• बप्पा के विसर्जन के दौरान 12 लोग डूबे !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    गणपति बप्पा मोर्या अगले बरस तू जल्दी आ के जयघोष के साथ विदा हुए बप्पा,,,,

     विसर्जन के दौरान रत्नागिरी में तीन, नासिक, सिंधुदुर्ग, सतारा जिलों में दो-दो और धुले, बुलढाणा और भंडारा ज में एक-एक व्यक्ति की डूबने से हुई मौत !

     विसर्जन को लेकर पूरे शहर में 50,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात थे ! 

    मुंबई-मुंबई समेत महाराष्ट्र में गणेश उत्सव के अंतिम दिन गुरुवार को प्रतिमा विसर्जन के दौरान 12 लोगों की डूबने से मौत हो गई। गुरुवार को समूचे महाराष्ट्र में भगवान गणेश की प्रतिमाओं को विसर्जित किया गया और इसके साथ ही 10 दिनों तक चलने वाला गणेश उत्सव ‘अनंत चतुर्दशी’ के अवसर पर संपन्न हो गया, लेकिन विसर्जन के दौरान लोगों के डूबने और लापता होने की घटनाओं ने कुछ जगहों पर माहौल को गमगीन कर दिया।
    पुलिस अधिकारियों ने बताया कि विसर्जन के दौरान रत्नागिरी जिले में तीन, नासिक, सिंधुदुर्ग, सतारा जिलों में दो-दो और धुले, बुलढाणा और भंडारा जिलों में एक-एक व्यक्ति की डूबने से मौत हो गई। इसके अलावा विसर्जन के लिए गए करीब छह अन्य लोग लापता हैं और उनके भी डूबने की आशंका है।गणेश चतुर्थी के साथ 2 सितंबर को गणपति उत्सव शुरू हुआ था। प्रतिमा विसर्जन के लिए मुंबई महानगर,राज्य की सांस्कृतिक राजधानी पुणे के विभिन्न मंडलों और प्रदेश के अन्य हिस्सों में ढोल-ताशों के साथ श्रद्धालुओं ने पारंपरिक श्रद्धा एवं उल्लास के साथ झांकियां निकालीं। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी इको फ्रेंडली गणेश प्रतिमा के विसर्जन से पहले पूजा-अर्चना की।मुंबई में गिरगांव चौपाटी, शिवाजी पार्क, जुहू, वर्सोवा और मार्वे बीच तथा कई तालाबों सहित 129 स्थानों पर प्रतिमाओं को विसर्जित किया गया। नगर पालिका के एक अधिकारी ने बताया कि दोपहर तक करीब 587 गणेश प्रतिमाएं विसर्जित की गईं। विसर्जन को लेकर पूरे शहर में 50,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे। 5,000 से अधिक सीसीटीवी कैमरों से भी झांकियों की निगरानी की गई।
  • No Comment to " बप्पा के विसर्जन के दौरान 12 लोग डूबे ! "