• मुंबई में बैठकर अमेरिकियों को शक्तिवर्द्धक दवाएं के नाम पर ठगने के मामले का हुआ पर्दाफाश !

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+

     मुंबई में बैठकर अमेरिकियों को  शक्तिवर्द्धक दवाएं के नाम पर ठगने  के मामले का हुआ पर्दाफाश !

    मुंबई क्राईम ब्रांच की टीम ने  6 ठगो को किया गिरफ्तार !

    अडवांस में रकम लेकर विदेशियों नही दिया उनको कोई  सर्विस  !

    इन ठगों ने हर दिन 8 से 10 लाख रुपये कमाए !


    मुंबई-मुंबई में फर्जी कॉल सेंटर खोलने से जुड़े सैकड़ों मामले देशभर में जब-तब आते रहते हैं, लेकिन मुंबई क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार को एक अनूठा केस डिटेक्ट किया है। इसमें भारत में बैठकर कॉल सेंटर कर्मचारी अमेरिकी लोगों को सेक्स की गोलियां भेजने से लेकर गूगल सर्विस देने का वादा करते थे और उनसे अडवांस में रकम लेकर विदेशियों को कोई भी सर्विस नहीं देते थे।

    इस मामले की गंभीरता से लेते हुए इंस्पेक्टर सचिन वझे और सुनील माने की टीम ने एक जॉइंट ऑपरेशन में छह आरोपियों को गिरफ्तार किया है। कोई भी कॉल सेंटर खोलने के लिए डिर्पाटमेंट ऑफ टेलिकॉम का लाइसेंस जरूरी होता है। इन आरोपियों ने वहां ऐप्लिकेशन तो दी हुई थी, लेकिन उन्हें वहां से कोई परमिशन नहीं मिली हुई थी।इन आरोपियों ने अपने यहां मुंबई में उन्हीं कर्मचारियों को रखा था, जिनकी अंग्रेजी फर्राटेदार हो। सभी कर्मचारी भारतीय हैं, लेकिन जब वह किसी अमेरिकी या कनाडा के नागरिक को मुंबई से कॉल करते थे, तो वे अपने नाम अमेरिकी या कनाडा के नागरिकों के नामों जैसे बताते थे। बात भी उसी अंदाज में करते थे। उन्हें वयाग्रा जैसी सेक्स गोलियां देने का ऑफर करते थे। गूगल कर्मचारी बनकर 159 डॉलर में गूगल सर्विस देने का वादा करते थे। कई प्रतिबंधित ड्रग्स को भी भिजवाने का वादा करते थे।भारत में इंडियन रेवन्यू ऑफिसर बनकर तमाम लोगों को कॉल करते थे और उन्हें ब्लैकमेल करते थे। अमेरिकियों को ठगने के लिए अमरीका का कोई अकाउंट नंबर देते थे और वहां रकम ट्रांसफर करने को कहते थे। बाद में हवाला से रकम मुंबई में पा लेते थे। कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन के दौर में भी आरोपियों ने रोज 8 से 10 लाख रुपये कमाए।

  • No Comment to " मुंबई में बैठकर अमेरिकियों को शक्तिवर्द्धक दवाएं के नाम पर ठगने के मामले का हुआ पर्दाफाश ! "