• कोरोना वायरस के चलते रेलवे का बड़ा फैसला, 31 मार्च तक सभी मेल,लोकल, मेट्रो ट्रेनें बंद !

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    कोरोना वायरस के चलते रेलवे का बड़ा फैसला, 31 मार्च तक सभी मेल,लोकल, मेट्रो ट्रेनें बंद ! 

    मुंबई लोकल सेवा आम जनता के लिए 31 मार्च तक बंद !

     ट्रेन में 12 यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए जिसके बाद रेलवे ने लिया बड़ा फैसला ! 

    लोकल की यात्रा में सरकारी कर्मचारी और स्वास्थ्य कर्मी ही कर पाएंगे सफर ! 

    रेलवे ने ​बदला टिकट कैंसिल रिफंड नियम 30 दिन अंदर टिकट काउंटर से ले सकते है टिकट रिफंड का पैसा ! 

    इस दरम्यान सिर्फ मालगाड़ी सेवा रहेगी जारी ! 

    मुंबई-मुंबई भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 341 हो गई है. कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए भारतीय रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है. रेलवे मंत्रालय ने 31 मार्च तक सभी ट्रेन सर्विसेज़ को बंद कर दिया है. यानी 31 मार्च तक देश में ट्रेनें नहीं चलेंगी. मेल, सुपरफास्ट और पैसेंजर ट्रेनेंं 31 मार्च तक नहीं चलेंगी. इस दौरान केवल मालगाड़ी ही चलेंगी. रेलवे मंत्रालय के मुताबिक, 31 मार्च तक मालगाड़ियां चलेंगी. कोरोना के संक्रमण से आम जनता को बचाने के लिए यह कदम उठाया गया है.
    ट्रेनों में सामान्‍य रूप से अक्‍सर भीड़ होती है. सारे कोच खचाखच भरे रहते हैं. ऐसे में संक्रमण बहुत घातक रूप ले सकता है. रेलवे मंत्रालय के मुताबिक, न्यूनतम उपनगरीय रेल सेवाएं, कोलकाता मेट्रो 22 मार्च की आधी रात तक ही चलेंगी, इसके बाद सेवाएं 31 मार्च की आधी रात तक बंद रहेंगीबता दें कि रेलवे ने इससे पहले शनिवार 21 मार्च की रात से रविवार, 22 मार्च की रात 10 बजे तक सारी पैसेंजर ट्रेनों को निरस्‍त कर दिया गया था. रेलवे के आदेश के अनुसार 21/22 मार्च की रात से लेकर 22 मार्च की रात 10 बजे के बीच चलने वाली यात्री ट्रेनें नहीं चलेंगी.
     महाराष्ट्र सरकार ने 23 मार्च, दिन रविवार के सुबह 6 बजे से लेकर 31 मार्च तक आम लोगो के लिए मुंबई की लोकल ट्रेन सेवा को बंद कर दिया है. हालांकि मुंबई लोकल की यात्रा सभी लोगों के लिए नहीं बंद की गई है क्योंकि कई सरकारी कर्मचारी और स्वास्थ्य कर्मी भी इसकी सहायता से अपने काम के स्थानों तक जा पाते हैं. ऐसे में केवल जरूरी सेवाओ से जुड़े लोगों को ही अब अगले 8 दिनों के लिए मुंबई की लोकल रेल में यात्रा करने दी जाएगी. ट्रेन में 12 यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए जिन लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण के संदेह में अनिवार्य रूप से क्वारेंटीन में रहने को कहा गया है, वे भी ट्रेनों में यात्रा करते देखे गए हैं. रेलवे ने 12 कोरोना वायरस संक्रमित यात्री को ट्रेन में सफर करते हुए पकड़ा है. इनमें से 8 यात्रियों ने एपी संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से 13 मार्च को दिल्ली से रामाकुंडम की यात्रा की थी. दुबई से लौटे 4 लोगों ने 16 मार्च को गोदान एक्सप्रेस से मुंबई से जबलपुर की यात्रा की थी. रेलवे ने लोगों ने अपील की है कि बहुत ही ज्यादा जरूरी न हो तो पैसेंजर या लंबी दूरी की ट्रेनों से यात्रा करने से बचें.देशभर में हजारों ट्रेनें हो चुकी हैं कैंसिल कोरोना वायरस के फैलाव के ट्रेनों का कैंसिल होने का सिलसिला लगातार जारी है. उत्तर पश्चिम रेलवे ने शनिवार को 48 और ट्रेनें रद्द करने की घोषणा कर दी है. NWR 21 ट्रेनें पहले ही रद्द कर चुका है. NWR अब तक कुल 69 ट्रेनें रद्द कर चुका है. इसके अलावा देशभर में 2400 पैंसजर ट्रेनें और 1300 एक्सप्रेस ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. इन्हें फिलहाल 31 मार्च तक बंद किया गया है. रेलवे ने ​बदला टिकट कैंसिल रिफंड नियम कोरोना वायरस को लेकर सरकार द्वारा एडवाइजरी जारी करने के बाद अब इंडियन रेलवे (Indian Railway) ने भी अपने ग्राहकों को बड़ी राहत दी है. रेलवे स्टेशन और रिजर्वेशन काउंटर पर भीड़ कम करेन के​ लिए रेलवे ने​ टिकट रिफंड​ सिस्टम में कई बदलाव किए हैं. e-Ticket कैंसिलेशन और रिफंड के किसी भी नियम में बदलाव नहीं किया गया है. टिकट रिफंड रूल्स में यह नियम 21 मार्च से लेकर 15 अप्रैल 2020 के लिए लागू होगा. अगर कोई पैसेंजर टेलिफोन नंबर 139 की मदद से अपना टिकट कैंसिल करता है तो वह यात्रा के दिन से 30 दिनों के अंदर टिकट काउंटर से रिफंड प्राप्त कर सकता है. भारतीय रेलवे ने अपने यात्रियों से अपील की है कि कोरोना वायरस आपदा को देखते हुए अत्यंत आवश्यक न होने पर रेलवे स्टेशन पर आने से बचें.
  • No Comment to " कोरोना वायरस के चलते रेलवे का बड़ा फैसला, 31 मार्च तक सभी मेल,लोकल, मेट्रो ट्रेनें बंद ! "