• महाराष्ट्र के राज्यमंत्री बच्चू कडू ने उल्हासनगर के भ्रष्टाचारी एसडीओ गिरासे को पिलाया कड़वा घूंट !

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    महाराष्ट्र के राज्यमंत्री बच्चू कडू ने उल्हासनगर के भ्रष्टाचारी एसडीओ गिरासे को पिलाया कड़वा घूंट ! 

    354 विवादित सनद की महसूल विभाग ने दिए जांच करने के आदेश ! 

    60 दिनो में जमावबंदी आयुक्त देना होगा जांच की रिपोर्ट ! 

    हजार करोड़ रुपए से बड़ा होगा यह स्कैम जांच के बाद शहर की नामी गिरामी लोगो चेहरों से उठ सकता है नकाब ? 

    उल्हासनगर - उल्हासनगर के विवादीत व भ्रष्ट्राचारी एसडीओ जगतसिंग गिरासे इन्होंने सरकारी भूखंडों की सनद प्राइवेट पर्सनो को सरकारी प्रक्रिया पूर्ण न करते हुए देने का कारनामा किया है, इसी मामले में महाराष्ट्र के राज्यमंत्री बच्चू कडू के द्वारा जांच कराया जा रहा है . इसके चलते शहर के धनपसूयो जिन्होंने विवादित सनद के इस घोटाले को मिलकर अंजाम दिया है उनमें खलबली मच गई है और उनकी रातों की नींद हराम हो गई है . गौरतलब हो कि पिछले साल में ही शहर की सरकारी भूखंड का मालिकाना हक की सनद इन्होंने एक निजी ब्यक्ति को देने का काम एसडीओ जगतसिंग गिरासे के द्वारा किया गया इस विवाद की शुरुआत वही से शुरू हुआ. उल्हासनगर के सिंधी लोगो श्रद्धा स्थान कैम्प 5 के वसनशाह दरबार के पीछे के रास्ते के भूखंड पर भी निजी व्यक्ती को सनद दे दिया गया था.जिसके बाद उसके विरोध में एसव्हीएस कोर कमिटी ने आंदोलन किया और एसडीओ कार्यालय के किये गए घोटाले बाहर आने शुरू हुए . उल्हासनगर कैम्प 4 में विठ्ठलवाडी पुलिस स्टेशन के पास, एनसीटी विद्यालय के सामने ही पुलिस की दो पुराने कॉलोनी है. एनसीटी विद्यालय के सामने बैरक 1257 और 1258 में जिसमें 21 पुलिस हवालदार के परिवार रहते थे .जिसको महाराष्ट्र शासन की सार्वजनिक बांधकाम विभाग (पीडब्ल्यूडी) ने दो साल पहले ही इस कॉलोनी को धोकादायक घोषित किया जिसके चलते रूम पूरे खाली थे. इसी भूखंड की सनद को एक व्यक्ती को देने पर विवाद हुआ और बाद में यह सनद रद्द करके ठाणे पुलिस आयुक्त को दिया गया. ऐसे ही अनेक ब्यक्तियों को सनद के भूखंड पर नए सनद देने का मामले पर हाई कोर्ट ने भी जांच करने के आदेश दिए है . जिसके चलते गिरासे की भूमिका संदेहास्पद होने के चलते विधानसभा चुनाव में उनकी बदली हुई थी.उस बदली को स्थगित करने लिए मैट में गए और उनको फिर से उसी पद पर भेज दिया गया . उन्होंने माहिती अधिकार कार्यकर्ते के द्वारा मांगी गई जानकारी तो दी नही उल्टे उनको जवाब में ब्लैकमेल लिखकर उत्तर दिया है. इन सारे विषयो की शिकायतों को ध्यान में रखते हुए जागृत नागरिको ने प्रहार जनशक्ती पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष बच्चू कडू इनके संस्था में इस पूरे मामले की शिकायत किया . इन शिकायतों के बाद कल्याण तालुकाध्यक्ष स्वप्नील पाटील इन्होंने जगतसिंग गिरासे किये गए भ्रष्टाचार के मामले की शिकाय बच्चू कडू के पास किया. इन सारी शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए राज्यमंत्री बच्चू कडू इन्होंने महसूल मंत्री बालासाहेब थोरात के लिखित शिकायत किया. उनकी शिकायत पर महसूल विभाग के सचिव किशोर राजे निंबालकर इन्होंने जगतसिंग गिरासे के द्वारा जारी किए गए सभी 354 सनद मामले के जांच करने का आदेश जमावबंदी आयुक्त अरुण अभंग इनको दिया है.इस विषय की जानकारी स्वप्नील पाटील इन्होंने अपने द्वारा ली गई पत्रकार परिषद में बताई है. इस विषय पर स्वप्नील पाटील ने कहा है कि उल्हासनगर शहर के सरकारी भूखंड को कौड़ियों के भाव में बेचकर शासन की तिजोरी न भरते हुए इसका फायदा निजी लोगो पहुँचाया जा रहा है . शहर के लोगो को सुविधा देने के लिए भविष्य में इन भूखंडों की जरूरत है. इस लिए इसके विरोध में आवाज उठाना जरूरी था इसी लिए प्रहार जनशक्ती ने इस लड़ाई की शुरुवात किया है.यह स्कैम हजार करोड़ो से भी ज्यादा का है इसमें शहर के कुछ धनपसू लोगो का भी हाथ है जो जांच के बाद सामने आने की उम्मीद है !
  • No Comment to " महाराष्ट्र के राज्यमंत्री बच्चू कडू ने उल्हासनगर के भ्रष्टाचारी एसडीओ गिरासे को पिलाया कड़वा घूंट ! "