Browsing "Older Posts"

  • अप्रवासी मजदूरों व पर प्रांतियो को अपने गांव जाने का रास्ता हुआ साफ--संतोष पांडेय -टीओके कार्याध्यक्ष

    By first headlines india →
    अप्रवासी मजदूरों व पर प्रांतियो को अपने गांव जाने का रास्ता हुआ साफ--संतोष पांडेय -टीओके कार्याध्यक्ष 

    उमपा के चारो प्रभाग के ऑफिस से जाकर ले सकते फार्म -

    इस पूरे मामले क्या जानकारी दी टीओके कार्याध्यक्ष संतोष पांडेय ने सुनिए उनकी जुबानी,,,,,


     उल्हासनगर महानगर पालिका क्षेत्र जिला ठाणे, महाराष्ट्र 421003 के उन लोगों का विवरण जो लॉकडाउन में फंसे हुए अपने देश, गृहराज्य में जाना चाहते वापस- 

    (ए) वर्तमान निवास स्थान 

     1) पूरा नाम: - 

     2) आयु वर्ष: - 

     3) लिंग (पुरुष / महिला): -

     4) मोबाइल नंबर: - 

     5)वर्तमान पता: - (बी) प्रस्थान का स्थान 

     1) राज्य 

     2) जिला 

    3) पूरा पता आवेदक का हस्ताक्षर 

    *आवेदक द्वारा पुरा विवरण प्रस्तुत किए जाने के तुरंत बाद पूरा नाम कलेक्टर, ठाणे को भेज दिया जाएगा,*

     *आवेदन फॉर्म वार्ड कार्यालय में उपलब्ध कराए गए हैं और ऊपर की ओर से लिखे गए आवेदन पत्र भी वार्ड कार्यालय में जमा किए जा सकते हैं,* 

    *उल्हासनगर शहर में तालाबंदी के कारण फंसे हुए कामगार, मजदूर या व्यक्ति अपने राज्य में जाना चाहते हैं* 

    *उन्हें तुरंत उपरोकत आवेदन उमनपा के वार्ड कार्यालय में जमा करना चाहिए।* 

     *ताजा और सटीक खबरों के लिए यूट्यूब पर जाकर फस्ट हेडलाइंस इंडिया को सब्सक्राइब करे।*
  • उल्हासनगर में पुलिस अधिकारी की कोरोना रिपोर्ट निकला निगेटिव !

    By first headlines india →
    उल्हासनगर में पुलिस अधिकारी की कोरोना रिपोर्ट निकला निगेटिव ! 

     फलों और सब्जियों की दुकान कल से सुबह से शुरू होकर दोपहर 2.00 बजे तक रहेगी चालू !

     कोरोना मरीजों की संख्या में नही हुई आज बढोत्तरी !

     आठ लोगो की भेजी गई कोरोना जांच की रिपोर्ट आई निगेटिव ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर मनपा क्षेत्र में परीक्षण के लिए भेजे गए आठ और व्यक्तियों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है और सभी रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई है। उनमें से एक पुलिस अधिकारी की रिपोर्ट निगेटिव होने के कारण पुलिस कर्मियों द्वारा संतोष व्यक्त किया गया था। इन रिपोर्टों को ध्यान में रखते हुए, आज शहर में कोरोना हृदय रोग के रोगियों में कोई वृद्धि नहीं हुई है। ऐसी जानकारी उल्हासनगर के मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने दी है। उल्हासनगर शहर में फॉलोअर लाइन में 28 अप्रैल 2020 को एक 87 वर्षीय मृतक महिला की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद चिंता का माहौल था। क्षेत्र के निवासियों में भी भय का माहौल था। इसके अलावा, एक पुलिस अधिकारी के परिवार के सभी सदस्यों की सकारात्मक रिपोर्टों ने भी चिंता बढ़ा दी थी। इसलिए, इन दोनों परिवारों को अलग अलग कोरोनटाइन किया गया है। चूंकि कोरोना रोग के लक्षण आम तौर पर सात दिनों के बाद दिखाई देते हैं, निकट संपर्क वाले नमूनों को अलग कर लिया जाएगा और उन्हें चार से पांच दिनों के बाद भेजा जाएगा। शहर में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए, प्रशासन भविष्य में बीमारी के प्रसार को रोकने में सक्षम होगा यदि इस तरह के लक्षण वाले लोग आगे आते हैं और खुद का परीक्षण करवाते हैं। फलों और सब्जियों को 1 मई, 2020 से कल दोपहर 2.00 बजे तक बिक्री की अनुमति दी जाएगी। हालांकि, इन फलों और सब्जियों को केवल उन विक्रेताओं को बेचा जा सकता है, जिन्हें वार्ड अधिकारी द्वारा निर्दिष्ट स्थान पर मनपा के वार्ड अधिकारी द्वारा अनुमति दी गई है। अनधिकृत या नामित परिसरों के बाहर सामान बेचने के व्यवसाय में लगे फल और सब्जियों के विक्रेताओं के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी और सभी सामग्रियों और दुकानों या ठेले को तुरंत जब्त कर लिया जाएगा और उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। सभी नागरिकों को तीन नियंत्रण क्षेत्रों के नियमों का पालन करना चाहिए, एक उल्हासनगर -5 में, एक जीजामाता कॉलोनी संभाजी चौक पर और एक फॉरवर्ड लाइन पर। इससे किसी को नुकसान पहुंचाना नहीं है बल्कि सभी की भलाई के लिए है और बीमारी को फैलने से रोकना है। इसलिए, मनपा आयुक्त ने पुलिस प्रशासन और मनपा से सभी को सहयोग करने की अपील किया है है।
  • कोरोना वैश्विक महामारी एक अरब से ज्यादा लोगो को बनाएगी अपना शिकार ?

    By first headlines india →
    कोरोना वैश्विक महामारी एक अरब  से ज्यादा लोगो को बनाएगी अपना शिकार ? 

    क्या गरीब देशों को निगलने की तैयारी में जुटा यह कोरोना महामारी !

    किन देशों को है इस महामारी सबसे ज्यादा खतरा ! 

    देखिये पूरी सनसनीखेज स्टोरी सौजन्य बाय-बीबीसी हिंदी न्यूज'''''


  • बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर का 67 वर्ष की उम्र में हुआ मौत !

    By first headlines india →
    बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर का 67 वर्ष की उम्र में हुआ मौत ! 

    दो दिन के भीतर दो बड़े कलाकार की मौत से आहत हुआ बॉलीवुड !

     ऋषि कपूर के निधन पर - अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर कहा- मैं बर्बाद हो गया... 


     मुंबई -मुंबई बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर का 67 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. इस बात की जानकारी खुद अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर दी है. अमिताभ बच्चन ने अपने ट्वीट में बताया कि ऋषि कपूर इस दुनिया को छोड़ कर चले गए हैं. इसके साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि मैं बर्बाद हो गया. बता दें कि ऋषि कपूर को बीते दिन ही हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था. उनके बड़े भाई रणधीर कपूर ने बताया था कि एक्टर को सांस लेने में परेशानी हो रही थी.
    बता दें कि 67 वर्षीय ऋषि कपूर को बुधवार सुबह उनके परिवार ने एच एन रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया. ऋषि कपूर के स्वास्थ्य के बारे में बात करते हुए उनके बड़े भाई रणधीर कपूर ने कहा, "वह अस्पताल में हैं. वह कैंसर से पीड़ित हैं और उन्हें सांस लेने में समस्या हो रही है, इसलिए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनकी हालत अब स्थिर है." बता दें कि इससे पहले तबीयत खराब होने के कारण ऋषि कपूर को फरवरी में भी हॉस्पिटलाइज्ड किया गया था. ऋषि कपूर को पहले दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती किया गया था. इस बारे में खुद एक्टर ने बताया था कि उन्हें इंफेक्शन हो गया है. लेकिन दिल्ली से मुंबई आने के बाद उन्हें वायरल फीवर की वजह से फिर से हॉस्पिटल में एडमिट करना पड़ा. बता दें कि ऋषि कपूर अपनी फिल्मों के साथ-साथ अपने विचारों के लिए भी खूब जाने जाते हैं. वह अकसर सोशल मीडिया पर समसामयिक मुद्दों पर अपने विचार साझा करते हैं. लेकिन बीते 2 अप्रैल के बाद से ही एक्टर ने एक भी ट्वीट या पोस्ट साझा नहीं की है. 
  • उल्हासनगर में कोरोना महामारी ने ली पहली बलि !

    By first headlines india →
    उल्हासनगर में कोरोना महामारी ने ली पहली बलि ! 

    उल्हासनगर में 7 कोरोना मरीजो कि कोविड अस्पताल चल रहा ईलाज ! 

    उमपा रिटायर्ड स्वच्छता कर्मी 82 वर्षीय महिला की हुई मौत !

     क्रिटीकेयर अस्पताल द्वारा हुई गलती उल्हासनगर के लिए बनेगा कोरोना क्या बम ? 

     कोरोना मरीज की डेडबॉडी कैसे सौपी गई परिवार ? 

    मनपा के ज्यादातर सफाई कर्मियों का रहने वाला है वह पूरा इलाका !

     पुलिस ने पूरे एरिया को किया सील ! 

    इस पूरे मामले पर मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने क्या कहा सुनिये उनकी जुबानी,,,,,,

     उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर में कोरोना के बम ने एक वृद्ध महिला की जान ले ली है। कैम्प 3 फाॅलवर लाईन परिसर निवासी एक 87 वर्षीय वृध्द महिला की क्रिटीकेयर अस्पताल में ईलाज के दौरान मौत हो गई है। बताया गया है कि महिला की मौत मंगलवार को हुई थी, बुधवार को उसकी कोरोना रिपोर्ट पाॅजिटीव बताई गई है। वहीं हैरानी की बात यह है कि फाॅलवर लाईन परिसर की निवासी महिला जो कि पूर्व सफाई कर्मी भी है उनका बेटा महानगरपालिका में सफाई कर्मचारी है। उपरोक्त परिसर भी घनी आबादी व झुग्गी झोपड़ों से घिरा हुआ है। प्रवीण वाईन्स के पीछे वाला परिसर सील किया गया है। अगर महिला कई लोगों के संपर्क में आयी है तो यह कोरोना बम कई लोगों पर फट सकता है। 
    उपरोक्त महिला की मौत की पुष्टि मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने कर दी है। सूत्रों ने बताया है कि मृतक के शव को कल ही परिजनों को दे दिया गया था और कहा गया था कि उन्हें यहां से ही श्मशान ले लाया जाए लेकिन वो उन्हें अपने घर ले गए।     उल्हासनगर मनपा आयुक्त के मुताबिक उल्हासनगर शहर में कोरोना का पहला मामला 19 मार्च 2020 को तब मिला जब दुबई से लौटी एक महिला कोरोना पाॅजिटीव पायी गई लेकिन तेजी से मिले उपचार के चलते उसे अगले ही सप्ताह 26 मार्च को नेगेटिव रिपोर्ट के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। 25 अप्रैल 2020 तक शहर में कोई भी कोरोना का मरीज नहीं मिला था। 25 अप्रैल को उल्हासनगर निवासी एक आरोग्य कर्मचारी जोकि मुंबई के धारावी ईलाके में एक क्लिनिक में कार्यरित था वो पाॅजिटीव पाया गया लेकिन उसका परिवार कोरोना नेगेटिव निकला। इसी तरह उल्हासनगर निवासी एक नर्स जोकि मुंबई के भाभा अस्पताल में कार्यरित है वो पाॅजिटीव पायी गई लेकिन उनके परिजन नेगेटिव पाए गए। उल्हासनगर-4 के कोविड अस्पताल में कुल 12 मरीजों का ईलाज चल रहा है जिसमें उल्हासनगर के 7 कोरोना मरीजों सहित एक कल्याण निवासी और बदलापुर के 3 मरीजों का ईलाज चल रहा है। एक वृध्द महिला को संदेह के आधार पर कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया लेकिन उसकी रिपोर्ट नेगेटिव पायी गई। 25 अप्रैल से मनपा को कई शिकायतें मिली कि कई लोग मुंबई से निकलकर सुरक्षित शहरों में पनाह के लिए घूस रहे हैं उनमें से कुछ लोगों को पकड़कर क्वारनटाईन किया गया है। लेकिन इस परिस्थित में सब पर नजर रखना पुलिस व प्रशासन के लिए भी कठिन है। ऐसे में पुलिस कर्मी भी संक्रमित हो रहे हैं। 20 मार्च से सरकारी तंत्र भी कार्य कर रहा है। कोरोना के लक्षण 14 दिनों अथवा कम से कम 7 दिनों में पता चलते हैं ऐसे में मुंबई अथवा अन्य इलाके से आए संक्रमित मरीज शहर में भी पाए जा सकते हैं जिस कारण शहर में कोरोना के मरीजों की संख्या अचानक बढ़ सकती है जैसे 26 अप्रैल 2020 को मुंबई के येलो गेट पुलिस थाने में कार्यरित उल्हासनगर निवासी पुलिस कर्मी को कोरोना पाॅजिटीव पाया गया। दो दिनों बाद 28 अप्रैल को क्वारनटाईन में रखे गए पुलिस कर्मी की पत्नी व तीन बच्चों को भी कोरोना पाॅजिटीव पाया गया हैं। बुधवार को कोरोना पाॅजिटीव वृद्ध महिला की मौत से शहर में दहशत का माहौल छा गया है।
  • टीओके ने सेंट्रल अस्पताल के डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही बरतने का आरोप !

    By first headlines india →
    टीओके ने सेंट्रल अस्पताल के डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही बरतने का आरोप !

     टीओके प्रमुख कालानी के जरिये दी गई स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे जानकारी, टोपे ने दिया जांच के आदेश ! 

    अस्पताल के सिविल सर्जन डॉक्टर शिंदे को दिया लिखित पत्र और किया कार्यवाई की मांग ! 

    नाकार विधायक मिलने के चलते शहरवाशी भुगत रहे है उसकी सजा-टीओके प्रवक्ता निकम 

    उल्हासनगर के भाजपा विधायक ने देश के प्रधानमंत्री किया अपमान ऐसे विधायक के ऊपर हो कार्यवाई-टीओके पदाधिकारी त्रिलोकानी

     इस पूरे मामले टीओके प्रवक्ता कमलेश निकम व पंकज त्रिलोकानी ने क्या कहा सुनिये उनकी जुबानी,,,, 


     उल्हासनगर. उल्हासनगर कैम्प क्रमांक तीन स्थित सरकारी सेंट्रल अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा मरीजो के प्रति दिखाई जा रही असंवेदनशीलता को लेकर टीओके ने अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए राज्य के हेल्थ मिनिस्टर राजेश टोपे से संबंधित डॉक्टरों के खिलाफ विभागीय जांच कराए जाने व दोषी डॉक्टरों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है वही उक्त मुद्दे को लेकर टीओके के एक प्रतिनिधि मंडल ने प्रवक्ता कमलेश निकम व टीओके युवा अध्यक्ष सुंदर मुदलियार, के नेतृत्व में अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ सुधाकर शिंदे से मुलाकात की और लिखित पत्र देकर दोषी डॉक्टरों पर कार्यवाई की मांग किया है ! 
    बता दे कि टीओके के प्रवक्ता  कमलेश निकम ने कहा कि स्थानीय सेंट्रल अस्पताल के संबंधित डॉक्टर की वजह से 20 अप्रैल को कुमारी प्रणाली रामेश्वर गवई नामक एक इंजीनियर लड़की की मौत हो गई है यदि समय रहते उसका इलाज शुरू कर दिया होता अथवा उसको समय पर ही अन्य हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया गया होता तो उस बच्ची की जान बच सकती है. इसी तरह प्रसूति के लिए अस्पताल आईं महिला को दो -दो बार वापस करने कर बाद उस महिला ने घर में बच्चे को जन्म दिया व मामला बढ़ने व राजनीतिक दलों द्वारा मुद्दा उपस्थित करने पर जच्चा व बच्चे को अस्पताल लाया गया जहां वह महिला व नवजात शिशु स्वस्थ्य है. मध्यवर्ती हॉस्पिटल के डॉक्टरों की उजागर होती लगातार लापरवाही की शिकायत मंगलवार को टीम ओमी कालानी प्रमुख ओमी कालानी के पत्र पर टीओके प्रवक्ता कमलेश निकम ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से की है व इस विषय पर कमलेश निकम, समाजसेवक शिवाजी रगड़े, टीओके युवा अध्यक्ष सुंदर मुदलियार, कार्याध्यक्ष पंकज त्रिलोकानी, उपाध्यक्ष गुड्डू राय, ब्रिज बिहारी शुक्ला, पीयूष वाघेला,  नरेश सालवे,  नरेश गायकवाड,  मनीष हिंगोरानी, ख्वाजा कुरेशी आदि ने अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ सुधाकर  शिंदे को एक निवेदन पत्र देते हुए इंजीनियर प्रणाली गवई का मौत का सबब बने डॉक्टर, अस्पताल आयी गर्भवती महिला को दो दो बार घर भेजने व आदिवासी बच्चे की हड्डी टूट जाने पर उसका इलाज करने में बहाने बाजी करने वाले स्टाफ पर कार्रवाई की मांग की. इस तरह सभी मामलों को लेकर टीओके नेता ओमी कालानी ने मंत्री राजेश टोपे से बात किया है ऐसा कमलेश निकम बताया और कहा की मंत्री महोदय ने ओमी कालानी को अश्वासन दिया है कि मामले को गंभीरता पूर्वक लेते हुए जांच का आदेश दिए जाएंगे.
  • उत्तर भारतीय मजदूरों को गांव ले जाने की अफवाह फैलाने वाले भाजपा पदाधिकारी व झेराक्स दुकानदार को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    By first headlines india →
    उत्तर भारतीय मजदूरों को गांव ले जाने की अफवाह फैलाने वाले भाजपा पदाधिकारी व झेराक्स दुकानदार को पुलिस ने किया गिरफ्तार ! 

    धोबीघाट परिसर में अफवाह के बाद सैकड़ों की संख्या में जमा हुए थे मजदूर ! 

    उत्तर भारतीय गरीब मजदूरों के मसीहा बनने वाले अफवाह बाजो से रहे सावधान-संतोष पांडेय टीओके कार्याध्यक्ष 

    किसी भी गरीब मजदूर को कोई परेशानी हो तो टीओके हेल्पलाइन से करे संपर्क !

     पूरे मामले पर क्या कहना है टीओके कार्याध्यक्ष संतोष पांडेय का सुनिये उनकी जुबानी,,,,,,,


  • कोरोना महामारी में उल्हासनगर के जनप्रतिनिधी क्यो बना रहे आम जनता से दूरी ?

    By first headlines india →
    कोरोना महामारी में उल्हासनगर के जनप्रतिनिधी क्यो बना रहे आम जनता से दूरी ? 

    दरबारों और संस्थाओं से भोजन के पैकेट लेकर जनता की सेवा हो रहा ढोंग, क्या खुद खाना बनाकर नही कर सकते अपने लोगो की मदत ! 

    78 चुने हुए नगरसेवक इस महामारी के समय अपने वार्डो की जनता की समस्याओं पर क्या बनाया कोई प्लान ! 

    60 हजार से ज्यादा पके भोजन के पैकेट की हर दिन शहर में हो रही सप्लाई, फिर भी गोरगरीब जनता की नही मिट रही भूख ?

     ऐसे सवालों और विभिन्न मुद्दों के जवाब पर क्या कहना उमपा स्थाई समिति चेयरमैन राजेश बधारिया का सुनिये उनकी जुबानी,,,,,,

  • उल्हासनगर में मिला कोरोना पाजोटिव मरीज !

    By first headlines india →
    उल्हासनगर में मिला कोरोना पाजोटिव मरीज ! 

     उल्हासनगर वाशियों हो जाओ सावधान नही टाइटेनिक जहाज के जैसे डूब सकता है पूरा शहर ? 

     उल्हासनगर के कोविड अस्पताल में 5 मरीजों का हो रहा है ईलाज !

     उनमें से दो मरीज बदलापुर के है शामिल ! 

     28 से 30 अप्रैल तक सब्जी व फल की दुकानें पूरी रहेगी बंद ! 

     उल्हासनगर को रखना है सुरक्षित तो बाहर से आने वाले ब्यक्ति से रखे दूरी ! 

    देखिये इस पूरे मामले पर उमपा आयुक्त देशमुख ने क्या दी जानकारी और क्या किया आवाहन सुनिये,,,,,,    

    उल्हासनगर- उल्हासनगर शहर में एक और कोरोना का मरीज मिलने से जहां हड़कंप मच गया है वहीं उल्हासनगर महानगरपालिका के आयुक्त सुधाकर देशमुख की चिंता बढ़ गई है। उन्होंने मीडिया को दिए बयान में बताया कि कैम्प 4 में भीड़ वाले ईलाके से एक कोरोना का मरीज मिला है। मनपा के आरोग्य अधिकारी डाॅ. राजा रिजवानी ने बताया है कि कैम्प चार संभाजी चौक परिसर में एक 44 वर्षीय व्यक्ति कोरोना पाॅजिटीव पाया गया है।
    सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उपरोक्त व्यक्ति पुलिस कर्मी है। पिछले करीब कुछ दिनों से उसका ईलाज कोविड अस्पताल में चल रहा था। सोमवार सुबह को उसकी रिपोर्ट पाॅजिटीव आयी है। डाॅ. रिजवानी ने बताया कि उल्हासनगर के कोविड अस्पताल में बदलापुर के भी दो मरीजों का ईलाज चल रहा है। उल्हासनगर के दो मरीज और एक नेहरू चौक परिसर की नेगेटिव पायी गई महिला को मिलाकर कुल 5 मरीजों का ईलाज कोविड अस्पताल में चल रहा है। वहीं मनपा आयुक्त ने सोमवार दोपहर 1 बजे यह आदेश निकाला है कि 28 से 30 अप्रैल तक सब्जी मंडी व फलों की विक्री को पूर्ण रूप से बंद रहेगी। वहीं मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने सोशल मीडिया पर दिए गए संदेश में कहा है कि उल्हासनगर -4 में एक भीड़ वाले इलाके जीजामाता कॉलोनी, संभाजी चौक से संक्रमित मरीज पाया गया है। उल्हासनगर में पाया गया कोरोना पॉजिटिव मरीज आज शहर के लिए बहुत चिंता का विषय है। पुलिस द्वारा दंडित किए जाने के बावजूद अनुशासन तोड़ने वालों की संख्या में भी वृद्धि हुई है। जीजामाता कॉलोनी के पास का एक बड़ा हिस्सा झुग्गी या भीड़-भाड़ वाली झोपड़ी है। इसलिए कोई भी यहां कोरोना रोग के प्रसार को नियंत्रित नहीं कर सकेगा।  मुंबई शहर में यह बीमारी तेजी से फैल रही है और हर दिन मरीजों की संख्या दोगुनी हो रही है। ठाणे और मीरा भयंदर में इसका फैलना भी बहुत चिंताजनक है। कोरोना बीमारी ने राक्षसी रूप लेना शुरू कर दिया है। इसलिए शहर को बीमारी मुक्त रखना प्रशासन के हाथ में नहीं बल्कि अनुशासित नागरिकों के हाथों में है। मुंबई और उसके उपनगरों में कोरोना के बढ़ते प्रभाव के कारण, उल्हासनगर के निवासी या उल्हासनगर के निवासियों के रिश्तेदार शहर में घुसने की कोशिश कर रहे हैं। बार-बार अपील के बावजूद, नागरिकों से कहा जाता है कि वे रिश्तेदारों के पास न जाएं और न ही रिश्तेदारों को बुलाएं। ये मामले पुलिस के नियंत्रण से बाहर हैं। गांवों में नागरिकों ने पूरा अनुशासन दिखाया है और राज्य के गांवों में यह बीमारी नहीं पहुंची है। लेकिन  शिक्षित लोगों के शहरों में दुर्भाग्य से इसका पालन कम हो रहा है। शहर में आवश्यक सेवाओं के दुकानदारों और सब्जी विक्रेताओं के लिए कई नियम निर्धारित किए गए हैं। प्रशासन उन पर नियमों का पालन करने का दबाव डाल रहा है। लेकिन न तो दुकानदार और न ही ग्राहक अनुशासन को लेकर गंभीर है। प्रशासन के लिए सब कुछ रोकना कभी भी संभव नहीं है। शिकायतें इसलिए की जाती हैं क्योंकि लोग अनुशासन का पालन नहीं करते हैं, लेकिन अनुशासन का पालन नहीं करने और देखने वालों की संख्या बढ़ रही है और अनुशासन का पालन करने वालों की संख्या कम हो रही है। नतीजतन, पुलिस और प्रशासनिक कर्मचारियों, जो मूल रूप से सीमित हैं, पर तनाव बढ़ रहा है और बीमारी नियंत्रण पर काम करने की तुलना में शिकायतों को हल करने में अधिक समय लगता है।    शहरवासियों के हाथ से समय अभी तक नहीं गुजरा है। हम अभी भी अपने क्षेत्र के लोगों को अनुशासित कर सकते हैं। शहर तभी बच सकता है जब हम कम से कम 20 मई तक इस बीमारी को नियंत्रण में रखें। अन्यथा यह कहना मुश्किल है कि इस शहर को कौन बचाएगा। राज्य में नगर निगमों में से एक में कोरोना संक्रमण के कारण निगम के चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी को छोड़ दिया गया है। कई शहरों में डॉक्टर और नर्स कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। इसलिए, यह गारंटी देना बहुत मुश्किल है कि यह प्रणाली कितने दिनों तक चल सकती है।  देशमुख ने कहा कि मैं बहुत चिंतित हूं। प्रशासन अब सभी उपाय करके लोगों की प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहा है। हालांकि, जनता से कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसलिए नियमों को पालन कर आपकी सुरक्षा आपके हाथ है।
  • ठाणे जिल्हा के लोगो में कोरोना संक्रमण का सबसे अच्छा वाहन बनता जा रहा बेस्ट बस ?

    By first headlines india →
    ठाणे जिल्हा के लोगो में कोरोना संक्रमण का सबसे अच्छा वाहन बनता जा रहा बेस्ट बस ? 

    सुबह और शाम आप कल्याण बदलापुर रोड पर बड़ी संख्या में वेस्ट और एस,टी बसों को आते जाते ! 

    बीएमसी , वेस्ट, मुंबई पुलिस, ठाणे पुलिस, फायर ब्रिगेड, केईएम अस्पताल, सायन अस्पताल, नायर अस्पताल में आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग !

     दूसरे देशों में इस तरह की सेवाओं से जुड़े लोगों को फैमली से दूर रखने की गई है ब्यवस्था ? 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर पिछले एक हफ्ते में, उल्हासनगर, अंबरनाथ और बदलापुर में कोरोना संक्रमित रोगियों की सूचना मिली है। चूंकि ये मरीज मुंबई में आवश्यक सेवाओं से जुड़े हुए हैं, वेस्ट बस सेवा, जो उन्हें घर से मुंबई ले जाता और ले आता है, अब मध्यम वर्ग के शहरों में कोरोना संक्रमण का वाहन बन रहा है।
     बता दे कि मुंबई अमीरों का शहर है। परिणामस्वरूप, मजदूर वर्ग के लिए इस शहर में घर का खर्च वहन करना संभव नहीं है। नतीजतन, कर्मचारियों ने उल्हासनगर, अंबरनाथ और बदलापुर में अपने घर बना लिए हैं। इनमें से अधिकांश नौकरीपेशा लोग मुंबई महानगरपालिका , वेस्ट, मुंबई पुलिस, ठाणे पुलिस, फायर ब्रिगेड, केईएम अस्पताल, सायन अस्पताल, नायर अस्पताल आदि जैसी आवश्यक सेवाओं में काम कर रहे हैं। वेस्ट को उन्हें बदलापुर, अंबरनाथ, उल्हासनगर से सीधे मुंबई ले जाने और उन्हें घर वापस भेजने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसलिए, सुबह और शाम आप कल्याण बदलापुर रोड पर बड़ी संख्या में वेस्ट और एस,टी देख सकते हैं। अब यह पता चला है कि ये दोनों परिवहन सेवाएं कोरोना संक्रमित आपातकालीन सेवा कर्मियों को ला रही हैं। दो दिन पहले, मुंबई महानगरपालिका के प्रसूति अस्पताल में काम करने वाले दो लोगों को कोरोना अनुबंधित किया गया था। दोनों मरीज बदलापुर पश्चिम क्षेत्र में रहते हैं और दोनों प्रभावित मरीजों को मुंबई के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों मरीज मुंबई पहुंचने और घर लौटने के लिए वेस्ट बस की सेवाओं का लाभ उठा रहे थे। उल्लेखनीय है कि बदलापुर नगरपालिका परिषद के महापौर प्रियेश जाधव द्वारा यह मामला मुख्यमंत्री के ध्यान में लाया गया है। इसने उन सरकारी कर्मचारियों को भी सुविधा उपलब्ध कराने का आदेश दिया है जो बदलापुर में ड्यूटी पर हैं लेकिन शहर से बाहर रहते हैं। पिछले शुक्रवार को, अंबरनाथ शहर के पूर्वी हिस्से में एक कोरोनरी हृदय रोग का मरीज पाया गया था। यह मरीज मुंबई मनपा में कार्यरत है। दो दिन पहले उल्हासनगर कैंप पांच के हिललाइन इलाके में रहने वाला एक 37 वर्षीय व्यक्ति कोरोना से संक्रमित था। मरीज मुंबई के एक निजी अस्पताल में काम कर रहा था। यह मरीज मुंबई से उल्हासनगर तक वेस्ट बस से भी प्रतिदिन यात्रा कर रहा था। परिणामस्वरूप, उल्हासनगर के लोग अब मांग कर रहे हैं कि वेस्ट की सेवाओं को बंद कर दिया जाए और जो आवश्यक सेवाएं प्रदान करते हैं, उन्हें मुंबई में समायोजित किया जाए। इटली, स्पेन और यूएसए जैसे विकसित देशों में आवश्यक सेवाओं में काम करने वाले डॉक्टर, पुलिस, नर्स और वार्ड बॉय को कोरोनरी हृदय रोग के कारण उनके परिवारों से अलग कर दिया गया है। हमारे देश में, विशेष रूप से मुंबई में, जो लोग इन आवश्यक सेवाओं में अपनी जान जोखिम में डालते हैं, कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। यदि कोरोना संकट उनके परिवार और समुदाय के प्रतिनिधियों से प्रसारित होता है तो कोरोना संकट समाप्त हो जाएगा। इसने वेस्ट की सेवाओं के तत्काल सीमांकन और सरकार को यह सुनिश्चित करने के लिए विशेष प्रयास करने की आवश्यकता की है कि आपातकालीन सेवा में काम करने वाला व्यक्ति उस शहर में रहता है जहां वह निवास करता है या उस शहर में रहता है जहां वह सेवा प्रदान करता है।
  • टीओके कार्याध्यक्ष संतोष पाडेय व उनकी टीम के जरिये चार सौ गरीबों को बाटा गया राशन !

    By first headlines india →
    टीओके कार्याध्यक्ष संतोष पाडेय व उनकी टीम के जरिये चार सौ गरीबों को बाटा गया राशन ! 

    टीओके प्रमुख कालानी से प्रेणना लेते हुए पांडेय की टीम ने अपने जमा किये पैसो से गरीबो किया मदत ! 

    पांडेय टीम हर दिन दरबारो की मदत से सात सौ गरीबो खिला रही है खाना !

     अभी तक 17 सौ गरीबो को बाटा गया है राशन सामग्री !

     इस पूरे मामले पर क्या कहना है टीओके कार्याध्यक्ष पांडेय का सुनिये उनकी जुबानी,,,,, 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर के टीओके कार्याध्यक्ष संतोष पांडेय व उनकी टीम ने रविवार को धोबीघाट एक नंबर में चार सौ गरीबो को मुफ्त राशन सामग्री बाटने का काम किया है अभीतक उनकी टीम ने लगभग 17 सौ गरीबो को राशन सामग्री बाट चुकी है ऐसा टीम के जरिये बताया गया है !
    बता दे कोरोना महामारी के चलते देश में एक महीने से लॉक डाउन चल रहा है जिसके चलते हर दिन कमाकर अपना पेट भरने वाले गरीबो को इसमें सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है,टीओके प्रमुख ओमी कालानी के जरिये गरीबो के घरों में मुफ्त सेनिटराइज करने का काम शुरू किया उसी प्रेणना लेते हुए टीओके कार्याध्यक्ष संतोष पांडेय ने अपने कुछ दोस्तों को लेकर एक टीम बनाई और टीम के लोगो ने मिलकर जो पैसा जमा किया उसके जरिये राशन लेकर गरीबो में वितरित करने काम पिछले कुछ हप्तों से किया जा रहा है रविवार को धोबीघाट परिसर के चार सौ गरीबो राशन सामग्री बाटा गया है, इस टीम ने अभी तक 17 सौ गरीबो को राशन सामग्री वितरित किया है और आगे भी यह कार्यक्रम जारी रहेगा, इनकी सेवा वही नही खत्म हुई थायरा सिंह दरबार, राधा स्वामी दरबार, झूलेलाल की मदत से सात सौ गरीबो को हर दिन खाना खिलाया जा रहा है, टीओके कार्याध्यक्ष संतोष पांडेय,प्रेम सागर तिवारी, ,महेश यादव,ओ पी मिश्रा ,रूढ़ पाण्डेय,सतीश ,राजेश त्रिपाठी,दीक्षित ,बहादुर सिंह ,संदीप त्रिपाठी ,सुदीप दुवे ,दुर्गेश सिंह ,सुनील तिवारी ,दीपक मिश्रा ,जय सिंग ,सतीश प्रजापती ,अभिषेक सिंह ,लव दुबे ,जय शर्मा ,के पी सिंग ,अमित फुंदे ,अजय सिंग इत्यादि लोगो की संयुक्त टीम के जरिये यह सेवा कार्य को किया जा रहा है !
  • उल्हासनगर पुलिस स्टेशन के सीनियर पीआई कदम की सराहनीय पहल !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर पुलिस स्टेशन के सीनियर पीआई कदम की सराहनीय पहल !

     शहर के मुख्य चौराहों पर जाकर अपनी टीम के साथ शहरवाशियो दिया लॉक डाउन पालन करने का संदेश ! 

    महिला पुलिस कर्मियों ने भी लोगो से किया नियमो के पालन करने का आग्रह !

     राजेंद्र कदम - उल्हासनगर सीनियर पीआई, महिला पुलिस इंस्पेक्टर फुले, पत्रकार दिलीप मिश्रा ने क्या दिया संदेश सुनिये उनकी जुबानी,,,,,


  • मलंग गढ़ की पहाड़ी के निचले इलाके में देशी हाथभट्टी अड्डे पर पुलिस का छापा !

    By first headlines india →
    मलंग गढ़ की पहाड़ी के निचले इलाके में देशी हाथभट्टी अड्डे पर पुलिस का छापा ! 

    बड़ी मात्रा में रासायनिक स्टॉक किया गया नष्ट ! 

    अंबरनाथ एसीपी की टीम के द्वारा दिया गया कार्यवाई को अंजाम ! 

    32 सौ लीटर देशी हाथ भट्टी दारू को किया गया नष्ट ! 

    पूरी कार्यवाई पर अंबरनाथ के एसीपी नरडे ने क्या कहा सुनिये उनकी जुबानी,,,


    अंबरनाथ-अंबरनाथ में संचारबंदी के कारण देशी शराब भी प्रतिबंधित की गई है।लेकिन देशी शराब की मांग बढ़ने के कारण मलंग गढ़ के नीचे स्थित कुशिवलि गांव के एक कुएं से देशी शराब के रसायनों का भंडार पुलिस ने नष्ट किया है। 
    कोरोना वायरस दुनिया भर में फैल गया है। इसलिए, महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में शराब और तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। देशी शराब का भाव सोने के जैसा बढ़ रहा है, इसी का फायदा उठाकर शराब माफियाओं ने कुशिवली गांव के एक कुएं में देशी शराब बनाने का रसायन का बड़ा स्टॉक रखा था।इसकी जानकारी सहायक पुलिस आयुक्त को मिली थी, इसी जानकारी के आधार पर सहायक पुलिस आयुक्त की टीम ने उक्त स्थान पर पहुंचकर लगभग 3200 लीटर रासायन नष्ट किया है,ऐसी जानकारी सहायक पुलिस आयुक्त से प्राप्त हुई है।
  • उल्हासनगर पुलिस अब शहरवाशियो पर रखेगी ड्रोन कैमरों से नजर !

    By first headlines india →
    उल्हासनगर पुलिस अब शहरवाशियो पर रखेगी ड्रोन कैमरों से नजर ! 

    बिल्डिंगो की छत व चाल की गलियों की हर हरकत रहेगी पुलिस की निगरानी ! 

    उल्हासनगर शहर के चारो पुलिस स्टेशनों में ड्रोन के जरिये होगी सभी गतिविधियों की देखरेख ! 

    इस पूरे मामले पर क्या कहना है उल्हासनगर सीनियर पीआई राजेंद्र कदम देखिये पूरी खबर,,,,,,,,

  • ट्रैफिक विभाग के फ्लैग मार्च कार्यक्रम के समापन के बाद शोसलडिटेन्सन की उड़ाई गई धज्जियां !

    By first headlines india →
    ट्रैफिक विभाग के फ्लैग मार्च कार्यक्रम के समापन के बाद शोसलडिटेन्सन की उड़ाई गई धज्जियां ! 

    शहर की जनता ने ट्रैफिक पुलिस कर्मियों का फूल, ताली बजाकर, भारत माता की जय के नारे के साथ किया स्वागत !

     सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी के पदाधिकारियों ने कार्यक्रम समाप्त होने के बाद शोसलडिटेन्सन का बनाया मजाक !

     क्या कार्यक्रम के आयोजक पर पुलिस करेगी कार्यवाई !

     कार्यक्रम में डीसीपी शेवाले,एसीपी टेले,ट्रैफिक एसीपी उगले, सहित कई पुलिस के आला अधिकारी थे मौजूद ! 

    बाबाओ की उपस्थिति के लिए आयोजक लिया था पुलिस का परमिशन ?

    देखिये पूरी खबर को जोन चार के डीसीपी ने क्या दिया संदेश और आयोजक ने कैसे उड़ाई शोसलडिटेन्सन की धज्जियां !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर ठाणे जिले में कोरोना महामारी को बढ़ने से रोकने के लिए ठाणे जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर हर मुमकिन कोशिश कर रहे है और सभी विभागों को संचारबन्दी का सख्ती से पालन करने का आदेश दिया है,यही नही एक जगह पर भीड़ इकट्ठा नही हो इस पर विशेष पाबंदी लगाने का आदेश दिया हुआ है।बावजूद गुरुवार को सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी के द्वारा वाहतूक विभाग के सौजन्य से फ्लैग मार्च के समापन के बाद कार्यक्रम के आयोजकों ने संचारबन्दी की जमकर धज्जियां उड़ाई,अब सवाल यह उठ रहा है कि कार्यक्रम के आयोजकों पर संचार बंदी के तहत मामला दर्ज किया जायेगा या नही ? 
    बता दे कि संचारबन्दी के दरम्यान लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालो पर लाठियां बरसाई जाती है,उनसे उठापटक कराया जाता है और उनपर आईपीसी 188 के तहत मामला दर्ज किया जाता है।वही उल्हासनगर में गुरुवार को सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी के जरिये ट्रैफिक पुलिस को लेकर निकाला गया फ्लैग मार्च के समापन कार्यक्रम के दौरान सोसल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ते हुए दिखाई दिया जब कि इस समापन समारोह में पुलिस डिपार्टमेंट के डीसीपी प्रमोद शेवाले,एसीपी डी.डी. टेले,ट्रैफिक एसीपी दिलीप उगले,वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेन्द्र कदम,सुधाकर सुराड़कर,श्रीकांत धरने सहित कई अधिकारी मौजूद थे।और उनके जाते ही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गई,अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या पुलिस कार्यक्रम के आयोजकों पर संचारबन्दी उल्लंघन के तहत मामला दर्ज करेगी या इस पर लीपापोती करेगी। गौर तलब हो कि सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी ने आज ट्रैफिक पुलिस की तरफ से बिर्ला गेट से लेकर एक नंबर होते हुए गोल मैदान तक रुट मार्च निकाला गया।पुलिस के रूट मार्च को इमारतो के रहिवाशियो ने जमकर प्रतिशाद देते हुए थालिया,तालिया,फूल बरसाते हुए भारत माता की जय का नारा लगाया।पुलिस के इस कार्यक्रम की रूप रेखा शुरू से सराहनीय थी।लेकिन अंतिम समय समापन के दौरान कार्यक्रम ने एक अलग ही मोड़ ले लिया। समापन के दौरान शहर हित मे अमृतवेला ट्रस्ट के रिंकू भाई ,झूलेलाल ट्रस्ट के भाऊ लीलाराम व राधा स्वामी सत्संग के पदाधिकारियों का सत्कार किया गया जहां सोसल डिस्टेंस की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही थी।यही नही धारा 144 लागू होने के बाद इतने बड़े पैमाने पर एक साथ सैकड़ो लोगो के जमाव बंदी को वाहतूक पुलिस व स्थानीय पुलिस काफी समय तक हटाने की भी कोशिश नही की थी। यहाँ बता दे कि उल्हासनगर से सटे केडीएमसी में कोरोना वायरस मरीजो का आंकड़ा 90 के पार हो चुका है और कल यहां के सेंट्रल हॉस्पिटल में एडमिट कल्याण रहिवाशी पेशेंट भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया।ऐसे में आज जिस तरह कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने के लिए शहर के संतो को शामिल कर सोसल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाई गयी उसकी चर्चा जमकर छाई हुई है। सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी के इस कार्यक्रम में संतो को आने का परमिशन पुलिस लिया गया था या वो लोग बिना परमिशन के वहाँ पर आए थे क्या आम जनता के लिए अलग कानून है और वीआईपी लोगो के लिए अलग कानून है अगर नही तो बिना परमिशन के आये लोगो पर भी कानूनी कार्यवाई होनी चाहिए ! अगर इस कार्यक्रम में गलती से भी एक भी भविष्य में कोरोना पजोटिव मिल गया तो उल्हासनगर शहर सबसे बड़ा हाट स्पॉट बनने से कोई रोक भी नही पायेगा जिस तरह की भीड़ ने नियमों पर ताख पर रख कर धज्जियां उड़ाई उसको देखकर तो यही कहना पड़ेगा !
  • तलवार लहराते हुए सड़को पर घूमने वाले गुंडे को पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    By first headlines india →
    तलवार लहराते हुए सड़को पर घूमने वाले गुंडे को पुलिस ने किया गिरफ्तार ! 

     तलवार छीनने का प्रयत्न करने वाला पुलिस कर्मी हुआ घायल ! 

     आरोपी को चार दिन की मिली पुलिस रिमांड ! 

     पेट्रोलिंग कर रहे गोपनीय विभाग के पुलिस कर्मी ने पकड़ा आरोपी ! 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर लॉक डाउन के दरम्यान कैम्प-4 के मराठा सेक्शन उल्हासनगर-4 में तलवार लहराते हुए सड़को पर घूमने वाले आरोपी दिनेश सुरेला को विट्ठलवाड़ी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।तलवार छीनने का प्रयास करने वाला तुषार सोनवणे नामक पुलिस कर्मी जख्मी हो गया।
    प्राप्त जानकारी के अनुसार कैम्प-4 में आतंक का पर्याय दिनेश सुरेला मराठा सेक्शन में धाक जमाने के लिए तलवार लहराते हुए आज दोपहर सड़को पर निकल कर घूम रहा था,तभी इस पर पेट्रोलिंग कर रहे गोपनीय विभाग के पुलिस कर्मी तुषार सोनवणे और अहवाड कि नजर पड़ी पेट्रोलिंग पुलिस कर्मी तुषार ने उसे पकड़कर तलवार छीनने का प्रयास किया तो दिनेश सुरेला भी पुलिस से भिंड गया,और गिरफ्तारी का विरोध करने लगा तभी तलवार पुलिस कर्मी तुषार सोनवणे के हाथ मे लगा और वह जख्मी हो गया,इतने में अहवाड ने आरोपी से तलवार खींचकर उसे दबोच लिया। घटना स्थल पर तत्काल पहुची अन्य पुलिस की टीम दिनेश सुरेला को पुलिस स्टेशन ले गए और विभिन्न धाराओं के तहत उसपर मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है,गिरफ्तार आरोपी को दो दिन की पुलिस हिरासत में रखने का आदेश न्यायालय ने दिया है।
  • सेंट्रल अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से हुई पत्रकार की बेटी की मौत ?

    By first headlines india →
    सेंट्रल अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से हुई पत्रकार की बेटी की मौत ?

    पत्रकार व पिता रामेश्वर गवई ने लगाया सेंट्रल अस्पताल प्रशासन पर गंभीर आरोप ! 

     करोना बीमारी के शक की वजह से ईलाज करने में अस्पताल प्रशासन किया टालमटोल !

     समय पर ईलाज नही मिलने की वजह से गई बेटी की जान !   
     मृतक प्रणाली गवई

     उल्हासनगर - उल्हासनगर के वरिष्ठ पत्रकार व समाजसेवक रामेश्वर गवई की 24 वर्षीय बेटी का पीलिया के चलते अकस्मात मौत हो गयी। इंजीनियरिंग में पदवी धारक  होते हुए वह सेंट्रल अस्पताल में उसका उपचार चल रहा था,अस्पताल में कोरोना टेस्ट के नाम पर करीबन एक घण्टे 45 मिनट बिठाकर रखा गया था, जिस कारण उसकी तबियत और खराब होने के कारण अपने जीवन से हाथ धोना पड़ा ऐसा आरोप रामेश्वर गवई अस्पताल प्रशासन पर लगाया है। 
    प्रणाली गवई  ने आय टी विषय में इंजिनियरिंग किया हुआ था. प्रणाली बचपन से ही पढ़ने ने होशियार थी, अब वह यूपीएससी और एमपीएससी परीक्षा की तैयारी  कर रही थीं,  पिता की तरह वह भी सामाजिक क्षेत्र में अग्रसर थी, 7 अप्रैल 2020 को उसे टायफॉईड  हुआ था, जिसका उपचार सेंट्रल अस्पताल किया गया था व सभी रिपार्ट नॉर्मल आये थे,       20 अप्रैल 2020 को अचानक प्रणाली की तबियत फिर खराब होने पर उसे फिर सेंट्रल अस्पताल में दोपहर 12 बजे  रामेश्वर गवई , शिवाजी रगडे और अन्य लोग लेकर गए थे, डॉक्टरों ने उसका कोरोना टेस्ट करना पड़ेगा कहकर प्रणाली को कोरोना होने की आशंका को लेकर डॉक्टर व अन्य कर्मचारी उपचार में टालमटोल करने लगे, दोपहर  2 बजे तक प्रणाली का किसी भी प्रकार का उपचार शुरू नही किया गया, न ही कोरोना टेस्ट किया गया, बच्ची तड़पते हुए कोई भी दवा की मांग परिवार व डॉक्टरों से करती रह गयी।   इस परिस्थिती में रामेश्वर गवई व समाजसेवक शिवाजी रगडे  उल्हासनगर मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख से संपर्क करने पर आयुक्त ने तुरन्त उपचार का आदेश दिया, फिर प्रणाली को उसी दिन निजी अस्पताल धन्वंतरी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती किया गया, जहां डॉक्टरों ने उपचार शुरू कर दिया पर प्रणाली को नही बचा पाए ।शाम साढ़े 7 बजे प्रणाली की मौत हो गया,     इस घटना से रामेश्वर गवई व परिवार पर दुःख का पहाड़ टूट गया। स्वतः रामेश्वर गवई पत्रकार व रुग्ण मित्र हैं समाजसेवा में कभी पीछे नही हटते।उल्हासनगर अस्पताल हो मुंबई अथवा ठाणे कही भी दिन हो रात हो न देखते हुुए सदैव बिमार लोगो की मदत के लिए तत्पर रहते हैं। परंतु स्वम की लाडली के साथ घटी इस दुःखद घटना से संपूर्ण उल्हासनगर में अचरज व्यक्त किया जा रहा है , फेसबुक और व्हॉट्स अप या सोशल मीडिया पर  प्रणाली के निधन दुःख व्यक्त किया जा रहा है।     सेंट्रल अस्पताल के लापरवाही के कारण मेरी बेटी की मौत हुई है ऐसा आरोप रामेश्वर गवई ने अस्पताल प्रशासन पर लगाया है।इस घटना को लेकर पत्रकार संगठनों ने भी जांच की मांग की है।       सेंट्रल अस्पताल के अधीक्षक डॉ. सुधाकर शिंदे ने इस बारे में कहा कि किसी भी प्रकार की लापरवाही अस्पताल प्रशासन की तरफ से नही हुई है, प्रणाली गवई के मौत का हम्हे भी काफी दुःख है,उसकी तबियत ज्यादा खराब होने के कारण उसकी मौत हुई है।     
  • राशनिंग अधिकारी के ऊपर दबाव डालने के मामले भाजपा विधायक आयलानी को मांफी मांगनी चाहिए- टीओके प्रवक्ता निकम

    By first headlines india →
    राशनिंग अधिकारी के ऊपर दबाव डालने के मामले भाजपा विधायक आयलानी को मांफी मांगनी चाहिए- टीओके प्रवक्ता निकम 

     राशन दुकानों के अनाज लेकर गरीबो को मुफ्त अनाज बटवा कर वाह-वाही लूटने के मंसूबा फिरा पानी !  

    उल्हासनगर के भाजपा विधायक आयलानी व भाजपा जनप्रतिनिधि ने अनाज के लिए राशन राशनिंग अधिकारी पर डाला गया था दबाव ?  

    देखिए पूरे मामले पर क्या कहना है टीओके प्रवक्ता कमलेश निकम का,,,,,

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के भाजपा विधायक कुमार आयलानी व भाजपा के कुछ नगरसेवकों द्वारा उल्हासनगर के राशनिंग अधिकारी सानप को ओहदे का रौब झाड़कर शहर के प्रत्येक राशन दुकानदारों से 100-100 किलो अनाज (चावल) वसूल कर देने के लिए दबाव बनाने का सनसनी खेज मामला सामने आया है।इस मामले पर जब कुछ पत्रकारों ने राशनिंग अधिकारी सानप से संपर्क किया तो उन्होंने कुछ भी कहने से साफ मना कर दिया उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ भी जो कायदे में नही है हम ऐसा कुछ भी नही करने वाले चाहे कोई भी कितना चाहे कोशिश करे लेकिन उनके ऊपर दबाव की बात पर उनकी चुप्पी ने बिना बोले बहुत कुछ कह दिया था कहा ऐसा जा रहा है कि उन्होंने उसी समय ऐसा करने से साफ मना कर दिया।इस बात की चर्चा भी है। वही इस मामले पर टीओके प्रवक्ता कमलेश निकम विधायक कुमार आयलानी को सार्वजनिक तौर पर मांफी मांगने की मांग किया है और पूरे मामले की जांच की मांग किया है !
     गौर तलब हो कि राज्य में कोरोना वायरस की महामारी चल रही है,शहर में विभिन्न संस्थाएं गोर-गरीबो को दो वक्त का खाना बाट रहे है,शहर के कई उद्योगपती सैकड़ो परिवारों को खुद के पैसों से अन्न धान वितरित कर रहे है। इसी बीच सूत्रों से जानकारी मिली कि शहर के विधायक कुमार आयलानी ने अपने कुछ भाजपा के जनप्रतिनिधियों के बोलने पर राशनिंग अधिकारी सानप को तलब किया था और उन पर दबाव डाला कि शहर में 106 राशन की दुकानें है सभी से 100-100 किलो अनाज लेकर दो वो अनाज हमारे जनप्रतिनिधियों के हाथों बाटा जायेगा ! विधायक की यह बात सुनकर सानप ने स्पस्ट मना कर दिया कि मैं ऐसा नही करूंगा यदि आपको अनाज बाटना है तो दुकानों से खरीदकर गरीबो को बाटे या खुद राशन की दुकानदारों को फोन कर अनाज मंगवाए। हम उनको कुछ कहने वाले नही है, इस पूरे मामले की सत्यता को जानने व समझने के लिए राशनिंग अधिकारी जगन्नाथ सानप से संपर्क किया गया तो उन्होंने कैमरे के सामने ऐसी किसी बात पर बात करने साफ इनकार कर दिया उन्होंने दुसरो सवालों पर कैमरे पर अपना जवाब दिया आमजनता से अपील भी किया है ! इस पूरे मामले पर भाजपा विधायक कुमार आयलानी से फोन पर बात किया गया तो उन्होंने मीडिग की बात मानी परंतु अधिकारी को दम देने वाली बात का खंडन किया और पूरे मामले सिरे से खारिज किया है, वही इस मामले में कुछ राशन दुकानदार के लोगो के सूत्रों के मुताबिक कुछ दुकानदारों ने अनाज पहुचाया है। यह भी बात सामने आ रही है इन सारे मुद्दों में कितनी सच्चाई है यह तो तभी साफ हो पायेगा जब पूरे मामले की निष्पक्ष जांच हो ! 
  • राशन दुकानों के अनाज लेकर गरीबो को मुफ्त अनाज बटवा कर वाह-वाही लूटने के मंसूबा फिरा पानी !

    By first headlines india →
    राशन दुकानों के अनाज लेकर गरीबो को मुफ्त अनाज बटवा कर वाह-वाही लूटने के मंसूबा फिरा पानी !

     उल्हासनगर के भाजपा विधायक आयलानी व भाजपा जनप्रतिनिधि ने अनाज के लिए राशन राशनिंग अधिकारी पर डाला गया था दबाव ? 

    जिन राशन कार्डों का नही हुआ ऑनलाइन उन्हें मई और जून महीने मिलेगा अनाज-राशनिंग अधिकारी 

    राशनिंग अधिकारी सानप ने शाहरवाशियो से क्या किया आवाहन और क्या दी जानकारी सुनिये उन्ही की जुबानी,,,, 

    राशनिंग अधिकारी के दम देने के मामले क्या कहना है भाजपा विधायक आयलानी का सुनिये उन्ही की जुबानी,,,, 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर के भाजपा विधायक कुमार आयलानी व भाजपा के कुछ नगरसेवकों द्वारा उल्हासनगर के राशनिंग अधिकारी सानप को ओहदे का रौब झाड़कर शहर के प्रत्येक राशन दुकानदारों से 100-100 किलो अनाज (चावल) वसूल कर देने के लिए दबाव बनाने का सनसनी खेज मामला सामने आया है।इस मामले पर जब कुछ पत्रकारों ने राशनिंग अधिकारी सानप से संपर्क किया तो उन्होंने कुछ भी कहने से साफ मना कर दिया उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ भी जो कायदे में नही है हम ऐसा कुछ भी नही करने वाले चाहे कोई भी कितना चाहे कोशिश करे लेकिन उनके ऊपर दबाव की बात पर उनकी चुप्पी ने बिना बोले बहुत कुछ कह दिया था कहा ऐसा जा रहा है कि उन्होंने उसी समय ऐसा करने से साफ मना कर दिया।इस बात की चर्चा भी है। इस पूरे मामले के अलावा राशनिंग अधिकारी ने शाहरवाशियो व आमजनता को क्या जानकारी दी है सुनिये उन्ही की जुबानी,,,,,,,,वही सारे आरोपो पर भाजपा विधायक कुमार आयलानी ने क्या कहा सुनिये उनकी जुबानी,,,, 
    गौर तलब हो कि राज्य में कोरोना वायरस की महामारी चल रही है,शहर में विभिन्न संस्थाएं गोर-गरीबो को दो वक्त का खाना बाट रहे है,शहर के कई उद्योगपती सैकड़ो परिवारों को खुद के पैसों से अन्न धान वितरित कर रहे है। इसी बीच सूत्रों से जानकारी मिली कि शहर के विधायक कुमार आयलानी ने अपने कुछ भाजपा के जनप्रतिनिधियों के बोलने पर राशनिंग अधिकारी सानप को तलब किया था और उन पर दबाव डाला कि शहर में 106 राशन की दुकानें है सभी से 100-100 किलो अनाज लेकर दो वो अनाज हमारे जनप्रतिनिधियों के हाथों बाटा जायेगा ! विधायक की यह बात सुनकर सानप ने स्पस्ट मना कर दिया कि मैं ऐसा नही करूंगा यदि आपको अनाज बाटना है तो दुकानों से खरीदकर गरीबो को बाटे या खुद राशन की दुकानदारों को फोन कर अनाज मंगवाए। हम उनको कुछ कहने वाले नही है, इस पूरे मामले की सत्यता को जानने व समझने के लिए राशनिंग अधिकारी जगन्नाथ सानप से संपर्क किया गया तो उन्होंने कैमरे के सामने ऐसी किसी बात पर बात करने साफ इनकार कर दिया उन्होंने दुसरो सवालों पर कैमरे पर अपना जवाब दिया आमजनता से अपील भी किया है ! इस पूरे मामले पर भाजपा विधायक कुमार आयलानी से फोन पर बात किया गया तो उन्होंने मीडिग की बात मानी परंतु अधिकारी को दम देने वाली बात का खंडन किया और पूरे मामले सिरे से खारिज किया है, वही इस मामले में कुछ राशन दुकानदार के लोगो के सूत्रों के मुताबिक कुछ दुकानदारों ने अनाज पहुचाया है। यह भी बात सामने आ रही है इन सारे मुद्दों में कितनी सच्चाई है यह तो तभी साफ हो पायेगा जब पूरे मामले की निष्पक्ष जांच हो ! बहरहाल दोनों पक्षों ने क्या कहना है वह भी सुनिए,,,,,,
  • लॉकडाउन का उलंघन करने के लिए नगरसेविका का स्टिकर लगा कर मुंबई

    By first headlines india →
    लॉकडाउन का उलंघन करने के लिए नगरसेविका का स्टिकर लगा कर मुंबई से उल्हासनगर सफर करना पड़ा महंगा ! 

     मुम्बई के रहनेवाले पति-पत्नी के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया एफआईआर !

     जिस गाड़ी पर फर्जी स्टिकर लगाया गया उस गाड़ी को किया जप्त !  

     उल्हासनगर-उल्हासनगर लॉक डाउन का उलंघन करने के लिए नायाब जुआड निकाल और मुम्बई से उल्हासनगर अपने रिस्तेदार से मिलने आये पति - पत्नी के खिलाफ उल्हासनगर पुलिस ने मामला दर्ज किया है,दंपति अपने दो बच्चों के साथ एक शिफ्ट कार पर नगरसेविका का फर्जी स्टिकर लगाकर बिना किसी काम के शहर में घूमते पाए गये थे।
    बता दे कि मुलुंड , मुंबई के रहनेवाले   लालचंद चंदरलाल प्रेमानी ( 40 )  और उसकी पत्नी रोशनी चंदरलाल प्रेमानी ( 36 ) 20 अप्रैल की रात अपने दो बच्चों के साथ उल्हासनगर - 2  मधूबन चौक से क्रमांक एम एच 05 , सी एम 3660  मारुती स्विफ्ट कार जा रहे थे, कार पर नगरसेविका का स्टिकर लगाया हुआ था,  लॉक डाउन में ड्यूटी कर रहे पुलिस टीम ने कार के कागजात जांच के लिए रोका तो दंपति मुलुंड के निवासी होने जानकारी मिली और उल्हासनगर अपने रिस्तेदार से मिलकर वापस अपने घर जाने के लिए निकले थे,     उल्हासनगर पुलिस ने पुलिस हवलदार चिन्तामण की शिकायत पर  बिना कोई कारण व बिना परमिशन उल्हासनगर मे प्रवेश करने पर आरोपी चंदरलाल प्रेमानी व पत्नी रोशनी प्रेमानी के खिलाफ भादवी की धारा 188,269,270,290,170,34 के तहत मामला दर्ज कर उनकी स्विफ्ट कार जप्त कर ली है कार की पासिंग उल्हासनगर का होने और किस नगरसेविका की है व आरोपी ने नगरसेविका का बनावट स्टिकर  लगाकर शहर में फिर रहा था इसकी जांच में जुट गयी है। मामले की जांच सहायक पुलिस निरीक्षक अनुपमा खरे कर रही है।
  • थायरा सिंह साहेब के संत टिल्लू भाई साहब ने मनपा आयुक्त देशमुख का ताली बजाकर किया स्वागत !

    By first headlines india →
    थायरा सिंह साहेब के संत टिल्लू भाई साहब ने मनपा आयुक्त देशमुख का ताली बजाकर किया स्वागत !

     ठाणे जिल्हे का पहला दरबार जो 19 से 20 हजार लोगों हर दिन खिला रहा है खाना ! 

    सैकड़ो सेवाधारियों के मेहनत से गोरगरीब जनता को मिल रहा दो टाइम खाना ! 

    किसी भी आपदा में हमेशा आगे रहने वाले थायरा सिंह दरबार करोना महामारी में मदत में है आगे ! 

    देखिए थायरा सिंह साहेब दरबार के संत त्रिलोचन सिंह उर्फ टिल्लू भाई साहेब व उनके सहयोगियों ने मनपा आयुक्त कैसे किया स्वागत,,,,,, 

     उल्हासनगर- उल्हासनगर के सुप्रसिध्द धनगुरु नानक दरबार डेरा संत बाबा थायरा सिंह साहेब दरबार जो शहर में हमेशा से हर आपदा के दौरान जनसेवा के लिए तैयार रहता है। जिस तरह बाढ़ के दौरान उल्हासनगर ही नहीं परिसर के शहरों में भी दरबार द्वारा लंगर की सेवा हर प्रभावित कोने में पहुंचाई गई थी ठीक उसी तरह इस कोरोना महामारी में भी बेघर, दिहाड़ी मजदूर व गरीब जनता को खाना पहुंचाने का कार्य दरबार द्वारा निस्वार्थ भाव से किया जा रहा है। सोमवार की शाम को जब मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख अपने सहकर्मियों के साथ थायरा सिंह दरबार पहुँचे तब थायरा सिंह साहेब दरबार के संत त्रिलोचन सिंह उर्फ टिल्लू भाई साहेब व उनके सहयोगी सोनू विश्नोई, मोती सेठ समेत सेवाधारियो ने ताली बजाकर आयुक्त का स्वागत किया ! 
    बता दे कि लाॅक डाऊन के पहले दिन 4 हजार पार्सल से शुरू हुई सेवा आज तकरीबन 19 हजार से 20 से अधिक लोगों तक पहुंच रही है। यह सेवा 24 घंटे निरंतर जारी है। इस सेवा को और गरीब मजदूरों की भूख मिटाने के लिए दरबार ने रोटी बनाने की मशीन लगाया जिससे गरीबो को अब खाने में रोटी भी मिल रहा है ! इस दरबार से पुलिस विभाग के साथ साथ मनपा प्रशासन, सरकारी अधिकारी, नेता,नगरसेवक, सामाजिक कार्यकर्ता व एनजीओ भी पार्सल पहुंचाने में मदद कर रहे हैं। दरबार द्वारा सेवाधिकारियों से सामाजिक दूरी के पालन का उचित रूप से ख्याल भी रखा जा रहा है। साथ ही खाना पार्सल के दौरान भी वितरण की उचित व्यवस्था की गई है।
  • मिलन देशी कंट्री बार से देशी दारू की हुई चोरी !

    By first headlines india →
    मिलन देशी कंट्री बार से देशी दारू की हुई चोरी !

     लॉक डाउन में नशा न मिलने परेशान नशेड़ियों हो सकता है कारनामा !

     35 से 40 हजार कीमत की देशी दारू को ले उडे चोर ! 


    चोरी हुए तीन बीत गए पुलिस ने नही दर्ज चोरी का मामला ?


    उल्हासनगर-उल्हासनगर तीन नम्बर के शांतिनगर इलाके शमसान भूमि के बगल के मिलन कंट्री बार से चोरो ने 35 से 40 हजार देशी दारू चोरी करने का मामला सामने आया है !
    बता दे कि करोना महामारी के चलते पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा इस लॉक डाउन में नशा करने वालो को उनके नशे का सामान नही मिल रहा है जिसके चलते वो सब लोग परेशान है ऐसे में कुछ लोग दारू बेचने वालों की दुकान से दारू चोरी करने लगे ऐसा कई मामले पिछले कुछ दिनों में सामने आ रहा है ! ऐसा ही एक मामला तीन नम्बर के शांतिनगर इलाके शमसान भूमि के बगल के मिलन कंट्री बार से चोरो ने 35 से 40 हजार देशी दारू चोरी करने का मामला सामने आया है ! इसकी जानकारी दुकान चलाने वाले ब्यक्ति श्याम ने इसकी जानकारी दी है उन्होंने बताया कि पुलिस भी आकर पंचनामा करके गई है चोरो ने सीसीटीवी का डीवीआर भी उठा ले गए है ऐसा बताया है, घटना तीन दिन पहले हुआ लेकिन अभी तक पुलिस ने एफआईआर दर्ज नही किया गया इसके पीछे का क्या कारण है इसका आने वाले समय में पुलिस प्रशासन को देना होगा ?
  • 20 अप्रैल से कहा पर किन उद्योग-धंधों को मिलेगी छूट !

    By first headlines india →
     20 अप्रैल से कहा पर किन उद्योग-धंधों को मिलेगी छूट ! 

    सीएम ठाकरे ने लॉकडाउन के बीच छूट का किया ऐलान !

     ग्रीन और ऑरेंज जोन में 20 अप्रैल से उद्योग-धंधों को चलाने की मिलेगी छूट ! 

     उद्धव ने कहा- युद्ध चल रहा है, कब खत्म होगा यह सवाल अभी मेरे मन में है ! 

     कृषि और जीवन के लिए जरूरी चीजों पर कोई प्रतिबंध नहीं !

     जानें 10 बड़ी बातें क्या है पढ़िये खबर में,,,,,, 

    मुंबई-मुंबई महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा कहर देखा जा रहा है। इस बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने 20 अप्रैल से ग्रीन और ऑरेंज जोन में उद्योग-धंधों को हरी झंडी दी है। अपने संबोधन में सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोना से जंग में कहीं हम आर्थिक हालात से ना जूझने लगें, इसलिए हम धीरे-धीरे शुरुआत कर रहे हैं। एक नजर उद्धव ठाकरे के संबोधन की 10 बड़ी बातों पर: 

     1- जो युद्ध चल रहा है, उसका इंतजार कर रहा हूं कब खत्म होगा। अगर ये शत्रु दिखता तो उसका हम कब का खात्मा कर चुके होते, लेकिन ये दिखता नहीं है। शत्रु दिख नहीं रहा है, युद्ध कब तक खत्म होगा ये सवाल मेरे मन में भी है। हम लोग जिद से लड़ रहे हैं। संयम से लड़ रहे हैं। कल पूरे 6 हफ्ते पूरे होंगे इस युद्ध के। 

     2- 24 मार्च से जो सभी चीजें बंद हुई हैं, उसके चलते कई आर्थिक संकट आए हैं, जिन्हें अब चलाने की जरूरत है। 20 अप्रैल से हम कुछ जगहों पर उद्योग-धंधों को परमिशन दे रहे हैं, ताकि आर्थिक स्थिति खराब होने से बचे। कुछ इलाकों में जीरो है कोरोना का असर। कुछ जगह बढ़ा नहीं है। ग्रीन जोन और ऑरेंज जोन में उद्योग को परमिशन दे रहे हैं। जहां-जहां संभव है वहां-वहां कुछ चीजें शुरू की जा रही हैं। उसका डिटेल्स दिया जा रहा है।

     3- सभी उद्योग करने वालो से कहा है कि अपने मजदूरों का ख्याल रखें। माल का ट्रांसपोर्ट करना है वायरस का नहीं, इसका ख्याल रखें। कोरोना से लड़ाई लड़ते-लड़ते कहीं हम आर्थिक हालात से ना जूझने लगें, इसलिए हम धीरे-धीरे शुरुआत कर रहे हैं। कृषि को लेकर कोई बंधन नहीं है, जीवन के लिए जरूरी वस्तुओं पर कोई बंधन नहीं है। केंद्र सरकार द्वारा जो नियम आया है उस पर अमल होगा। सिर्फ माल के परिवहन को इजाजत दी है। किसी और आदमी को एक जिले से दूसरे जिले में जाने की परमिशन नही दे रहे हैं।

    4- जिन जिलों में अभी तक कोरोना की दखल नहीं हुआ है, वहां ग्रीन जोन है। वहां सिर्फ जरूरत की चीजों को लेकर लाने और ले जाने की परमिशन दी है। लेकिन यहां किसी भी तरह से लोगों को एक गांव से दूसरे गांव जाने पर पाबंदी है। 

    5- अखबारों पर कोई पाबंदी नहीं है लेकिन मुंबई और पुणे में घर-घर जाकर पेपर डालना अभी उचित नहीं है। महाराष्ट्र के हित के लिए जो जरूरी है वो करूंगा। कृपा करके सभी सहयोग दें। इस समय मुंबई और पुणे अभी भी रेड जोन में हैं। ऐसे में न्यूजपेपर छपाई पर पाबंदी नहीं है। लेकिन घर-घर बांटने पर पाबंदी है। 

     6- कुछ छोटे-छोटे बच्चे अपने जन्मदिन और खेल के लिए अपने जमा पैसा दे रहे हैं, इनका मैं धन्यवाद करता हूं। बच्चों तुम घबराओ मत हम हैं, निधि के लिए लोगों का पैसा आ रहा है। सीएसआर फंड के लिए पैसे जमा करने का अलग जरिया बनाया है, ऐसे कई योजना की है। मेरा पत्रकारों से निवेदन है, जैसा अभी तक आप लोगों ने साथ दिया, वैसे ही आगे भी साथ दें। अभी भी मुख्य्मंत्री फंड में पैसे आ रहे है। सीएसआर मामले को लेकर मैं किसी भी तरह की राजनीति में नहीं पड़ना चाहता।

     7- दूसरे प्रदेश के लोग चिंता न करें। महाराष्ट्र में आपको किसी प्रकार की कोई कोई तकलीफ नहीं है, सब मिल रहा है और सुरक्षित हैं। अगर किसी को अन्य प्रकार की मदत की जरूरत होगी तो कुछ सामाजिक संस्था भी मदद के लिए आगे आ रही हैं। कुछ नंबर है जो मैं दे रहा हूं। नोट करें- मुंबई महानगरपालिका और बिरला सेवा-1800120820050। आदिवासी विभाग और प्रॉजेक्ट मुंबई और प्रफुल्ल- 18001024040। 

    8-ये आंकड़े मैं कल तक (शनिवार) के दे रहा हूं। महाराष्ट्र में कुल 66696 टेस्ट किए गए, इसमें से 95 फीसदी नेगेटिव हैं। 3600 पॉजिटिव, 350 लोगों को इसमें ठीक कर घर छोड़ा गया है। 52 मरीजों की हालत गंभीर है। सब लोग बोल रहे हैं, टेस्ट करो टेस्ट करो हम टेस्ट कर रहे हैं। 

     9- अभी तीन तरह के मरीज हमारे पास हैं- गंभीर, मध्यम और अत्यंत गंभीर। कोई भी लक्षण हो उसे छुपाएं नहीं, उसका तुरंत इलाज करें। हमारी दुविधा ये है कि बहुत सारे मामले आखिरी चरण में हमारे पास आ रहे हैं। मैंने कई बार कहा है कि कोरोना हो गया तो खत्म ऐसा न सोचें। इलाज हो रहा है कोरोना हुआ है तो सब खत्म ऐसा नहीं है। लोग सही भी हो रहे हैं, सही समय पर अपना इलाज कराएं। इसलिए मेरा सभी से निवेदन है कि सर्दी, खांसी या कुछ भी लक्षण दिखे तो घर में इलाज ना करें, सीधा डॉक्टर से संपर्क करें। 

    10- कोरोना मतलब जिंदगी खत्म ऐसा नहीं है। प्राइवेट डॉक्टर से बात की है और सभी ने आश्वासन दिया है कि वो अपने क्लीनिक और दवाखाने खोलेंगे। जो कोरोना के मरीज नहीं हैं उनके इलाज के लिए। बहुत से गंभीर मरीज भी अच्छे होकर घर गए हैं। कई लोगों को अलग-अलग बीमारी है इसलिए प्राइवेट डॉक्टरों को अपना दवाखाना चालू रखना है।
  • वेदांता फाउंडेशन के जरिए गरीबो को खिलाया जा रहा है खाना !

    By first headlines india →
    वेदांता फाउंडेशन के जरिए गरीबो को खिलाया जा रहा है खाना ! 

    6 हजार खाने के पैकेट हर दिन मनपा के चारो प्रभाग अधिकारियों के द्वारा किया जा रहा है वितरित ! 

    थायरा सिंह साहेब दरबार की मदत से वेदांता फाउंडेशन खिला रहे है गरीबो को खाना ! 

    सुनिये वेदांता फाउंडेशन एरिया कॉर्डिनेटर मदेश नागरे ने क्या कहा उन्ही की जुबानी,,,,,,

  • उल्हासनगर के दो बिस्कुट कंपनियों पर उमपा ने किया कार्यवाई !

    By fast headline india →
    उल्हासनगर के दो बिस्कुट कंपनियों पर उमपा ने किया कार्यवाई ! 

    प्रशासन के दिये नियमो के उलंघन करके चलाई जा रही थी कंपनी ! 

    मनपा ने पुलिस में दोनों कंपनियों के विरुद्ध दर्ज कराई शिकायत ! 

    मजदूरों ने लगाया कंपनी के मालिकों द्वारा शोषण करने का आरोप !

     सुनिये पूरे मामले उमपा के सहायक आयुक्त गणेश शिंपी व कंपनी के मजदूर की जुबानी,,,,,,,,

  • तीन लोगों की हत्या के मामले में सौ लोगो पुलिस ने किया गिरफ्तार !

    By fast headline india →
    तीन लोगों की हत्या के मामले में सौ लोगो पुलिस ने किया गिरफ्तार ! 

    गडचिंचले गांव की है यह घटना रात चोर समझक पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी हत्या ! 

    गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों की पत्थरबाजी जिससे चार पुलिसवाले हुए थे जख्मी ! 

    कांदिवली पूर्व के रहने वाले ये तीन लोग रात में अपनी ईको कार से सूरत निकले थे !

     पालघर- पालघर जिले के कासा पुलिस स्टेशन क्षेत्र के गडचिंचले गांव में गुरुवार देर रात ग्रामीणों ने चोर समझकर तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी। इस घटना से जिलेभर में सनसनी फैल गई है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची कासा पुलिस पर भी ग्रामीणों ने पथराव कर दिया। इससे पुलिस की गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं। फिलहाल पुलिस ने सौ लोगों पर हत्या का मामला दर्ज कर उन्हें हिरासत में लिया है।
    उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों से ग्रामीणों में यह अफवाह फैलाई जा रही है कि रात के समय गांवों में चोर आते हैं। इसी कारण तीन दिन पहले सारनी गांव के पास ग्रामीणों ने ठाणे के रहने वाले एक डॉक्टर पर हमला कर दिया था। हालांकि मौके पर पहुंची कासा पुलिस ने किसी तरह डॉक्टर की जान बचा ली थी। इसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों पर ही पत्थरबाजी कर दी, जिससे चार पुलिसवाले जख्मी हो गए थे। जानकारी के अनुसार, कांदिवली पूर्व के रहने वाले सुशील गिरी महाराज (35), चिकने महाराज कल्पवृक्ष गिरी (70) व नीलेश तेलगडे (30) गुरुवार की रात अपनी ईको कार से सूरत जा रहे थे। इस दौरान कासा पुलिस स्टेशन क्षेत्र के गडचिंचले गांव में कुछ लोगों ने उनकी गाड़ी रोक ली। तीनों गाड़ी में ही बैठे थे कि गांव वालों ने उनकी गाड़ी पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। कुछ लोगों ने उन्हें गाड़ी से बाहर निकाला और डंडे व पत्थरों से पीटने लगे। उनकी गाड़ी को पलट दिया। गुस्साए ग्रामीणों ने पीट पीटकर उनकी हत्या कर दी। डहाणू पुलिस स्टेशन क्षेत्र के चरी गांव स्थित पाटीलपाडा इलाके में 40 वर्षीय व्यक्ति की हत्या कर दी गई। जानकारी के अनुसार, डहाणू के नवा साखरा गांव निवासी दिनेश हरिचंद गहला (40) की दो पत्नियां थीं। डेढ़ साल पहले दूसरी पत्नी निर्मला उसे छोड़कर पाटीलपाडा निवासी प्रकाश शिनवार कोन्हा के पास चली गई। मंगलवार की रात दिनेश गहला प्रकाश के घर गया और उससे झगड़ने लगा कि तूने मेरी पत्नी को क्यों रखा है। इस बात से नाराज प्रकाश ने डंडे से पीट-पीटकर दिनेश की हत्या कर दी।
  • करोना महामारी लॉकडाउन में दिहाड़ी मजदूरों के लिए 'अन्नपूर्णा' बनीं 12 लड़कियां !

    By first headlines india →
     लॉकडाउन में काम बंद होने पर भुखमरी के दौर से गुजर रहे थे दिहाड़ी मजदूरों के परिवार ! 


     लड़कियों ने सोशल मीडिया के जरिए मांगी जनप्रतिनिधियों से मदद ! 

    अब सभी दिहाड़ी मजदूरों को मिल रहा दो टाइम का खाना ! 

    भिवंडी-भिवंडी कोरोना वायरस महामारी की वजह से देश भर में लागू लॉकडाउन की मार दिहाड़ी मजदूरों पर सबसे ज्यादा पड़ी है। काम बंद होने से कई मजदूरों के परिवार में भुखमरी का संकट मंडराने लगा है। ठाणे के भिवंडी इलाके की एक स्लम बस्ती में ऐसे ही कई मजदूरों का परिवार रहता है। कई दिनों से काम न मिलने की वजह से परिवार के लोग भूखे-प्यासे दिन काट रहे थे। इस बीच कॉलेज में पढ़ाई करने वाली 12 लड़कियों का एक ग्रुप इन मजदूर परिवारों के लिए किसी फरिश्ते की तरह सामने आया।
    छात्राओं ने मजदूरों की मदद के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया और स्लम बस्ती के लोगों की समस्याओ को वीडियो और तस्वीरों के जरिए जनप्रतिनिधियों तक पहुंचाया। ठाणे के क्रीक एरिया के पास घनी आबादी वाला एक स्लम एरिया है। यहां रहने वाले ज्यादातर पुरुष मजदूर हैं और महिलाएं लोगों के घरों में काम करती हैं। कोरोना वायरस महामारी के कारण लागू लॉकडाउन की वजह से काम ठप हो जाने के बाद स्लम इलाके में रहने वाले लोगों के लिए भूखों मरने की नौबत आ गई। ऐसे में समीक्षा कांबले, पूजा चौरसिया और पल्लवी वाव्हल के नेतृत्व में 12 छात्राओं के समूह ने झुग्गी बस्तियों में रहने वाले लोगों की मदद करने का फैसला किया। संकट की इस स्थिति को लोगों के सामने लाने के लिए छात्राओं ने सोशल मीडिया का सहारा लिया। उन्होंने एक गैर सरकारी संगठन स्नेहा से मदद मांगी। एनजीओ के कार्यकर्ताओं ने छात्राओं को जिम्मेदार अधिकारियों से संपर्क साधने में मदद की। इसके बाद छात्राओं ने स्लम एरिया में साफ-सफाई के मुद्दे को भी अथॉरिटी क सामने रखा और नगर निगम के अधिकारियों के सामने बस्ती को सैनेटाइज करने की मांग रखी। छात्राओं की इस पहल के बाद एक स्थानीय कॉर्पोरटर मिलिंद साल्वी और उनकी पत्नी अपर्णा ने सबसे पहले मदद के लिए हाथ बढ़ाया। इसके बाद मंत्री जितेंद्र अव्हाड की मदद से बस्ती के लोगों को दोनों समय का भोजन मुहैया कराने का काम शुरू किया गया।
  • उल्हासनगर के व्यापारी को राजस्थान के जालसाज ने लगाया लाखों चुना !

    By first headlines india →
    उल्हासनगर के व्यापारी को राजस्थान के जालसाज ने लगाया लाखों चुना ! 

    45 लाख 15 हजार रुपए के सोने से जुड़ा है मामला ! 

    तीन जालसाज के विरुद्ध सेंट्रल पुलिस ने दर्ज किया एफआईआर ! 

    जालसाजी का मामला या गोल्ड स्मगलिंग में सोना लेनदेन जुड़ा यह मामला ? 

    पुलिस की जांच में होगा सही मामले का खुलासा ? 

    उल्हासनगर - उल्हासनगर के एक व्यवसायी ने कथित तौर पर राजस्थान में रहने वाले तीन आरोपियों को 45 लाख 15 हजार रुपये का सोना दिया था, लेकिन बाद में आरोपी ने सोना वापस करने से इनकार कर दिया, आरोपी के खिलाफ सेंट्रल पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। बता दे कि मनीष इंदरलाल हिंगोरानी, ​​39, उल्हासनगर -3, चोपडा कोर्ट एरिया, सी, ब्लॉक के निवासी हैं, वे आरोपी नीतीश रजनी माहेश्वरी और उनकी पत्नी नीलम नीतीश माहेश्वरी और गुबुल राजपूत को जानते थे। आरोपी मनीष के घर 23 जनवरी 2020 को पैसे मांगने आया था, क्योंकि उसके पास पैसे नहीं थे। मनीष ने 45 लाख 15 हजार रुपये मूल्य का 1290 ग्राम सोने का बिस्किट नीतीश को दिया, 1 महीने के बाद बिस्किट लौटाने का वादा करके नीतीश गया लेकिन बाद में उसे वापस करने से मना कर दिया। मनीष हिंगोरानी द्वारा सेंट्रल पुलिस स्टेशन में शिकायत करने के बाद पुलिस ने आरोपी नीतीश माहेश्वरी, नीलम माहेश्वरी और गबलू राजपूत के खिलाफ गबन का मामला दर्ज किया है।
  • महाराष्ट्र में खुल सकती हैं मिठाई और नमकीन की दुकानें !

    By first headlines india →
    महाराष्ट्र में खुल सकती हैं मिठाई और नमकीन की दुकानें !

     15 लाख से अधिक दैनिक मजदूरों को मिलेगी राहत ! 

    सरकार मिठाई, फ़रसान (नमकीन) और कन्फेक्शनरी की दुकान, बशर्ते वे सोशल डिस्टेंसिंग नियम के अनुसार ! 

    नॉन एसेंशिएल गुड्स की आवाजाही की अनुमति से ट्रक चालकों को मिलेगी मदद ! 

    मुंबई-मुंबई महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को 3 मई तक राज्य में लॉकडाउन की अधिसूचना जारी कर दी। हालांकि सरकार ने खाद्य उद्योग सहित कुछ क्षेत्रों में आर्थिक गतिविधियों को फिर से शुरू करने के लिए नियमों में ढील दी है। सरकार की ओर से मिठाई, फ़ारसन (नमकीन) और कन्फेक्शनरी बेचने वाली दुकानें खुली रह सकती हैं, बशर्ते वे सोशल डिस्टेंसिंग लागू करें। इससे पहले, राज्य सरकार ने बेकरी को फिर से खोलने की अनुमति देने के मानदंडों में ढील दी थी।मुख्य सचिव अजॉय मेहता द्वारा जारी अधिसूचना में नॉन-एसेंशिएल गुड्स, कृषि और बागवानी उत्पादों के प्रसंस्करण से संबंधित उद्योगों, पैकेजिंग और परिवहन को अंतर और अंतर-राज्य परिवहन के लिए अनुमति दी गई है। नॉन एसेंशिएल गुड्स की आवाजाही की अनुमति देने के फैसले से ट्रक चालकों को मदद मिलेगी, जो कई चेक पोस्ट पर पर सामानों के साथ फंसे हुए हैं। अब वे जिला और राज्य की सीमाओं को पार कर सकते हैं। 
    लॉकडाउन में ढील पर संशोधित दिशानिर्देश से 20 अप्रैल के बाद राज्य में अनुमानित 15 लाख दैनिक वेतन भोगियों को राहत मिलेगी। जल संसाधन विभाग के सचिव आई. एस. चहल के अनुसार, लॉकडाउन मानदंडों में ढील दिए जाने के बाद राज्य भर में सिंचाई परियोजनाओं पर 15,700 से अधिक दैनिक श्रमिकों के काम पर वापस आने की उम्मीद है। विभाग की 313 परियोजनाएं चल रही हैं। कृषि सचिव एकनाथ दावाले ने कहा, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी के तहत काम बंद कर दिया गया था, लेकिन अब नए दिशानिर्देशों के मद्देनजर, उन्हें 20 अप्रैल से फिर से शुरू किया जा सकता है। इससे 2.6 लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिल सकता है। छूट के बाद, निर्माण, लघु उद्योग और कृषि क्षेत्र के लिए सबसे बड़ी वृद्धि होगी। इस क्षेत्र में लगभग पांच लाख लोग लगे हैं। राज्य में 12 लाख से अधिक पंजीकृत 15 लाख से अधिक दैनिक मजदूरों को मिलेगी राहत लॉकडाउन में ढील पर संशोधित दिशानिर्देश से 20 अप्रैल के बाद राज्य में अनुमानित 15 लाख दैनिक वेतन भोगियों को राहत मिलेगी। जल संसाधन विभाग के सचिव आई. एस. चहल के अनुसार, लॉकडाउन मानदंडों में ढील दिए जाने के बाद राज्य भर में सिंचाई परियोजनाओं पर 15,700 से अधिक दैनिक श्रमिकों के काम पर वापस आने की उम्मीद है। विभाग की 313 परियोजनाएं चल रही हैं। कृषि सचिव एकनाथ दावाले ने कहा, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी के तहत काम बंद कर दिया गया था, लेकिन अब नए दिशानिर्देशों के मद्देनजर, उन्हें 20 अप्रैल से फिर से शुरू किया जा सकता है। इससे 2.6 लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिल सकता है। छूट के बाद, निर्माण, लघु उद्योग और कृषि क्षेत्र के लिए सबसे बड़ी वृद्धि होगी। इस क्षेत्र में लगभग पांच लाख लोग लगे हैं। राज्य में 12 लाख से अधिक पंजीकृत निर्माण श्रमिक हैं। अनुमान है कि 10 लाख निर्माण श्रमिक काम पर वापस आ जाएंगे। श्रमिक हैं। अनुमान है कि 10 लाख निर्माण श्रमिक काम पर वापस आ जाएंगे।
  • एक तरफ कोरोना वायरस " से मौत का भय तो दूसरी तरफ पुलिस संरक्षण में बेचा जा रहा है नशे का जहर-स्थानीय महिला कांबले ने किया आरोप

    By first headlines india →
    "एक तरफ कोरोना वायरस " से मौत का भय तो दूसरी तरफ पुलिस संरक्षण में बेचा जा रहा है नशे का जहर-स्थानीय महिला कांबले ने किया आरोप

     लॉक डाउन में गांजा-चरस-गुटका और शराब माफिया हुए सक्रिय ! 

    दो गुने तीगने दामो में बेचा जा रहा है मौत का यह सामान ! 

    भीम कालोनी ओटी सेक्शन में हो रहे नशे के कारोबार के खिलाफ स्थानीय जनता आई सामने ! 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में एक तरफ जहां मौत से देश,राज्य व शहर वाशियो से बचाने के लिए शाशन प्रसासन एक योद्धा के रूप में काम कर रही है तो वही दूसरी तरफ ठाणे जिले के उपनगरों में खुले आम गांजा, चरस और दीव और दमन के शराब की तस्करी कर मौत का सामान ऊंचे दामो में बेचा जा रहा है।इसी तरह का एक मामला विट्ठलवाड़ी पुलिस की हद में स्थित भीम कालोनी का प्रकाश में आया है। स्थानीय रहीवाशियो के द्वारा पुलिस के कुछ लोगो पर संगीन आरोप भी किया जा रहा है !
    इस विषय मे मिली जानकारी के अनुसार भीम कालोनी कैम्प -4 में दगुडू निकम नामक स्थानीय निवासी गांजा और हाथभट्टी शराब का व्यवसाय करता है,जहाँ सुबह से शाम तक सैकड़ो लोगो का आवागमन जारी है।चार दिन पूर्व शिवनेरी हॉस्पिटल सील करने के बाद कल रात स्थानीय निवाशियो ने रास्ते मे बैरिकेड लगा दिया।जिसके बाद दगड़ू निकम का धंधा चौपट हो गया। इस बात से नाराज दगड़ू ने अपने गुर्गों के साथ मिलकर बैरिकेट तोड़ते हुए बैरिकेट लगाने वाली महिला सहित कई लोगो के साथ मारपीट की।महिला की शिकायत पर विट्ठलवाड़ी पुलिस ने एनसी के तहत मामला दर्ज कर दगड़ू निकम को छोड़ भी दिया।महिला करुणा काम्बले ने आरोप लगाया कि विट्ठलवाड़ी पुलिस दगड़ू निकम से मिली हुई है तभी उसपर कार्यवाही नही कर रही है जिससे स्थानीय लोगो मे भय का माहौल व्याप्त हो गया है ! इस मामले सुनिये स्थानीय महिला करुणा कांबले का क्या है कहना सुनिये उनकी जुबानी,,,,,
  • समाजसेवक व बिल्डर प्रभु लहाने अपने दोनों बेटों के साथ कर रहे गोरगरीबो की सेवा !

    By first headlines india →
    समाजसेवक व बिल्डर प्रभु लहाने अपने दोनों बेटों के साथ कर रहे गोरगरीबो की सेवा !

     बेटे सचिन और मयूर के साथ मिलकर गोरगरीब को घर घर पहुचा रहे राहत सामग्री ! 

     सोसल डिस्टेंस का पालन करते हुए अब तक सैकड़ो लोगो के घर-घर तक पहुचाया गया राहत सामग्री !

     उल्हासनगर-उल्हासनगर में समाजसेवक व बिल्डर प्रभु लहाने,दीपक राजानी व अन्य लोग बिना कोई प्रचार-प्रसार के "कोरोना वायरस" में जद्दोजहद करने वाले गोर-गरीबो को राहत सामग्री का पैकेट जिसमें चावल,आटा,दाल, तेल, शक्कर,चायपत्ती,नमक, हल्दी,बिस्किट को डालकर एक परिवार का कम से कम 12 से 15 दिनों तक उदर निर्वाह हो सके ऐसे तकरीब हजारों पैकेट अब तक विभिन्न स्लम क्षेत्रो ममें रहने वाले गोर गरीब जनता को देकर अपना मानव सेवा धर्म निभा रहे है।
    प्रभु लहाने को जब पता चला कि भैया साहेब नगर के सैकड़ो लोग अनाज से वंचित है।उन्होंने तत्काल होल सेलर व्यापारी से दाल, चावल, आटा, तेल, शक्कर,सहित सभी सामग्री मंगवाकर सोसल डिस्टेंस को देखते अपने परिवार के सदस्य बेटे सचिन लहाने,मयूर लहाने के साथ बैठकर तकरीबन दो सौ पचास थैलियां तैयार कर एक-एक घर तक पहुचाया। इसके पहले भी सुमीत चक्रवर्ती की अगुवाई में दीपक राजानी व प्रभु लहाने के द्वारा मानव सेवा जारी है। प्रभु लहाने का कहना है कि जब तक यह लॉक डाउन चलेगा तब तक हम ऐसे गोरगरीब जो हर दिन कमाकर अपने परिवार का भरण पोषण करते थे और अब उनका कमाने का जरिया बंद हो गया उनकी मदत करते रहेंगे !
  • पत्रकार नंदकुमार चव्हाण के बड़े भाई की हुई बिमारी से मौत !

    By first headlines india →
    पत्रकार नंदकुमार चव्हाण के बड़े भाई की हुई बिमारी से मौत ! 

    सुयश कोचिंग क्लासेस के मालिक थे स्वर्गीय विनोद चव्हाण ! 

    चव्हाण के देहांत से परिसर में शोक की लहर ! 

    उल्हासनगर-मुंबई महानगरपालिका शिक्षक पद से स्वेच्छा सेवा निवृत्ती  लेकर कोचिंग क्लासेस के माध्यम से हजारो बच्चो का मार्ग दिखाने वाले शिक्षक विनोद चव्हाण की अचानक स्वस्थ बिगड़ने से अस्पताल में ईलाज के दौरान मौत हो गयी .  विनोद दत्तात्रय चव्हाण (५०) मराठी दैनिक पुढारी के पत्रकार नंदकुमार चव्हाण के बड़े भाई थे.नंदकुमार को अपने पैर पर खड़ा करने में बड़े भाई विनोद चव्हाण का बड़ा योगदान था.
    मराठा सेक्शन में रहनेवाले विनोद चव्हाण व उनकी पत्नी पत्नी वैभवी चव्हाण दोनों अपने दांपत्य जीवन हँसी खुशी निर्वाह करते हुए सुयश कोचिंग क्लासेस चलाते थे. इस क्लास से हजारो विद्यार्थीयो ने टॉपर किया है। विद्यार्थीयो के लिए सुयश क्लासेस फेव्हरेट हैै। विनोद चव्हाण का तीन दिन पहले  अचानक सिर में दर्द शुरू हो गया।जिसके उपरांत उन्हें सेंचुरी रेयान हॉस्पिटल में एडमिट किया गया था. जहा स्व्स्थ ने सुधार नही हो पाने पर कल्याण फोर्टिश उसके बाद उल्हासनगर के मैक्स हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था जहाँ उपचार के दौरान मंगलवार दोपहर विनोद का देहांत हो गया। विनोद चव्हाण के पीछे माँ, पत्नी, एक लड़का व एक लडक़ी है। चव्हाण के देहांत से परिसर में शोक की लहर फैल गयी है।विनोद चव्हाण के भाई नंदकुमार चव्हाण ने फोन से सभी को लॉक डाउन व सोशल डिस्टेंस का पालन करने की अपील करते हुये घर से ही श्रद्धांजली अर्पित करने की अपील की है।
  • यूज मास्क धोकर और प्रेस करने के बाद वापस बाजार में बेचने वाले रैकेट का हुआ भंडाफोड !

    By first headlines india →
    यूज मास्क धोकर और प्रेस करने के बाद वापस बाजार में बेचने वाले रैकेट का हुआ भंडाफोड ! 

    इस रैकेट के जरिए यूज किए पीपीई, मास्क, ग्लव्स और हैंड सैनिटाइजर बेचते करते है धंधा ! 

     पुलिस ने एन-95 सर्जिकल मास्क को किया बरामद , 50 लाख रुपये के है यह मास्क ! 

     इस मामले में तीन लोगों को भिवंडी और विरार से किया गया गिरफ्तार ! 

    पुलिस ने दिल्ली, हैदराबाद और राजस्थान पुलिस को किया अलर्ट ! 

    आम जनता अपने बनाये मास्क व घरेलू कपड़े के मास्क करे यूज ! 

     पालघर - पालघर में पुलिस ने यूज किए हुए मास्क फिर से बेचे जाने के रैकिट का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने एन-95 सर्जिकल मास्ट भारी मात्रा में बरामद किए हैं, जिनकी कीमत 50 लाख रुपये बताई जा रही है। ये मास्क विरार के स्लम में स्टोर किए गए थे। पुलिस का मानना है कि यह बहुत बड़ा रैकिट हो सकता है इसलिए दूसरे राज्यों की पुलिस से संपर्क किया गया है।
    एसपी पालघर गौरव सिंह ने बताया कि इस मामले में तीन लोगों को भिवंडी और विरार से गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि तीनों आरोपियों के नाम अभी सार्वजनिक नहीं किए जा रहे हैं क्योंकि यह बहुत बड़ा गैंग हो सकता है। एसपी ने बताया कि पुलिस ने दिल्ली, हैदराबाद और राजस्थान पुलिस से संपर्क किया है, जहां इस गैंग के अन्य लोग शामिल हैं। एसपी ने बताया कि तीनों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है। वसई के असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सिद्धवा जयबजय ने बताया कि इस रैकिट की जानकारी उन्हें खुफिया सूत्रों से मिली थी। पता चला था कि इस रैकिट के लोग प्रयोग किए हुए पीपीई उपकरण जैसे मास्क, ग्लव्स और हैंड सैनिटाइजर बेचते हैं। पुलिस ने बताया कि देर रात की गई छापेमारी में विरार के स्लम से 25000 एन95 प्रयोग किए हुए मास्क बरामद किए गए। दो लोगों को मौके से गिरफ्तार किया गया। दोनों की निशानदेही पर पुलिस ने तीसरे शख्स को भिवंडी से पकड़ा। पूछताछ में पता चला कि मास्क की यह खेप नई दिल्ली से सड़क मार्ग से लाई गई थी। यात्रा के दौरान उनके पास पीपीई और मास्क सप्लाई करने की अनुमति थी। छानबीन में सामने आया कि नई दिल्ली में एक ग्रुप ने प्रयोग किए हुए मास्क एकत्र किया था। वहां से यह भिवंडी भेजा गया। भिवंडी में मशीनों में ये मास्क धुले जाने थे और प्रेस करने के बाद उन्हें भेजा जाना था। मास्क की यह खेप हैदराबाद, नई दिल्ली और राजस्थान में सप्लाई होनी थी।
  • गाड़ी पार्किंग को लेकर हुए विवाद में एक ब्यक्ति हुई हत्या !

    By first headlines india →
    गाड़ी पार्किंग को लेकर हुए विवाद में एक ब्यक्ति हुई हत्या ! 

    पुलिस ने तीन लोगों को किया गिरफ्तार !

     झगड़े के समय तमाशबीन बने रहे सोसायटी के लोग !

     सरकारी अस्पताल में ईलाज के दौरान हुई मौत ! 

    वसई-वसई पश्चिम के तहसील कार्यालय के पास स्थित एक सोसायटी में शनिवार दोपहर पार्किंग को लेकर हुए विवाद में तीन लोगों ने 43 वर्षीय एक व्यक्ति को लात घूसों व डंडे से पीट-पीटकर मार डाला। घटना के वक्त सोसायटी के लोग तमाशबीन बनकर देखते रहे, लेकिन कोई भी उसकी मदद के लिए आगे नहीं आया।फिलहाल पुलिस ने धारा 302, 188, 269, 270, 34 के तहत मामला दर्ज कर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। रविवार को आरोपियों को वसई कोर्ट में पेश किया गया, जहां कोर्ट ने उन्हें शुक्रवार तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है। 
    वसई पश्चिम तहसील कार्यालय के पीछे स्थित साई सृष्टि अपार्टमेंट निवासी महेश गेंदालाल बडगुजर (43) शनिवार दोपहर 1 बजे अपनी दोस्त विद्या संजय शिंदे के साथ अपनी होंडा सिटी कार से अपनी बिल्डिंग में गया। बडगुजर ने कार को सी विंग के सामने पार्क कर दी। इस दौरान बिल्डिंग में रहने वाले सुभाष हंसराज राठौड़, उसकी पत्नी अंजना राठौड़ व हेमंत जयप्रकाश चव्हाण ने गाड़ी पार्क करने का विरोध किया। इस बात को लेकर विवाद हो गया। मामला इतना बढ़ गया कि राठौड़, उसकी पत्नी व चव्हाण मिलकर बडगुजर को लात, घूसों व डंडे से पीटने लगे। इस दौरान बडगुजर की दोस्त विद्या शिंदे सोसायटी के लोगों से मदद की गुहार लगाने लगी। लेकिन सब लोग तमाशबीन बने रहे। कोई भी मदद के लिए आगे नहीं आया। तीनों ने बडगुजर की बेरहमी से पिटाई कर दी। कुछ देर बाद विद्या शिंदे उसे घर ले गई। घर जाते ही बडगुजर को उल्टियां होने लगीं। उसे पास स्थित सरकारी अस्पताल ले जाया गया। जहां कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। देर शाम पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी सुभाष हंसराज राठौड़, अंजना राठौड़ व हेमंत जयप्रकाश चव्हाण को गिरफ्तार कर लिया।
  • उमपा राकांपा गटनेता व उनके सहयोगियों के द्वारा बारह सौ लोगों को मुफ्त में खिलाया जा रहा खाना !

    By first headlines india →
    उमपा राकांपा गटनेता व उनके सहयोगियों के द्वारा बारह सौ लोगों को मुफ्त में खिलाया जा रहा खाना ! 

     उल्हासनगर राकांपा नेता भरत गंगोत्री के नेतृत्व में गरीबों को पहुचाई जा रही है मदत ! 

     बारामती पैटन के जरिए शहर को रखा जा सकता है करोना मुक्त शहर - बगाड़े

     इस पूरे मामले पर क्या कहना है भरत गंगोत्री व माधव बगाड़े का सुनिये उन्ही की जुबानी,,,,, 

    उल्हासनगर-उल्हासनगर शहर में लॉक डाऊन के दिनों में गरीब जनता व दिहाड़ी मजदूर भूखमरी के कगार पर आ गए हैं। इसको देखते हुए उल्हासनगर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी द्वारा हजारों लोगों के खाने का प्रबंध किया गया है। और उल्हासनगर मनपा के पैनल 17 में राकांपा गट नेता भरत राजवानी (गंगोत्री) ने अपने वार्ड को सुरक्षित रखने के लिए साफ सफाई के साथ सैनिटाईजिंग का कार्य अपने सहयोगी नगरसेवकों के साथ किया है। 
    बता दे कि राकांपा गट नेता भरत गंगोत्री व जिलाध्यक्ष हरकिरण सोनी कौर धामी के मार्गदर्शन में शहर में हजारों जरूरतमंदों को रोजाना खाने का प्रबंध किया है। इस कार्य से भूखमरी के कगार पर पहुंचे जरूरतमंदों व दिहाड़ी मजदूरों को दो समय का खाना राकांपा द्वारा मिल रहा है। इस सेवा में राकांपा के कार्यकर्ता सामाजिक दूरी का ख्याल भी रख रहे हैं। राकांपा नेता भरत गंगोत्री ने बताया कि हमारी राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार, प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील व उपमुख्यमंत्री अजित पवार के मार्गदर्शन में हमने उल्हासनगर में रोजाना जरूरतमंदों के लिए खाने का प्रबंध किया है। करोना महामारी में सबसे ज्यादा प्रभावित शहर की गरीब जनता व दिहाड़ी मजदूर हुए हैं क्योंकि उनके पास न तो पैसे है और न ही काम ऐसे में उन्हें खाना के पैकेट पहुंचाने का कार्य राकांपा द्वारा किया जा रहा है। राकांपा कार्यकर्ता उन गरीबों के घरों में जाकर उन्हें खाना पहुंचा रहा है। इस महामारी में राकांपा द्वारा सामाजिक दूरी का अच्छे से ख्याल रखा गया है। राकांपा कार्यालय में ही गरीबों के खाने का प्रबंध रोजाना किया जा रहा है और खाने के करीब बारह सौ से अधिक पैकेज रोजाना जरूरतमंदों तक पहुंचाए जा रहे हैं। वही रांकपा नेता व उप मुख्यमंत्री अजीत पवार के मार्गदर्शन में जैसे बारामती को करोना मुक्त बनाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है वैसे ही यदि बाकी के शहरों में किया जाय तो शहर को करोना मुक्त शहर बनेर रखने में आसानी होगी ! राकांपा द्वारा की जा रही इस मानव सेवा की जानकारी राकांपा नेता गंगोत्री ने दी और कहा कि यह सेवा लॉक डाऊन के समय पूर्ण होने तक जारी रहेगा। वही रांकपा के भरत गंगोत्री व माधव बगाड़े ने क्या कहा सुनिये उनकी जुबानी,,,,,,,,
  • जय गणेश मित्र मंडल व पुर्णेकर मेमोरिअल फाऊंडेशन के द्वारा गरीबो को बाटा जा रहा खाना !

    By first headlines india →
    जय गणेश मित्र मंडल व पुर्णेकर मेमोरिअल फाऊंडेशन के द्वारा गरीबो को बाटा जा रहा खाना !

     हर दिन 11 सौ लोगो को खिलाया जा रहा है मुफ्त भोजन ! 

    फ्राईड राईस और वेज सुप लोगो को किया जा रहा वितरण ! 

    जय गणेश मित्र मंडळ व स्व. यशवंत रामचंद्र पुर्णेकर मेमोरिअल फाऊंडेशन के जरिये चलाया गया यह अभियान ! 

    ठाणे-ठाणे करोना महामारी के दौरान देश ब्यापी लॉक डाउन गरीब जनता के खाने पीने की समस्याओं देखते हुए जय गणेश मित्र मंडल व स्व. यशवंत रामचंद्र पुर्णेकर मेमोरिअल फाऊंडेशन के द्वारा 5 अप्रैल से गरीबो को मुफ्त भोजन दिया जा रहा है ! 
    बता दे कि छोटी मोटी कंपनी में काम करने वाले गोरगरीब मजदूरों का लॉक डाउन के दरम्यान खाने पीने की तकलीफ को ध्यान में रखते जय गणेश मित्र मंडल व स्व. यशवंत रामचंद्र पुर्णेकर मेमोरिअल फाऊंडेशन के द्वारा हर दिन 11 सौ लोगो को मुफ्त में भोजन दिया जा रहा है इसमें फ्राईड राईस और वेज सुप ताकतवर खाना दिया जा रहा है इसके लिए 40 से 50 कार्यकर्ताओं के कड़ी मेहनत से यह भोजन बनाकर गरीबो तक पहुचाया जा रहा इसके लिए जयनाथ पुर्णेकर, प्रदिप पुर्णेकर ने अपने सभी साथियों आभार ब्यक्त किया जिनकी बदौलत यह सब हो पा रहा है उन्होंने कहा है कि जब तक लॉक डाउन चलता रहेगा तबतक यह सेवा निरंतर चलता रहेगा !
  • उल्हासनगर सेंट्रल पुलिस स्टेशन के सीनियर सुराडकर के जरिए गरीबो को बाटी गई राहत सामग्री !

    By first headlines india →
    उल्हासनगर सेंट्रल पुलिस स्टेशन के सीनियर सुराडकर के जरिए गरीबो को बाटी गई राहत सामग्री !

     डॉल्फिन क्लब के बगल करोतिया नगर रहीवाशियो को बाटी गई राहत सामग्री !  

    तीन सौ गरीबो को वितरित किया गया राहत सामग्री का पैकेट !  

      पीआई सुराडकर व उनके सहकर्मी पुलिस कर्मियों की मौजूदगी संपन्न हुआ कार्यक्रम !  

    देखिए शोसल डिसटेन्सन के जरिए दिया गया राहत सामग्री,,,,,,,,,,, 

     उल्हासनगर-उल्हासनगर लॉक डाउन में हर दिन काम करके अपना व परिवार का भरण पोषण करने वाले गोरगरीब को डॉल्फिन क्लब के करोतिया नगर परिसर में रहने वाले लोगो को सेंट्रल पुलिस स्टेशन के सीनियर सुधाकर सुराडकर व उनके सहयोगी पुलिस कर्मियों के जरिये राहत सामग्री बाटा गया है.
     बता दे कि करोना महामारी के बढ़ते मामले के चलते पूरे देश में लॉक डाउन किया गया इसके चलते हर दिन कमा कर अपना व अपने परिवार का भरण पोषण करने वालो को खाने पीने के बडा संकट निर्माण हो गया उसी को ध्यान में रखते सेंट्रल पुलिस स्टेशन के सीनियर सुराडकर व उनके सहयोगी पुलिस कर्मचारियों के द्वारा डॉल्फिन क्लब के करोतिया नगर परिसर में रहने वालों गोरगरीब को राहत सामग्री बाटा गया करीब तीन सौ लोगो को यह राहत सामग्री का पैकेट दिया गया है इस कार्यक्रम में स्थानीय नगरसेवक स्वप्निल बागुल व नाना बागुल व सेंट्रल पुलिस स्टेशन के सीनियर सुधाकर सुरडकर पुलिस उपनिरीक्षक तुकाराम शेलके,पुलिस हवलदार आव्हाड,जाधव,वासात,धानोडकर,व महिला होमगार्ड मनीषा खैरनार समेत पुलिस कर्मचारियों की उपस्थिति थी !
  • बदलापूर में तीन करोना के पॉजिटिव मरीज मिले, परिसर को किया गया सील !

    By fast headline india →
    बदलापूर में तीन करोना के पॉजिटिव मरीज मिले, परिसर को किया गया सील ! 

     पुलिस की पत्नी (४५), बेटी (२०) इनको हुआ करोना ! 

     लॉकडाऊन के दरम्यान सातारा में रिश्तेदार के अंतिम संस्कार गए थे वही पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आने से हुई यह बीमारी ! 

     वोकहार्ट अस्पताल के कर्मचारी जो बदलापुर में रहते है उनको भी करोना की बीमारी पुष्टी हुई है ! 

    बादलपुर - बदलापुर परिसर में रहने वाले तीन लोग करोना पॉजिटिव मिलने से पूरे बदलापुर परिसर में लोगो में सनसनी मच गया है, वही पुलिस ने ऐतिहात के तौर उस परिसर को सील कर दिया है ! बता दे कि इन तीनो मरीजो को ईलाज के लिए बदलापुर मनपा क्वारंटाईन सेंटर में रखा गया है और इनका आगे का ईलाज करने के लिये उल्हासनगर के करोना अस्पताल में लाने की तैयारी की जा रही है,, इस पूरे मामले पर अंबरनाथ के एसीपी विनायक नरणे क्या कहा सुनिये उन्ही की जुबानी,,,,,
  • उल्हासनगर में कोई गरीब भूखा न रहे इसके लिए मनपा ने हर प्रभाग अधिकारी को दी जिम्मेदारी !

    By first headlines india →
    कोई गरीब भूखा न रहे इसके लिए मनपा ने हर प्रभाग अधिकारी को दी जिम्मेदारी !

     गरीबो से किया गया अपील अपने प्रभाग अधिकारी दो जानकारी जांच के बाद दो टाइम के बाद मिलेगा भोजन ! 

    शहर को चार प्रभागों में बाटा गया हर प्रभाग के लिए एक एक सेवाधारी दरबार को दी गई जिम्मेदारी ! 

    समाज सेवक, नगरसेवकों को कहा गया अपने प्रभाग अधिकारी से करे संपर्क ! 

    प्रभाग समिति एक के लिए झूलेलाल मंदिर,प्रभाग समिति दो राधा स्वामी सतसंग, प्रभाग समिति तीन थायरा सिंह दरबार, प्रभाग समिति चार में अमृत वेला ट्रस्ट !

    इस पूरे मामले के बारे उमपा प्रभाग समिति तीन के सहायक आयुक्त गणेश शिंपी ने क्या सुनिये उन्ही की जुबानी,,,,      

    उल्हासनगर-उल्हासनगर में देश व राज्य में करोना वायरस के  लॉकडाउन कार्यकाल के दौरान गरीबों, बेघर, विस्थापित और दुसरे राज्यो के रहिवासी फसे हुये कामगारों के लिये निवास, अनाज और भोजन की व्यवस्था के लिये उपाय योजना मनपा द्वारा की गई है,आयुक्त सुधाकर देशमुख ने मनपा के चारो प्रभाग के अधिकारियों को यह जिम्मेदारी सौपी कोई गरीब भूखा न रहे, गरीबो से अपील किया गया है जिनको भी खाने की तकलीफ है तो अपने नजदीक के प्रभाग अधिकारी से संपर्क करे वो उसका निवारण करेंगे ! वही प्रभाग समिति एक के लिए झूलेलाल मंदिर तो प्रभाग समिति दो राधा स्वामी सतसंग तो प्रभाग समिति तीन में थायरा सिंह दरबार तो प्रभाग समिति चार में अमृत वेला ट्रस्ट के सेवाधारियों को भोजन वितरित करने के लिए पास दिया गया है। निर्देशानुसार सोसल डिस्टेंस बनाकर ही लोगो तक भोजन खाद्य पदार्थ उन तक पहुचाया जाए। इस पूरे मामले के बारे उमपा प्रभाग समिति तीन के सहायक आयुक्त गणेश शिंपी ने क्या सुनिये उन्ही की जुबानी,,,,      
     बता दे कि यह भी देखा जा रहा है कि, इनकी मदद करने हेतु हररोज़ नई नई संस्था, नये नये लोग बगैर परमिशन के धोकादायक तरीक़े कुछ न कुछ मदद सामग्री बांट रहे है, पुण्यकर्म होने के साथ इन लोगों के पास कोरोना प्रादुर्भाव से बचाव का कोई साधन नहीं होता, लेने और देने वालों में सोशल डिस्टन्स का पालन भी नहीं किया जाता है जिससे लोगों में इस बीमारी का प्रादुर्भाव बढ़ सकता है।इन्ही समस्याओं को ध्यान मे रखते हुये उमपा प्रशासन द्वारा प्रभाग क्रमांक 1 से 4 के स्कुलो और सार्वजनिक इमारतों को बेघर लोगो के लिए निवास और भोजनालय के लिए उपलब्ध करवाया गया है। ऐसी जानकारी आयुक्त देशमुख दिया गया है !