• भिवंडी बनने वाला है महाराष्ट्र दूसरा भोपाल कांड ?

    Reporter: first headlines india
    Published:
    A- A+

    भिवंडी बनने वाला है महाराष्ट्र दूसरा भोपाल कांड ?


    343 खतरनाक केमिकल गोदाम  है भिवंडी ग्रामीण इलाकों में !

    जल्द स्थानीय प्रशासन नही जा गया तो वो दिन दूर नही की देश का दूसरा भोपाल कांड भिवंडी यह ग्रामीण इलाका हो सकता है?

    ठाणे-भिवंडी-वाडा रोड पर गणेशपुरी थाना क्षेत्र मेंअंबाड़ी-रेवाडी रोड पर एक रासायनिक गोदाम में भीषणआग लग गई। बुधवार को लगी आग के केमिकल गोदामो में 70 से 80 फीट की ऊँचाई पर जाकर केमिकल के ड्रमों का एक बड़ाविस्फोट हो रहा था। इस आग में लाखों रुपये के खतरनाकर केमिकल जल गए हैं।आग की सूचना मिलते ही दमकल की दो गाड़ियां और एक पानी का टैंकर मौकेपर पहुंचा। दमकलकर्मियों ने सुबह तक केमिकल के धमाके से जूझते रहे। हालांकि,इस ग्रामीण बेल्ट में की ऐसे केमिकल माफियाओं के गिरोह सक्रिय जिनके पास आज भी इससे भी खतरनाकज्वलनशील केमिकल के बड़े स्टॉक के कारण, आसपासके गांवों को एक बड़ा खतरा है। इससे क्षेत्र के नागरिकों मेंभय का माहौल पैदा हो गया है। वे इस घटना के बाद ऐसे अनधिकृत केमिकल का भंडार कैसे करते हैं? ऐसा सवाल उठने लगा है और इस मामले पर गणेशपुरीपुलिस क्या कर रही है? ग्रामीण वही सवाल यह भी सवाल पूछ रहे हैं।ग्रामीण भिवंडी में सैकड़ों गोदाम अवैध रूप से बड़ी मात्रामें केमिकल का बडे स्टॉक कर रहे हैं। सरकार ने दो महीने पहलेइन अवैध केमिकल स्टॉक के खिलाफ कानूनी कार्रवाईका आदेश दिया था। हालाँकि, भिवंडी तहसील विभाग ने इस आदेश कोपूरी तरह से नजरअंदाज कर दिया है, इन अनधिकृत गोदामों मेंलगातार आग लग रही है। इससे क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों काजीवन खतरे में पड़ गया है। साल के दौरान भिवंडी के वेयरहाउसबेल्ट में केमिकल के स्टॉक और अन्य उपकरणों के लगभग 78 गोदामों मेंआग लग चुका है।जिससे ऐसा सवाल उठना लाजमी है कि कही भिवंडी भी भोपाल गैस कांड के रास्ते पर तो नहीं चल पड़ा है -भिवंडी तालुका के विभिन्न ग्राम पंचायतों में लगभग 4 लाख 35हजार गोदाम हैं, जिनमें से वैल, मनकोली, रहनाल,गुंडावली, कलहर, दापोडा, सरवली, कोपर, पूर्णा, कोंगाँव, वाडपे,सोनाले में लगभग 343 कैमिकल गोदाम हैं। ये गोदामअत्यधिक ज्वलनशील रसायनों का भंडार हैं। इन रासायनिकनिक्षेपों में बार-बार आग लगने का खतरा होता है। रहनालमें एक झोपड़ी में आग लगने से एक बुजुर्ग महिला की मौत होगई और तीन अन्य घायल हो गए। इसलिए, एक बार फिर अवैध केमिकल गोदाम का मामला सामने आया है और यह देखा गया है कि भिवंडी भी कही भोपाल कांड की पर तो नही चल रहा है यह देखना कानूनी रूप में अब जरूरी हो गया है समय रहते शासन नही जागता हर तो दूसरा भोपाल कांड भिवंडी में हो सकता है उससे इनकार नही किया जा सकता है।
  • No Comment to " भिवंडी बनने वाला है महाराष्ट्र दूसरा भोपाल कांड ? "