• नरेश रोहरा शराब तस्कर, गोल्ड तस्कर, निकला बलात्कारी ?

    Reporter: fast headline india
    Published:
    A- A+
    नरेश रोहरा शराब तस्कर, गोल्ड तस्कर, निकला बलात्कारी ?

     पत्रकार पर खंडनी का बेबुनियाद मामला दर्ज करवाने वाले रोहड़ा पर बलात्कर,मारपीट,कॉपी राइट एक्ट,खंडनी,जबरन वसूली,धमकी के दर्जनों मामले पहले ही है दर्ज !

    जोन चार के पुलिस अधिकारियो की व अवैध धंधों की वसूली सूची बनाकर शिकायत करके पुलिस को ब्लैकमेल करने का रोहरा के कारनामा भी हुआ उजागर !

     नरेश रोहड़ा पर दर्जनों मामले के बाद भी अभीतक नही हुआ तड़ीपार ? 

    उल्हासनगर शहर के कौन है वह मुखबिर जो पहले पकड़वाते थे गोल्ड स्मगलर के सोना और अब खुद बने गोल्ड तस्कर जल्द उठेगा उनके चेहरे से नकाब ?


     उल्हासनगर-उल्हासनगर में अपने आप को भाजपा का उपाध्यक्ष बताने वाला नरेश रोहड़ा पर बलात्कार,खंडनी,जबरन वसूली,मारपीट,धमकाना व कॉपी राइट एक्ट जैसे दर्जनों संगीन मामले हिल-लाइन पुलिस स्टेशन सहित अन्य पुलिस स्टेशन की हद में दाखिल है।दर्जनों संगीन मामले के बावजूद हिल-लाइन पुलिस नरेश रोहड़ा पर "मकोका" व तड़ीपार करने से उसका बचाव करते आ रही है।जल्द ही पुलिस नरेश रोहड़ा व उसके सहयोगियों पर शिकंजा कसने की तैयारी में जुट गई है। 
    गौर तलब हो कि "फस्ट हेडलाइंस इंडिया" ने शहर में गोल्ड तस्करी का गोरखधंधा करने वाले कई चेहरों को बेनकाब किया था जिसमे गोल्ड तस्कर नरेश रोहड़ा भी शामिल था,नरेश रोहड़ा हाल ही में कई बुकियों का पैसा ढकारने के लिए दीपक सोंडे पर खंडनी का मामला दर्ज करवाया जिसके बाद जिन बुकियों का उसके ऊपर पैसा था वह बुकी पुलिस के पचड़े में फसने से अच्छा समझ इससे पैसा मांगना बन्द कर दिए।इसके खिलाफ खबरे प्रकाशित करने से बौखलाये रोहड़ा ने हिल-लाइन पुलिस के सहायक पुलिस निरीक्षक करौली के साथ मिलकर धर्मेंद्र दुबे व 3 अन्य अज्ञात पर 80 हजार रूपये हप्ता मांगने का आरोप लगाया। मजे की बात तो यह है कि नरेश रोहड़ा शहर के व्यापारियों पर रौब झाड़ने के लिए 4-5 बॉडी गार्ड लेकर घूमता है।उसने अपनी फिरयाद में भी कहा कि जब वह पंजू चाय वाले के पास खाजगी सुरक्षा रक्षको के साथ चाय पी रहा था तब 3 अज्ञात लोगों ने आकर उससे धर्मेंद्र दुबे के नाम से 80 हजार रुपये की मांग की,तब रोहड़ा के बॉडी गार्ड क्या वहाँ से भाग गए थे क्या? इस मनगढ़ंत कहानी अब पुलिस के आला अफसरों को भी पता चल गई है।हालांकि पत्रकारो के शिष्ठ मंडल से बातचीत करते हुए डीसीपी प्रमोद शेवाले साहेब ने कहा कि इस मामले की सघन चौकसी की जायेगी।यही नही नरेश रोहड़ा पर दर्ज दर्जनों संगीन मामलों की फाइल भी रीओपन करने का आदेश दिया है। अहम बात यह है कि 2008 में जब पुलिस ब्लैकमेलर नरेश रोहड़ा को खड़ा नही करती थी तब नरेश रोहड़ा ने पुलिस महासंचालक को स्थानीय डीसीपी,एसीपी,सीनियर पीआय व अन्य पुलिस अधिकारियों की शिकायत करते हुए गैरकानूनी धंधों से लिए जाने वाले पैसों की सूची की शिकायत की थी।पत्रकारों के शिष्ठ मंडल ने पुलिस आयुक्त,सह.पो.आयुक्त,अपर पुलिस आयुक्त व डीसीपी को दिए पत्र में नरेश रोहड़ा के अपराधों कतार बद्ध सूची देकर उसपर मकोका लगाने की मांग की है,साथ ही पत्रकार धर्मेंद्र दुबे के ऊपर दर्ज बेबुनियाद मामले की यदि निष्पक्ष जांच नही की गई तो मंत्रालय के समक्ष भूख हड़ताल करेगे,डीसीपी प्रमोद शेवाले ने माना कि कही न कही मामला दर्ज करने की प्रकिया में जल्द बाजी की गई है इस लिए मामले की निष्पक्षता से पूरे मामले की जांच होगी और जो भी दोषी मिलेगा उसपर कड़ी कार्यवाई होगी।
  • No Comment to " नरेश रोहरा शराब तस्कर, गोल्ड तस्कर, निकला बलात्कारी ? "