• उल्हासनगर की सत्ता पर टीओके का होगा मास्टर स्टोक -टीओके प्रवक्ता निकम

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    उल्हासनगर की सत्ता पर टीओके का होगा मास्टर स्टोक -टीओके प्रवक्ता निकम

     शिवसेना इस मास्टर स्टोक का फायदा उठाने की जुआड में जुटी ! 

    सत्ता बनाना व बिगाड़ने भर की है टीओके में ताकत ?

     भाजपा ने विधानसभा चुनाव में टीओके से की थी गद्दारी -निकम 

    भाजपा को अपना महापौर बनाने के कांटो से भरा ताज पहने की आ सकती नोबत !

     साई पार्टी की गुगली भी बनी भाजपा के लिए बड़ी मुश्किलें !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में भाजपा की पहली बार सत्ता बनी इसमें भाजपा टीओके की युति का बहुत बडी भूमिका है, वही विधानसभा चुनाव में भाजपा द्वारा टीओके के साथ किया गया धोखा अभी तक शहर वाशी भूल नही पाये है,वही नगरसेवकों पर चाबुक चलाने वाले राज्य मंत्री रविन्द्र चौहान का पावर खत्म हो जाने से अब उन्हें अपने नगरसेवकों के ही टूटने का डर सताने लगा है, भाजपा के गट नेता जमनु पूरस्वानी,महेश सुखरामनी, मीना सोंडे,तथा उत्तरभारतीयों के कद्दावर नेता संजय सिंह चाचा की माताजी चंद्रवती सिंह महापौर की दावेदार है।जब कि अब भाजपा के साथ सत्ता में सहयोगी साईपक्ष भी महापौर अपनी पार्टी का बनाने का बीड़ा उठा लिया है।सभागृह नेता शेरी लुंड ने टोनी सिरवानी का नाम आगे किया है,वही शिवसेना की तरफ से राजेंद्र चौधरी व धनंजय बोडारे के नाम की चर्चा है।        
    गौरतलब हो कि आगामी 18 नवम्बर को महापौर पद का नामंकन भरा जाना है और 22 तारीख को चुनाव होना है,इसलिए भाजपा ,शिवसेना,टीओके तथा साईपक्ष चारो प्रमुख पार्टियों ने लामबंदी शुरू कर दी है।अब यहां बता दे कि टीओके के नगरसेवक भाजपा के कमल सिम्बल पर चुनकर आये हुए है इसलिए भाजपा "पार्टी व्हिप" को लेकर आश्वस्त है कि टीओके के नगरसेवक पार्टी व्हिप का उल्लंघन नही करेगे।जब कि विधानसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर निर्वाचित वर्तमान महापौर पंचम कालानी,शुभांगनी निकम,सुजीत चक्रवर्ती,नारायण पंजाबी,दीपा पंजाबी,नरेंद्र कुमारी ठाकुर,डिम्पल ठाकुर,व टीओके समर्थक शिवाजी रगड़े,सविता तोरने बेखौफ होकर एनसीपी उम्मीदवार ज्योती पप्पू कालानी का काम किया था।यह बात उल्हासनगर से लेकर डोम्बिवली तक सताने लगा है।             यदि बगावत नही हुई तो सत्तापक्ष भाजपा का संख्याबल देखा जाए तो इस प्रकार है। भाजपा;: 31,साईपक्ष,11,रासप,1= 43  जब कि सत्ता बनाने के लिए 39 मत अनिवार्य है। इस बार महापौर चुनाव को लेकर विपक्ष भी पूरी तरह कमर कस चुकी है,और विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी के कद्दावर नेता राजेंद्र चौधरी व धनंजय बोडारे प्रबल दावेदार माने जा रहे है।          यदि सत्तापक्ष में बगावत हुई तो संख्याबल इस तरह का हो सकता है। शिवसेना,25,एनसीपी,4,रिपाई (आ) 3,भारिप,1कांग्रेस,1,टीओके,7=41  इस आंकड़े के तहत शिवसेना की सत्ता बन सकती है, बता दे कि साईपक्ष में दो गुट हो चुका है एक कि कमान पूर्व राज्यमंत्री रविन्द्र चौहान के इशारे पर शेरी लुंड संभाल रहे है तो दूसरे गट की कमान खुद साईपक्ष प्रमुख जीवन इदनानी संभाल रहे है,गौर तलब हो कि जीवन इदनानी की पकड़ और पार्टी को कमजोर करने की पूरी छूट रविन्द्र चौहान ने सभागृह नेता शेरी लुंड को दे रखी थी।इसी के चलते शेरी लुंड ने अपने भाई अमर लुंड को अधिकृत रूप से भाजपा में पक्ष प्रवेश करवा दिया था,यही नही टोनी सिरवानी को आगे कर दूसरा गट भी बनवाया जिसमे 5 लोग नगरसेवक समाविष्ट है जब कि 6 लोग जीवन इदनानी के साथ है,महापौर की दावेदारी जीवन इदनानी भी कर रहे है,यही नही जीवन इदनानी शिवसेना नेता व पालकमंत्री एकनाथ शिंदे के लगातार संपर्क में भी है, यदि जीवन इदनानी को भाजपा से लॉलीपॉप मिला तो वह शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे से मिलकर सत्ता परिवर्तन करने में कोई कोर कसर नही छोड़ेंगे।बहरहाल 22 तारीख को यह महापौर का ताज किसके सिर बंधता है यह देखना होगा और टीओके क मास्टर स्टोक पर भी पूरे शाहरवाशियो की नजरें टिंकी हुई है। 
  • No Comment to " उल्हासनगर की सत्ता पर टीओके का होगा मास्टर स्टोक -टीओके प्रवक्ता निकम "