• कोरोना महामारी के चलते 86 साल की परंपरा टूटी, इस बार नही आएंगे मन्नत के लालबागचा राजा !

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+
    कोरोना महामारी के चलते 86 साल की परंपरा टूटी, इस बार नही आएंगे मन्नत के लालबागचा राजा ! 

     महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना मरीजों के चलते इस बार मुंबई में गणपति उत्सव नही लगेंगे बड़े पंडाल ! 

     कोरोना के प्रसार के चलते इस बार पंडाल की जगह 11 दिन का ब्लड और प्लाज्मा डोनेशन कैंप लगेगा !  

    मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सभी मंडलों को इस साल गणपति उत्सव को हर साल की तरह ना मनाने के दिया आदेश !  

    मुंबई-मुंबई में कोरोना महामारी के बढ़ते असर इस बार गणपति उत्सव पर भी देखने को मिल सकता है। महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या के चलते इस बार मुंबई के लागबाग में गणपति उत्सव नहीं मनाया जाएगा। लालबागचा राजा गणेशोत्सव मंडल ने फैसला किया है कि कोरोना के प्रसार के चलते इस बार पंडाल की जगह ब्लड और प्लाज्मा डोनेशन कैंप लगाया जाएगा। 
    इसकी जानकारी लालबागचा राजा गणेशोत्सव मंडल के सचिव सुधीर साल्वी ने बताया, 'इस बार भव्य तरीके से गणेशोत्सव मनाने के बजाय लालबागचा राज मंडल सीएम राहत फंड में राशि दान करेगा। हम एलओसी और एलएसी पर शहीद हुए जवानों के परिजनों को सम्मानित भी करेंगे।' इस बार यह मंडल कोरोना के खतरे को देखते हुए मूर्ति विसर्जन भी नहीं करेगा। बता दें कि देश में सबसे अधिक कोरोना मरीज महाराष्ट्र में ही हैं। मुंबई में कोरोना के मामले 77,197 हो गए हैं। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सभी मंडलों को इस साल गणपति उत्सव को सादगी से मनाने के आदेश दिए थे। इसके अलावा सीएम ने गणेश की मूर्ति की ऊंचाई को चार फीट तक ही रखने का निर्देश भी दिया था।
  • No Comment to " कोरोना महामारी के चलते 86 साल की परंपरा टूटी, इस बार नही आएंगे मन्नत के लालबागचा राजा ! "