Browsing "Older Posts"

  • उल्हासनगर क्राइम ब्रांच की टीम ने धोबीघाट से दबोचा झारखंड के फरार हत्यारे को !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर क्राइम ब्रांच की टीम के द्वारा की गई बड़ी कार्यवाई ! 

     उल्हासनगर क्राइम ब्रांच की टीम ने धोबीघाट से दबोचा झारखंड के फरार हत्यारे को !

     डेढ़ वर्षो से फरार हत्यारा राजेन्द्र यादव अन्य दो हत्याओं के आरोप में भोग चुका था सजा ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर क्राइम ब्रांच टीम के सीनियर पीआय महेश तरडे ने डेढ़ वर्ष पूर्व झारखंड में हत्या की घटना को अंजाम देकर फरार हत्यारे को धोबीघाट के महारल परिसर से दबोचने में सफलता प्राप्त हुई है।ठाणे पुलिस आयुक्त विवेक फँसलकर के आदेश पर शुरू हुई धड़-पकड़ मुहिम से गुनहगारो में हड़कंप मच गया है।   पुलिस से मिली जानकारी के क्राइम ब्रांच के  सीनियर पीआय महेश तरडे को गुप्त सूचना मिली थी कि,झारखंड राज्य के जिला बरहट, ग्राम बरहट में 2018 में जमीनी विवाद को लेकर एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर डेढ़ वर्षो से फरार राजेन्द्र महावीर यादव धोबीघाट के महारल परिसर में आने वाला है,सूचना मिलते ही अप्पर पुलिस आयुक्त प्रवीण पवार,उपायुक्त दीपक देवराज व एसीपी किशन गवली को इस जानकारी से अवगत करवाते हुए हत्यारे को पकड़ने के लिए महेश तरडे व उनके मातहत अधिकारियों व कर्मचारियों ने जाल बिछाया।और जैसे ही संदेहास्पद राजेन्द्र यादव नजर आया वैसे ही पहले से घात लगाए पुलिस की टीम ने राजेन्द्र यादव को हिरासत में ले लिया। क्राइम ब्रांच की टीम को पूछताछ के दौरान राजेन्द्र यादव (46)ने बताया की 1999 में अपने गाँव के ही शिवकुमार साव नामक व्यक्ति की चाकू गोदकर हत्या कर दिया था,उसके बाद 2003 में शंकर माथुर नामक व्यक्ति को गाव के समीप स्थित नदी में डुबो-डुबोकर मौत के घाट उतार दिया था।इन दोनों मामलों में स्थानीय बरहट पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था,2010 में सजा पूरी होने के बाद वह बाहर आया था,सरफिरा राजेन्द्र यादव ने 2018 में अपने भाई महेंद्र यादव के साथ मिलकर गाव के समीप स्थित भूतवेस्वर नाथ मंदिर के पीछे नदी के किनारे ले जाकर जमीनी विवाद के चलते रामबाबू साव उर्फ साह नामक व्यक्ति की कट्टे से दो गोलियां बरसाकर निर्मम हत्या कर दिया था तब से ही राजेन्द्र यादव स्थानीय बरहट पुलिस की गिरफ्त से फरार था।चुनावी पार्श्वभूमी के दरम्यान ही क्राइम ब्रांच ने दो दिन पहले बाबू उर्फ आजाद सुरेश मशी तथा जगनाथ खंडागले जिन्हें झोन-4 से तड़ीपार किया गया है उन्हें गिरफ्तार किया था,अहम बात यह है कि बदलापुर रहिवाशी जगनाथ खंडागले बदलापुर पुलिस में दर्ज 376 का फरार आरोपी था।जिसे स्थानीय पुलिस को सौप दिया गया।परिमंडल-4 के पुलिस उपायुक्त व सहायक आयुक्त सहित क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा अपराधियो के खिलाफ शुरू की गई धड़-पकड़ मुहिम से अपराधियो में हड़कंप मच गया है।
  • उल्हासनगर शहर की मुख्य रोड़ के खड्डों को छोड़कर गली कूचे की रोड़ बनाने में जुटा ठेकेदार !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर शहर की मुख्य रोड़ के खड्डों को छोड़कर गली कूचे की रोड़ बनाने में जुटा ठेकेदार !

    मुख्य रोड के खड्डों व धूल से परेशान मुसाफिर !

    2 करोड़ रुपये के काम से पहले बन रही हो गली कूचे की रोड़ !

    उल्हासनगर- उल्हासनगर महानगरपालिका सड़कों की मरम्मत के लिए 2 करोड़ रुपए खर्च करेगी।लेकिन, महानगरपालिका के सार्वजनिक बांधकाम विभाग ने मुख्य ट्रैफिक रोड को छोड़कर रिंगरुट के सड़कों की मरम्मत का कार्य शुरू किया है, जिससे वाहनचालकों ने नाराजगी जताई है।

    उल्हासनगर महानगरपालिका क्षेत्र में बारिश के कारण डामर की सड़कें बह गई हैं। इन सड़कों की मरम्मत के लिए महानगरपालिका का सार्वजनिक बांधकाम विभाग 2 करोड़ रुपए खर्च करेगा। प्रत्येक विभाग के लिए चार सड़कों का चयन किया गया है। यह सूची महानगरपालिका के जूनियर इंजीनियरों द्वारा बनाई गई है। तदनुसार, पिछले सप्ताह बारिश रुकने के बाद डंबरीकरण का काम शुरू किया गया है। माहनगरपालिका ने म्हारल नाका से खेमनी तक सड़क को बना लिया है,अब वह वीटीसी ग्राउंड के रोड का कार्य करने जा रही है। हालाँकि, महानगरपालिका इसके कारण आलोचना से समृद्ध हो रही है क्योंकि यह चल रहा है। उल्हासनगर शहर के कैम्प 1, 2, 3 और कैम्प 4,5 को जोड़ने वाली दोनों सड़कों की हालत दयनीय है। श्रीराम चौक से हीराघाट और शाहू महाराज फ्लाईओवर दोनों शहर के केंद्र में हैं। इन सड़कों का उपयोग कैंप 4, 5, कल्याण ग्रामीण और विठ्ठलवाड़ी के आसपास के क्षेत्रों से केंद्रीय अस्पताल जाने के लिए किया जाता है। वर्तमान में, सड़कें बहुत दयनीय अवस्था मे हैं, सड़कों से भारी धूल उड़ती है, जिस कारण ड्राइवरों को अपनी आँखें बंद करके सर्कस करना पड़ता है। विशेष रूप से, 141 विधानसभा क्षेत्रों के चुनाव निर्णय अधिकारी के कार्यालय श्रीराम चौक से हीराघाट की सड़क पर स्थित हैं । कार्यालय में इस सप्ताह मतदान के फॉर्म भरने के लिए विभिन्न पार्टीयों जुलूस निकाला जाएगा करेगा। इस बीच, गड्ढों और धूल से चालक की परेशानी बढ़ जाएगी। जब यह मामला मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख के संज्ञान में लाया गया, तो उन्होंने सार्वजनिक बांधकाम विभाग के इंजीनियरों के काम पर नाराजगी जताई।

     टिप्पणियाँ: महानगरपालिका के इंजीनियर बड़े नेताओं के हाथों में हैं। ट्रैफिक वाली सड़कों को छोड़कर कम ट्रैफिक वाली सड़कों पर फंड लूटाना गलत है। यदि ये इंजीनियर इन ट्रैफिक रोड पर एक घंटे तक खड़े रहते हैं, तो वे मरम्मत की आवश्यकता को समझेंगे। - गजानन नागर, 

    रिक्शा संचालक हमारी दुकान हीराघाट में स्थित है। 
    खराब सड़कों से भारी यातायात गुजरता रहता है। इससे दुकान में पत्थर उड़ा और दुकान का कांच चकनाचूर हो गया। धूल दुकान में आती है, इसलिए चेहरे पर रूमाल बांधना आवश्यक है। - हरीश मुलानी, दुकानदार
  • उल्हासनगर का महान भ्रष्टाचारी एसडीओ गिरासे की हुई हकालपट्टी ! नए एसडीओ बने पांडुरंग मगदुम !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर का महान भ्रष्टाचारी एसडीओ गिरासे की हुई हकालपट्टी ! 

    उल्हासनगर नए एसडीओ बने पांडुरंग मगदुम ! 

    शासकीय भूखंडों की सनद देनो को लेकर हमेशा से सुर्खियों रहा यह भ्रष्टाचारी अधिकारी ! 

    बदली से शहरवासियों ने जताई खुशी,भ्र्ष्टाचारी के चाहने वाले खेमे दिखी मायूसी ! 

    वसंत शाह दरबार व पुलिस क्वाटर्स की जगह के सनद देने व वापस लेने पर बना था मजाक ? 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर के हमेशा से विवादो में रहने वाले एसडीओ जगत सिंह का आखिरकार बदली हो गई है और उनकी जगह पर नए पांडुरंग मंगदुम ने चार्ज ले लिया है ! इस चार्ज लेने पर जहाँ शहरवासियों खुशी देखने को मिल रहा है वही उस भ्रष्टाचारी गिरासे को चाहने वालो खेमे मायूसी छाई हुई है !
    बता दे कि उल्हासनगर कैम्प ४ में, एनसीटी स्कूल के सामने विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन के सामने दो पुरानी पुलिस कॉलोनियाँ हैं। NCT स्कूल के सामने, बैरक १२५७ में रहने वाले १४ पुलिस कांस्टेबल के १४ परिवार थे। हालांकि, महाराष्ट्र सरकार के लोक निर्माण विभाग ने खतरे के कारण दो साल पहले इस कॉलोनी को खाली करा दिया था। यहां कॉलोनी के फिर से निर्माण की अनुमति के लिए, परिमंडल ४ के पुलिस अधिकारियों ने वित्तीय स्वीकृति के लिए रिपोर्ट सरकार को भेज दी है। पंद्रह दिन पहले, विट्ठलवाड़ी पुलिस ने इन स्थान पर पुलिस प्रशासन का एक बोर्ड लगा दिया था। हालांकि, एक अधिकारी ने कहा कि बिल्डर द्वारा अदालत का आदेश दिखाने के बाद पुलिस ने बोर्ड ले निकाल लिया था। इस भूखंड पर १४ पुलिस कॉलोनी के कमरों में, कुछ निजी लोग पिछले सप्ताह इस क्षेत्र में प्रवेश कर गए। वे कमरों के दरवाजे, खिड़कियां, पत्रा निकालकर उन्हें बेच दिए। लोगों को लगा कि नई कॉलोनी का निर्माण शुरू हो गया है। जब विपक्षी नेता धनंजय बोडारे को यह बात समझ में आई, तो उन्होंने सहायक पुलिस आयुक्त धुला टेले, विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रमेश भामे के साथ पुलिस कॉलोनी में जाकर काम को रोक दिया। जब सहायक पुलिस आयुक्त धुला टेले से इस बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि इस १२५७ नं. बैरक में हमारी पुलिस कालोनी हैं, लेकिन हमने खतरे के कारण उन कालोनियों को खाली कराया य है। जब हमने देखा कि इन कॉलोनियों में बाहरी लोगों का अतिक्रमण हो गया है, तो हमने तुरंत विपक्षी नेता धनंजय बोडारे के साथ जाकर श्रमिकों को पुलिस कॉलोनी से बाहर निकाल दिया। उसके बाद, लोक निर्माण विभाग द्वारा दिखाए गए व्यय रिकॉर्ड अब तक प्रत्यक्ष प्रांतीय कार्यालय तक पहुंच चुके हैं। निजी व्यक्ति को दिए गए चार्टर को रद्द करने के बारे में प्रांत के अधिकारियों के साथ पत्राचार भी किए गए है। किस आधार पर दिए जा रहे हैं सनद   शांति प्रकाश आश्रम के लिए पुलिस का एक बड़ा भूखंड आरक्षित है। इस भूमि पर फिलहाल भोईर परिवार का स्वामित्व है। इसलिए, भोईर परिवार, अन्य स्थानों पर,अदालत से आदेश से जमीन पर प्रान्त कार्यालय से सनद चढ़ा रहे हैं। पिछले हफ्ते, भोईर परिवारों ने सतनाम सखी के प्लॉट पर, शांति प्रकाश आश्रम के पास निर्माण व्यवसायी की मदद से एक परिसर बनाया। २००७ में, प्रांत कार्यालय ने इस भूखंड के अनधिकृत निर्माण के लिए राजपाल से 10 लाख रुपये का राजस्व वसूला था। इसके बाद भी भोईर परिवार को स्वामित्व देने के बाद यह मामला विवादास्पदहो गया है। इस बैरक १२५७ में पुलिस कॉलोनी थी,जिसमें पुलिस के परिवार रहते थे। पड़ोस के बैरक निवासी अजय कारभारी ने बताया कि इन पुलिस कॉलोनियों में कांस्टेबल, मुलिक, राणे और परदेशी रहते थे। खाली भूखंडों पर है भूमाफियाओं की नजर श्रीराम चौक से विठ्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन यातायात का मुख्य मार्ग है। यह इस सड़क पर पुलिस कॉलोनी की संपत्ति है। हालांकि, इस स्थान का सनद देने से पहले प्रान्त अधिकारी जगत सिंह गिरासे और उनके सहयोगियों ने यह जांच नहीं की कि इस जगह का मूल रूप से क्या उपयोग हो रहा है। हालांकि महाराष्ट्र की संपत्ति इस जगह की संपत्ति शीट पर लिखी गई है, यह स्थान गृह मंत्रालय के तहत राज्य सरकार के नियंत्रण में है,ऐसा होने पर भी इस जगह का सनद निजी हाथों में देने के मामले में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के सीधे आरोप लग चुके थे। वही इस भ्र्ष्टाचारी एसडीओ की गिरासे की बदली से उसके चमचों व नेताओ की मंडली में मायूसी देखने को मिल रहा है, सूत्रों की माने तो इस बदली पीछे का मूल कारण उनका राजनीतिक प्रेम रहा है क्योंकि किसी एक ब्यक्ति को फायदा पहुचाने के लिए काम करने का आरोप लग रहा था, आखिरकार बदली हो चुकी है और नए उल्हासनगर के एसडीओ पांडुरंग मंगदुम ने चार्ज ले लिया है चुनाव बाद उल्हासनगर में हुए गिरासे के कारनामो का जिन्न भी बाहर आने की संभावनाएं बढ़ गई है !
  • उल्हासनगर विवादित यस,डी,ओ,जगत सिंह पर चला ठाणे कलेक्ट का चाबुक !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर विवादित यस,डी,ओ,जगत सिंह पर चला ठाणे कलेक्ट का चाबुक ! 

     उल्हासनगर में एक जमीन के मामले हाई कोर्ट के आदेश पर जागा प्रशासन ! 

     नियम कानून को ताखपर रखकर मनमानी कारभार करने का मामला आया सामने ! 

    इस पूरे मामले पर एडोकेट प्रकाश कुकरेजा ने क्या कहा सुनिए उनकी जुबानी !

     क्या पूरा मामला देखिए पूरा वीडियो,,,,,,,,,,

  • कालानी के गढ़ पर भाजपा पार्टी का लहराएगा परचम ? आरपीआई के उम्मीदवार ने भरा नामांकन !

    By fast headline india →
    कालानी के गढ़ पर भाजपा पार्टी का लहराएगा परचम ?

     पांच साल में बदले राजनीतिक समीकरण ! 

     कालानी की पुत्र वधु पंचम कालानी ने भी भाजपा से मांगा है टिकट ! 

     उल्हासनगर विधानसभा से पहला नामांकन भरा आरपीआई पार्टी से भालेराव !

     इस सीट पर शिवसेना-भाजपा की दावेदारी को लेकर शुरू है खींचतान ! 

     भालेराव के नामांकन से उल्हासनगर की राजनीति आया नया मोड़ !

     उल्हासनगर- उल्हासनगर विधानसभा क्षेत्र कल्याण संसदीय क्षेत्र का हिस्सा है. इस शहर की पहचान एक औधोगिक नगरी के रूप में की जाती है साथ ही महाराष्ट्र में यह एक ऐसी विधानसभा सीट है जहां सबसे अधिक सिंधी समुदाय रहता है व सिंधी मतदाता है. पहले मनपा क्षेत्र के अधीन आने वाला एक से पांच नंबर का कैम्प इस सीट में शामिल था लेकिन वर्ष 2009 में हुए परिसीमन में इस सीट से कैम्प क्रमांक 4 व 5 को पूर्ण रूप से हटा दिया गया तथा उल्हासनगर विधानसभा में अब कैम्प नंबर 1, 2 व 3 एवं इसके पास के ही तीन गांव क्रमशः महारल, वरप व कांभा को शामिल किया गया. हमेशा ही सिंधी भाषी बहुल रही यह सीट परिसीमन के बाद भी सिंधी समाज के उम्मीदवार के लिए अनुकूल है, अब तक सभी विधायक सिंधी समाज के ही बने है. उल्हासनगर विधानसभा में सिंधी मतदाताओं के अलावा उत्तरभारतीय, मराठी, दलित व अल्पसंख्यक मतदाता है, शिवसेना-भाजपा जिस सीट को लेकर दावेदारी की खींचतान शुरू है उसी सीट पर आरपीआई के उम्मीदवार ने अपना नामांकन भर कर राजनीति को नया मोड़ दे दिया है !
    गौरतलब हो कि इस क्षेत्र का इतिहास उल्हासनगर विधानसभा पर सबसे ज्यादा कालानी परिवार का वर्चस्व रहा है, निरंतर 3 बार विधायक का चुनाव जीतने वाले सुरेश उर्फ पप्पू कालानी 2009 में भाजपा के कुमार आयलानी से चुनाव हार गए थें. तब भाजपा के कुमार आयलानी को जॉइंट किल्लर कहा जाने लगा था लेकिन पिछले 2014 के चुनाव में भाजपा अर्थात नरेंद्र मोदी की जबरदस्त लहर होने के बावजूद आयलानी अपनी सीट गवां बैठे आयलानी को पप्पु कालानी की पत्नी ज्योति कालानी ने हराया व एक बार फिर शहर में अपनी यानि कालानी परिवार की राजनीतिक ताकत का प्रदर्शन किया. पिछला विधानसभा चुनाव सभी दलों ने स्वतंत्र रूप से लड़ा था. इसमें राकां की ज्योति पप्पू कालानी को 43 हजार 760 वोट मिले थें तथा भाजपा के कुमार आयलानी को 41 हजार 897 वोट प्राप्त हुए थें शिवसेना के धनंजय बोडारे 23 हजार 868 वोट लेकर तीसरे स्थान पर रहें थें.
    इच्छुक उम्मीदवार
    विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है, वर्तमान विधायक ज्योति कालानी ने अभी तक सार्वजनिक रूप से कोई एलान नहीं किया है कि वह किस दल से लड़ेगी, वैसे उनकी बहू जो उल्हासनगर मनपा की महापौर है उन्होंने व उनके पुत्र ओमी कालानी ने भाजपा से उम्मीदवारी मांगी है, वही भाजपा के जिलाध्यक्ष कुमार आयलानी भी भाजपा के प्रबल दावेदार है मनपा के उप महापौर व साईं पार्टी के मुखिया जीवन इदनानी, भाजपा के वरिष्ठ नगरसेवक महेश सुखरमानी, मनपा के सभागृह नेता शेरी लुंड भी भाजपा का टिकट पाने की कतार में है. राकां - कांग्रेस गठबंधन से भरत गंगोत्री जा नाम सामने आ रहा है तथा आरपीआई (ए) से भगवान भालेराव, मनसे से बंडू देशमुख का नाम लिया जा रहा है. वैसे आरपीआई के भगवान भालेराव के समर्थक पिछले दो महीने से उन्हें भावी विधायक के रूप में बैनरों के माध्यम से प्रोजेक्ट कर रहें है. एएमआईएम, बहुजन वंचित आघाडी के अलावा कई निर्दलीय भी चुनावी समर में उतरने की तैयारी में लगे है. 2014 में हुए विधानसभा चुनाव की तुलना में इस बार भाजपा का टिकट पाने की दौड़ में अधिक लोग है.
     उल्हासनगर विधानसभा सीट
     कुल वोटर 2 लाख 32 हजार 771 पुरुष मतदाता 1 लाख 78 हजार 39 महिला मतदाता 1 लाख 4 हजार 898 अन्य 33 विधानसभा क्षेत्र की जनसंख्या 3 लाख 79 हजार 43 पुरुष 2 लाख 4 हजार 943 महिला 1 लाख 74 हजार 119 
  • उल्हासनगर रांकपा की नई अध्यक्ष बनी हरकिरन कौर !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर रांकपा की नई अध्यक्ष बनी हरकिरन कौर ! 

    रांकपा पार्टी को नई बुलंदियों पर पहुचाना ही है मेरा मकसद !  
     ज्योति कालानी ने राकांपा को कहा अलविदा, तुरन्त नए अध्यक्ष की हुई घोषणा !

     उल्हासनगर विधानसभा की सीट को लेकर सह और मात का खेल हुआ शुरू !  

    कालानी और आयलानी के बीच की भाजपा पार्टी से टिकट को लेकर शुरू है रस्सीकसी ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर विधानसभा 141 से दो बार राकांपा से विधायिका रह चुकी ज्योति कालानी ने राकांपा सदस्य व उल्हासनगर शहर अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर शहर के चर्चाओ पर विराम लगा दिया.ज्योति कालानी ने प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल को पत्र देते हुए पारिवारिक वैयक्तिक मामलो के कारण इस्तीफा देने का जिक्र किया है, वही शाम सात बजे रांकपा के गटनेता व नगरसेवक भरत गंगोत्री के कार्यालय में पत्रकार परिषद लेकर उल्हासनगर शहर के नए अध्यक्ष हरकिरन गौर के नाम की घोषणा ठाणे जिल्हा रांकपा निरीक्षक सुधाकर बड़े समेत तमाम पदाधिकारियों की मौजूदगी में किया गया है ! गौरतलब हो की भाजपा के विधानसभा टिकट पाने के लिए कलानी और आयलानी दोनों तरफ से अफवाहों का बाजार काफी महीनों से गर्म था बताया जा रहा था क़ि ज्योति कलानी एनसीपी छोड़कर भाजपा में प्रवेश करेंगी ,27 सितम्बर को विधायिका ज्योति कालानी के इस्तीफे से शहर में चर्चाओ बाजार फिर गर्म हो गया है क़ि कही ज्योति कालानी भाजपा में प्रवेश कर तो नही रही है।   उल्हासनगर का विधायक कौन होगा और इस रस्सीकसी में अब ज्योति के किस पक्ष में प्रवेश करेगी, उसका पलड़ा भारी होगा.ज्योति के इस्तीफे से अब क्या रणनीति सामने आएगी से आयलानी समूह में चिंता का माहौल है।  बता दे कि २००८ में, एनसीपी की ज्योति कलानी ने बीजेपी के कुमार आयलानी को सिर्फ १८०० वोटों से हराया था। हालांकि, कुमार आयलानी २००९ में पप्पू कलानी को हराया था, उसके बाद लगातार दो बार से उल्हासनगर में विधयिका के तौर पर ज्योति कालानी विराजमान हैं. पिछले कई महीनों से भाजपा में प्रवेश को लेकर अटकलें लगाई जा रही थी.ज्योति कलानी की बहू शहर की भाजपा पक्ष से महापौर पंचम कालानी है ,और विधायक पद की रेस में भी है फिलहाल ज्योति कालानी ने इस्तीफा देकर सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है और  ज्योति कलानी भी बीजेपी में प्रवेश करती दिख रही है।  विधायक ज्योति कलानी को भाजपा में लाने और ओमी कलानी के बदले में भाजपा का विधानसभा टिकट पाने के लिए कलानी गठबंधन की ओर से प्रयास कितना सफल होता है अब आने वाले दो दिनों में साफ हो जाएगा। इस सारे विषय पर रांकपा गटनेता भरत गंगोत्री ने कहा कि सही मायने पार्टी एक बंधन से मुक्त हुआ है जल्द ही रांकपा कि नई टीम पार्टी की नई बुलंदियों तक ले जाएगी और इसका परिणाम इसी विधानसभा चुनाव से दिखाई देगा !
  • उल्हासनगर की रांकपा विधायक व अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर की रांकपा विधायक व अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा ! 

    रांकपा की पूरी बॉडी जल्द देगी अपना इस्तीफा -कालानी 

    भाजपा टिकट की बहू की दावेदारी पर क्या होगा इसका असर ? 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर की रांकपा विधायक व अध्यक्ष ज्योति कालानी ने आज राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सभी पदों से पार्टी से इस्तीफा दे दिया है ! इसके लिए लिखित पत्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार को मेल करक दिया है !
    उल्हासनगर शहर की रांकपा अध्यक्ष व विधायक ज्योति पप्पू कालानी व कालानी परिवार पिछले 15 सालों से रांकपा पार्टी को उल्हासनगर शहर में बहुत आगे तक ले जाने का काम किया है,आखिरकार वह रिश्ता आज खत्म हुआ जब ज्योति कालानी ने अपने सभी पदों से पार्टी को राजीनामा दे दिया है, कालानी बताया कि जल्द ही उल्हासनगर शहर की रांकपा की पूरी बॉडी के पैनल के लोग सार्वजनिक रूप से इस्तीफा देगे ऐसा कहा है, इस इस्तीफे से भाजपा से टिकट की दावेदारी कर रही पंचम कालानी को कितना मिलता है यह तो आने वाले समय मे सामने आएगा बहरहाल इस खबर के आने से राजनीतिक खेमे में सरगर्मियां बढ़ गई है !
  • उल्हासनगर विधानसभा से 80 हजार वोटरों के नाम हुए गायब ?

    By fast headline india →
    उल्हासनगर विधानसभा से 80 हजार वोटरों के नाम हुए गायब ? 

    मतदाताओ की कुल संख्या 2 लाख 32 हजार 873 हुई ! 

    70 प्रतिशत सिंधी समाज के वोट हुए कम !

     गैर सिंधी विधायक चुनकर जा सकता महाराष्ट्र सदन में ?
     फाईल फोटो

     उल्हासनगर-उल्हासनगर विधानसभा चुनाव के पहले जारी हुई मतदाताओं की यादि से बड़ी संख्या लोगो के नाम गायब है,लोकसभा चुनाव 2019 में 6 महिने पहले चुनाव आयोग द्वारा उल्हासनगर के करीबन 86,000 मतदाताओं के नाम काटे गये थे, जिनमे मृतक मतदार और दूसरी जगह गए वोटर के नाम थे, 86,000 में उल्हासनगर 141 मतदार क्षेत्र के ही 52,000 नाम काटे गये थे,इनमे उन लोगों के भी नाम थे जिन्होंने तहसीलदार कार्यालय द्वारा बारबार विनंती करने के बावजूद भी मतदाताओं ने वोटर आई डी कार्ड के लिये अपने फोटोग्राफ जमा नही करवाये थे,
    गौरतलब हो कि चुनाव आयोग द्वारा 141 विधानसभा क्षेत्र के 50141 मतदाताओ के नाम आनेवाले चुनाव के लिए मतदार यादी से कम किये जायेंगे, ऐसी सुचना भी अखबार में प्रकाशित की गई थी, चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव 2019 के पहले किये सर्वे के अनुसार इन 50141 मतदारों में से 47127 दूसरी जगह जा चुके लोग है, जब कि 1710 मतदाता की मौत हो चुकी है, 1204 डबल वोटर थे , ऐसा करके 50141 मतदाताओं के नाम आगामी मतदाता सूची में से निकाल दिए जाएंगे ऐसी जानकारी दी गयी थी, बता दे कि उल्हासनगर 141 विधानसभा चुनाव 2014 में कुल 3 लाख 10 हज़ार वोटर थे, वहीं 2019 में वोटरों की संख्या 80 हजार घटकर सिर्फ 2 लाख 32 हज़ार 873 रह गयी है, जो निश्चित ही चिंताजनक बात है, 5 साल में नए नाम जोड़ने के बावजुद भी 80 हज़ार वोटरो के नाम कट जाना, इन मतदाताओं में 70 प्रतिशत सिंधी समाज के वोट कटे है यह एक बड़ी चिंता जनक बात है, जब 6 महीने पहले हुए कल्याण लोकसभा चुनाव 2019 में सांसद डॉ श्रीकांत शिंदे को 72,953 वोट मिलना, वंचित बहुजन आघाडी के बाहरी उम्मीदवार संजय हेडाऊ को 12,434 वोट मिलना, निःसंदेह इससे ये पता चलता है कि, उल्हासनगर 141 मतदार क्षेत्र में सिंधी वोटर कम हुए और मराठी या गैरसिंधी वोटरों की संख्या बढ़ी जो वर्तमान की विधानसभा 2019 की चुनावी परिस्थितियों में गणित बनाने और बिगाड़ने के लिए पर्याप्त है। इस बनते बिगड़ते समीकरण से लगता है आने वाले समय में उल्हासनगर विधानसभा से गैर सिंधी विधायक महाराष्ट्र सदन में जा सकता है ऐसा कहना गलत नही होगा !
  • डोम्बिवली शहर की नामचीन दुकान से 17 लाख कीमत के मोबाईल की हुई चोरी !

    By fast headline india →
     डोम्बिवली शहर की नामचीन दुकान से 17 लाख कीमत के मोबाईल की हुई चोरी ! 

    चोरों की पूरी करतूत दुकान में लगे सीसीटीवी में हुई कैद ! 

    दुकान के मालिक की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात चोरों पर दर्ज किया एफआईआर ! 

    सीसीटीवी फूटेज के जरिये चोरों की तलाश में जुटी पुलिस ! 

    डोम्बिवली-कल्याण शहर के डोम्बिवली इलाके से एक बड़ी घटना सामने आई है एक फेमस मोबाईल की दुकान से चोरो ने बड़ी सेंधमारी करके लाखो रुपयों की कीमत के मोबाईल फोन चुराकर ले गए है वही इस घटना से डोम्बिवली की शहर के दुकानदारों में भय का वातावरण निर्माण हो गया है ! 
    गौरतलब हो कि बीती रात डोम्बिवली में मोबाईल शॉप में कुछ अज्ञात चोरों ने रात में बंद दुकान का ताला तोड़कर मोबाईल और कैश लेकर फरार हो गए है जो कुल मिलाकर करीब 17 लाख रुपये पर हाथ साफ किया है, इस चोरी की पूरी घटना दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद है विष्णुनगर पुलिस उसी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पूरे मामले की जांच कर रही है, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार डोम्बिवली पश्चिम के दीनदयाल रोड़ स्थित स्वस्तिक टेलीकॉम नामक मोबाईल शॉप के मालिक रोज़ाना की तरह रात साढ़े नव बजे के लगभग अपनी दुकान बंद करके घर चले गए। उसी आधी रात को कुछ अज्ञात चोरो के द्वारा बंद दुकान का ताला तोड़कर अंदर घुसते है और दुकान में रखे विविध कंपनियों के 127  मोबाईल फोन, और ड्रावर में रखे 30 हज़ार रूपये नगद पर हाथ साफ करते हुए कुल 17 लाख 29 हज़ार 942 रुपये कीमती सामान को चुराकर अपने साथ लेकर चंपत हो गए। इस मामले की सारी वारदात दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में क़ैद हो गई है। वही इस पूरे घटना के मामले की जांच स्थानीय पुलिस के द्वारा किया जा रहा है, दुकान के मालिक की शिकायत पर विष्णुनगर पुलिस ने अज्ञात चोर के खिलाफ मामला दर्ज किया है और दुकान में लगी सीसीटीवी फुटेज भी साथ मे लेकर गई उसी फुटेज के जरिये पुलिस सभी चोरों की तलाश में जुटी हुई है !
  • स्मगलिंग की गई विदेशी सिगरेट को बेचने वाले एम पी पान व जे पी पान सेंटर पुलिस का छापा !

    By fast headline india →
    स्मगलिंग की गई विदेशी सिगरेट को बेचने वाले एम पी पान व जे पी पान सेंटर पुलिस का छापा ! 

    दुकान के मालिकों पर दर्ज हुआ एफआईआर ! 

    दोनो दुकानों के मालिक फरार, दुकानों बिंदास तरीके से है चालू !  

     उल्हासनगर -उल्हासनगर में अवैध तरीके से लाये गए विदेशी सिगरेट बेचने वाले शहर की दो नामचीन पान की दुकानों पर पुलिस ने रात में कार्यवाई करके मामला दर्ज किया है .   
    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार  उल्हासनगर - कैम्प तीन के सेंट्रल अस्पताल के गेट के पास की रोड़ पर की एम पी पान सेंटर व जे पी पान सेंटर में विदेशी सिगरेट बेचा जा रहा है और इन सिगरेट के पाकिट पर शासन के दिये गए दिशा निर्देश व वैधानिक चित्र नही होने की शिकायत सेंट्रल पुलिस स्टेशन को मिला था, पुलिस ने इस मामले को गभीरता से लेते हुए रात में दोनो दुकानों पर कार्यवाई करते हुए विदेशी सिगरेट को बड़े पैमाने पर जप्त किया है . पुलिस ने इस मामले में पान की दुकान के मालिक कय्युम शेख और छोटू यादव के विरुद्ध मामला दर्ज किया है . इस मामले में अभी दोनो आरोपी फरार है पुलिस दोनों आरोपियों की तलाश में जुटी है .इस मामले की आगे की उपनिरीक्षक वाजे के द्वारा किया जा रहा है. वही दोनो दुकानो का कारोबार अभी भी धड़ल्ले से जारी है, नोकरो के द्वारा दुकानें चलाई जा रही है ऐसे में मालिक फरार है तो दुकानें कैसे चल रही है यह एक बड़ा सवाल भी है !
  • भाजपा नेता को झूठे मामले में फंसाने के बाप,बेटे के षणयंत्र का हुआ पर्दाफाश !

    By fast headline india →
     भाजपा नेता को झूठे मामले में फंसाने के बाप,बेटे के षणयंत्र का हुआ पर्दाफाश ! 

    यह बाप बेटे पीछे से गोल्ड स्मगलिंग का करते है धंधा !

     गोल्ड स्मगलिंग में कई बार पकड़े गए है यह बाप बेटे ! 

    पुलिस इस मामले की जांच गंभीरता से करने पर हो सकता कई और चौकाने वाला खुलासा ? 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर के भाजपा नेता राजा गेमनानी को झूठे मामले में फंसाने के बाप बेटे की करतूत का सीसीटीवी फुटेज के जरिये पर्दाफाश हुआ, यह बाप बेटे गोल्ड स्मगलिंग के मामले में देश के कुछ इलाकों में पकड़े जा चुके है इनका मेन धंधा पीछे से सोना स्मगलिंग करने का है, 
    स्थानीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लालचंद आहुजा व बेटे गुड्डू आहूजा एक पीछे से गोल्ड स्मगलिंग करने का कई सालों से धंधा करते है इन दोनों को स्मगलिंग के केश में पकड़े भी जा चुके है,स्थानीय लोगो ने बताया कि ये बाप बेटे की इस तरह की कई बार मारपीट हुआ है हर बार कोई न कोई जख्मी होता है,इस बार भी इनका आपस में किसी बात को लेकर झगड़ा होता है और बाद में इस झगड़े का शिकार देखने वाले बनते है इस बार बाप बेटे जब घायल हुए तो उन्होंने एक सोची समझी रणनीति के तहत भाजपा नेता राजा गेमनानी को फंसाने का षणयंत्र रच डाला इस भांडा फूटा गेमनानी के बंगले में लगे सीसीटीवी फुटेज से हुआ है, इस सच के बाद पुलिस ने बाप बेटे पर IPC 452.323.504 के तहत मामला दर्ज किया है, पुलिस अगर इस मामले को गंभीरता से जांच करेंगे तो इस षणयंत्र में और कोई भी शामिल था क्या वह भी सच्चाई सामने आ जायेगी ! देखिए सीसीटीवी फुटेज की सच्चाई वीडियो के द्वारा बाप बेटों की करतूतों समझ में आ जायेगी,,,,,,,,,,,,
  • पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक पर RBI का एक्शन, 1000 से अधिक पैसा नहीं निकाल पाएंगे खाताधारक !

    By fast headline india →
    पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक पर RBI का एक्शन, 1000 से अधिक पैसा नहीं निकाल पाएंगे खाताधारक ! 

    उल्हासनगर ब्रान्च पर खाताधारकों की भीड़ हुई जमा ! 

    स्थानीय पुलिस की मददत से भीड़ को समझाने में जुटे बैंक कर्मचारी ! 

    महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक पर कई तरह की लगाई गई पाबंदियां ! 

    उल्हासनगर -उल्हासनगर पीएमसी बैंक के ब्रांच ऑफिसर के बाहर खाताधारकों की बड़ी भीड़ जमा हो गई थी,हगामा बढ़ते देख बैंक ने अपनी सुरक्षा के लिए पुलिस बुला ली थी जिसके चलते कोई बड़ी घटना नही हुआ ! यह समस्या रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक पर अलग-अलग तरह की कई पाबंदियां लगा दी है. इससे बैंक के ग्राहकों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. PMC बैंक पर RBI का एक्शन, 1000 से अधिक पैसा नहीं निकाल पाएंगे खाताधारक अगर आप पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक के ग्राहक हैं तो अगले 6 महीने तक आपको परेशानी हो सकती है. 
    दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (पीएमसी) बैंक पर कई तरह की पाबंदियां लगा दी है. इसके तहत बैंक में कोई नया फिक्‍सड डिपॉजिट अकाउंट नहीं खुल सकेगा. इसके अलावा बैंक के नए लोन जारी करने पर भी पाबंदी लगा दी गई है. यही नहीं, बैंक के ग्राहक अगले 6 महीने तक 1000 रुपये से अधिक पैसा नहीं निकाल सकेंगे. आरबीआई के इस फैसले के बाद पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक के ग्राहकों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. वहीं बैंक के अलग-अलग ब्रांच से ग्राहकों के हंगामे की खबरें भी आने लगी हैं.वहीं सोशल मीडिया पर हंगामे के वीडियो भी शेयर किए जा रहे हैं. केंद्रीय बैंक के मुख्य महाप्रबंधक योगेश दयाल ने कहा कि आरबीआई निर्देशों के अनुसार, जमाकर्ता बैंक में अपने सेविंग, करंट या अन्य किसी खाते में से 1,000 रुपये से ज्यादा रुपये नहीं निकाल सकते हैं. पीएमसी बैंक पर आरबीआई की अग्रिम मंजूरी के बिना लोन और अग्रिम धनराशि देने या रीन्यू करने, किसी भी प्रकार का निवेश करने, फ्रेश डिपोजिट स्वीकार करने आदि से रोक लगा दी है. इस पूरे मामले पर पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक के एमडी जॉय थॉमस का बयान भी आ गया है. थॉमस ने कहा, '' हमें आरबीआई के नियमों के उल्‍लंघन का खेद है. इस वजह से 6 महीने तक हमारे ग्राहकों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. बतौर एमडी मैं इसकी जिम्‍मेदारी लेता हूं. इसके साथ ही सभी जमाकर्ताओं को यह सुनिश्चित करता हूं कि 6 महीने से पहले हम अपनी कमियों को सुधार लेंगे. '' जॉय थॉमस ने आगे कहा कि अनियमितताओं को सुधार कर प्रतिबंधों को हटाने के लिए सभी प्रयास किए जाएंगे. मुझे पता है कि यह आप सभी के लिए एक मुश्किल समय है. मुझे यह भी पता है कि कोई भी माफी इस दर्द को खत्‍म नहीं कर सकता है. आप सभी है अपील है कि कृपया हमारे साथ रहें और सहयोग करें. हम विश्वास दिलाते हैं कि हम निश्चित रूप से इस स्थिति से उबरेंगे और मजबूत होंगे.
  • महक बिल्डिंग के रहीवासियों का अनशन 24 दिनों बाद राज्य मंत्री चौहाण के आश्वासन पर हुआ खत्म !

    By fast headline india →
    महक बिल्डिंग के रहीवासियों का अनशन 24 दिनों बाद राज्य मंत्री चौहाण के आश्वासन पर हुआ खत्म !

     अनशन पर बैठे लोगों को पानी पिलाकर कराया खत्म ! 

    40 दिन पहले गिरी थी यह महक बिल्डिंग !


     उल्हासनगर- उल्हासनगर कैम्प दो की महक अपार्टमेंट 13 अगस्त के दिन गिर गयी, जिसे आज 40 दिन पुरे हुए, सिंधी समाज मे 40 दिन का विशेष महत्व माना जाता है, महक अपार्टमेंट और अन्य धोकादायक इमारतों के रहिवासियों द्वारा न्याय अधिकार के लिए 30 अगस्त से शुरू हुआ धरना अनशन आज राज्य मंत्री रविन्द्र चव्हाण की मध्यस्थता से समाप्त हुआ !
    बता दे कि एसवीएस कोअर कमिटी के अध्यक्ष साई हीरानंद जी, सचिव राम वाधवा और अन्य सदस्यों की मध्यस्थता द्वारा युवा समाजसेवी दीपेश हसीजा के माध्यम से राज्यमंत्री रविन्द्र चव्हाण से संपर्क किया गया और उन्हें जानकारी दी गयी, जिसके बाद उन्होंने सोमवार चार बजे अनशन समापन के लिए उल्हासनगर विधायक ज्योती कालानी , उमपा स्थाई समिती सभापती, राजेश वधारिया उमपा नगरसेवकों और सामाजिक संगठनों व भारी संख्या में पत्रकार बन्धु उपस्थित में यह अनशन खत्म हुआ, 24 दिनों बाद आज 23 सितम्बर को महक अपार्टमेंट और अन्य धोकादायक इमारत के रहिवासियों ने अपना अनशन समाप्त किया। क्या कहा अनशन बैठे लोगों ने सुनते ही उन्ही की जुबानी,,,,,,,,,,,,,,,
  • उल्हासनगर भाजपा नेता के गुंडा राज पर अहूजा के बेटे ने क्या लगाया आरोप !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर भाजपा नेता के गुंडा राज पर अहूजा के बेटे ने क्या लगाया आरोप !

     अम्बरनाथ एसीपी ने इस मामले पर क्या दिए बयान ! 

     दो दिन पहले हुए मामले पुलिस ने कार्यवाई शुरू किया ! 

     सूत्रों की माने तो गिरफ्तारी से बचने के लिए नेता ने कोर्ट से कल ही ले लिया था अग्रिम जमान ?  

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में भाजपा के एक पदाधिकारी और उनके सहयोगियों के द्वारा अपने घर के सामने रहने वाले पड़ोसी की पिटाई करने के मामले में हिलाइन पुलिस ने मामला दर्ज किया है इस मामले लाल अहूजा के बेटे गिरीश ने भी लगाया है गंभीर आरोप ! 
    गौरतलब हो कि पुलिस के मुताबिक,मिली जानकारी के अनुसार कैंप नंबर ५ इलाके में रहने वाले लाल आहूजा के घर के सामने शुक्रवार की शाम में पेशाब कर रहे थे उसी को रोका तो वो दोनो लोग गाली गलौज कर रहे थे, लाल आहूजा ने इसका विरोध करते हुए भाजपा पदाधिकारी राजा गेमानी के कार्यालय में गए और पूरी बात बताई, तबसे वे दोनों व्यक्ति राजा गेमानी के कार्यालय में आए और उन्होंने आहूजा को बांबू और लोहे के सरिए से पीटने लगे। इसके अलावा, जब आहूजा का बेटा गिरीश उसे बचाने आया, तो उसके हाथ पर डंडे से प्रहार किया गया और उसे भी चोट लगी। राजा गेमनानी यह सब देखते रहे और उन दोनों को लाल आहुजा को मारने के लिए उकसाया। राजा गेमनानी ने अपने क्रिकेट स्टंप से इनकी पिटाई की। लाल आहूजा ने हिललाइन पुलिस स्टेशन में राजा गेमनानी और अन्य के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस मामले की आगे की जांच कर रही है। इस विषय पर अम्बरनाथ के एसीपी व आहूजा ने क्या कहा सुनिए उनकी जुबानी,,,,,,,
  • उमपा आयुक्त के आदेश का पालन नही करने पर महिला अधिकारी हुई निलंबित !

    By fast headline india →
    उमपा आयुक्त के आदेश का पालन नही करने पर महिला अधिकारी हुई निलंबित ! 

     महिला व बाल कल्याण विभाग से बदली के आदेश को ठुकराने पर हुई कार्यवाई ! 

    इस कार्यवाई से मनपा कर्मचारियों में मचा कोहराम !

     अभी हाल ही में रिक्स बेस प्लान मामले में तीन कर्मचारियों सस्पेंड किया गया था ! 

    उल्हासनगर -उल्हासनगर महानगरपालिका की महिला व बाल कल्याण विभाग में कार्यरत महिला अधीक्षक को एक अलग विभाग का कार्यभार सौपा गया था जिसे स्वीकार करने से इंकार करने को लेकर शनिवार आयुक्त सुधाकर देशमुख ने अधिक्षक अलका पवार को निलंबित कर दिया.आयुक्त सुधाकर देशमुख के इस आदेश के चलते मनपा कर्मचारियो में हड़कंप मच गया है.
    गौरतलब हो कि महिला व बाल कल्याण विभाग में अधिक्षक पद पर कार्यरत अलका पवार को पिछले महीने डॉक्टर बाबासाहेब आंबेडकर अभ्यासिका का पदभार मनपा प्रशासन ने सौपा था. पर महिला व बाल कल्याण विभाग न छोड़ते हुए नया पदभार स्वीकार नही किया. जिस पर मनपा प्रशासन ने अलका पवार को कारण बताओ नोटिश जारी किया था जिसे अलका पवार ने स्वीकार करने से इंकार कर दिया था.और बिना छुट्टी लिए न ही किसी अधिकारी के परमिशन लिए कार्यालय से बाहर निकल गयी. मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने महाराष्ट्र नागरी सेवा( शिस्त व अपील) नियम १९७९ के तहत ४(१) ४(२) नुसार अधीक्षक अलका पवार को विभाग जांच के आदेश के बाद निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया।
  • सत्य साई प्लेटेनीय अस्पताल पर लगे आरोपों पर अस्पताल के डॉक्टर ने किया खुलासा !

    By fast headline india →
    सत्य साई प्लेटेनीय अस्पताल पर लगे आरोपों पर अस्पताल के डॉक्टर ने किया खुलासा ! 

    महात्मा फुले योजना में ईलाज के लिए भरा गया था फार्म ऑपरेशन से पहले ही मरीज की हुई मौत ! 

    योजना का पैसा अस्पताल को ऑपरेशन की सीडी देने के बाद मिलता है ! 

    80 हजार के बिल को 40 हजार भरने पर ही अस्पताल ने  परिवार वालो को सौपी डेडबॉडी !

    गरीब परिवार का करते है महात्मा फुले योजना के अंतर्गत ईलाज -डॉक्टर संजीव पॉल

    परिवार वाले पैसे बचाने के लिए क्रियेट किया यह फिल्मी ड्रामा -अस्पताल के पीआरओ भूमि

    विस्तृत खबर को जानने के लिए देखो पूरी खबर,,,,

    मृतक महिला के लोगो के रिश्तेदारो ने क्या लगाया आरोप,,,

    अस्पताल के डॉक्टर ने क्या किया पूरे आरोप पर खुलासा !


  • धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों के चलते गोल मैदान विनाश की राह पर !

    By fast headline india →
    धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों के चलते गोल मैदान विनाश की राह पर ! 

    भाड़े पर लेने वालों को कुछ भी करने की आजादी के चलते मैदान की हुई यह हालत ! 

    अवैध रूप से मैदान में भराव करने वालो के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी-उमपा आयुक्त देशमुख 

    उल्हासनगर -उल्हासनगर में राजनीतिक और धार्मिक आयोजनों के लिए मैदान में व्यापक उत्खनन और उत्खनन कार्य किया गया है जिससे खिलाड़ियों के लिए इस क्षेत्र में खेलना असंभव हो गया है। यह काम महानगरपालिका प्रशासन की विभाग समिति के समक्ष किया जा रहा है,फिर भी इसे अनदेखा किया जा रहा है।गौरतलब हो कि शहर में नाममात्र के बगीचे और मैदान बचे हैं,जिसमें उल्हासनगर -2में, प्रभाग समिति 1 कार्यालय के सामने गोलमैदान है, हालांकि, इस क्षेत्र में लगातार सार्वजनिक, धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों के कारण, खिलाड़ियों को खेलने के बहुत कम अवसर मिलते हैं। 9 सितंबर, 2019 को, केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री रामदास आठवले की उपस्थिति में, रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया की एक रैली शहर अध्यक्ष भगवान भालेराव की अध्यक्षता में आयोजित की गई थी,जिसके लिए पूरे मैदान में खड़ी डालकर और गड्ढे खोदकर भव्य शामियाना लगाया गया था। अब और एक धार्मिक आयोजन के लिए मैदान को फिर से डेब्रिज और मिट्टी से भरा जा रहा है। शिकायतें की जा रही हैं कि धार्मिक और राजनीतिक आयोजनों से क्षेत्र में बहुत अधिक ध्वनि प्रदूषण होता है, और आयोजकों के खिलाफ आपराधिक मामले भी दर्ज किए गए है !

    प्रतिक्रिया सरिता खानचंदानी (हिराले फाउंडेशन) मनपा ने राउंड ग्राउंड का पट्टा देने पर कई नियम और शर्तें लगाई हैं। इसमें स्पष्ट रूप से कहा गया है कि आयोजक अगर मैदान में गड्ढे खोदते हैं, ध्वनिप्रदूषण करते हैं, कचरा गिराते हैं, तो आयोजकों पर जुर्माना लगाया जाएगा। इस प्रस्ताव को मनपा में 2002 की महासभा में बहुमत से अनुमोदित किया गया था, लेकिन इस क्षेत्र में विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजक कानून का उल्लंघन कर रहे हैं।

     भगवान भालेराव (रिपाई शहर अध्यक्ष उल्हासनगर) हमारे आयोजन से पहले, बारिश के कारण कीचड़ और पानी भर गया था। हमने इस क्षेत्र में अस्थायी उपाय किए थे , मैं अपने मनपा कोष से 10 लाख रुपये खर्च करखे लाल मिट्टी का भराव करूंगा ,जिससे यह मैदान पहले से बेहतर मैदान होगा ! 

    सुधाकर देशमुख (मनपा आयुक्त) यह एक गंभीर मामला है और मैंने संपत्ति विभाग और लोक निर्माण विभाग को मामले की जांच करने का निर्देश दिया है और जो लोग अवैध रूप से मैदान में भराव कर रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
  • उल्हासनगर में भाजपा नेता का गुंडाराज ! पुलिस ने दर्ज किया भाजपा नेता एफआईआर !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर में भाजपा नेता का गुंडाराज ! पुलिस ने दर्ज किया एफआईआर !

     पड़ोसी को अपने ऑफिस में लाकर डंडे से पीटकर किया लहूलुहान !

     पेशाब करने से मना किया तो भुगतना पड़ी यह सजा ! 

    भाजपा नेता व उनके गुंडों के द्वारा पीटने का है यह पूरा मामला ! 

    हिल लाइन पुलिस ने भाजपा नेता राजा गेमनानी समेत चार लोगों के खिलाफ दर्ज की एफआईआर !

    सच्ची खबर को झूठा बताने वाले चमचों के मुंह पर पुती कालिख ?

    क्या है पूरा मामला सुनिए आहूजा की जुबानी,,,,,,,
    इन आरोपो भाजपा नेता राजा गेमनानी क्या कहे सुनिए उन्ही की जुबानी,,,,,



  • उमपा के शिक्षण विभाग में हो रहे घोटालों पर कार्यवाई की मांग को लेकर मनविसे ने निकाला मोर्चा !

    By fast headline india →
    उमपा के शिक्षण विभाग में हो रहे घोटालों पर कार्यवाई की मांग को लेकर मनविसे ने निकाला मोर्चा ! 

    स्कूलों के बच्चों को नही मिल रही कोई भी सुविधा ! 

    भ्रष्ट्राचार के सभी आरोपों की जांच करके दोषियों पर जल्द होगी कार्यवाई - शिक्षण उपायुक्त चव्हाण

     बारिश में नही मिला रेन कोट,बच्चों को नही मिली अभी तक किताबे,न मिला स्कूली ड्रेस ? 

    जल्द ही ठोस कार्यवाई नही हुआ तो अगला आंदोलन मनसे स्टाइल में होगा-मनविसे अध्यक्ष शेलार       

     उल्हासनगर-उल्हासनगर महाराष्ट्र नवनिर्माण विद्यार्थी सेना उल्हासनगर शाखा के द्वारा शुक्रवार की दोपहर में उमपा के शिक्षण मंडल के भ्र्ष्टाचार व गरीब विद्यार्थीयो के शैक्षणिक व आरोग्य जैसी मुलभूत समस्या,व शोषित विद्यार्थीयो को न्याय दिलाने के लिए महापालिका मुख्यालय पर मोर्चा का आयोजन किया गया था .               गौरतलब हो कि उल्हासनगर शहर की मनपा स्कूलों की अवस्था अतिशय विकट है स्कूलों में अग्निरोधक  यंत्र का अभाव, साफ पिने की पानी नही है ,गळक्या ,कुछ ऐकाक स्कूलों का पुनर र्निर्माण किया गया तो उनमें स्कूलों के शौचालय का अभाव, जो है वह अस्वच्छ - दुगंध से परिपूर्ण है, मनपा के स्कूलों में के क्लास ८,९,१० वर्ग में ई लर्निंग शिक्षा का अभाव, स्कूली बच्चों के ड्रेस नही,न ही  शैक्षणिक साहित्य, चिक्की में भी घोटाला, यही नही सीधे लाभ बच्चों को मिलने वाली योजना का अभी तक लागू नही करना, उमपा के शिक्षण विभाग के भ्रष्टाचार की जांच जैसे मुद्दों की मांग को लेकर यह मोर्चा निकाला गया था. सुबह 11 बजे शिवाजी चौक, कैम्प नम्बर तीन से उल्हासनगर महानगर पालिका पर इस मोर्चा में मनसे के नेता, पदाधिकारी, बच्चों के परिवार वाले ने इस में भाग लिया. मनपा मुख्यालय के प्रवेश द्वारा पर मनसैनिको ने शिक्षण विभाग में चल रहे घोटालों के विरोध व विद्यार्थीयो के अधिकार की मांग को लेकर जोरदार घोषणाबाजी किया. इस विषय को लेकर, मनपा उपा आयुक्त, संतोष देहरेकर के ऑफिस में मनविसे का एक शिष्टमंडल को मिलने के लिए बुलाया गया वहा पर हुई मीटिंग में मनविसे ने अपनी विभिन्न मांगों पर दो दिनों में जांच करके कार्यवाई करने को कहा, जिन स्कूलों की हालत दयनीय है उनका नवनिर्माण किया जाय बच्चों को तत्काल शासन के द्वारा आने वाली किताबे दी जाय, उमपा के शिक्षण विभाग के घोटालों की जांच जैसे मुद्दे को फास्ट ट्रैक सुनवाई करके कार्यवाई होगी ऐसा आश्वासन शिक्षण उपायुक्त विकास चव्हाण इन्होंने दिया है.  इसके बाद मनविसे ने मोर्चा के समाप्ति की घोषणा किया.                मनविसे शहरध्यक्ष मनोज शेलार के मार्ग दर्शन में आयोजित इस मोर्चा का नेतृत्व मनसे नेता शैलेश शिर्के, मनसे शहरध्यक्ष बंडू देशमुख, इन्होने किया. मनसे के, उपजिल्हाप्रमुख संजय घुगे, गणेश आठवले, अशोक गरड, सचिन चौधरी, सुनील शेलार, रवी अहिरे, रवी सोनवणे इत्यादि लोग भी उपस्थित थे !
  • मनपा मुख्यालय के सामने शिवसेना ने निकाला विशाल मोर्चा !

    By fast headline india →
    मनपा मुख्यालय के सामने शिवसेना ने निकाला विशाल मोर्चा ! 

    रोड़ के खड्डे, पानी की समस्या, महिलाओं के शौचालय की दुर्दशा के बारे में आयुक्त को दिया ज्ञायपन ! 

    जल्द कार्यवाई करके सभी समस्याओं को हल करने का आयुक्त ने दिया आश्वासन ! 

    आयुक्त कार्यालय में शिवसेना नगरसेवकों का दिखा आक्रोश ! 

     उल्हासनगर- उल्हासनगर में विधानसभा चुनाव से पूर्व से पहले शिवसेना अपना दमखम दिखाने के लिए शहर के सड़को पर खड्डों को लेकर सत्ता पक्ष भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए गुरुवार को मनपा मुख्यालय पर विशाल मोर्चा के आयोजन किया था.इस आयोजन के जरिये शहर की मूलभूत सुविधाओ की हो रही दुर्दशा को अवगत कराने का भी काम किया गया है !
    गौरतलब हो कि मनपा हाल ही में सड़को का खड्डे  भरे जाने का दावा कर रही है जब कि वस्तु स्थिति में ऐसा कुछ दिखाई नही दे रहा है ऐसे में जैसे तीन मनपा कर्मचारियों को अवैध बांधकाम को लेकर निलंबित किया है. और खड्डों के जिम्मेदार ठेकेदारो पर आपराधिक मामला दर्ज कराने की मांग को लेकर शिवसेना कल्याण जिल्हाप्रमुख गोपाळ लांडगे ने आयुक्त सुधाकर देशमुख से मुलाकात कर ठेकेदारो का हित न सोचते हुए जल्द से जल्द खड्डों को भरने की मांग की है। शिवसेना शहर विभाग ने उल्हासनगर  में सड़को की दुर्दशा व 120 फुट के रिंगरूत ,दूषित पानी ,सफाई को लेकर मनपा प्रशासन को आड़े हाथों लेते हुए आज गुरुवार दोपहर मोर्चे का आयोजन किया था,जिसका नेतत्व  कल्याण जिल्हाप्रमुख गोपाळ लांडगे द्वारा करते हुए  छत्रपती शिवाजी महाराज चौक से महानगरपालिका तक निकला गया था. इस मोर्चे उपजिल्हाप्रमुख चंद्रकांत बोडारे,शहरप्रमुख राजेंद्र चौधरी, आमदार डॉ. बालाजी किणिकर, विरोधी पक्ष नेता धनंजय बोडारे, जेष्ठ नगरसेवक राजेंद्रसिंग भुल्लर, पूर्व शहरप्रमुख रमेश मुकणे, उपशहरप्रमुख राजेंद्र साहू, अरुण आशान, दिलीप गायकवाड, संदिप गायकवाड,ग्राहक संरक्षण कक्ष शहरप्रमुख जयकुमार केणी, महिला आघाडी संघटक मनिषा भानुशाली, युवासेना अधिकारी बाळा श्रीखंडे, रिक्षा यूनियन नेता पिंकी भुल्लर, शेखर यादव, राजा पाटिल, दिगंबर हजारे सहित भारी संख्या में शिवसैनिक शामिल हुए थे. शिवसेना शिष्ठमंडल ने आयुक्त सुधाकर देशमुख से मुलाकात कर गोपाळ लांडगे,डॉ. बालाजी किणिकर घनजंय  बोडारे ने आक्रमक रुख अपनाते हुए कहा कि सड़को के खड्डों के चलते 4/5 मौत हो चुकी है. शहर में दूषित व सफाई को लेकर अगर जल्द कोई योजना अमल में नही लायी गयी तो शिवसेना मोर्चा न निकालते हुए अपने आक्रमक रूप में आएगी।
  • अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद के नाम से महापौर को दी गई धमकी !

    By fast headline india →
    अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद के नाम से महापौर को दी गई धमकी ! 

    इस फोन की घंटी के बाद महापालिका में मची खलबली ! 

    महापौर ने दर्ज कराई पुलिस में शिकायत !

     लगता है पुरुषार्थ समाप्त हो चुका है तभी तो दाऊत के गुर्गे का लिया जा रहा सहारा-महापौर 


    ठाणे-ठाणे महानगर पालिका की महापौर के फोन की घंटी बजी आवाज सामने से आवाज आया कि हलो मै अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊत "तुम सही से रहो नहीं तो तुम्हे उठाकर ले जाएंगे और तुम्हारे परिवार को परेशान करेंगे ,तुम हिसाब से रहो " इस तरह की धमकी ठाणे की महापौर मीनाक्षी शिंदे को दिया गया है,यह धमकी दाऊद इब्राहिम कासकर के नाम से दिया गया है ! जिसकी शिकायत महापौर मीनाक्षी शिंदे ने कापुरबावडी पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई है ! 
    बता दे कि कापरबावड़ी पुलिस स्टेशन में अज्ञात लोगों पर फ़ोन कर जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज किया गया है। शिंदे ने बताया कि फ़ोन करनेवाले ने अपने आप को दाउद का गुर्गा बताया, और धमकी देते हुए कहा अगर अपनी और परिवार की सलामती चाहती हो, तो ठाणे शहर में किसी से भी पंगा मत लो वरना जान से हाथ धोना पड़ सकता है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है। अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम के नाम से महापौर को दी गई इस धमकी के बाद महापालिका में खलबली मची है। महापौर मिनाक्षी शिंदे ने अपने कार्यकाल के दौरान कई बार विकास के कार्यो के लिए कई विरोधियों का सामना किया है। इसी बीच विधानसभा चुनावों से ठीक पहले महापौर को किसी से पंगा न लेने की धमकी मिलने के बाद खलबली मच गई है। इस संदर्भ में महापौर मीनाक्षी शिंदे ने बयान देते हुए कहा की लगता है पुरुषार्थ समाप्त हो चुका है। मुझ जैसे महिला महापौर को दाउद के गुर्गों से धमकी मिलने निंदनीय है। मैं किसी से डरती नही हूँ। मैंने ईमानदारी से अपने महापौर पद का कर्तव्य निभाया है। इस दौरान किसी से मन-मुटाव मुझे याद नही। इस धमकी के मामलें को कापुरबावड़ी पुलिस में दर्ज करवा दिया गया है। पुलिस अपनी जांच कर रही है।
  • शिवसेना के जन आशीर्वाद यात्रा में स्कूली बच्चों का हुआ इस्तेमाल ?

    By fast headline india →
    शिवसेना के जन आशीर्वाद यात्रा में स्कूली बच्चों का हुआ इस्तेमाल ?  

    बच्चों को युवा नेता से मिलने व संवाद के लिए बुलाया गया था कार्यक्रम में-शिवसेना उपप्रमुख 

    स्कूली बच्चों को कार्यक्रम में लेकर शोसल मीडिया पर दिखी लोगो में नाराजगी ! 

    मनपा की पूरी मिशनरी मिलकर भी खड्डा मुक्त सड़क बनाने में रही असफल ! 

    ठाकरे को उल्हासनगर के रोड़ो के खड्डों से होकर गुजरना पड़ा ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर में आदित्य ठाकरे की महा जन आशीर्वाद यात्रा के कार्यक्रम में स्कूल के विद्यार्थी को (भीड़ दिखाने) या स्वागत करने के बुलाया गया था, परन्तु कार्यक्रम दिए गए समय से डेढ़ घंटा लेट हुआ जिसके चलते विद्यार्थी हैरान परेशान दिखाई दिए . सोशल  मीडियापर विद्यार्थीयो का फोटो व्हायरल होने पर नेताओ पर लोगो संतप्त प्रतिक्रिया सामने आई है.    
     बता दे कि बुधवार को आदित्य ठाकरे की महा-जन आशीर्वाद यात्रा की जोरदार तैयारी शिवसेना और महानगरपालिका के द्वारा किया गया था . महानगरपालिका के कर्मचारियो ने खड्डे भरने के लिए जुटे हुए थे .पिछले कुछ महीनों से शहर की आम जनता रोड़ कर खड्डों से बेहाल है , गणेशोत्सव , चालिया जैसे उत्सव के दरम्यान भी रोड़ के खड्डे भरे नही गए थे . परंतु जिस तरीके से इस कार्यक्रम पर मनपा प्रशासन ने अपनी कर्तब्य परायणता दिखाई है अगर पहले भी ऐसा दिखाई होती तो आज शहर की रोड़ो की अवस्था इतनी खराब नही होता ऐसा सवाल शहर के रहवासियों के द्वारा किया गया है, इसके बावजूद रोड के खड्डों से ही कही कही गुजरना पड़ा है.       उल्हासनगर - 4 नम्बर के ओ टी सेक्शन चौक पर भीड़ दिखाने के लिए विविध स्कूलों के विद्यार्थीयो को बुलाकर आदित्य ठाकरे के स्वागत करने के लिए खड़ा किया गया था .इन विद्यार्थीयो को दोपहर 12 .30 बजे से दोपहर 2 बजे तक खुले आसमान के नीचे बैठा कर रखा था. आज बारिश रुका हुआ था जिसके चलते गर्मी में विद्यार्थी पसीने से सराबोर थे,      इस विषय पर जब शिवसेना उपशहरप्रमुख अरुण आशान इनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा की आदित्य ठाकरे यह नव जवानों के नेता है इस लिए उन्हें देखने के लिए स्कूल के विद्यार्थीयो को उन्हें देखने की उत्सुकता थी, शहर के कुछ स्कूलों के विद्यार्थी आदित्य ठाकरे से बातचीत करने इच्छा भी जाहीर की थी इस लिए हमने 10 वी कक्षा में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को ही बुलाया था, कुछ कारणों के चलते कार्यक्रम के दिये गए समय से थोड़ा विलम्भ हुआ इस लिए हमने सभी विद्यार्थी से झमा मांग लिया था .  
  • उल्हासनगर शहर के लिए आये अध्यादेश पर आयुक्त ने शहर वाशियों को दी विस्तृत जानकारी !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर शहर के लिए आये अध्यादेश पर आयुक्त ने शहर वाशियों को दी विस्तृत जानकारी !

     17 तारीख से शुरू हुआ यह अवैध निर्माणों नियमित करने कानून ! 

    ऑनलाइ दे सकेगी शहर की जनता अपना सुझाव व आपजेक्शन ! 

    अवैध बिल्डिंगो को लीगल करने की पेनाल्टी में नही दी जाएगी छूट अफवाहों से रहे सावधान !

     कैसे करे अपनी प्रॉपर्टी को लीगल सब पर खुलकर दी जानकारी ! 

    यह मौका बार बार नही मिलेगा इस लिए इसका जरूर ले फायदा ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के अबैध निर्माणों को नियमित करने के राज्य सरकार और न्यायालय के 2006 के आदेश के बावजुद प्रशासन की उदासीनता के कारण नियमितीकरण और 855 इमारतों का मामला अधर में लटका था, 855 मामले में न्यायालय की लटकती तलवार कभी भी हमारे गर्दन पे आ सकती है ये जानकर उल्हासनगर के कुछ वरिष्ठ समाजसेवियों ने सच्ची भावना से उक्त मामले को राज्य सरकार के समक्ष रखा, 2015 से मामले को फॉलो करते हुए आज नतीजा ये निकला कि उल्हासनगर शहर के लिए राज्य सरकार और न्यायालय को संजीदा होकर 1 महीने में 4 अध्यादेश निकालने पड़े, उल्हासनगर के अवैध निर्माण नियमित करने के लिए आया अध्यादेश ठंडे बस्ते में पड़ता देख शहर के कैम्प 4 के रहिवासी और राज्य सरकार में सनदी अधिकारी एस एस ससाणे व आई एम मोरे की अध्यक्षता में उल्हासनगर संघर्ष समिती बनाई गई, समाजसेवी सुभाष भानुशाली और वास्तुकला रचनाकार आर्किटेक्ट अतुल देशमुख व अन्य मित्रों को समिती का हिस्सा बनाकर 2015 से तत्कालीन आयुक्त मनोहर हिरे को निवेदन दिया गया कि उल्हासनगर शहर को नियमितीकरण कानून का सहारा लेकर हजार करोड़ की कमाई करके दे सकते हैं, तत्कालीन उप सभापति माणिकराव ठाकरे के माध्यम से और प्रो. जोगेंद्र कवाडे को साथ लेकर समिती द्वारा राज्य सरकार के शहरी विकास विभाग सचीव नितीन करीर से पत्रव्यवहार शुरू हुआ, फॉलोअप शुरू हुआ, उक्त कार्य मे विधानपरिषद सदस्य रूपवन्त व रणपिसे ने समिती सदस्यों का निरन्तर साथ दिया, अंतः 4 साल की लंबी लड़ाई के बाद महाराष्ट्र विधानपरिषद उपसभापती व विनंती अर्ज़ समिती प्रमुख निलमताई गोरे जी के माध्यम से मुख्यमंत्री के मुख्य सचिव और शहरी विकास विभाग सचीव नितीन करीर जी से बैठकों का दौर फिर से शुरू किया गया, 28 अगस्त 2019 को नीलम ताई गोरे द्वारा उल्हासनगर संघर्ष समिती को पत्र भेजकर विधानभवन मंत्रालय में बैठक रखी गयी थी, उक्त बैठक में समिती द्वारा बताया गया कि, पिछले 13 वर्षों में शासन प्रशासन की उदासीनता के कारण जनहित में आये अध्यादेश का उपयोग उल्हासनगर वासी नहीं कर पा रहे, नियमितीकरण के लिए आये 5000 से अधिक निवेदनों पर उमपा प्रशासन या ठाणे जिलाधिकारी द्वारा कोई निर्णय नहीं लिया गया, घाटे में चल रही उल्हासनगर मनपा को नियमितीकरण से हजार करोड़ का फायदा भी होगा और शहर भी नियमित हो जाएगा, तब 28 अगस्त 2019 की बैठक के अंत मे ये निर्णय हुआ कि, 10 दिन में उल्हासनगर महानगर पालिका के आयूक्त महोदय को नामित प्राधिकारी डेजिग्नेटेड ऑथोरिटी के रूप में नियुक्त किया जाए, और 9 सितम्बर को उल्हासनगर मनपा आयूक्त महोदय को राज्य सरकार द्वारा नामित प्राधिकारी डेजिग्नेटेड ऑथोरिटी के रूप में नियुक्त किया गया, पिछले दिनों में राज्य सरकार द्वारा प्राप्त अध्यादेश पर कैसे कामकाज किया जाए और कैसे उक्त अध्यादेशों को जनहित में लेकर उल्हासनगर वासियों को नियमितिकरण का अधिक से अधिक फायदा दिया जाए इसलिए उल्हासनगर महापौर कार्यालय में इस विषय पर विस्तृत चर्चा के लिये बैठक बुलाया गया था ! इस चर्चा के बाद मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने पत्रकारों के जरिये शहर वाशियों को इस अध्यादेश से होने वाले फायदे से अवगत कराया क्या बोलो सुनिए उन्ही की जुबानी,,,,,,,,,
  • मनपा मुख्यालय के सामने बगीचे पर रिस्क बेस प्लान मामले में आयुक्त ने वार्ड आफिसर समेत तीन लोगों किया सस्पेंड !

    By fast headline india →
    मनपा मुख्यालय के सामने बगीचे पर रिस्क बेस प्लान मामले में आयुक्त ने वार्ड आफिसर समेत तीन लोगों किया सस्पेंड ! 

    करोड़ो रूपये के भूखंड पर कब्जा करने के लिए भूमाफिया ने गुंडों के द्वारा किया गया था यह कारनामा !  

     वार्ड आफिसर ने पहले प्लान कर दिया है रद्द !  

     वार्ड ऑफिसर जाधव ने दर्ज कराया भूमाफिया पर एफआईआर !  

     भाजपा के नगरसेवकों ने पहले ही किया लिखित पत्र देकर की थी शिकायत ! 

     करोड़ो के भूखण्ड के श्रीखंड खाने में जुटी हुई शहर की कुछ नामी गिरामी हस्तियो के मंसूबों पर फिरा पानी ! 
     फाईल फ़ोटो

    उल्हासनगर-उल्हासनगर महानगरपालिका मुख्यालय के सामने मनपा के सेवादास गार्डन पर पास किये गए रिक्स बेस प्लान मामले पर मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने कार्यवाई करते हुए वार्ड आफिसर, इंजीनियर, व नगररचना के प्यून को सस्पेंड करने का आदेश दिया है !   बता दे कि कुछ दिनो पहले जो जानकारी सामने आई थी उसके द्वारा लडाकू सिरोटा नामक व्यक्ती ने सिटीएस नंबर ३०३२९, बॅरेक नंबर ७८४ सामने की महानगरपालिका के बगीचे पर महानगर पालिका प्रशासन के द्वारा रिस्क बेस प्लान पास करवा लिया था . जब उसने इस बगीचे में काम शुरू किया तो इस मामले का भांडा फूटा और स्थानीय जन प्रतिनिधि ने इस मामले का विरोध शुरू किया बता दे कि भूमाफिया2 के गुंडों ने आज चार पेड़ काट डाले बगीचे रखी कुर्सियो को तोड़ डाला यह सभी कुछ साल पहले ही मनपा प्रशासन की से हुए शुशोभीकरण के दरम्यान लगाए गए थे. परंतु अचानक शुरू हुए काम पर बांधकाम करने की प्रक्रिया सुरू होते ही भाजपा की पूर्व महापौर मिना आयलानी व नगरसेविका गीता साधनानी इन्होंने आयुक्त सुधाकर देशमुख इनके पास लिखित शिकायत देकर महानगरपालिका से यह मांग किया कि लडाकू सिरोटा इन्होंने फर्जी कागज पत्र बनाकर महानगरपालिका को फंसाया है. इस लिए इस प्लान को रद्द करके उसके विरुद्ध कानून के हिसाब से मामला दर्ज करने की मांग किया था .उसके बाद महानगरपालिका ने संबंधीत विभागा को कहा कि रिस्क बेस प्लान को रद्द करके इस विषय मे उपविभागीय अधिकारी उनको पत्रव्यवहार करके पूरी जानकारी लेकर आगे की कार्यवाई करो. जब बुधवार को पत्रकारों ने देखा कि बगीचे में भूमाफिया के द्वारा कुछ गुंडों को बैठाकर पेड़ काटने और कुर्सियों को तोड़कर फेंका जा रहा है तो सभी पत्रकारों ने इस मामले की जानकारी उपायुक्त मदन सोंडे इनको दिया गया उन्होंने तुरंत पत्रकारों को साथ लेकर बगीचे का जायजा लेने पहुचे तब सभी गुंडे वहा से फरार हो गए थे उन्होंने तुरंत वार्ड आफिसर दत्तात्रय जाधव को आदेश दिया कि यहाँ पर पंचनामा करके सभी सामान को जप्त करो और जिन्होंने ने पेड़ काटे है उसके लिए उनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया. प्रभाग अधिकारी दत्तात्रय जाधव व गणेश शिंपी इन्होंने बांधकाम करने के लिए लाए गए रेती व खड़ी को जप्त किया और भूमाफिया के खिलाफ मामला दर्ज कराने की कार्यवाही शुरू किया है, वही इस विषय पर जब मनपा आयुक्त सुधाकर शिंदे से बात किया तो उन्होंने कहा कि हमने पहले ही कार्यवाई करने का आदेश दे दिया है इसका प्लान रद्द कर दिया है और जिसके नाम पर प्लान है और जो इस प्लान का आर्किटेक्ट है दोनो के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने को संबंधित विभाग आदेश दिया, पेड़ काटने वालो पर जाधव के द्वारा एफआईआर दर्ज किया जा रहा है जो भी इस तरीके का काम करते है उन्हें बख्सा नही जाएगा, वही इस विषय पर शिवसेना के विरोधी पक्ष नेता धनजय बोडारे ने अपना विरोध जताया और कठोर कार्यवाही की मांग किया है,यहाँ सवाल यह है कि मनपा प्रशासन मुख्यालय के सामने जब मनपा का बगीचा सुरक्षित नही है तो बाकी क्या ? मंगलवार को मनपा आयुक्त ने कार्यवाई करते हुए एक नम्बर के वार्ड ऑफिसर दत्तात्रेय जाधव व इंजीनियर परमेश्वर बुडगे व नगर रचनाकर विभाग के प्यून सुनील केणी को सस्पेंड करने का आदेश दिया है !
  • मै टीओके का राष्ट्रीय अध्यक्ष हु तो भाजपा पार्टी से जो समझौता हुआ है वह सीएम से हुआ है लोकल बॉडी से नही-कालानी

    By fast headline india →
    भाजपा अध्यक्ष आयलानी के सफाई पर टीओके अध्यक्ष कालानी ने दिया जवाब !

     मै टीओके का राष्ट्रीय अध्यक्ष हु तो भाजपा पार्टी से जो समझौता हुआ है वह सीएम से हुआ है लोकल बॉडी से नही-कालानी

     माफी मांगनी है तो सार्वजनिक तौर पर मांगना होगा-टीओके प्रवक्ता निकम 

    कालानी आतंकवादी है या शहर के मसीहा इसका जवाब शहर की जनता इस चुनाव में देगी !


     उल्हासनगर शहर भर में लगे पोस्ट, क्या मैं आतंकवादी हू,क्या मैने आजतक शहर के लिए कुछ नही क्या ? 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर की राजनीति इस समय एक बात पर आकर अड़ गई कि शहर के पूर्व बाहुबली विधायक पप्पू कालानी आतंकवादी थे, या उल्हासनगर शहर वाशियों के मसीहा, इसका जवाब उल्हासनगर शहर की जनता इस चुनाव में रिजल्ट के रूप में सामने आ ही जायेगा, उससे पहले एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोपण का दौर जोरो पर है, ओमी कालानी ने कैसे दिया आयलानी को जवाब देखिए पूरी खबर,,,टीओके प्रवक्ता निकम ने वाधवा के बारे क्या कहे सुनिए उन्ही की जुबानी,,,,,
  • भाजपा पक्ष प्रवेश कार्यक्रम के दौरान कालानी को आतंकी बताने पर भाजपा अध्यक्ष आयलानी ने दी अपनी सफाई !

    By fast headline india →
    भाजपा पक्ष प्रवेश कार्यक्रम के दौरान कालानी को आतंकी बताने पर भाजपा अध्यक्ष आयलानी ने दी अपनी सफाई !

     राम वाधवा ने माफी मांग ली है इस लिए यह विषय यही पर खत्म होना चाहिए ! 

     भाजपा पार्टी में ओमी कालानी के प्रवेश पर हमेशा से मै कर रहा हु विरोध-आयलानी 

     मेरा कालानी परिवार से कोई मतभेद नही है जो भी वह राजनीतिक है इस लिए पर्सनल न मै बोलता हूं न किसी को बोलने को कहूंगा ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में शनिवार की शाम हुए भाजपा पक्ष प्रवेश कार्यक्रम के दौरान राम वाधवा ने अपने संबोधन के दौरान विकी पीडिया का हवाला देते हुए कालानी को आतंकवादी बताया था जिसके बाद से ही कालानी समर्थक इसको लेकर अपनी नाराजगी जताते हुए रविवार को आयलानी के बंगले के सामने निषेध मोर्चा निकाला और आयलानी से माफी मांगने की मांग कर रहे,इस पर आज भाजपा अध्यक्ष कुमार आयलानी अपनी सफाई देते हुए क्या कहा देखिये ये वीडियो,,,,,
  • उत्तर प्रदेश निडर पत्रकारिता करना हुआ मुश्किल, पुलिस वाले ही जूटे है डराने में !

    By fast headline india →
    लखनऊ शहर के स्पॉ सेंटर की आड़ में चल रहे देह ब्यापार का सनसनीखेज खुलासा करने पी न्यूज के संपादक धिरज दुबे ! 

    उत्तर प्रदेश निडर पत्रकारिता करना हुआ मुश्किल, पुलिस वाले ही जूटे है डराने में ! 

    जौनपुर जिले के उनके गांव के घर पर स्थानीय सुजानगंज थाने की पुलिस नशे में धुत होकर किया तांडव ! 

    सुजानगंज थाने के दरोगा पाठक को आया था कोई गुप्त फोन जिसपर हुई यह रात में कार्यवाई ?

     न कोई केश,न किसी अधिकारी का कोई आदेश, फिर भी पुलिस ने घर वालो को डराने के लिए खेला यह फिल्मी ड्रामा ! 

     जल्द ही सुजानगंज थाने के दरोगा पर नही हुई कार्यवाई सभी पत्रकार करेगा यूपी विधानसभा के सामने धरना ?  

    जौनपुर-जौनपुर जिले के सुजानगंज थाना के दरोगा के गुंडाराज जैसे कानून का इस्तेमाल करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है इस मामले में निष्पक्ष  पत्रकारिता पर संकट के बादल मड़राने लगे है जहां आए दिन किसी न किसी पत्रकार को यूपी पुलिस के कोप भन्जन का शिकार होना पड़ रहा है।जहां पिछले दिनों मिर्जापुर जिले में विद्यालय के मध्यांह भोजन योजना की गड़बड़ व्यवस्था उजागर करने के बाद फर्जी मुकदमें का सामना करना पड़ रहा है। वही जौनपुर के सुजानगंज पुलिस का भी गुंडाराज देखने को मिला कि रात 12.30 बजें अकारण बिना किसी तहरीर के मनमाने ढ़गं से एक गांव में पत्रकार के घर छापा मारकर दहशत फैलाने का काम कर रही है।जितने पुलिस कर्मी घर पर गए थे सभी नशे में धुत थे ! क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाने की जगह क्षेत्र में दहशत फैलाने के पीछे पुलिस की मानसिकता क्या है ? यह पुलिस ही बता सकती हैं लेकिन पुलिस के इस रवैये से क्षेत्र में दहशत और आक्रोश दोनों व्याप्त है। 
    सूत्रों  से मिली जानकारी के अनुसार सुजानगंज पुलिस क्षेत्र के भैसहारामपुर (प्रेम का पूरा) गांव निवासी कमला शंकर दूबे के घर रात 12.30 बजें पहुंचती है और घर वालो को जगाकर पुलिसिया भाषा का प्रयोग करते हुए उनके लड़के व रिस्तेदारों का पता स्थान पूंछती है लेकिन किस बात को लेकर कमला शंकर के यहां छापेमारी हुई है इसका जवाब देनें से थानाध्यक्ष भी कतरा रहे है। इस पूरे घटनाक्रम को लेकर क्षेत्र में तरह तरह की चर्चाएं हो रही है।कुछ लोगों का मानना है कि कमला शंकर दुबे के पुत्र धीरज कुमार दुबे (पत्रकार पी न्यूज) ने अपने न्यूज चैनल के माध्यम से  लखनऊ में पुलिस की नाकामी दर्शाते हुए एक सेक्स रैकेट का खुलासा किया है जिससे घबराई पुलिस यह कार्यवाही कर रही है और पत्रकार के साथ ही उनकी ससुराल में भी दबिश दे रही हैं। इस तरह अकारण एक पत्रकार के घर दबिश देकर आतंकित करते हुए पुलिस द्वारा पत्रकार की कलम तोड़कर अपनी नाकामी छुपानें का प्रयास है।जब इस बिषय में थाना प्रभारी सन्तोष पाठक से बात की गयी तब उन्होनें कहा कि लखनऊ से आए फोन के आधार पर डायल 100 के द्वारा दबिश दी गयी है इसके अतिरिक्त और कोई जानकारी देने से कन्नी काट गये। इस पूरे घटनाक्रम से साफ जाहिर होता है कि यूपी में एक और पत्रकार को पुलिस नाकामी उजागर करने की भारी कीमत चुकानी पड़ सकती हैं ! यहाँ पर यह भी सवाल खड़ा हो रहा है क्या उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ऐसे पुलिस वालों की नकलेल लगाती है कि नही यह देखना होगा क्यो की पत्रकार समाज का आईना होता है यदि पुलिस अपनी कमी छुपाने के लिए उनको इस तरीके से दबाने की सोच रही है वह कतई सही नही होगा और इसका नुकसान आने वाले समय में उन्हें ही चुकाना पड़ेगा !
  • उल्हासनगर मनपा के आयुक्त का देश के प्रधामंत्री को दिखाया ठेंगा ?

    By fast headline india →
    उल्हासनगर मनपा के आयुक्त का देश के प्रधामंत्री को दिखाया ठेंगा ? 

    फीफा फुटबॉल टूर्नामेंट के लिए 30 लाख रूपए की लागत को किया इनकार ! 

    मनपा प्रशासन द्वारा ठेकेदार को बिल देने किया इंकार ! 

    नही हुआ कोई फुटबॉल मैच फिर क्यो दे बिल-मनपा प्रशासन 

    मनपा के पूर्व लेखा अधिकारी ने बिल बुक रिकार्ड से फाड़ दिया है पन्ना ! 

    उल्हासनगर -उल्हासनगर महानगरपालिका ने मनपा के द्वारा 2017 में स्कूल और कॉलेज स्तर पर फीफा फुटबॉल मैचों का आयोजन किया गया था, इस आयोजन में 30 लाख रुपए खर्च हुआ था लेकिन मनपा प्रशासन ने अब ठेकेदार द्वारा प्रस्तुत बिल पर आपत्ति जताते हुए ठेकेदार को बिल देने से इनकार कर दिया है। 
    बता दे कि दो साल पहले, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने स्थानीय स्व-सरकारी संगठनों को देश में फुटबॉल मैच आयोजित करने का निर्देश दिया था, ताकि वे देश में शहर से गावों तक फुटबॉल का खेल पहुंच सकें। तदनुसार, फुटबॉल को मनपा के सभी स्कूलों में वितरित किया गया था। फुटबॉल मैच स्व.बालासाहेब ठाकरे कॉम्प्लेक्स में खेले गए थे और तत्कालीन महापौर मीना आयलानी और मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर के नेतृत्व में इसका उद्घाटन किया गया था। खेल अधिकारी बालासाहेब नेटके के मार्गदर्शन में हुए इस टूर्नामेंट के आयोजन के उद्घाटन समारोह में क्रीड़ा सभापति रगडे और अतिरिक्त आयुक्त डॉ. विजया कंठे सहित शहर के कई राजनीतिक और खेल क्षेत्र के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे, जिसमें सैकड़ों स्कूली छात्रों ने भाग लिया। टूर्नामेंट के आयोजन का ठेका सिद्धांत, ओम मनीष और धनलक्ष्मी एंटरप्राइजेज को टैरिफ के अनुसार मिला था। काम पूरा होने पर, ठेकेदार द्वारा लेखा विभाग को भुगतान का बिल जमा किया गया। तत्कालीन मुख्य लेखाकार दादा पाटिल ने घोषित किया था कि ये भुगतान लेखा विभाग में उपलब्ध नहीं हैं। वर्तमान आयुक्त, सुधाकर देशमुख ने ठेकेदार को ये भुगतान देने से इनकार कर दिया और कहा कि ऐसी कोई प्रतियोगिता नहीं हुई थी। इसलिए, ठेकेदार ने आयुक्त को टूर्नामेंट की तस्वीरों और देयकों की प्रतिलिपि प्रस्तुत किया लेकिन आयुक्त अपने निर्णय अडिग रहते हुए ठेकेदार के पत्र को नजरअंदाज कर रहे हैं। इसलिए उल्हासनगर मनपा के इस फीफा फुटबॉल भुगतान पर विवाद बढ़ गया है। जल्द ही इस पर ठोस निर्णय नही लिया गया सभी ठेकेदार मिलकर आंदोलन करने की चेतावनी भी दिया गया है !
  • भाजपा पक्ष प्रवेश सभा में पप्पू कालानी को आंतकवादी कहने को लेकर कालानी समर्थकों ने किया विरोध प्रदर्शन !

    By fast headline india →
    भाजपा पक्ष प्रवेश सभा में पप्पू कालानी को आंतकवादी कहने को लेकर कालानी समर्थकों ने किया विरोध प्रदर्शन !

     अपने भाषण में कालानी परिवार को बताया अपराधियों का गढ़ व कालानी को बताया आतंकवादी -राम वाधवा

     भाजपा शहर अध्यक्ष आयलानी के घर के सामने किया निषेध !   

    कालानी समर्थकों ने कुमार आयलानी चोर है के लगाए नारे !

     बीस कालानी प्रदर्शनकारियो को पुलिस ने किया गिरफ्तार ! 

    पुलिस वाधवा जैसे अपराधी पर जल्द करे कार्यवाई -रांकपा विधायिका कालानी

     राम वाधवा के बयान से भाजपा पार्टी का कोई लेना देना नही -कुमार आयलानी 

    मेरा उद्देश्य किसी को ठेस पहुचाना नही था यदि किसी की भावना को ठेस पहुचा है तो मै माफी मांगता हूं - राम वाधवा 

      उल्हासनगर-उल्हासनगर के टाउन हॉल में बड़ी संख्या में कालानी विरोधियो सहित शहर के कई जानेमाने लोगो ने भाजपा में प्रवेश किया जिसके लिए भाजपा आयोजन पार्टी के द्वारा पक्ष प्रवेश कार्यक्रम रखा हुआ था. उस मंच राज्यमंत्री गुरुमुख जगवानी,अम्बरनाथ के गुलाबराव करंजुले के व भाजपा के जिला अध्यक्ष कुमार आयलानी समेत भाजपा पार्टी की पदाधिकारियों भी उपस्थिति थे ! उसी मंच पर शहर के पूर्व विधायक व बाहुबली नेता पप्पू कालानी को आंतकवादी व उनके परिवार के सदस्यों पर टिका टिप्पणी की गयी,जिसे लेकर कालानी समर्थकों में नाराजगी फैले गयी,जिसके विरोध में कालानी समर्थको ने भाजपा शहर अध्यक्ष कुमार आयलानी के घर के सामने विरोध प्रदर्शन किया.स्थानीय पुलिस ने बीस प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया. 

     बता दे कि शनिवार शाम को टाउन हॉल में भाजपा द्वारा शहर के कई नगरसेवको व व्यापारियों द्वारा भाजपा में प्रवेश को लेकर एक आयोजन किया गया था.राज्यमंत्री गुरुमुख जगवानी,विधायक श्री. गुलाबराव करंजुले पाटील, पूर्व विधायक श्री. कुमार आयलानी की उपस्थिति में व्यापारी संगठन के नरेश दुर्गानी,पूर्थ्वी वलेचा, पप्पू बहरणी,विनोद तलरेजा,गणपत एडके,जेठू चंदवानी, जगदीश आवारे, श्याम मेजर सहित कई लोगो को भाजपा में प्रवेश हुआ साथ ही  राम वाधवा भाजपा में शामिल कर उन्हे को-संयोजक (प्रवक्ता) के पद की जिम्मेदारी सौपी गयी,,इस मौके पर राम वाधवा ने मंच से पूर्व विधायक पप्पू कालानी को आंतकवादी व उनके परिवार को लेकर टिप्पणी की थी, जिससे शहर की राजनीति में खलबली मच गई.शनिवार को कालानी के सैकड़ो समर्थको ने भाजपा शहर अध्यक्ष कुमार आयलानी के निवास के कार्यलय पर अपनो विरोध जताते हुए कुमार आयलानी चोर है के नारे लगाए,सब विरोध प्रदर्शन में संतोष पांडे,कमलेश निकम,सुंदर मुलिलियर सैकड़ो की संख्या में कालानी समर्थक उपस्थित थे.फिलहाल स्थानीय पुलिस ने 20 लोगों पर मुम्बई अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर कार्यवाही की।
      इस मामले उल्हासनगर राकांपा विधायिका ज्योति कालानी ने कहा कि पुलिस को इस मामले में गंभीरता से लेते हुए तुरन्त ऐसे शब्द कहने वाले बलात्कारी व कई अन्य मामलों में आरोपी रह चुके राम वाधवा पर मामला दर्ज कर कार्यवाही की जानी चाहिये कहते पुुुलिस को निवेदन दिया। 
    उल्हासनगर में इंडस्ट्री की शुरुवात करवाकर शहर को उद्योग नगरी बनाने वाले शहर के महानायक पूर्व विधायक पप्पू कालानी को आतंकवादी बोलने वाले  कुमार आयलानी का फोरम आफ मैन्युफैक्चर की तरफ से निंदा और निषेध करते है। पीतु राजवानी(अध्यक्ष फोरम आफ उल्हासनगर मैन्युफैक्चर)
    उल्हासनगर विस्थापितों का शहर है,पाकिस्तान से आकर उल्हासनगर में अपने रोजी-रोजगार चलाने वाले व्यापारियों को पूर्व आमदार लोकनायक पप्पू कालानी ने सुरक्षा दी इसी सुरक्षा और शहर हित के कार्यो को देखते हुए पप्पू कालानी को 4 बार शहर वाशियो ने मतदान कर अपना आमदार चुना था।ऐसे लोकनायक नेता को आतंकवादी बोलने वालो का यूटीए निषेध करता है सुमीत चक्रवर्ती (अध्यक्ष उल्हासनगर ट्रेड एसोसिएशन)
  • पुलिस हवलदार की नीयत हुई खराब जप्त किये करोड़ो की विदेशी सिगरेट को चोरी करके बेच डाला !

    By fast headline india →
    पुलिस हवलदार की नीयत हुई खराब जप्त किये करोड़ो की विदेशी सिगरेट को चोरी करके बेच डाला ! 

    उसी पुलिस स्टेशन में दर्ज हुआ चोरी का मामला ! 

    कोर्ट ने सोमवार तक पुलिस रिमांड पर भेजा !

     विभागीय जांच में पुलिस स्टेशन के बड़े अधिकारी पर लटकी कार्यवाई तलवार ! 

    तस्करों से 2 करोड़ की पकड़ी गई थी विदेशी सिगरेट ! 

    पालघर- पालघर जिले के वसई - वालिव पुलिस स्टेशन के कुछ अधिकारियों की मिली भगत से पालघर जिले मे कुछ पुलिस वालों के द्वारा एक नायाब कारनामा करके पूरे पुलिस डिपार्टमेंट को शर्मसार करने वाली घटना को अंजाम देने का मामला सामने आया है. अपने ही पुलिस स्टेशन में ही चोरी की वारदात को अंजाम देकर करोड़ो रूपये की ब्रांडेड सिगरेट चोरी करने के मामले में वसई वालिव पुलिस स्टेशन का कॉन्स्टेबल शरीफ शेख को गिरफ्तार किया गया है जिन्हें शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया गया न्यायालय ने सोमवार तक पुलिस की रिमांड पर भेज दिया है. 
    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार वसई वलिव पुलिस ने अपने ही पुलिस स्टेशन में तैनात एक पुलिस कांस्टेबल को चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया है।पुलिसकर्मी पर आरोप है कि उसने पुलिस के मुद्देमाल कक्ष में रखे गए 2 करोड़ 16 लाख की विदेशी ब्रांड की सिगरेट की चोरी कर उसे बेच दिया ।दरअसल वलिव पुलिस ने कुछ दिनों पहले एक कार्रवाई के दौरान विदेशी ब्रांड के सिगरेट की तस्करी करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया था और उनके पास से ये माल जप्त किया था।कांस्टेबल ने कुछ लोगो की मदत से उसे गायब कर बेच दिया। जब इस मामले खुलासा हुआ तो आरोपी कॉन्स्टेबल पर भारतीय दंड कानून सहित धारा ४०९ के तहत मामला दर्ज कर कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया है।इस मामले में एक पुलिसकर्मी को सस्पेंड भी किया गया है और इस मामले में कई अधिकारी नपना तय है, जीन पर सक है उन सभी लोगो के खिलाफ विभागीय जांच चल रही हैं दोषी मिलने पर उनकी गिरफ्तारी भी तय है.इस मामले की वजह से पूरे पुलिस महकमे की बड़ी बदनामी भी हो रही है जब सिगरेट के लिए ऐसा हो सकता है यदि कीमती वस्तु पुलिस पकड़ती है तो उसके देखभाल को लेकर भी सवाल खड़ा होना लाजमी है !
  • उल्हासनगर और कल्याण एडोकेट संघटना के द्वारा शुरू है अनिश्चितकालीन कामबंद आंदोलन !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर और कल्याण एडोकेट संघटना के द्वारा शुरू है अनिश्चितकालीन कामबंद आंदोलन !

    एडोकेट वासवानी के द्वारा पुलिस स्टेशन बुलाकर मारपीट करने का किया गया है आरोप !

    वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक के विरुद्ध लामबन्द हुए ज़िले के सभी एडोकेट !

     वासवानी द्वारा लगाया गया सारा आरोप ही झूठा है-वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुराडकर 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में हुई एडवोकेट सागर वासवानी को उनके पारिवारिक मामले में जांच पड़ताल व पुछताछ करने के लिए उल्हासनगर तीन के सेंट्रल पुलिस स्टेशन में बुलाया गया था, वहां उपस्थित वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुधाकर सूराडकर के द्वारा एडवोकेट वासवानी के साथ दुर्व्यवहार करते हुए मारपीट किया गया और उनके ख़िलाफ़ झूठी एफआईआर दर्ज की किया गया है, ऐसी शिकायत एडोकेट वासवानी द्वारा किये जाने के बाद उल्हासनगर तहसील वकील संघटना के द्वारा गुरुवार 12 सितम्बर से 13 सितम्बर को दोनों दिन कामबंद आंदोलन किया गया और चोपड़ा कोर्ट के सभी वकीलों ने समर्थन देते हुए अनिश्चितकालीन कामबंद आंदोलन किया जाएगा जबतक पोलिस अधिकारी पर कार्रवाई नही की जाती तबतक आंदोलन चलेगा ऐसी जानकारी उल्हासनगर तहसील एडोकेट संघटना के अध्यक्ष छोटु पेन्थालिया द्वारा दी गयी है, उन्होंने कल्याण वकील संघटना का भी सहयोग मिलने की जानकारी दी है, बता दे कि इस विषय में महाराष्ट्र के विधानसभा सदस्य विधायक ओमप्रकाश कडू ने भी पुलिस उपायुक्त परिमण्डल 4 को पत्रव्यवहार करके पुलिस अधिकारी पर कार्रवाई करने की मांग की है,     बहरहाल एडोकेट लोगो की पुलिस उपायुक्त व सहायक पुलिस आयुक्त के साथ मिलकर कार्यवाई करने को लेकर मुलाकात करके लिखित पत्र दिया गया है, उल्हासनगर व कल्याण एडोकेट संघटना ने कहा है कि जबतक वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक पर कार्रवाई नही किया जाता है तबतक यह अनिश्चितकालीन कामबंद आंदोलन चलता रहेगा।
    वही इस विषय पर जब सेंट्रल पुलिस स्टेशन के सीनियर पीआई, सुधाकर सुराडकर से बात किया गया तो उन्होंने कहा कि यह पूरा मामला झूठा है,यह उनका पारिवारिक मामला था इसी लिए हमने उनको टाइम दिया था कि आप लोग आपस बैठकर झगड़े को खत्म करलो,जब ऐसा नही हुआ तब पुलिस ने मामला दर्ज किया है,और जब वह पुलिस स्टेशन में आये थे तब सागर वासवानी ने पुलिस को यह भी नही बताए कि वह वकील है उनके द्वारा किए गए सारे आरोप झूठा है, जब पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार ही नही किया तो मारपीट होने का कोई सवाल ही नही है !
  • बप्पा के विसर्जन के दौरान 12 लोग डूबे !

    By fast headline india →
    गणपति बप्पा मोर्या अगले बरस तू जल्दी आ के जयघोष के साथ विदा हुए बप्पा,,,,

     विसर्जन के दौरान रत्नागिरी में तीन, नासिक, सिंधुदुर्ग, सतारा जिलों में दो-दो और धुले, बुलढाणा और भंडारा ज में एक-एक व्यक्ति की डूबने से हुई मौत !

     विसर्जन को लेकर पूरे शहर में 50,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात थे ! 

    मुंबई-मुंबई समेत महाराष्ट्र में गणेश उत्सव के अंतिम दिन गुरुवार को प्रतिमा विसर्जन के दौरान 12 लोगों की डूबने से मौत हो गई। गुरुवार को समूचे महाराष्ट्र में भगवान गणेश की प्रतिमाओं को विसर्जित किया गया और इसके साथ ही 10 दिनों तक चलने वाला गणेश उत्सव ‘अनंत चतुर्दशी’ के अवसर पर संपन्न हो गया, लेकिन विसर्जन के दौरान लोगों के डूबने और लापता होने की घटनाओं ने कुछ जगहों पर माहौल को गमगीन कर दिया।
    पुलिस अधिकारियों ने बताया कि विसर्जन के दौरान रत्नागिरी जिले में तीन, नासिक, सिंधुदुर्ग, सतारा जिलों में दो-दो और धुले, बुलढाणा और भंडारा जिलों में एक-एक व्यक्ति की डूबने से मौत हो गई। इसके अलावा विसर्जन के लिए गए करीब छह अन्य लोग लापता हैं और उनके भी डूबने की आशंका है।गणेश चतुर्थी के साथ 2 सितंबर को गणपति उत्सव शुरू हुआ था। प्रतिमा विसर्जन के लिए मुंबई महानगर,राज्य की सांस्कृतिक राजधानी पुणे के विभिन्न मंडलों और प्रदेश के अन्य हिस्सों में ढोल-ताशों के साथ श्रद्धालुओं ने पारंपरिक श्रद्धा एवं उल्लास के साथ झांकियां निकालीं। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमा के विसर्जन से पहले पूजा-अर्चना की।मुंबई में गिरगांव चौपाटी, शिवाजी पार्क, जुहू, वर्सोवा और मार्वे बीच तथा कई तालाबों सहित 129 स्थानों पर प्रतिमाओं को विसर्जित किया गया। नगर पालिका के एक अधिकारी ने बताया कि दोपहर तक करीब 587 गणेश प्रतिमाएं विसर्जित की गईं। विसर्जन को लेकर पूरे शहर में 50,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे। 5,000 से अधिक सीसीटीवी कैमरों से भी झांकियों की निगरानी की गई।
  • 25 लाख का प्रतिबंधित गुटखा को क्राइम ब्रांच व एफडीए ने मिलकर पकड़ा !

    By fast headline india →
    25 लाख का प्रतिबंधित गुटखा को क्राइम ब्रांच व एफडीए ने मिलकर पकड़ा ! 

    ड्राइवर समेत दो को किया गिरफ्तार ! 

    गुजरात से हो रही गुटखा तस्करी के खेल का यह एक नमूना आया सामने ! 

    उल्हासनगर के गली गली खुलेआम बिकता है यह गुटखा ? 

    जोन चार की पुलिस द्वारा तीन दिन पहले ही चारों पुलिस ठाणे दर्ज हुआ है मामला ! 

     मुंबई-मुंबई में प्रतिबंधित गुटखा की एक बड़ी खेप को मुंबई क्राइम ब्रांच व एफडीए की संयुक्त कार्यवाई के द्वारा पकडने में बड़ी कामयाबी मिली है। यह गुटखा गुजरात से एक कंटेनर के जरिये मुंबई लाया जा रहा था। जिसे मुंबई पहुचने के पहले बोरीवली में जाल बिछाकर पकड़ा गया है। 
    गौरतलब हो कि अन्न व औषधि प्रशासन व जोन 12 के अपराध शाखा से प्राप्त जानकारी के आधार पर विभिन्न निषिद्ध खाद्य लेखों के पांच प्रतिनिधि नमूने जैसे विमल पान मसाला, शुध प्लस पान मसाला, वी -1 सुगंधित तंबाकू (3 वेरिएंट) विश्लेषण व जांच के लिये, लिये गये।प्रतिबंधित गुटखा की कुल क़ीमत 23,06,000 रुपए है। गुटखा से लदे कंटेनर बॉडी ट्रक वाहन एमएच 04 एचवाई 9672 के साथ साथ वाहन चालक सलमान, नसीम अहमद शेख जो वापी, गुजरात। के रहने वाले हैं, को भी हिरासत में लिया गया। कंटेनर की लागत लगभग 25,00,000 रुपया हैं। वाहन को सील करके जांच के लिए हिरासत में लेकर कार्यालय परिसर में सुरक्षित रूप से पार्क करा दिया गया। कार्यालय परिसर में निषिद्ध लेखों का भंडार भी रखा गया है।मामले को एफआईआर नंबर 429/2019 एयूसीड यू / एस के खिलाफ दर्ज किया गया है। दहिसर पुलिस स्टेशन में 34, 188, 272, 273,आईपीसी के 328 और एफएसएस अधिनियम की धारा में संलिप्त आरोपी को दहिसर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस कार्रवाई को एफएसओ छीरसागर द्वारा सहायक आयुक्त अजित मैत्रे के निर्देशन व सह आयुक्त शैलेश आढाव के मार्गदर्शन में किया गया। जब से गुटखा बंद हुआ तब से ही मुंबई, ठाणे,उल्हासनगर, कल्याण, अम्बरनाथ, बदलापुर, डोम्बिवली, कलवा,इन सभी जगहों पर चोरी छुपे गुटखा बेचा जाता है इसका प्रमाण कई बार हुई स्थानीय पुलिस के कार्यवाई के जरिये सामने आया है,इसका मतलब ले देकर यह गोरखधंधा को अंजाम दिया जा रहा है यही कारण है कि इतने बड़े पैमाने पर गुटखा लाने का काम किया जा रहा है !
  • उल्हासनगर विधानसभा से आरपीआई का ही उम्मीदवार रहेगा -रामदास आठवले

    By fast headline india →
    उल्हासनगर विधानसभा से आरपीआई का ही उम्मीदवार रहेगा -रामदास आठवले 

     आयोजक व साउंड सिस्टम के मालिक पर पुलिस ने दर्ज की मामला ! 

     ध्वनि प्रदूषण जैसे कठोर नियम के बावजूद केंद्रीय मंत्री आठवले ने तोड़ा है कानून, इसलिए इनके खिलाफ दर्ज हो मामला-हिराली फाउंडेशन 

    उल्हासनगर- उल्हासनगर में 9 सितंबर की शाम हुई रैली में आरपीआई सुप्रीमो व केंद्रीय सामाजिक न्यायमंत्री रामदास आठवले कहा है कि उल्हासनगर विधानसभा सीट से इस बार आरपीआई का ही उम्मीदवार मैदान में उतरेगा यह तय है,इसका मतलब भगवान भालेराव उल्हासनगर विधानसभा की से विधायकी चुनाव लड़ने का रास्ता काफी हद तक साफ हो गया है, वही ध्वनि प्रदूषण जैसे कठोर नियम के बावजूद रामदास आठवले ने उल्हासनगर में खुद इस नियम को तोड़ मामला सामने आया है. इस प्रकरण में उल्हासनगर पुलिस ने कार्यक्रम के आयोजक व साउंड सिस्टम के मालिक के विरुद्ध मामला दर्ज किया है. 
    गौरतलब हो कि उल्हासनगर विधानसभा चुनाव के लिए आरपीआई आठवले गुट की तरफ से भगवान भालेराव ही एकमात्र उम्मीदवार होगे. इस तरह की घोषणा करने के लिए उल्हासनगर के गोल मैदान में एक महासम्मेलन का आयोजन किया गया था, इसके लिए बड़ी संख्या में कार्यकर्ता और पार्टी के पदाधिकारी उपस्थित थे. कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री रामदास आठवले सभामंडप में 10 बजे तक पहुंचे नहीं थे, जिसके कारण कार्यक्रम के आयोजक भगवान भालेराव परेशान हो गए और उन्होंने 10 बजने में 5 मिनट बाकी रहने पर अपना भाषण शुरू कर दिया, लेकिन 10 बजते ही पुलिस ने लाउडस्पीकर बंद कर दिए. तभी थोड़ी देर में सभास्थान पर पहुंचे आठवले ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेश को ठुकराते हुए 10 बजकर 20 मिनट पर कार्यकर्ताओं के आग्रह पर अपना भाषण शुरू किया. अपने भाषण में उन्होंने पुलिस की प्रशंसा करते हुए उनका सहयोग मिलने की बात भी कही, लेकिन कार्यकर्ताओं द्वारा पुलिस पर दबाव बनाकर लाउडस्पीकर मशीन शुरू होते देखा गया. जिसकी वजह से कार्यक्रम खत्म होते ही सहायक पुलिस आयुक्त धुला टेले के आदेश पर ध्वनि यंत्र पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिए. इसके अलावा कार्यक्रम के आयोजकों पर मामला दर्ज किया गया है ऐसी जानकारी टेले ने दी है.        आगामी विधानसभा चुनाव में युति में जिसके पास ज्यादा सीटें होगी उसी का मुख्यमंत्री होगा, ऐसी जानकारी भाषण के दौरान आठवले ने दी. इसके अलावा भाजपा को ही ज्यादा सीटें मिलेंगी ऐसा विश्वास भी उन्होंने प्रकट किया. सीटों के बंटवारे में ढाई ढाई साल मुख्यमंत्री का फार्मूला यशस्वी नहीं होगा, यह कहते हुए उन्होंने आगे यह भी बताया कि शिवसेना को उपमुख्यमंत्री पद मिल सकता है, इसके लिए उद्धव ठाकरे जिसकी तरफ इशारा करेंगे वही अंतिम उम्मीदवार होगा. अपने अध्यक्षीय भाषण के दौरान आरपीआई जिल्हाध्यक्ष भगवान भालेराव कहा की मुझपर आठवले साहेब ने जो विश्वास दिखाया है में उसे सिद्ध करके दिखाऊँगा मै अपने विधानसभा का सबसे ज्यादा से ज्यादा विकाश करने का प्रयत्न करने की कोशिश करूंगा . इस कार्यक्रम में केंद्रीय उपाध्यक्ष सुरेश सावंत, बी बी मोरे, अण्णा रोकडे, नगरसेवक मंगल वाघे,  बलराम गायकवाड,  शमशाद अली , ब्रिजेश श्रीवास्तव, समाधान निकम, संतोष भगवानी , महिला आघाडी की मंगला कदम , सुरेखा पवार समेत बड़ी संख्या में आरपीआई कार्यकर्ते उपस्थित थे .