• टीओके ने सेंट्रल अस्पताल के डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही बरतने का आरोप !

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    टीओके ने सेंट्रल अस्पताल के डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही बरतने का आरोप !

     टीओके प्रमुख कालानी के जरिये दी गई स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे जानकारी, टोपे ने दिया जांच के आदेश ! 

    अस्पताल के सिविल सर्जन डॉक्टर शिंदे को दिया लिखित पत्र और किया कार्यवाई की मांग ! 

    नाकार विधायक मिलने के चलते शहरवाशी भुगत रहे है उसकी सजा-टीओके प्रवक्ता निकम 

    उल्हासनगर के भाजपा विधायक ने देश के प्रधानमंत्री किया अपमान ऐसे विधायक के ऊपर हो कार्यवाई-टीओके पदाधिकारी त्रिलोकानी

     इस पूरे मामले टीओके प्रवक्ता कमलेश निकम व पंकज त्रिलोकानी ने क्या कहा सुनिये उनकी जुबानी,,,, 


     उल्हासनगर. उल्हासनगर कैम्प क्रमांक तीन स्थित सरकारी सेंट्रल अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा मरीजो के प्रति दिखाई जा रही असंवेदनशीलता को लेकर टीओके ने अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए राज्य के हेल्थ मिनिस्टर राजेश टोपे से संबंधित डॉक्टरों के खिलाफ विभागीय जांच कराए जाने व दोषी डॉक्टरों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है वही उक्त मुद्दे को लेकर टीओके के एक प्रतिनिधि मंडल ने प्रवक्ता कमलेश निकम व टीओके युवा अध्यक्ष सुंदर मुदलियार, के नेतृत्व में अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ सुधाकर शिंदे से मुलाकात की और लिखित पत्र देकर दोषी डॉक्टरों पर कार्यवाई की मांग किया है ! 
    बता दे कि टीओके के प्रवक्ता  कमलेश निकम ने कहा कि स्थानीय सेंट्रल अस्पताल के संबंधित डॉक्टर की वजह से 20 अप्रैल को कुमारी प्रणाली रामेश्वर गवई नामक एक इंजीनियर लड़की की मौत हो गई है यदि समय रहते उसका इलाज शुरू कर दिया होता अथवा उसको समय पर ही अन्य हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया गया होता तो उस बच्ची की जान बच सकती है. इसी तरह प्रसूति के लिए अस्पताल आईं महिला को दो -दो बार वापस करने कर बाद उस महिला ने घर में बच्चे को जन्म दिया व मामला बढ़ने व राजनीतिक दलों द्वारा मुद्दा उपस्थित करने पर जच्चा व बच्चे को अस्पताल लाया गया जहां वह महिला व नवजात शिशु स्वस्थ्य है. मध्यवर्ती हॉस्पिटल के डॉक्टरों की उजागर होती लगातार लापरवाही की शिकायत मंगलवार को टीम ओमी कालानी प्रमुख ओमी कालानी के पत्र पर टीओके प्रवक्ता कमलेश निकम ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे से की है व इस विषय पर कमलेश निकम, समाजसेवक शिवाजी रगड़े, टीओके युवा अध्यक्ष सुंदर मुदलियार, कार्याध्यक्ष पंकज त्रिलोकानी, उपाध्यक्ष गुड्डू राय, ब्रिज बिहारी शुक्ला, पीयूष वाघेला,  नरेश सालवे,  नरेश गायकवाड,  मनीष हिंगोरानी, ख्वाजा कुरेशी आदि ने अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ सुधाकर  शिंदे को एक निवेदन पत्र देते हुए इंजीनियर प्रणाली गवई का मौत का सबब बने डॉक्टर, अस्पताल आयी गर्भवती महिला को दो दो बार घर भेजने व आदिवासी बच्चे की हड्डी टूट जाने पर उसका इलाज करने में बहाने बाजी करने वाले स्टाफ पर कार्रवाई की मांग की. इस तरह सभी मामलों को लेकर टीओके नेता ओमी कालानी ने मंत्री राजेश टोपे से बात किया है ऐसा कमलेश निकम बताया और कहा की मंत्री महोदय ने ओमी कालानी को अश्वासन दिया है कि मामले को गंभीरता पूर्वक लेते हुए जांच का आदेश दिए जाएंगे.
  • No Comment to " टीओके ने सेंट्रल अस्पताल के डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही बरतने का आरोप ! "