• दूध चोरी करने वाला गिरोह पुलिस ने किया पर्दाफाश !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    दूध चोरी करने वाला गिरोह पुलिस ने किया पर्दाफाश ! 

    गिरोह ने 3 महीने में हजारों लीटर दूध की चोरी को दे चुका है अंजाम ! 

     गिरोह का सरगना निकला दूध विक्रेता ब्यवसाई !

     ठाणे-ठाणे जिल्हा के भिवंडी शहर व शहर से सटे ग्रामीण इलाको में भोर में अमूल दूध कंपनी के उतारे गए दूध की चोरी करने वाले गिरोह द्वारा दो-तीन महीने में सैकड़ों लीटर दूध की चोरी करने का मामला प्रकाश में आया है। बार-बार चोरी से त्रस्त दूध विक्रेता ने अपने धंधा करने की जगह सीसीटीवी कैमरा लगाया, जिसकी वजह से दूध की चोरी करने के मामले का पर्दाफाश हुआ। दूध विक्रेता एजेंट द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरे के फुटेज के आधार पर नारपोली पुलिस ने बदरूजमा वसीम अंसारी, अयाज गुड्डू खान व अब्दुल चौधरी को पुलिस ने इस मामले में हिरासत में लिया है मामला दर्ज कर लिया गया है ।
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भिवंडी शहर से सटे अंजुर फाटा क्षेत्र स्थित मराठा पंजाब होटल के सामने दूध बेचने का व्यवसाय करने वाले अख्तर हुसैन की शब्बीर डेरी नाम की दुकान है। पिछले 3 महीने में 5 से 7 बार दूध की चोरी की घटना होने से परेशान अख्तर हुसैन ने चोरी का पर्दाफाश करने के लिए अपनी दुकान के सामने सीसीटीवी कैमरा लगाया। सीसीटीवी कैमरे से दूध की चोरी करने काम के मामले का पर्दाफाश हुआ। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अख्तर हुसैन ने नारपोली पुलिस स्टेशन में इस बात की शिकायत की। दूध विक्रेता की शिकायत पर नारपोली पुलिस दल ने दूध विक्रेता के साथ रात में गस्त कर दूध की चोरी करने वालों की तलाश शुरू की।रविवार की सुबह पुलिस को तब कामयाबी मिली जब एक ऑटोरिक्शा में 10 कैरेट में 120 लीटर दूध ले जाते हुए 2 लोगों को पकड़ा गया। पुलिस की कड़ी जांच पड़ताल के द्वारा मालूम पड़ा कि निजामपुर पुलिस स्टेशन के अंतर्गत शिवाजी चौक स्थित महेश कोकुलवार का दूध उतारा गया था, उसी स्थान से यह दूध चोरी से उठाकर अंजुर फाटा खरबाव रोड स्थित अब्दुल चौधरी के डेरी पर ले जाया जा रहा था। पकड़े गए संदेहास्पद लोगों के बताने पर नारपोली पुलिस ने बदरुजमा अब्दुलवसीम अंसारी व अयाज गुड्डू खान नामक दो लोंगों के साथ अब्दुल चौधरी नामक दूध विक्रेता एजेंट को हिरासत में लेकर निजामपुर पुलिस को सौंप दिया। इस मामले में छानबीन करने पर पता चला है कि दूध चोरी करने वाली टोली प्रतिदिन 10 कैरेट में 120 लीटर दूध की चोरी बड़ी चालाकी से अलग-अलग जगहों पर करती थी। जिसकी कीमत 5280 रुपये बताई गई है। इस तरह गिरोह द्वारा महीने में हजारों लीटर दूध की चोरी करने का मामला सामने आया है। लेकिन इस चोरी की अभी तक कोई शिकायत पुलिस में नहीं दी गई थी। इस गिरोह के लोगों द्वारा बयान के अनुसार या टोली चोरी करके दूध विक्रेता एजेंट अब्दुल चौधरी को अपना दूध कम कीमत पर देते थे। दूध का एजेंट तय कीमत से कम भाव पर दूध की सप्लाई कर चोरी के माल से पैसा कमा रहा था। सूत्रों के अनुसार इस काले धंधे में शामिल अब्दुल चौधरी अमूल दूध का डीलर है और वह दूध उतारने के काम में शामिल रहता था। जिसे इस बात की पूरी जानकारी थी कि शहर और ग्रामीण क्षेत्र में कहां-कहां दूध उतारा जाता था । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भिवंडी तालुका के ग्रामीण भाग और भिवंडी शहर में दूध की बड़ी खपत है। जिसमें 75 हजार लीटर दूध हर रोज दूध विक्रेताओं के स्पॉट पर कैरेट में उतारे जाते थे। परंतु विगत दो-तीन महीने में कुछ कैरेट सैकड़ों लीटर दूध कम आने की शिकायत मुख्य डीलर के पास की गई थी। दूध सप्लाई में कमी नहीं होने के बाद ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा था कि वाहन चालक इस तरह की चोरी नहीं कर सकता। जानकारों ने बताया कि एक कैरेट में 12 लीटर दूध रहता है। शहर के विविध दूध विक्रेता के यहां 10 से 20 कैरेट दूध चोरी होता था। इस दूध चोरी प्रकरण में महेश कोकुलवार ने निजामपुर पुलिस स्टेशन में 120 लीटर दूध चोरी करने की शिकायत दर्ज कराई है जिसकी कीमत 5280 रुपये बताई गई है। पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस हिरासत में लिए गए तीनों आरोपी से यह मालूम करने में जुटी हुई है कि कौन-कौन सी जगह पर उन्होंने चोरी की है और उसमें और कितने लोग शामिल है ? उसके बयान के अनुसार इस दूध चोरी रैकेट में शामिल सभी लोगों को को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया पुलिस शुरू करने वाली है। सोने चांदी के बाद इससे पहले प्याज की चोरी का मामला सामने आया था परन्तु अब चोरों की नजर दूध पर थी उसे ही चुराना शुरू कर दिए है !

    Subjects:

  • No Comment to " दूध चोरी करने वाला गिरोह पुलिस ने किया पर्दाफाश ! "