• आत्मदहन के नाम पर समाजसेवा,या ब्लैकमेलिंग गोरखधंधा ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    आत्मदहन के नाम पर समाजसेवा,या ब्लैकमेलिंग गोरखधंधा ?

    शिकायत पर कार्यवाई नही हुआ तो आत्मदहन करके प्रशासन को डराने होता है यह पूरा खेल !

    पुलिस प्रशासन के जरिए नही होती कोई ठोस कार्यवाई जिसका उठाते है यह समाजसेवक या ब्लैकमेलर फायदा !

    प्रशासन को डराने के लिये खेला जाता है यह पूरा खेल !

    अभी तक धमकी देने वाले एक भी समाजसेवक ने अपना कारनामा करने से पहले ही मामले को कर लेते है रफादफा ?

    उल्हासनगर के ऐसे लोगो पर कब चलेगा कानून का चाबूक !

     (डेमो फोटो)
    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर में इन दिनों समाजसेवकों के रूप ब्लैकमेलिंग का मामला सामने आ रहा है यह ब्लैकमेल करने का जो तरीका सामने आ रहा वह अपने आप में निराला है किसी शिकायत पर कार्यवाई करवाने के लिए यह समाजसेवक प्रशासन को ब्लैकमेल करने के लिए खुद को आग लगाकर आत्महत्या करने की खुलेआम धमकी शोसल मीडिया के जरिये आम जनता तक पहुचा रहे है,पुलिस विभाग भी अल्टीमेटम देकर चुप रहता है जिसका फायदा ऐसे लोग खुलकर उठाकर रहे है और अपना धंदा जोरो पर शुरू रखा है ! 
    बता दे उल्हासनगर शहर में इससे पहले भी कई ऐसे समाजसेवक ब्लैकमेलर सामने आ चुके है जो अपने की गई शिकायत पर कार्यवाई करवाने के लिए आत्मदहन करने की धमकी दे चुके है,परंतु रियलटी चेक में जो मामला सामने आया वह कही न कही ब्लैकमेलिंग के लिए यह सारे प्रयोग थे, अब हाल ही में फिर से एक समाजसेवक के द्वारा शोसल मीडिया पर लिखा गया कि उनकी दी गई शिकायत पर जल्द ही कार्यवाई नही किया गया तो वह मनपा मुख्यालय के सामने आत्मदहन करेगे, यह सब पहले से ही एक सोची समझी प्लानिंग के तहत किया जाता है पहले शोसल मीडिया के जरिये आत्मदहन करने की पोस्ट को वायरल किया जाता है जब पुलिस कार्यवाई के लिए उस ब्यक्ति के पास पहुचती है तो वह समाजसेवक द्वारा बताया जाता है कि हमारी शिकायत पर प्रशासन के द्वारा ठोस कार्यवाई नही किया जाता है इस लिए हमने आत्मदहन करने का निर्णय लिया है,सूत्रों की माने तो यह पूरा कार्यक्रम के पीछे प्रशासन को डराकर अपनी पकड़ मजबूत करने व लोगो में दहशत फैलाकर फिर उसके जरिये मोटी सेटिंग करके बड़ा माल कमाना यही एक उद्देश्य सामने आया है क्योंकि इससे पहले जो समाजसेवक का चोला पहन कर आत्मदहन की धमकी दिये थे आज वह लोग यही काम कर रहे है इस लिए समाज सेवा के जरिये ब्लैकमेलिंग करने का यह एक नया धंधा उल्हासनगर में जोरो से फल फूल रहा है, बहरहाल कल आत्मदहन होता है यह फिर उससे पहले ही सेटिंग की आड़ में मामला रफा दफा होता है यह तो आने वाले समय पर ही सामने आ पायेगा, जब पुलिस डिपार्टमेंट के द्वारा ऐसी अफवाहें फैलाने वाले व इस तरह की धमकी देने वालो के विरुद्ध कड़ी कार्यवाई नही होगा तबतक इस तरह के ब्लैकमेल करने की आड़ में समाजसेवक का चोला पहन कर घूमने वाले लोगो में कमी नही होगी !
  • No Comment to " आत्मदहन के नाम पर समाजसेवा,या ब्लैकमेलिंग गोरखधंधा ? "