताया तो सुमित उसके साथ गाली-गलौज करने लगा। साथ ही, उसने नाबालिग की जेब में रखे 600 रुपए व मोबाइल छीन लिया। पीड़ित ने विरोध जताया तो सुमित ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसे पीटा और जबरन गाड़ी में डालने की कोशिश की। पीड़ित ने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने उसे फिनायल पिलाने की कोशिश भी की। साथ ही, उसे गाड़ी से सुनसान जगह पर फेंक दिया। परिजन शाम के वक्त नाबालिग के पास पहुंचे और उसे अस्पताल ले गए, जहां उसका इलाज चल रहा है। जांच में पता चला है कि नाबालिग अपने छोटे भाई के साथ स्कूल जाता है, जबकि उसका बड़ा भाई एक ग्रॉसरी स्टोर पर काम करता है। नाबालिग को डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है। डॉक्टरों का कहना है कि फिनायल पिलाने के दौरान बच्चे के पेट में ज्यादा जहरीला पदार्थ नहीं गया है। वहीं, उसे किसी भी तरह की अंदरूनी चोट भी नहीं लगी है। हालांकि, उसकी कमर, धड़ समेत शरीर के कुछ हिस्सों पर चोट लगी है। पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर लिया है। साथ ही, आरोपी के दोस्तों की तलाश शुरू कर दी है।
  • घूसखोर करोड़पति इंजीनियर की काली कमाई का हुआ भंडाफोड़ !

    By fast headline india →
    घूसखोर करोड़पति इंजीनियर की काली कमाई का हुआ भंडाफोड़ !

     सूटकेस में भरे मिले 500 और 2000 के करोड़ो के नोट ! 

    6 फ्लैट, 1 मकान और 2 गाड़ी का भी है मालिक ! 

    उल्हासनगर में बिल्डरों को सरकारी भूखंड का श्रीखंड देने वाले अधिकारी के पास भी है ऐसी करोड़ो की है काली कमाई ? 

    कभी इस महा भ्रष्ट्राचारी अधिकारी पर भी कस सकता है शिकंजा ? 

     पटना-पटना बिहार में विजलेंस विभाग की टीम ने रोड कंस्ट्रक्शन विभाग के इंजीनियर सुरेश प्रसाद को 14 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। जिसके बाद छोपेमारी में आरोपी को लेकर बड़े-बड़े खुलासे हुए। 
    विजलेंस विभाग की टीम को आरोप के घर से करीब ढाई करोड़ रुपये बरामद हुआ है। विभाग को उसके घर से सूटकेस में भरे पांच-पांच सौ रुपये के नोट मिले हैं। इसके अलावा पता चला है कि आरोपी इंजीनियर सुरेश प्रसाद के पास 6 फ्लैट, 1 मकान और 2 गाड़ी हैं।आरोपी को जो रिश्वत दी जा रही थी वह पटना के पास बिहटा से बिक्रम के बीच बन रही सड़क के करार को लेकर थी। जब्त की गई रिश्वत की रकम साज इंफ्राकॉम प्रोजेक्ट लिमिटेड के ठेकेदार अखिलेश कुमार जायसवाल से ली गई थी। निगरानी विभाग के अधिकारियों के मुताबिक बिहटा में सड़क निर्माण के लिए पथ निर्माण विभाग से टेंडर निकला था। जिसे लेने के लिए ठेकेदार अखिलेश कुमार जायसवाल की कंपनी ने भी आवेदन डाला था और उसी के लिए आरोपी ने रिश्वत की डिमांड की थी। फाइनल डील 28 लाख में तय हुई थी, जिसकी पहली किश्त 14 लाख रुपये के तौर पर आरोपी को दी गई थी। लेकिन, पासा उलटा पड़ गया और निगरानी की टीम ने उसे रंगे हाथ दबोच लिया। बता दें कि पटना के पटेल नगर इलाके में निर्माण विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सुरेश यादव का घर है, जहां बिजलेंस विभाग ने छापेमारी की है।
  • सिंधी संत के अपमान पर शहर के सिंधीयो के मसीहा ठेकेदार लोगो के जुबान पर लगे ताले ?

    By fast headline india →
    एसडीओ के 420 बिल्डर दोस्त सतपाल सिंह पर सिंधी संत पर आपत्तिजनक टिप्पणी पर कार्यवाई करने पुलिस को दिया गया निवेदन ! 

    पुलिस ने मामले की गभीरता को देखते हुए कार्यवाई करने का दिया भरोषा ! 

    10 तारीख को होगा उल्हासनगर बंद,और गूँजेगा नारा एसडीओ चोर है -वाधवा 

    सिंधी संत के अपमान पर शहर के सिंधीयो के मसीहा ठेकेदार लोगो के जुबान पर लगे ताले ? 

    जल्द उठेगा सरदार के पीछे वाले खिलाड़ियों चेहरे से नकाब ? 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में साई वसणशाह दरबार के पास की ज़मीन पे कब्ज़े को लेकर कटघरे में खड़े उल्हासनगर उपविभागीय अधिकारी के ख़िलाफ़ शहर के व्यापारी, संतों के सेवाधारी लामबंद होते नज़र आ रहे है, कब्ज़ा मामले में दरबार के खिलाफ अपशब्द बोलने वाले 420 बिल्डर सतपाल सिंह के विरुद्ध मामला दर्ज करने आज 3 बजे सेंट्रल पुलिस स्टेशन उल्हासनगर 3 मे साई हीरानंद जग्यासी जी के मार्गदर्शन में उल्हासनगर के सिंधी समाज के लोग, वसणशाह दरबार के भक्तगण जमा हुए, व पुलिस प्रशासन से कड़ी कार्यवाही की मांग की गयी, उल्हासनगर की विधायिका सिंधी उल्हासनगर की महापौर सिंधी उल्हासनगर उप महापौर ,उल्हासनगर भाजपा का जिल्हा अध्यक्ष सिंधी, सभागृह नेता सिंधी कई और बड़े पदों पर विराज मान लोग भी सिंधी सबसे ज्यादा नगरसेवक भी सिंधी इसके बायजुद किसी ने भी अभी सिंधी समाज के संत पर हुई अपमान जनक टिप्पणी पर कुछ भी नही बोला है यह एक अपने आप में बड़ी शर्म की बात है ?
    साथ ही पुलिस प्रशासन को निवेदन दिया है जिसमे में लिखा गया है कि, दरबार के पास की ज़मीन कब्ज़ा मामले के कारण समाज की, भक्तों की भावनाओं को चोट पहुची है और इस घटना का विरोध दर्शाने हेतु 10 जुन को एक दिवसीय दुकान बंद की अपील की गई और उल्हासनगर कैम्प 5 से लेकर एस डी ओ ऑफिस तक मोटरसाइकिल रैली निकाली जाएगी। बता दे कि उल्हासनगर एसडीओ के 420 बिल्डर दोस्त सतपाल सिंह ने शुक्रवार कुछ पत्रकारों को बुलाकर अपना पक्ष रखने के लिए आन कैमरा स्टेटमेंट दिया इसी स्टेटमेंट उन्होंने कहा कि मै हैरान हूं जालसाजी करते हुए संतो चार चार नकली सीडी बनाई है ऐसा ब्यक्त है,यह वीडियो जैसे ही शोशल साइड पर वायरल हुआ तो लोगो ने निषेध ब्यक्त किया और सतपाल सिंह के विरुद्ध मामला दर्ज करने की मांग करनी शुरू किया है यही नही इसी के निषेध पर सोमवार को उल्हासनगर शहर बंद की मांग किया गया है,वही इस मामले में राम वाधवा ने अपनी कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है उन्होंने कहा संतो का अपमान को किसी भी हाल में बर्दाश्त नही किया जाएगा इसके लिए सोमवार शहर बंद किया जाएगा और वसंत शाह दरबार से एक मोटरसाइकिल रैली निकलेगी और एसडीओ कार्यालय के सामने पहुचकर निषेध ब्यक्त करेंगें, इस दरम्यान यदि कानून ब्यवस्था बिगड़ती है तो उसके लिए हिलाइन पुलिस स्टेशन के सीनियर व उल्हासनगर एसडीओ व सतपाल सिंह जिम्मेदार होगा ऐसा वाधवा का कहना है , वही इस विषय पर मनसे ने भी आंदोलन में सहयोग देने की बात सचिन कदम ने कही है,उल्हासनगर के सभी समाज सेवक व सामाजिक कार्यकर्ता भी भाग लेंगे,यह पूरा मामला अल्टरनेट सीडी जारी करने बाद से जमीन पर कब्जे को लेकर विवाद से शुरू हुआ है आगे यह विवाद क्या क्या मोड़ लेता है वह देखने जैसे होगा ! सतपाल सिंह की मुश्किलें आगे बढ़ना तय है कुछ भी बोलने से पहले सोच समझ कर बोलना चाहिए था !
  • एसडीओ के 420 दोस्त बिल्डर सतपाल सिंह ने सिंधी समाज के संत को बताया जालसाज !

    By fast headline india →
    एसडीओ के 420 दोस्त बिल्डर सतपाल सिंह ने सिंधी समाज के संत को बताया जालसाज ! 

    सिंधी समुदाय ने किया निषेध,सोमवार उल्हासनगर बंद करके करेंगे आंदोलन ! 

    शोसल मीडिया पर बिल्डर सतपाल सिंह का हो रहा निषेध और हो रही कार्यवाई की मांग ! 

    एसडीओ के अलर्टनेट सनद देने के बाद से शुरू हुआ यह संग्राम ? 

    सोमवार को एसडीओ कार्यालय के सामने भी होगा आंदोलन ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर के एसडीओ के 420 बिल्डर दोस्त सतपाल सिंह का नया कारनामा सामने आया है उन्होंने शुक्रवार को कुछ पत्रकारों बुलाकर स्टेटमेंट वीडियो कैमरे के सामने दिया इसी स्टेटमेंट में उन्होंने उल्हासनगर शहर के नामचीन वसन्त शाह दरबार के संतों को जालसाज कह कर न सिर्फ आरोप किया बल्कि उन्हें अपमानित किया है,यह वीडियो जैसे ही शोसल मीडिया पर वायर हुआ तो वसंत शाह दरबार के संतों के भक्तों ने पहले निषेध ब्यक्त किया फिर इस आरोप पर अपना गुस्सा जाहिर किया है ! 
    उल्हासनगर एसडीओ के 420 बिल्डर दोस्त सतपाल सिंह ने शुक्रवार कुछ पत्रकारों को बुलाकर अपना पक्ष रखने के लिए आन कैमरा स्टेटमेंट दिया इसी स्टेटमेंट उन्होंने कहा कि मै हैरान हूं जालसाजी करते हुए संतो चार चार नकली सीडी बनाई है ऐसा ब्यक्त है,यह वीडियो जैसे ही शोशल साइड पर वायरल हुआ तो लोगो ने निषेध ब्यक्त किया और सतपाल सिंह के विरुद्ध मामला दर्ज करने की मांग करनी शुरू किया है यही नही इसी के निषेध पर सोमवार को उल्हासनगर शहर बंद की मांग किया गया है,वही इस मामले में राम वाधवा ने अपनी कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है उन्होंने कहा संतो का अपमान को किसी भी हाल में बर्दाश्त नही किया जाएगा इसके लिए सोमवार शहर बंद किया जाएगा और वसंत शाह दरबार से एक मोटरसाइकिल रैली निकलेगी और एसडीओ कार्यालय के सामने पहुचकर निषेध ब्यक्त करेंगें, इस दरम्यान यदि कानून ब्यवस्था बिगड़ती है तो उसके लिए हिलाइन पुलिस स्टेशन के सीनियर व उल्हासनगर एसडीओ व सतपाल सिंह जिम्मेदार होगा ऐसा वाधवा का कहना है ,यह पूरा मामला अल्टरनेट सीडी जारी करने बाद से जमीन पर कब्जे को लेकर विवाद से शुरू हुआ है आगे यह विवाद क्या क्या मोड़ लेता है वह देखने जैसे होगा ! सतपाल सिंह की मुश्किलें आगे बढ़ना तय है कुछ भी बोलने से पहले सोच समझ कर बोलना चाहिए था !
  • उल्हासनगर के दो वार्डो के उपचुनाव में महायुती के उम्मीदवार वनिता भोईर, राजू जग्यासी !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर के दो वार्डो के उपचुनाव में महायुती के उम्मीदवार वनिता भोईर, राजू जग्यासी !

     दोनो प्रभाग में 12 लोगो भरा अपना नामांकन ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में 23 जून को होने वाले प्रभाग 1 व 5 में उपचुनाव में शिवसेना-भाजपा-साईपार्टी की महायुती हुई है .दोनो प्रभागो में 6+ 6 उम्मीदवारो ने अपना नामांकन भरा है वही महायुती की तरफ से प्रभाग 1 में वनिता भोईर व प्रभाग 5 से राजू जग्यासी इनको अपना उम्मीदवार बनाया है इन्होंने गुरुवार को अपनी उम्मीदवारी का नामांकन चुनाव निर्वाचन अधिकारी जगतसिंह गिरासे, तहसीलदार विजय वाकोडे को सौपा है .
     बता दे की जात प्रमाणपत्र बोगस होने की वजह से प्रभाग एक (अनुसूचित जमात) की भाजपा नगरसेविका पूजा भोईर व प्रभाग 5 के (ओबीसी) भाजपा नगरसेवक सोनू छापरु का पद रद्द होने के बाद इन दोनों प्रभाग में उपचुनाव चुनाव हो रहा है . वनिता भोईर व राजू जग्यासी की उम्मीदवारी के नामांकन को चुनाव निर्वाचन अधिकारी तथा उपविभागीय अधिकारी जगतसिंह गिरासे,सहाय्यक चुनाव निर्वाचन अधिकारी तथा तहसीलदार विजय वाकोडे को सौपते समय शिवसेना कल्याण उपजिल्हाप्रमुख चंद्रकांत बोडारे,शहरप्रमुख राजेंद्र चौधरी,भाजपा जिल्हाध्यक्ष कुमार आयलानी,ओमी कलानी,सभागृहनेता शेरी लुंड, विरोधी पक्षनेता धनंजय बोडारे,प्रकाश माखिजा,नारायण पंजाबी,मनोज लासी,मिना आयलानी, मंगला चांडा,संतोष पांडे इत्यादि मान्यवर उपस्थित थे. प्रभाग 1में चरणदास मेश्राम-कॉंग्रेस, बालकृष्ण वाघे-आठवले गट, और 5 में राजू जग्यासी के अलावा 5 अपक्ष और दो पूर्व नगरसेवक पृथ्वी वलेचा, दिलीप जग्यासी में मैदान में है,कल नाम वापस लेने का एक दिन है कितने लोग मैदान में रहते है वह देखना होगा वैसे महायुती के उम्मीदवारों की जीत होने की पूरी संभावना है !
  • 18 कुत्तों और 7 बिल्लियों को जहर देकर मार डाला !

    By fast headline india →
    18 कुत्तों और 7 बिल्लियों को जहर देकर मार डाला ! 

    अम्बरनाथ शिवजीनगर पुलिस ने अज्ञात ब्यक्ति के खिलाफ दर्ज किया मामला ! 

    परिसर में लगे सीसी टीवी फुटेज के जरिये आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस ! 

    कौन है वह शख्स जिसने किया इस तरह की घटना के जरिये इंसानियत को शर्मसार ! 

     अम्बरनाथ- अम्बरनाथ शहर में 4 जून 2019, को मंगलवार को एक अति अमानवीय घटना सामने आया है। किसी अज्ञात ने जहर देकर 18 कुत्तों और 7 बिल्लियों को मौत के घाट उतार दिया। एक कुत्ते का इलाज अभी भी स्थानीय अस्पताल  में चल रहा है। 
    बता दे कि यह पूरा मामला अम्बरनाथ (पूर्व) की शिवाजीनगर पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। घटना मंगलवार, 4 जून 2019 की सुबह 7 बजे प्रकाश में आई, जब ये अबोल जानवर सड़क और गलियों में तड़पते देखे गए। किसी ने यहां की सामाजिक संस्था अम्बरनाथ सिटीजन फोरम के सदस्य को फोन पर इत्तिला कर दी। उस सदस्य ने अपने कुछ और सहयोगियों के साथ घटनास्थल पर भागे तो स्थिति बड़ी करुणामय थी। जगह-जगह कुत्ते और बिल्ली तड़प रहे थे। बहुत सारे तो मर गए थे। उनमें से एक कुत्ते को अस्पताल में बचाया जा सका।पुलिस का मानना है कि चोरों का कोई समूह रहा होगा जो रेकी करने आया था। कुत्तों के भौंकने की आवाज से वे घबरा गए और कोई विशेष प्रकार से उन्हें जहर दे दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद इसका खुलासा होगा कि इन जानवरों की मौत किस पदार्थ के खाने से हुई है। पुलिस सीसीटीवी के जरिये आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। बर्मन ने अम्बरनाथ नगरपालिका, जिलाधिकारी आदि को पत्र लिखकर घटना से अवगत कराया है और कार्रवाई की मांग की है।
  • एसडीओ गिरासे का नया कारनामा पुलिस कालोनी की जगह का सनद दिया प्राइवेट बिल्डर को !

    By fast headline india →
    एसडीओ गिरासे का नया कारनामा पुलिस कालोनी की जगह का सनद दिया प्राइवेट बिल्डर को !

     पुलिस कालोनी पर कब्जा करने में जुटा बिल्डर कालोनी को कर रहा था सपाट करने का काम !

     शिवसेना के नगरसेवक बोडारे, एसीपी,विठ्ठलवाड़ी के सीनियर इंस्पेक्टर ने बिल्डर के तोडू कार्यवाई को रुकवाया ! 

    पुलिस कालोनी की जगह का सनद निजी हाथों में देने के मामले में बड़े पैमाने पर हुआ भ्रष्टाचार ? 

     उल्हासनगर-   उल्हासनगर शहर के प्रान्त अधिकारी जगतसिंह गिरासे द्वारा एनसीटी स्कूल के सामने पुलिस वसाहत की जमीन को एक बिल्डर को देने का मामला सामने आया है । उक्त बिल्डर ने बिना किसी से पूछे और बिना किसी का अनुमति लिए पुलिस कॉलोनी के दरवाजे, खिड़कियों और पत्रों को हटाने के बाद पुलिस प्रशासन की नींद खुली है।  
    बता दे कि उल्हासनगर कैम्प ४ में, एनसीटी स्कूल के सामने विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन के सामने दो पुरानी पुलिस कॉलोनियाँ हैं। NCT स्कूल के सामने, बैरक १२५७ में रहने वाले १४ पुलिस कांस्टेबल के १४ परिवार थे। हालांकि, महाराष्ट्र सरकार के लोक निर्माण विभाग ने खतरे के कारण दो साल पहले इस कॉलोनी को खाली करा दिया था। यहां कॉलोनी के फिर से निर्माण की अनुमति के लिए, परिमंडल ४ के पुलिस अधिकारियों ने वित्तीय स्वीकृति के लिए रिपोर्ट सरकार को भेज दी है। पंद्रह दिन पहले, विट्ठलवाड़ी पुलिस ने इन स्थान पर पुलिस प्रशासन का एक बोर्ड लगा दिया था। हालांकि, एक अधिकारी ने कहा कि बिल्डर द्वारा अदालत का आदेश दिखाने के बाद पुलिस ने बोर्ड ले निकाल लिया था। इस भूखंड पर १४ पुलिस कॉलोनी के कमरों में, कुछ निजी लोग पिछले सप्ताह इस क्षेत्र में प्रवेश कर गए। वे कमरों के दरवाजे, खिड़कियां, पत्रा निकालकर उन्हें बेच दिए। लोगों को लगा कि नई कॉलोनी का निर्माण शुरू हो गया है। जब विपक्षी नेता धनंजय बोडारे को यह बात समझ में आई, तो उन्होंने सहायक पुलिस आयुक्त धुला टेले, विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रमेश भामे के साथ पुलिस कॉलोनी में जाकर काम को रोक दिया। जब सहायक पुलिस आयुक्त धुला टेले से इस बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि इस १२५७ नं. बैरक में हमारी पुलिस कालोनी हैं, लेकिन हमने खतरे के कारण उन कालोनियों को खाली कराया य है। जब हमने देखा कि इन कॉलोनियों में बाहरी लोगों का अतिक्रमण हो गया है, तो हमने तुरंत विपक्षी नेता धनंजय बोडारे के साथ जाकर श्रमिकों को पुलिस कॉलोनी से बाहर निकाल दिया। उसके बाद, लोक निर्माण विभाग द्वारा दिखाए गए व्यय रिकॉर्ड अब तक प्रत्यक्ष प्रांतीय कार्यालय तक पहुंच चुके हैं। निजी व्यक्ति को दिए गए चार्टर को रद्द करने के बारे में प्रांत के अधिकारियों के साथ पत्राचार भी किए गए है। किस आधार पर दिए जा रहे हैं सनद   शांति प्रकाश आश्रम के लिए पुलिस का एक बड़ा भूखंड आरक्षित है। इस भूमि पर फिलहाल भोईर परिवार का स्वामित्व है। इसलिए, भोईर परिवार, अन्य स्थानों पर,अदालत से आदेश से जमीन पर प्रान्त कार्यालय से सनद चढ़ा रहे हैं। पिछले हफ्ते, भोईर परिवारों ने सतनाम सखी के प्लॉट पर, शांति प्रकाश आश्रम के पास निर्माण व्यवसायी की मदद से एक परिसर बनाया। २००७ में, प्रांत कार्यालय ने इस भूखंड के अनधिकृत निर्माण के लिए राजपाल से 10 लाख रुपये का राजस्व वसूला था। इसके बाद भी भोईर परिवार को स्वामित्व देने के बाद यह मामला विवादास्पदहो गया है। इस बैरक १२५७ में पुलिस कॉलोनी थी,जिसमें पुलिस के परिवार रहते थे। पड़ोस के बैरक निवासी अजय कारभारी ने बताया कि इन पुलिस कॉलोनियों में कांस्टेबल, मुलिक, राणे और परदेशी रहते थे। खाली भूखंडों पर है भूमाफियाओं की नजर श्रीराम चौक से विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन यातायात का मुख्य मार्ग है। यह इस सड़क पर पुलिस कॉलोनी की संपत्ति है। हालांकि, इस स्थान का सनद देने से पहले प्रान्त अधिकारी जगत सिंह गिरासे और उनके सहयोगियों ने यह जांच नहीं की कि इस जगह का मूल रूप से क्या उपयोग हो रहा है। हालांकि महाराष्ट्र की संपत्ति इस जगह की संपत्ति शीट पर लिखी गई है, यह स्थान गृह मंत्रालय के तहत राज्य सरकार के नियंत्रण में है,ऐसा होने पर भी इस जगह का सनद निजी हाथों में देने के मामले में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार है, ऐसी चर्चा शहर में हो रही है।
  • मोबाइल फोन टूटने के बहाने युवक को लूटने वाले दो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    मोबाइल फोन टूटने के बहाने युवक को लूटने वाले दो आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    80 हजार रुपये लूटने का था पूरा मामला  !

    इंडियन बैंक से पैसा निकालने के बाद बैंक के बाहर हुआ उनके साथ फिल्मी ड्रामा !

     उल्हासनगर -उल्हासनगर में बैंक से पैसा निकालकर बाहर आ रहे युवक से दो लोगों ने धक्कामुक्की करके अपना मोबाईल जोर से पटक दिया ,उसके बाद युवक से जबरन मोबाईल का पैसा भरके देने के लिए उससे उलझ गए।इसी बीच युवक को उन दोनों ने जबरन एक रिक्शे में बिठाकर सपना गार्डन के पास एक निर्जन स्थान पर ले गए और युवक द्वारा बैंक से निकाले गए ८०,०००रुपए लेने के बाद युवक को रिक्शे से उतारकर दोनों फरार हो गए।
    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, उल्हासनगर में हेमलाला बुढा (24) एक कंपनी में सुपरवाइजर के रूप में कार्यरत हैं। हेमलाला दोपहर में उल्हासनगर नंबर ३ स्थित इंडियन बैंक में पैसा निकालने आया था। रामलाल यादव (22) और अनिल नामदेव भोईर (37) बैंक के बाहर एक रिक्शे में बैठे थे। जब हेमलाला बैंक से बाहर आया, तो दोनों आरोपियों में से एक ने ऑटो रिक्शा से बाहर आकर हेमलाला से धक्कामुक्की करके अपना मोबाईल जमीन पर पटककर तोड़ दिया, उसके बादहेमलाला से मोबाइल फोन की मरम्मत करने के लिए पैसा मांगने लगे,इसके बाद दोनों ने एक हेमलाला रिक्शा में बैठने के लिए मजबूर किया और उसे सपना गार्डन में एक सुनसान जगह पर ले गए। इसके बाद उन्होंने उससे ८० हजार रुपए छीन लिए और दोनों हेमलाला को रिक्शा से बाहर उतारकर भाग निकले। हेमलाला ने मध्यवर्ती पुलिस स्टेशन में अपहरण और ८० हजार रुपए लूटने की शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के अनुसार, मध्यवर्ती पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज की जांच करने के बाद आरोपियों की खोजबीन शुरू की, और दोनों आरोपियो को काटेमानवली से गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपियों को अदालत में पेश किया गया ,जहां अदालत ने उन्हें पुलिस हिरासत में भेज दिया । विशेष रूप से, पुलिस ने जांच में पाया कि इन दोनों ने बैंक के सामने खड़े होकर इसी प्रकार मोबाईल तोड़कर के लोगों के साथ लूटपाट की है।
  • उल्हासनगर एसडीओ गिरासे के 420 बिल्डर दोस्त सतपाल सिंह व बेटे करन के झूठे षणयंत्र का हुआ पर्दाफाश ?

    By fast headline india →
    उल्हासनगर एसडीओ गिरासे के 420 बिल्डर दोस्त सतपाल सिंह व बेटे करन के झूठे षणयंत्र का हुआ पर्दाफाश ?

     बेटे ने अपनी पत्नी से धन उगाही के लिए अपने ही दो दोस्तों से कराया चेक बाउंस का झूठा केश ! 

    सच्चाई सामने आने पर जय गाबरा ने कोर्ट से केश को लिया वापस ! 

    शिवसेना के पदाधिकारी कमलेश के द्वारा झूठे चेक बाउंस केश को वापस लेने की गुरुशीष कौर ने उल्हासनगर के शिवसेना के नेताओ से किया अपील !

     जल्द ही मीडिया के सामने आकर 420 सतपाल सिंह व करन सिंह बड़े कारनामो करूंगी पर्दाफाश -गुरुशीष कौर

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के एसडीओ जगतसिंह गिरासे, 420 बिल्डर दोस्त सतपाल सिंह व उसके बेटे करन सिंह का अपनी पत्नी को झूठे केश में फंसाने का मामले का पर्दाफाश हुआ है, इस मामले को झूठा होने के चलते कोर्ट ने इसे आज रद्द कर दिया है !
    बता दे कि उल्हासनगर एसडीओ गिरासे सबसे चहेते दोस्त 420 बिल्डर सतपाल सिंह व उसके बेटे करन सिंह के द्वारा अपनी ही बीबी गुरुशीष कौर से पैसे ऐंठने के लिए अपने दोस्तों के द्वारा झूठा चेक बाउंस का केश कराया हुआ था,एक बात यह भी सामने आया है कि बिना तलाक दिए करन सिंह ने दूसरी शादी कर रखी है, जब दोस्त को इसकी सच्चाई सामने आई तो इसके दोस्त अजय कायरा को अपनी गलती का एहसास हुआ और उन्होंने जाकर यह झूठा मामला कोर्ट से वापस ले लिया है और कोर्ट इस केश को रद्द करने का आदेश दे दिया है, जैसे ही मामला गुरुशीष कौर को मालूम हुआ तो उन्होंने जय गाबरा को धन्यवाद किया है और गुरुशीष ने कहा एक को हमारी सच्चाई सामने आया तो उन्होंने केश को पीछे ले लिया है परन्तु एक और है जो अपने आप को शिवसेना पार्टी का पदाधिकारी जिनका नाम कमलेश करके है जिनको आजतक कभी न मिलु हु न ही वह मुझे मिले है उन्होंने भी मेरे पति करन सिंह के कहने पर ऐसे झूठा चेक बाउंस केश का मामला डाला हुआ है मै उनसे व उल्हासनगर के शिवसेना पार्टी के सभी वरिष्ठ लोगो से अपील करूंगी मेरी मदत करे और झूठे केश से बचाने के लिए उस पदाधिकारी को बोले ऐसी प्रार्थना है क्योंकि जहाँ तक मै सुनी हु शिवसेना हमेशा महिलाओं की मदत के लिए आगे खड़ी रहती है,वही इस तरह के कई और राज इन बाप बेटे का है जिसका मै जल्द ही पर्दाफाश मीडिया के सामने आकर करने की बात गुरुशीष कौर ने कही है !
  • उमपा के नए आयुक्त होंगे सुधाकर देशमुख ?

    By fast headline india →
    उमपा के नए आयुक्त होंगे सुधाकर देशमुख !

    मंगलवार को चार्ज लेने की संभावना !

    वर्तमान में धुले शहर के है यह आयुक्त !


    उल्हासनगर -उल्हासनगर महानगर पालिका के आयुक्त अच्युत हांगे के रिटायर होने के उल्हासनगर महानगरपालिका की आयुक्त की सीट खाली हो गया था उसके बाद से कई लोगो के कयास लगाए जा रहे थे आखिरकार मंत्रालय के नगर विकाश विभाग के सह सचिव गोखले द्वारा सुधाकर देशमुख को उल्हासनगर के नये आयुक्त की नियुक्ति किये जाने की सूत्रों से जानकारी मिला है उसी आदेश में यह लिखा गया है कि धुले के आयुक्त सुधाकर देशमुख तुरंत अपना वहाँ का पदभार जिल्हा अधिकारी को सौपकर उल्हासनगर महानगर पालिका के नए आयुक्त पदभार सुधाकर देशमुख सँभाले ऐसा उस पत्र में लिखा गया है !
    यह आदेश सोमवार को उमपा में आ जायेगा और मंगलवार को ही नए आयुक्त देशमुख अपना कार्यभाल सभाल लेगे ऐसी जानकारी सामने आ रही है ! गौरतलब हो कि जब से उमपा के आयुक्त पद पर अच्युत हांगे ने चार्ज लिया था तब से अबतक शहर विकाश से लेकर टैक्स वसूली स्वच्छता अभियान इन सारे कार्यो में मनपा का काम अच्छा हुआ था जब कि बहुत सारे बिल को देने को लेकर यह इल्जाम भी लगता रहा कि मनपा की तिजोरी उन्होंने खाली कर दिया यही नही कई सारी बिल्डिंगों की एनओसी देने पर भी वो विवादों में रहे है कोणार्क कंपनी के 6 करोड़ का बिल देने का मामला भी है, उनके रिटायर होने के बाद से यह चर्चा थी आखिरकार उल्हासनगर का अगला आयुक्त होगा कौन तो सारे सवाल को विराम लगते हुए अब नए धुले के वर्तमान आयुक्त सुधाकर देशमुख को उल्हासनगर का आयुक्त बनाया गया है अब वो शहर को आगे ले जाने के लिए किस तरह से आगे बढ़ेंगे ये तो आने वाले समय में सामने आएगा बहरहाल खबर लिखे जाने तक उन्होंने चार्ज नही लिया है !
  • उल्हासनगर के एसडीओ गिरासे के दोस्त बिल्डर सतपाल सिंह निकला दहेज खोर -राम वाधवा

    By fast headline india →
    उल्हासनगर के एसडीओ गिरासे के दोस्त बिल्डर सतपाल सिंह निकला दहेज खोर -राम वाधवा

     अपने दो बेटों के साथ खा चुके है जेल की हवा ! 

     बहू ने लगाया है दहेज के लिए अत्याचार करने के आरोप ? 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर के एसडीओ जगतसिंह गिरासे के परम मित्र बिल्डर सतपाल सिंह एक दहेज खोर इंसान निकले यही नही वह खुद अपने परिवार के साथ मध्यप्रदेश के जेल की हवा खा चुके और उन पर अपने ही बहु पर दहेज उत्पीड़न, व मानसिक पीड़ा देने का मामला न्यायालय में अभी चल रहा है,जो ब्यक्ति पैसों के लिए अपनी ही बहु के साथ इस तरह की हरकत कर सकता वह जमीन हड़पने के लिए किस अस्तर तक गिर सकता है यह बात आप लोग आसानी से समझ सकते है ,ऐसा आरोप बिल्डर राम वाधवा के द्वारा किया गया है !
     बता दे कि यह पूरा मामला उल्हासनगर कैंप 5 स्थित शांतिप्रकाश आश्रम के सामने सतनाम साक्षी व वसंत शाह दरबार से जुड़े एक भूखंड से जुड़ा हुआ है, सतनाम साखी नामक इस भवन का निर्माण १९९९ में बिल्डर राम वाधवा के चाचा व प्रख्यात भवन निर्माता घनश्याम वाधवा ने कराया था। इस भूमि पर जयपाल रोहरा का स्वामित्व था। इस इमारत को लेने से पहले, इस इमारत में १७ परिवार और ६ दुकानें थीं। वर्ष २००४ में, उच्च न्यायालय ने उल्हासनगर में अनधिकृत भवनों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया। उस समय, सतनाम सखी भवन को तत्कालीन आयुक्त के आदेश पर जमींदोज कर दिया था।सतनाम साखी इमारत का जमींदोज होने के बावजूद आज वर्षो से उक्त भूखंड का मालिकाना हक बिल्डर राम वाधवा के चाचा घनश्याम वाधवा व अन्य के पास ही था ।बावजूद दो दिन पहले नामी-गिरामी विवादास्पद बिल्डर सतपाल सिंह ,करण सिंह चावला व सुनील भोईर ने 30-40 गुंडो के साथ उक्त भूखंड पर जाकर फैंसी लगा दी,शिकायत के बावजूद गुंडो के नंगे नाच को देखकर हिल-लाइन पुलिस मूक दर्शक बनी रही।जब बिल्डर राम वाधवा अपने सतनाम साखी इमारत भूखंड के लिए मैदाने जंग में उतर गए तो सतपाल सिंह चावला व पुत्र करण चावला के कई नकाबपोश चेहरे की परत-दर परत खुलने लगी है। इसी लड़ाई को आगे बढ़ाते हुए राम वाधवा ने बिल्डर सतपाल सिंह के एक नए कारनामो की पोलखोल करते हुए बताया कि इसने अपनी बहू पर दहेज को लेकर उसके ऊपर अत्याचार किया इस अत्याचार परेशान बहु ने 2016 में उत्तरप्रदेश के गोरखपुर के थाने में आईपीसी 498,34 के तहत एफआईआर नम्बर 234/2016 दर्ज कराया और इस मामले में सतपाल सिंह, बेटे किरनदीप सिंह,हरसिमर सिंह व पत्नी के साथ जेल की हवा खानी पड़ी है इसके अलावा भी कुछ मामले है जिसमें इनके खिलाफ वारंट निकला हुआ है,यह सभी मामले अभी न्यायालय में विचाराधीन है,जो अपने आप को उल्हासनगर में सबको पाकसाफ बिल्डर बताता यह है उसकी करतुत बहु बेटी के समान होती है यह लोग पैसे के चक्कर में उनको भी नही बख्शते है इससे समझा जा सकता है यह कितने ईमानदार लोग है,इन लोगो ने एसडीओ गिरासे को मोटा माल देकर शहर के सभी शासकीय जमीनों की एडिसन सीडी बनाकर उन जमीनों पर कब्जा करने का पूरा षड्यंत्र रचा है यह तो अभी एक खुलासा हुआ है ऐसे और ढेर सारे कारनामो से पर्दा उठना बाकी है ऐसा राम वाधवा ने कही उन्होंने एक कहावत को भी कहा जंग व प्यार में सब कुछ जायज होता है ! वही इस बारे में बिल्डर सतपाल सिंह से संंपर्क किया गया तो उनका कहना है कि राम वाधवा जमीन के मामले से लोगो का ध्यान भटकाने के लिए मेरे परिवार के निजी लड़ाई को सामने लेकर आ रहे है ताकि जमीन के विषय से लोगो का ध्यान हटाया जा सके, वाधवा के पास जमीन के सही पेपर नही इस लिये वह ऐसा कर रहे है, यह मामला आगे क्या और नए मोड़ लेता वह देखने लायक होगा !
  • भाजपा के नगरसेवक विजय पाटील ने किया ईफ्तार पार्टी का आयोजन !

    By fast headline india →
    भाजपा के नगरसेवक विजय पाटील ने किया ईफ्तार पार्टी का आयोजन !

    हजारों की संख्या मुस्लिम भाइयों की रही उपस्थिति !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर हर साल की तरह इस साल भी रमजान महिने के मद्देनजर इस शुक्रवार को 25 रोजा दिन के निमित्त पर उल्हासनगर शहर के तमाम मुस्लिम भाइयों के लिए ईप्तार पार्टी का आयोजन शिवप्रेमी मित्र मंडल की तरफ से नगरसेवक विजय चाहु पाटील यांनी इन्होंने किया था !       
    बता दे कि मुस्लिम धर्म के सब्सव पवित्र माने जाने वाले त्यौहारो में प्रमुख रूप से रमजान ईद है.इस महीने में मुस्लिम भाइयों को रोजा रखना पड़ता है,इसी को मद्देनजर रखते हुए वसंत बहार रोड उल्हासनगर 5 में भाजपा नगरसेवक विजय चाहू पाटील,मिनाक्षी रवी पाटील,रवि पाटील, युवानेता युवराज पाटील इन्होंने मुस्लिम भाइयों के लिए इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था . इस ईफ्तार पार्टी में  मुस्लिम भाइयों ने हजारो की संख्या में उपस्थित थे.इस इफ्तार पार्टी के आयोजन करने के लिए सभी मुस्लिम भाइयों ने विजय पाटील का आभार प्रकट किया है .  इस कार्यक्रम के आयोजक विजय पाटील इन्होंने कहा कि सबका साथ सबका विकास व सबका विश्वास हो इस लिए आगे भी इस तरह के बड़े ईफ्तार का आयोजन करेंगे, वही अंबरनाथ मुस्लिम जमात ट्रस्ट ने  विजय चाहू पाटील का आभार माना इस कार्यक्रम में नगरसेवक किशोर वनवारी,मोहम्मद मीरा सय्यद, सगीर चौधरी,मोहम्मद अली, व शिवप्रेमी मित्र मंडल के सभी पदाधिकारी उपस्थित थे !