• निसर्ग तूफान ने उल्हासनगर में 35 पेड़ों को किया धरासाई !

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    निसर्ग तूफान ने उल्हासनगर में 35 पेड़ों को किया धरासाई ! 

    थायरासिंह दरबार ने लोगों के लिए इस आपदा में किया भोजन की व्यवस्था ! 

     कुछ जगह पर बिल्डिंगों के छत पर लगे पतरे उड़े ! 

     देखिये पूरी खबर को कहा गिरे पेड़ कहा उड़े पतरे,,,,,, 

    उल्हासनगर- उल्हासनगर शहर भी निसर्ग तूफान की चपेट में आ गया है और 35 पेड़ गिर गए हैं, सौभाग्य से कोई हताहत नहीं हुआ है। शहर के कई हिस्सों में बिजली और पानी की आपूर्ति बंद होने के कारण लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। 
    उल्हासनगर -2 में नाना-नानी पार्क के पास एक पेड़ बिजली की लाइनों और ट्रांसफॉर्मर पर गिरने के कारण शॉर्ट-सर्किट हो गया, आग लग गई, आग बुझाने के लिए दमकल और बिजली विभाग के कर्मी मौके पर पहुंचे और बचाव कार्य शुरू किया है। उल्हासनगर -4 में धर्मजी पैलेस की इमारत पर एक बड़ा पेड़ गिर गया है, उल्हासनगर -5 में निजधाम आश्रम के पास भी एक पेड़ गिर गया है, कई स्थानों की छतों के पतरे उड़ गए हैं। बिजली की आपूर्ति में कमी के कारण, कई इमारतों के लिफ्ट बंद हो गई है, जिससे वरिष्ठ नागरिक और बच्चे परेशान हैं। उल्हासनगर शहर में कुल 35 पेड़ों के गिरने की घटनाएं हुई हैं, हमने 20 स्थानों पर राहत कार्य पूरा कर लिया है और अन्य स्थानों पर राहत कार्य चल रहे हैं, अब तक कोई हताहत नहीं हुआ है, उल्हासनगर मनपा के फायर ब्रिगेड अधिकारी बालासाहेब नेटके ने ऐसी जानकारी दी है। शहर के थायरासिंह दरबार ने लोगों के भोजन की व्यवस्था की है। उल्हासनगर में, प्राकृतिक आपदाओं के कारण नुकसान की आशंका थी, बिजली और पानी की आपूर्ति कई घंटों के लिए काट दी गई थी, कोरोना के कारण लोगों में पहले से ही भय का माहौल था, यह तूफान नागरिकों के लिए दोहरी मार है।
  • No Comment to " निसर्ग तूफान ने उल्हासनगर में 35 पेड़ों को किया धरासाई ! "