• उल्हासनगर मनपा के आयुक्त का देश के प्रधामंत्री को दिखाया ठेंगा ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उल्हासनगर मनपा के आयुक्त का देश के प्रधामंत्री को दिखाया ठेंगा ? 

    फीफा फुटबॉल टूर्नामेंट के लिए 30 लाख रूपए की लागत को किया इनकार ! 

    मनपा प्रशासन द्वारा ठेकेदार को बिल देने किया इंकार ! 

    नही हुआ कोई फुटबॉल मैच फिर क्यो दे बिल-मनपा प्रशासन 

    मनपा के पूर्व लेखा अधिकारी ने बिल बुक रिकार्ड से फाड़ दिया है पन्ना ! 

    उल्हासनगर -उल्हासनगर महानगरपालिका ने मनपा के द्वारा 2017 में स्कूल और कॉलेज स्तर पर फीफा फुटबॉल मैचों का आयोजन किया गया था, इस आयोजन में 30 लाख रुपए खर्च हुआ था लेकिन मनपा प्रशासन ने अब ठेकेदार द्वारा प्रस्तुत बिल पर आपत्ति जताते हुए ठेकेदार को बिल देने से इनकार कर दिया है। 
    बता दे कि दो साल पहले, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने स्थानीय स्व-सरकारी संगठनों को देश में फुटबॉल मैच आयोजित करने का निर्देश दिया था, ताकि वे देश में शहर से गावों तक फुटबॉल का खेल पहुंच सकें। तदनुसार, फुटबॉल को मनपा के सभी स्कूलों में वितरित किया गया था। फुटबॉल मैच स्व.बालासाहेब ठाकरे कॉम्प्लेक्स में खेले गए थे और तत्कालीन महापौर मीना आयलानी और मनपा आयुक्त राजेंद्र निंबालकर के नेतृत्व में इसका उद्घाटन किया गया था। खेल अधिकारी बालासाहेब नेटके के मार्गदर्शन में हुए इस टूर्नामेंट के आयोजन के उद्घाटन समारोह में क्रीड़ा सभापति रगडे और अतिरिक्त आयुक्त डॉ. विजया कंठे सहित शहर के कई राजनीतिक और खेल क्षेत्र के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे, जिसमें सैकड़ों स्कूली छात्रों ने भाग लिया। टूर्नामेंट के आयोजन का ठेका सिद्धांत, ओम मनीष और धनलक्ष्मी एंटरप्राइजेज को टैरिफ के अनुसार मिला था। काम पूरा होने पर, ठेकेदार द्वारा लेखा विभाग को भुगतान का बिल जमा किया गया। तत्कालीन मुख्य लेखाकार दादा पाटिल ने घोषित किया था कि ये भुगतान लेखा विभाग में उपलब्ध नहीं हैं। वर्तमान आयुक्त, सुधाकर देशमुख ने ठेकेदार को ये भुगतान देने से इनकार कर दिया और कहा कि ऐसी कोई प्रतियोगिता नहीं हुई थी। इसलिए, ठेकेदार ने आयुक्त को टूर्नामेंट की तस्वीरों और देयकों की प्रतिलिपि प्रस्तुत किया लेकिन आयुक्त अपने निर्णय अडिग रहते हुए ठेकेदार के पत्र को नजरअंदाज कर रहे हैं। इसलिए उल्हासनगर मनपा के इस फीफा फुटबॉल भुगतान पर विवाद बढ़ गया है। जल्द ही इस पर ठोस निर्णय नही लिया गया सभी ठेकेदार मिलकर आंदोलन करने की चेतावनी भी दिया गया है !
  • No Comment to " उल्हासनगर मनपा के आयुक्त का देश के प्रधामंत्री को दिखाया ठेंगा ? "