• आईडीआई कंपनी का 8 करोड़ का टैक्स कोर्ट में है पड़ा !

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+

     आईडीआई कंपनी का 8 करोड़ का टैक्स कोर्ट में है पड़ा !


    मनपा के आला अधिकारियों को नही था इस बात की जानकारी ?

    उमपा के सभागृह नेता राजेंद्र चौधरी के चलते मनपा के सामने आया यह पूरा मामला !

    देखिये पूरी खबर को इस मामले पर उमपा सभागृह नेता राजेंद्र चौधरी ने कहा कहा सुनिये उनकी जुबानी,,,,

    उल्हासनगर - उल्हासनगर में  जैसे ही शिवसेना को यह जानकारी सामने आई कि उल्हासनगर में आईडीआई कंपनी पर काम शुरू कर दिया गया था, जो पिछले 20 वर्षों से बंद है, जिसका उमपा का करोड़ों रुपये के टैक्स बकाये के बावजूद कंपनी ने अदालत से ब्याज माफ करने का अनुरोध किया और 7से 8 करोड़ रुपये का भुगतान किया।अब यह पैसा नगर पालिका को दस्तावेज दिखाने के बाद दिया जाएगा विशेष महानगरपालिका के अधिकारी हैं इससे अनभिज्ञ है। 

    वही इस पर उमपा के सभागृह नेता राजेंद्र चौधरी ने कमिश्नर डाॅ राजा दयानिधि से मिले और उन्हें बताया उमपा की बकाया टैक्स राशि को अदालत में कंपनी ने  जमा कर दी है और उसने महानगरपालिका को दस्तावेज जमा करने के  लिए कहा है। इस संबंध में उमपा मुख्यालय उपायुक्त मदन सोंडे से संपर्क किया गया, तो उन्होंने यह जानकारी की पुष्टि की है। इसका श्रेय सभागृह नेता को जाता है,राजेंद्र चौधरी की के बदौलत यह सब हुआ ऐसी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।जैसे ही आईडीआई कंपनी बंद हुई, उमपा के टैक्स  और श्रमिकों के बकाये में करोड़ों रुपये बकाया थे। हालांकि, जैसे ही यह पता चला कि आईडीआई कंपनी ने काम शुरू कर दिया है, शिवसेना शहर प्रमुख और सभागृह नेता राजेंद्र चौधरी, युवा सेनाअधिकारी बाला श्रीखंडे, शाखा प्रमुखसुनील (कलवा) सिंह और जावेद शेख वहा पर काम को देखने के लिए भेजा था तभी वहां पर काम कर रहे लेबर भाग गए थे। फिर सहायक आयुक्त अजय एडके ने जाकर काम को रोक दिया। उस समय, कंपनी के एकअधिकारी ने बताया कि श्रमिकों के ऋण का भुगतान किया गया है और उमपा का टैक्स सात से आठ करोड़ रुपया कोर्ट में भरा गया ऐसी जानकारी दी है !

  • No Comment to " आईडीआई कंपनी का 8 करोड़ का टैक्स कोर्ट में है पड़ा ! "