• शहर हो रहा है 'बंद' देह व्यापार पर कोरोना नही है खौफ ?

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    शहर हो रहा है 'बंद' देह व्यापार पर कोरोना नही है खौफ ? 

    क्राइम ब्रांच ने एक गैंग के गिरोह किया पर्दाफाश ! 

    अपनी बेटी की जिंदगी खराब कर करवा रहे थे धंधा !

     मुंबई-मुंबई कोरोना वायरस से पूरी दुनिया डरी हुई है, पर मुंबई में देह व्यापारियों पर इसका कोई असर नहीं। एक गैंग मुंबई में पैकेज पर यह धंधा कर रहा था। क्राइम ब्रांच के डीसीपी अकबर पठान के अनुसार, हमने इस केस में दो लोगों को रविवार को गिरफ्तार किया। इनका सरगना तुषार दारूवाला है। 
    वह अफरीन सबा खान नामक लड़की की मदद से पिछले आठ महीने से यह काराबोर कर रहा था। दोनों आरोपी विरार के मूल निवासी हैं। दो दिन पहले सीनियर इंस्पेक्टर सागर शिवलकर और इंस्पेक्टर सचिन गवस को पक्की सूचना मिली थी कि ये लोग स्कूल जाने वाली एक नाबालिग लड़की के परिवार वालों को भरोसे में लेकर उससे देह व्यापार करवा रहे हैं। इसके बाद क्राइम ब्रांच टीम ने एक फर्जी ग्राहक से तुषार को फोन करवाया। उसने बताया कि हम नाबालिग लड़की का प्रति दिन का 40 हजार रुपये और बालिग का 20 हजार रुपये लेंगे। यदि पैकेज लोगे, तो 45 हजार रुपये दोनों के लगेंगे। 30 हजार रुपये नाबालिग के व 15 हजार बालिग के। फर्जी ग्राहक ने ‘पैकेज स्कीम’ के लिए हां की। अब सवाल उठा कि इन लड़कियों को बुलाया कहां जाए, तो आरोपियों ने कहा कि वह लोनावाला तक लड़कियों को भेज सकते हैं, बशर्ते तुम वहां होटल बुक कर दो लेकिन फर्जी ग्राहक ने उन्हें गोरेगांव में ओबेरॉय मॉल के पास बुलाया। कहा, वहां लड़कियां देखकर तय करेंगे कि कहां जाना है। कुछ मिनट बाद एक कार में बैठे पांच लोग वहां आए। इनमें एक पुरुष व चार लड़कियां थीं। सभी को सादी वर्दी में क्राइम ब्रांच टीम ने घेर लिया। जब सबसे पूछताछ हुई, तो तीन लड़कियों ने बताया कि मोटी रकम का लालच देकर तुषार और अफरीन ने उन्हें इस धंधे में झोंक दिया। तीनों लड़कियों को ग्राहक से मिली रकम का 60 प्रतिशत दिया जाता था। जांच में पता चला कि तुषार ने अपने किसी परिचित को इस बात के लिए मनाया कि तुम अपनी नाबालिग लड़की को इस धंधे में भेजोगे, तो हर महीने चार से पांच लाख रुपये की कमाई होगी। परिवार वाले उसकी बातों में आ गए और उन्होंने अपनी बेटी की जिंदगी खराब कर दी। बालिग लड़कियों को भी कहा गया था कि किसी नौकरी से ज्यादा इस लाइन में कमाई है। किसी को पता भी नहीं चलेगा और तुम लोगों को हर महीने अच्छी खासी रकम मिल जाएगी। आरोपी दो बालिग लड़कियों में से एक को क्राइम ब्रांच के फर्जी कस्टमर को देने वाले थे और दूसरे के लिए बाद में दूसरा ग्राहक तलाशते। क्राइम ब्रांच ने दो बालिग, एक नाबालिग- इन तीन लड़कियों को गिरफ्तार नहीं किया, बल्कि रेसक्यू दिखाया है। गिरफ्तार तुषार व अफरीन पर पॉक्सो व पीटा की सख्त धाराएं लगाई गई हैं, जिनमें उन्हें जमानत भी नहीं मिलेगी और क्राइम ब्रांच को उनकी प्रॉपर्टी भी जब्त करने का अधिकार होगा। बशर्ते यह साबित हो जाए कि उन्होंने देह व्यापार की कमाई से यह प्रॉपर्टी बनाई है।
  • No Comment to " शहर हो रहा है 'बंद' देह व्यापार पर कोरोना नही है खौफ ? "