• ट्रैफिक विभाग के फ्लैग मार्च कार्यक्रम के समापन के बाद शोसलडिटेन्सन की उड़ाई गई धज्जियां !

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    ट्रैफिक विभाग के फ्लैग मार्च कार्यक्रम के समापन के बाद शोसलडिटेन्सन की उड़ाई गई धज्जियां ! 

    शहर की जनता ने ट्रैफिक पुलिस कर्मियों का फूल, ताली बजाकर, भारत माता की जय के नारे के साथ किया स्वागत !

     सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी के पदाधिकारियों ने कार्यक्रम समाप्त होने के बाद शोसलडिटेन्सन का बनाया मजाक !

     क्या कार्यक्रम के आयोजक पर पुलिस करेगी कार्यवाई !

     कार्यक्रम में डीसीपी शेवाले,एसीपी टेले,ट्रैफिक एसीपी उगले, सहित कई पुलिस के आला अधिकारी थे मौजूद ! 

    बाबाओ की उपस्थिति के लिए आयोजक लिया था पुलिस का परमिशन ?

    देखिये पूरी खबर को जोन चार के डीसीपी ने क्या दिया संदेश और आयोजक ने कैसे उड़ाई शोसलडिटेन्सन की धज्जियां !

    उल्हासनगर-उल्हासनगर ठाणे जिले में कोरोना महामारी को बढ़ने से रोकने के लिए ठाणे जिलाधिकारी राजेश नार्वेकर हर मुमकिन कोशिश कर रहे है और सभी विभागों को संचारबन्दी का सख्ती से पालन करने का आदेश दिया है,यही नही एक जगह पर भीड़ इकट्ठा नही हो इस पर विशेष पाबंदी लगाने का आदेश दिया हुआ है।बावजूद गुरुवार को सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी के द्वारा वाहतूक विभाग के सौजन्य से फ्लैग मार्च के समापन के बाद कार्यक्रम के आयोजकों ने संचारबन्दी की जमकर धज्जियां उड़ाई,अब सवाल यह उठ रहा है कि कार्यक्रम के आयोजकों पर संचार बंदी के तहत मामला दर्ज किया जायेगा या नही ? 
    बता दे कि संचारबन्दी के दरम्यान लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालो पर लाठियां बरसाई जाती है,उनसे उठापटक कराया जाता है और उनपर आईपीसी 188 के तहत मामला दर्ज किया जाता है।वही उल्हासनगर में गुरुवार को सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी के जरिये ट्रैफिक पुलिस को लेकर निकाला गया फ्लैग मार्च के समापन कार्यक्रम के दौरान सोसल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ते हुए दिखाई दिया जब कि इस समापन समारोह में पुलिस डिपार्टमेंट के डीसीपी प्रमोद शेवाले,एसीपी डी.डी. टेले,ट्रैफिक एसीपी दिलीप उगले,वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेन्द्र कदम,सुधाकर सुराड़कर,श्रीकांत धरने सहित कई अधिकारी मौजूद थे।और उनके जाते ही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गई,अब ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या पुलिस कार्यक्रम के आयोजकों पर संचारबन्दी उल्लंघन के तहत मामला दर्ज करेगी या इस पर लीपापोती करेगी। गौर तलब हो कि सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी ने आज ट्रैफिक पुलिस की तरफ से बिर्ला गेट से लेकर एक नंबर होते हुए गोल मैदान तक रुट मार्च निकाला गया।पुलिस के रूट मार्च को इमारतो के रहिवाशियो ने जमकर प्रतिशाद देते हुए थालिया,तालिया,फूल बरसाते हुए भारत माता की जय का नारा लगाया।पुलिस के इस कार्यक्रम की रूप रेखा शुरू से सराहनीय थी।लेकिन अंतिम समय समापन के दौरान कार्यक्रम ने एक अलग ही मोड़ ले लिया। समापन के दौरान शहर हित मे अमृतवेला ट्रस्ट के रिंकू भाई ,झूलेलाल ट्रस्ट के भाऊ लीलाराम व राधा स्वामी सत्संग के पदाधिकारियों का सत्कार किया गया जहां सोसल डिस्टेंस की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही थी।यही नही धारा 144 लागू होने के बाद इतने बड़े पैमाने पर एक साथ सैकड़ो लोगो के जमाव बंदी को वाहतूक पुलिस व स्थानीय पुलिस काफी समय तक हटाने की भी कोशिश नही की थी। यहाँ बता दे कि उल्हासनगर से सटे केडीएमसी में कोरोना वायरस मरीजो का आंकड़ा 90 के पार हो चुका है और कल यहां के सेंट्रल हॉस्पिटल में एडमिट कल्याण रहिवाशी पेशेंट भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया।ऐसे में आज जिस तरह कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने के लिए शहर के संतो को शामिल कर सोसल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाई गयी उसकी चर्चा जमकर छाई हुई है। सिंधु सखा संगम और सिंधु एजुकेशन सोसायटी के इस कार्यक्रम में संतो को आने का परमिशन पुलिस लिया गया था या वो लोग बिना परमिशन के वहाँ पर आए थे क्या आम जनता के लिए अलग कानून है और वीआईपी लोगो के लिए अलग कानून है अगर नही तो बिना परमिशन के आये लोगो पर भी कानूनी कार्यवाई होनी चाहिए ! अगर इस कार्यक्रम में गलती से भी एक भी भविष्य में कोरोना पजोटिव मिल गया तो उल्हासनगर शहर सबसे बड़ा हाट स्पॉट बनने से कोई रोक भी नही पायेगा जिस तरह की भीड़ ने नियमों पर ताख पर रख कर धज्जियां उड़ाई उसको देखकर तो यही कहना पड़ेगा !
  • No Comment to " ट्रैफिक विभाग के फ्लैग मार्च कार्यक्रम के समापन के बाद शोसलडिटेन्सन की उड़ाई गई धज्जियां ! "